कांग्रेस के शासन में आतंकवाद कैंसर की तरह बढा, अब इसका इलाज होगा पक्का : मोदी

सोनगढ़| प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद की तुलना कैंसर से करते हुए आज कहा कि कांग्रेस के शासन के दौरान पैदा हुए और पले-बढ़े आतंकवाद का उनकी सरकार की ओर से शुरू किया गया कड़ा इलाज आगे भी इसलिए जारी रहना चाहिए क्योंकि उपचार के बीच रूकने पर कैंसर की तरह ही यह दोबारा तेजी से फैल जायेगा।मोदी ने कहा कि यह उपचार लगातार जारी रखने के लिए भी उन्हेें दोबारा मौका दिया जाना चाहिए।उन्होंने भ्रष्टाचार काे एक और कैंसर बताते हुए कांग्रेस को ही इसके लिए जिम्मेदार ठहराया।प्रधानमंत्री ने अपने गृह राज्य गुजरात के तापी व्यारा जिले और बारडोली लोकसभा क्षेत्र के सोनगढ़ मे एक चुनावी सभा में यह बातें कहीं।

मोदी ने कहा, ‘एक जमाना था जब देश में आतंकी हमले होते थे तो सरकार हाथ पर हाथ रख कर बैठी रहती थी। मैने गुजरात के मुख्यमंत्री के तौर पर अपने शासन के दौरान राज्य में आतंकियों के सभी स्लीपर सेल का सफाया करवा दिया। अब गुजरात में सभी चैन, सद्भावना और भाईचारे के साथ रहते हैं। ऐसे ही पूरे देश में ऐसे माहौल के लिए आतंकवाद का सफाया होना चाहिए और येन केन प्रकारेण (जिस तरह से भी संभव हो) इसे जड़ से उखाड़ा जाना चाहिए। इसे खाद पानी पड़ोस से मिलता है इसलिए मैने जो जरूरी था वह (एयरियल स्ट्राइक) कराया। अब कांग्रेसियों और विपक्ष को इसमें भी आपत्ति है और वे सबूत मांग रहे हैं। अरे भाई पाकिस्तान रो रहा है आवाज सुनो तो समझ आये पर इन्हें भारत के सपूतों पर विश्वास नहीं, पाकिस्तान के लोगों पर भरोसा है। ऐसे लोगों को क्या देश सौंपा जा सकता है।’

उन्होंने कहा कि आतंकवाद कैंसर जैसा है जो जन्मा, पला-बढ़ा कांग्रेस के जमाने में है। अगर इसके खिलाफ कार्रवाई बीच में बंद कर दो तो जैसे कैंसर की दवा बीच में बंद होने से बीमारी नहीं जाती वैसे ही कार्रवाई बीच में नहीं छोड़ी जा सकती है। और इसे उनके अलावा करेगा कौन। मोदी ने कहा, ‘देश में एक नाम बताओ जो अपना सिर लेकर आतंकवाद से मुकाबले के लिए निकलने को तैयार हो। एक बार यह आतंकवाद जाये तो सुख चैन की जिंदगी होगी। अभी तो मंदिर में जाओ तो भी पुलिस है और आतंकवाद के चलते प्रसाद की थैली तक की जांच करनी पड़ती है। आतंकवाद के कारण देश को सुरक्षा पर बड़ी रकम खर्च करनी पड़ती है। इस परिस्थित को बदलने की जरूरत है।’

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस देश का दूसरा कैंसर भ्रष्टाचार का है जिसे खत्म किया जाना चाहिए। गुजरात मेें उनके शासन काल में किसी ने उन पर एक ऊंगली नहीं उठायी। पूर्व मुख्यमंत्री तथा वरिष्ठ कांग्रेस नेता अमरसिंह चौधरी विधानसभा में कहते थे कि मोदी जादूगर है। पर अब कांग्रेस कहते है कि चौकीदार चोर है। पर तुगलक रोड चंदा घोटाले में पैसा कहां से निकल रहा है। यह कैसी जादूगरी है। अब मुझे पता चल रहा है कि क्यों कांग्रेसी नेता अपने भाषण में नोटबंदी पर बार-बार प्रहार क्यों करते थे। हाल में छापेमारी के दौरान पहले ही घंटे में 280 करोड़ रूपये बरामद हुए हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस गरीब बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए केंद्र सरकार की ओर से दिये गये पैसे से घोटाला करती है। ऐसे लोगों को जनता रूपी ईश्वर माफ नहीं करेगी। 15 साल तक मप्र में सत्ता से बाहर रहने के बाद वहां पैर रखने का मौका मिलते ही घोटाला करने वाली कांग्रेस को अगर पांच साल बाद केंद्र मेें सत्तावापसी का मौका मिला तो यह पांच मिनट भी नहीं लगायेगी। ऐसी लूट करने वालों को कभी भी दिल्ली की सत्ता में वापसी का मौका नहीं दिया जाना चाहिए।

उन्होंने यह भी दावा किया कि उनको हराने के लिए एक दूसरे के साथ हाथ मिला कर फोटो खिंचाने वाले विपक्षी दल अब आपस में ही लड़ रहे हैं। ऐसे लोगों जिनको न जनता की और न भविष्य की पड़ी है उन्हें देश देना नहीं चाहिए।मोदी ने कांग्रेस की घोषणा पत्र को ढकोलसा पत्र बताते हुए इस पर अपने आरोप दोहराये। उन्होंने पार्टी पर गुजरात विरोधी मानसिकता का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि देश को एक करने वाले सरदार पटेल आज अगर जीवित होते तो कश्मीर से सेना हटाने और देश को टुकड़े करने की बात कहने वालों के खिलाफ राजद्रोह की धारा नहीं लगाने की वकालत करने वाले इस घोषणा पत्र को एक मिनट के लिए स्वीकार नहीं करते।मोदी ने विश्वास जताया कि 23 मई को मतगणना के बाद दोबारा केंद्र मेें भाजपा की ही सरकार बनेगी।