Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
अबकी बार कार्बेट जब आएंगे मेहमान, नाचेगा बाघ, गाएगी कोयल, हाथी कराएंगे स्नान – Mobile Pe News

अबकी बार कार्बेट जब आएंगे मेहमान, नाचेगा बाघ, गाएगी कोयल, हाथी कराएंगे स्नान

देश के ऐतिहासिक नेशनल जिम कार्बेट पार्क के बिजरानी जोन को मंगलवार को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया। वन्य जीव प्रेमी सालभर कार्बेट में वन्य जीवों का लुत्फ उठा सकेंगे।

कार्बेट टाइगर रिजर्व (सीटीआर) वार्डन शिवराज सिंह ने बताया कि बरसाती सीजन के चलते कार्बेट पार्क के प्रमुख बिजरानी एवं ढिकाला जोन को पर्यटकों के लिये बंद कर दिया जाता है। बिजरानी जोन आज मंगलवार से पर्यटकों के लिये खोल दिया गया है। सीटीआर वन्य जीवों के अलावा जैव विविधता का भी अनोखा केन्द्र है। पर्यटक दिन के समय में आकर पार्क की सैर कर सकते हैं और वन्य जीवों के दीदार कर सकते हैं।

इसके साथ ही शीतकालीन सत्र की शुरूआत हो गयी है। सुबह पर्यटकों के लिये बिजरानी गेट खोला गया। बिजरानी जोन सुरक्षा की खातिर 15 जून को पर्यटकों के लिये बंद कर दिया गया था। सुबह से ही आमडंडा गेट पर पर्यटकों की भीड़ जुटनी शुरू हो गयी। पहली पारी में 30 वाहनों से पर्यटकों को पार्क की सैर के लिये भेजा गया। इसी तरह से शाम को भी 30 वाहनों से पर्यटकों को पार्क के अंदर भेजा जायेगा। अधिकतम 60 वाहन ही पार्क के अंदर जा सकेंगे।

बिजरानी के लिये आनलाइन बुकिंग का काम पहले ही शुरू कर दिया गया था। यहां आने वाले पर्यटक कार्बेट पार्क की वेबसाइट पर जाकर एडवांस बुकिंग करा सकते हैं। पर्यटक कार्बेट पार्क के ढिकाला एवं बिजरानी और झिरना जोन में रात्रि विश्राम का लुत्फ ले सकते हैं। इन क्षेत्रों को भी 15 नवम्बर से पर्यटकों के लिये खोल दिया जाएगा। ढेला व झिरना जोन के दरवाले साल भर पर्यटकों के लिये खुले रहते हैं।