Subscribe for notification
Categories: World

रिलायंस के फिसलने पर नहीं लगा ब्रेक, अन्य नौ का पूंजीकरण भी गिरा

नई दिल्ली. भारी बिकवाली दबाव के चलते भारत की 10 बड़ी कम्पनियों को बीते सप्ताह एक लाख करोड़ से अधिक का नुकसान उठाना पड़ा। सबसे अधिक नुकसान में रिलायंस इंडस्ट्रीज रही। बीते सप्ताह बीएसई के 30 शेयरों वाले सेंसेक्स में 526.51 अंक या 1.29 प्रतिशत की गिरावट आई।

रिलायंस इंडस्ट्रीज, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और भारती एयरटेल के बाजार पूंजीकरण में गिरावट आई। वहीं हिंदुस्तान यूनिलीवर (एचयूएल), इन्फोसिस, एचडीएफसी तथा कोटक महिंद्रा बैंक का बाजार पूंजीकरण चढ़ गया।

सप्ताह के दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण सबसे अधिक 39,355.06 करोड़ रुपये घटकर 14,71,081.28 करोड़ रुपये पर आ गया। टीसीएस का बाजार मूल्यांकन 19,681.25 करोड़ रुपये घटकर 10,36,596.28 करोड़ रुपये तथा एचडीएफसी बैंक का पूंजीकरण 19,097.85 करोड़ रुपये घटकर 6,59,894.13 करोड़ रुपये पर आ गया।

भारती एयरटेल की बाजार हैसियत 12,875.11 करोड़ रुपये गिरकर 2,19,067.91 करोड़ रुपये रह गई। एचसीएल टेक्नोलॉजीज का बाजार पूंजीकरण 7,842.49 करोड़ रुपये घटकर 2,24,447.24 करोड़ रुपये रह गया। आईसीआईसीआई बैंक के बाजार मूल्यांकन में 3,927.64 करोड़ की गिरावट आई और यह 2,73,075.43 करोड़ रुपये पर आ गया।

इन्फोसिस का बाजार पूंजीकरण 8,540.12 करोड़ रुपये बढ़कर 4,80,291.25 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। कोटक महिंद्रा बैंक के बाजार मूल्यांकन में 3,290.64 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई और यह 2,64,555.97 करोड़ रुपये रहा। हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 2,795.97 करोड़ रुपये बढ़कर 5,05,330.81 करोड़ रुपये पर पहुंच गया। एचडीएफसी के बाजार पूंजीकरण में 502.83 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई और यह 3,51,986.24 करोड़ रुपये रहा। शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर कायम रही। उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, इन्फोसिस, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एचसीएल टेक्नोलॉजीज और भारती एयरटेल का स्थान रहा।