Categories
Tech

होंडा भारत में करेगी ऐसी मोटरसाइकिल लांच जो 3 सैकिंड में पकड़ लेगी 100 की रफ्तार

जापानी कम्पनी होंडा एक ऐसी मोटरसाइकिल भारत में लांच करेगी जो मात्र 3 सैकिंड में 100 की रफ्तार पकड़ लेगी। यह जानकारी कम्पनी के ब्रांड ऑपरेटिंग प्रमुख और उपाध्यक्ष प्रभु नागराज ने दी। दुपहिया वाहन निर्माण की प्रमुख कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड भारतीय बाजार में अगले साल प्रीमियम श्रेणी की मोटरसाइकिल और स्कूटर उतारने की आक्रमक रणनीति बना रही है जिससे भारतीय बाजार की संभावनाओं का पूरा इस्तेमाल किया जा सके। कंपनी के ब्रांड ऑपरेटिंग प्रमुख और उपाध्यक्ष प्रभु नागराज ने बताया कि भारतीय बाजार में प्रीमियम श्रेणी के दुपहिया वाहनों की मांग में भारी इजाफा हो रहा है। देश में युवाओं में प्रीमियम श्रेणी के वाहनों में रूचि बढ़ रही है। परंपरागत तौर पर भारतीय बाजार यात्री वाहनों के लिए जाना चाहता है लेकिन अर्थव्यवस्था का स्वरूप बदलने और व्यक्तिगत आय बढ़ने के कारण प्रीमियम श्रेणी के वाहनों की बिक्री में वृद्धि हो रही है।

होंडा भारतीय बाजार में उन दुपहिया वाहनों को भी भारतीय युवाओं के लिए पेश करने की तैयारी कर रहा है जो अभी तक यूरोपीय बाजार में ही देखे जा सकते हैं। कंपनी यूरोप के पर्यावरण मानकों को पूरा कर रही है और इन वाहनों को भारतीय बाजार में भी उतारा जाएगा। इससे पहले कंपनी के यूरोपीय क्षेत्र के वरिष्ठ उपाध्यक्ष टॉम गार्डनर ने मोटरसाइकिल सीबीआर 1000 आर आर के नए संस्करण को वैश्विक स्तर पर जारी किया।
इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है जिसके कारण यह पर्यावरण के आधुनिक मानकों के अनुरूप है और इसकी क्षमता में भी वृद्धि की गई है। इसके साथ ही एस एच 125 आई , सीएमएस 500 रिबेल और अफ्रीका ट्विन के नए संस्करण भी वैश्विक बाजार में उतारे गये है तथा सीबी 1000 आर, मोटरसाइकिल का नया संस्करण जारी किया गया। यह सभी वाहन वर्ष 2020 की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं। जारी किए गए सभी दुपहिया वाहन भारतीय ग्रामीण परिस्थितियों और आवश्यकता के अनुरूप है। इन सभी वाहनों को अगले वर्ष के अंत तक भारतीय बाजार में जारी कर दिया जाएगा।

नये वाहन निश्चित रूप से भारतीय युवाओं और उपभोक्ताओं को पसंद आएंगे। कंपनी ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपना डीलर नेटवर्क बढ़ाने की योजना भी बना रही है। इस योजना को प्रयोग के तौर पर गुड़गांव में लागू किया जा चुका है और यह सफल रही है। उन्होंने बताया कि दिवाली के अवसर पर कंपनी के दुपहिया वाहनों की बिक्री से यह साफ हो गया है कि भारतीय बाजार में होंडा के वाहनों के प्रति भरोसा है और कंपनी इसका पूरा लाभ उठाएगी।

देश में स्वच्छ ऊर्जा से चलने वाले वाहनों के लिए होंडा अगले साल अनुकूलता रिपोर्ट तैयार करेगी। भारत में अभी बिजली से चलने वाले वाहनों के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करने की जरूरत है। मोटरसाइकिल और स्कूटर जैसे दुपहिया वाहनों की ग्रामीण क्षेत्रों में भारी मांग है तथा ज्यादातर लोग दुपहिया वाहनों का इस्तेमाल रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं। ऐसे में इनके लिए बुनियादी ढांचा विकसित करना जरूरी है।



		
Categories
Business

इस बार नवरात्रा, दिवाली के दौरान बिकी इतनी बाइक और कार, आंकड़े उड़ा देंगे होश

नयी दिल्ली। नवरात्रि से शुरू त्योहारी सीजन के दौरान इस साल वाहन पंजीकरण 11 फीसदी घटकर 20,49,391 इकाई रह गया। गत साल 21 सितंबर से एक नवंबर तक के त्योहारी सीजन के दौरान कुल 23,01,986 वाहनों का पंजीकरण हुआ था।

 

वाहनों के डीलर के राष्ट्रीय संगठन फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) द्वारा आज जारी आंकड़ों के मुताबिक, 10 अक्टूबर से 20 नवंबर तक के त्योहारी सीजन के दौरान इस साल दोपहिया वाहनों का पंजीकरण 13 फीसदी घटकर 18,11,703 इकाई से घटकर 15,83,276 इकाई रह गया। यात्री वाहनों के पंजीकरण में भी 14 फीसदी की गिरावट रही और यह आंकड़ा 3,33,456 इकाई से घटकर 2,87,717 इकाई रह गया।

आंकड़ों के मुताबिक इस अवधि में तिपहिया वाहनों का पंजीकरण हालांकि 53,457 इकाई से 10 फीसदी बढ़कर 58,801 इकाई और वाणिज्यिक वाहनों का पंजीकरण 16 फीसदी बढ़कर 1,03,370 इकाई से 1,19,597 इकाई हो गया।

आंकड़ों के अनुसार त्योहारी सीजन से पहले दोपहिया वाहनों और यात्री वाहनों के लिए भंडारण क्रमश: 60 दिन और 50 दिन के लिए था। सीजन के बाद यह कम होकर क्रमश: 50 दिन और 45 दिन हो गया है लेकिन अब भी यह सामान्य से अधिक स्तर पर है।

फाडा के अध्यक्ष आशीष हर्षराज काले ने कहा कि दीवाली के मौसम में इतनी मंदी कभी नहीं रही। पिछले कुछ साल से कई कारक त्योहारी सीजन की बिक्री पर नकारात्मक प्रभाव डाल रहे हैं। यह डीलर्स के लिए चिंता का विषय है। ईंधन की बढ़ती कीमतों का सबसे अधिक असर दोपहिया वाहनों और यात्री वाहनों की बिक्री पर रहा है। इस दौरान वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री बढ़ी है लेकिन यह पहले की तुलना में कम है।

Categories
Business

भारत में दुपहिया वाहन खरीदना हुआ महंगा, जानिए नयी कीमतें

भारत जैसे बड़े क्षेत्र के देश में दुपहिया वाहनों की चलन प्रकृति बहुत ही बजबूत है, लेकिन अब two wheeler वाहनों में रॉयल एनफील्ड, हीरो, बजाज, यामाहा, होंडा, सुजुकी आदि कंपनियों ने फैसला लिया है की अब अप्रैल से वाहनों की कीमतों में बढ़ोतरी होगी। ये बढ़ोतरी कुछ बाइक में नये परिवर्तन को लेकर किये गए है।

यह भी देखिये-लेपटॉप हुआ सस्ता 26490 वाला अब आप 10146 में खरीद सकते हैं, जानिए कैसे?

two wheeler
two wheeler

यह भी देखिये-डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने अहम पांच मुद्दों का किया खुलासा

कम्पनी कीमतों को बढ़ाने का कारण है की सरकार टू वीलर्स में सीबीएस यानी कॉम्बी ब्रेकिंग सिस्टम को अनिवार्य कर दिया है। यह नियम 125सीसी से कम इंजन वाली बाइक्स पर लागू होगा। इतना ही नहीं 125सीसी इंजन से अधिक वाली बाइक्स में एबीएस देना अनिवार्य कर दिया अगर कोई कम्पनी इस नहीं करती है तो उस कम्पनी पर सरकार जुर्माना भी लगा सकती है।

यह भी देखिये-ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल पहली बार होगा कुछ नया

ये अभी तक तो लागु नहीं किया गया है लेकिन आगामी 31 मार्च 2018 के बाद जे कम्पनी नये दुपहिए वाहन बाजार में पेश करेगी उन सब पर ये नियम लागु होगा। अभी तक कई बाइक में पहले से ही एबीएस दिया गया है। एबीएस देने का उद्देश्य है की चालक पूरी तरह प्रत्येक स्थति में सुरक्षित रहें। एबीएस लगाने के बाद प्रत्येक बाइक के मूल्य में लगभग 1 से 2 हजार रुपय तक बढ़ोतरी की जाएगी।

यह भी देखिये-अभी तक दिल्ली के कई क्षेत्र में नहीं है बिजली-पानी

होंडा के ऐक्टिवा रेंज स्कूटर्स में सीबीएस का उपयोग पहले से ही कम्पनी द्वारा दिया गया है। एसबीएस लगाने के बाद ब्रेक और भी ज्यादा मजबूत हैं और इसकी वजह से वाहन का फिसले की संभावना और भी कम हो जाती है।

यह भी देखिये-मेडिकल प्रोफेशनल्स के बीच आत्महत्या की दर में वृद्धि