चुनाव आयोग ने नहीं मानी सोनिया गांधी की ये बात, दिखा दी लाल झण्डी

उत्तरप्रदेश के रायबरेली से चुनाव लड़ रही कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की शिकायत को चुनाव आयोग ने ठुकरा दिया है। आयोग ने उनकी शिकायत पर भाजपा प्रत्याशी का नामांकन खारिज नहीं किया बल्कि उसे वैध करार दिया है। सोनिया ने शिकायत की थी कि भाजपा के प्रत्याशी ने अपने पूर्व राजनीतिक दल से इस्तीफा नहीं देकर कानून का उल्लंघन किया है।

सत्रहवीं लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की अति महत्वपूर्व सीट रायबरेली सीट पर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) प्रत्याशियों के नामांकन में लगी आपत्तियाें को देर रात सुलझा लिया गया है।

जिलाधिकारी नेहा शर्मा ने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच में फंसा पेंच देर रात 11 बजे सुलझा लिया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों दलों के उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों पर लगी आपत्तियों को सुलझाने में जिला प्रशासन के अधिकारी देर रात तक माथापच्ची करनी पड़ी।
दोनों प्रत्याशियों के नामांकन पत्रों पर लगी आपत्तियों को खारिज करते हुए उनके पर्चे को वैध करार दिया गया।

कांग्रेस प्रत्याशी और सांसद सोनिया गांधी के प्रतिनिधि के एल शर्मा, पार्टी के विधि सलाहकार के सी कौशिक ने जिला निर्वाचन अधिकारी नेहा शर्मा से शिकायत की थी कि भाजपा से पर्चा जमा करने वाले दिनेश प्रताप सिंह ने कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा नहीं दिया। बिना पार्टी छोड़े उन्होंने भाजपा में शामिल होकर नामांकन पत्र दाखिल किया है। इसलिए भाजपा प्रत्याशी का नामांकन निरस्त किया जाए। मीडिया से बातचीत में भी सांसद प्रतिनिधि ने बताया कि भाजपा प्रत्याशी ने नियमों की अनदेखी कर पर्चा भरा है जो गलत है।