Categories
Results

Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: ये हैं देश के टॉप CBSE स्कूलों की सूची, बच्चों को बना देते हैं जीनियस

Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools:आज के समय में माता-पिता बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए लाखों रुपये खर्च करते हैं, लेकिन इसके बाद भी सही और अच्छे स्कूल का चयन नहीं कर पाते हैं। हम यहां देश के टॉप (Central Board of Secondary Education) Top schools(CBSE): सीबीएसई स्कूलों की सूची लेकर आए हैं। अपने बच्चों को यहां एड​मिशन दिलाइए और उन्हें जीनियस बनाने के रास्ते पर भेज ​दीजिए।

 

DAV स्कूल
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: CBSE से संबद्ध टॉप स्कूलों में पहला नाम DAV ग्रुप ऑफ स्कूल्स का है। इनमें भी DAV सीनियर सेकेंडरी स्कूल, मोगप्पैर अव्वल है। 1989 में DAV ग्रुप ऑफ स्कूल्स के तहत स्थापित इस स्कूल को तमिलनाडु आर्य समाज एजुकेशनल सोसायटी चेन्नई मैनेज करती है। स्कूल में अच्छी क्लास, प्रयोगशालाएं हैं।

झारखण्ड का यह स्कूल भी टॉप
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: CBSE से संबद्ध टॉप स्कूलों में रामकृष्ण मिशन विद्यापीठ, देवघर झारखंड लड़कों का आवासीय विद्यालय है। इसकी स्थापना 1922 में हुई थी। स्कूल छात्र के व्यक्तित्व विकास पर जोर देता है। इसी के चलते इसे भारत के टॉप CBSE स्कूलों में स्थान मिला है। स्कूल में बड़ा परिसर और प्रयोगशालाएं हैं। एक प्रशिक्षण और प्लेसमेंट सेल भी है।

DPS का जवाब नहीं
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: दिल्ली पब्लिक स्कूल (DPS) के सभी स्कूल का नाम टॉप स्कूलों की सूची में है, लेकिन नई दिलली के आरके पुरम का दिल्ली पब्लिक स्कूल सबसे टॉप है। 1972 में स्थापित इस स्कूल CBSE में प्रवेश के लिए लिखित परीक्षा और एक साक्षात्कार देना होता है।

इस स्कूल का भी काफी नाम
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: चिन्मय अंतर्राष्ट्रीय आवासीय विद्यालय (CIRS), कोयंबटूर 1996 में स्थापित किया गया था। स्कूल गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने में विश्वास करता है। बच्चे को शारीरिक, आध्यात्मिक और भावनात्मक स्तर पर ढालने का प्रयास करता है।

(KVS) केवीएस और जेएनवी है बेहतरीन
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: सरकारी स्कूलों की बात करें तो केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) की गिनती स्वयं CBSE नायाब हीरे के तौर पर करता है। JNV में प्रवेश के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा होती है। इसकी वेबसाइट पर जाकर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Categories
Results

Download sample paper CBSE board : सीबीएसई बोर्ड परीक्षा तैयारी के लिए यहां से डाउनलोड करें सैंपल पेपर

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाएं 15 फरवरी से चल रही हैं। परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए सैंपल पेपर हल कर सकते हैं। इससे प्रश्नों के प्रकार आदि का पता चलेगा। सैंपल पेपर इन वेबसाइट्स से प्राप्त कर सकते हैं।

 

10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के आयोजन से कुछ महीने पहले सैंपल पेपर जारी किए जाते हैं। BYJU’S परीक्षा की तैयारी के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है। वेबसाइट के साथ-साथ इसका एप भी उपलब्ध है। छात्र यहां से बोर्ड परीक्षाओं के लिए सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं। सैंपल पेपर के साथ-साथ मार्किंग स्कीम भी डाउनलोड कर सकते हैं।

mycbseguide.com
बोर्ड परीक्षा की तैयारी और सैंपल पेपर के लिए mycbseguide.com भी लोकप्रिय वेबसाइट है। यह सभी विषयों के लिए फ्री में स्टडी मैटेरियल और सैंपल पेपर ऑफर करती है। 10वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए फ्री में और पेड दोनों तरह से सैंपल पेपर मिलते हैं। वेबसाइट पर पिछले कई सालों के सैंपल पेपर सॉल्यूशन के साथ उपलब्ध हैं।

Vedantu
Vedantu ऑनलाइन ट्यूटरिंग प्लेटफॉर्म है। छात्रों को स्टडी मैटेरियल के साथ-साथ सैंपल पेपर ऑफर करती है। CBSE 10वीं और 12वीं के लिए सैंपल पेपर पर उपलब्ध हैं, जिन्हें फ्री डाउनलोड किया जा सकता है। यहां पिछले साल के प्रश्न पत्र आदि भी उपलब्ध हैं। साथ ही यहां से NCERT सॉल्यूशन भी प्राप्त कर सकते हैं।

डाउनलोड करें सैंपल पेपर
बोर्ड परीक्षा की और भी अच्छी तैयारी करने के लिए tiwariacademy.com से सभी विषयों के सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पिछले कई साल के सैंपल पेपर उपलब्ध हैं। इसके साथ ही मार्किंग स्कीम, पिछ्ले साल के प्रश्न पत्र और सॉल्यूशन भी प्राप्त कर सकते हैं। NCERT Textbooks सॉल्यूशन भी हैं।

बोर्ड सैंपल पेपर
cbse बोर्ड भी अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर cbseacademic.nic.in पर सैंपल पेपर जारी करता है। छात्र आधिकारिक वेबसाइट से फ्री में सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं।

Categories
Results

CBSE Board Exam 2020: CBSE) 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में चाहते हैं अच्छा स्कोर तो ऐसे करें पढ़ाई

15 फरवरी, 2020 से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा शुरू हो जाएंगी। परीक्षा में एक सप्ताह से भी कम समय रह गया है। ये समय बहुत महत्वपूर्ण है।
परीक्षा में अच्छा स्कोर जरुरी है। इसके लिए समय का सही उपयोग करना होगा।

 

पूरी नींद जरूर ले, शेष समय में रिवीजन करें

परीक्षा में प्रदर्शन के लिए फ्रेश रहना जरुरी है, फ्रेश रहने के लिए पूरी नींद लेनी चाहिए। छात्रों को सात से आठ घंटे की नींद लेनी चाहिए। डेटशीट को देखकर विषय का रिवीजन करना चाहिए। उस विषय का पहले रिवीजन करें जिसका पेपर पहले हो। रोजाना कम से कम एक विषय का रिवीजन करना चाहिए।

ब्रेक है बहुत जरूरी

ब्रेक ले-लेकर पढ़ाई करनी चाहिए। लम्बे समय तक एक साथ पढ़ाई नहीं करनी चाहिए। पढ़ाई के बीच में 40-45 मिनट का ब्रेक लेना चाहिए, जिससे कि फ्रेश रहें और पढ़ी हुई चीजें याद रहें।

पेपर हल करें

छात्रों को हर विषय के सैंपल पेपर हल करने चाहिए। ये समय सैंपल पेपर हल के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। सैंपल पेपर हल करने से परीक्षा पैटर्न और प्रश्नों के प्रकार का पता चलता है। परीक्षा के दौरान अपनी कमजोरियों और ताकतों का पता रहता है। आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सैंपल पेपर हल करें और मॉक टेस्ट दें।

नोट्स भी हैं

छात्रों को तैयारी के दौरान अपने द्वारा बनाएं गए नोट्स को जरुर देखना चाहिए। रोजाना सिलेबस और कॉन्सेप्ट में उपयोग होने वाले सूत्रों को पढ़ना चाहिए। सूत्रों के बिना किसी भी कॉन्सेप्ट को हल करना और समझना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए सूत्रों ध्यान देना चाहिए और रोजाना रिवीजन करते रहना चाहिए।

एडमिट कार्ड ले जाना न भूलें

परीक्षा में शामिल होने के लिए एडमिट कार्ड बहुत जरुरी दस्तावेज है। इसके बिना छात्रों को परीक्षा में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। छात्रों को एडमिट कार्ड में दी गई सभी जानकारी को जांच लेना चाहिए। एडमिट कार्ड का प्रिंट आउट संभालकर रखें।

Categories
international

इसरो की प्रयोगशाला उपग्रह बनाने के लिए छात्रों के लिए खोले दरवाजे

नयी दिल्ली | अंतरिक्ष क्षेत्र में छात्रों की रुचि पैदा करने और देश के अंतरिक्ष कार्यक्रम में उन्हें शामिल करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने छात्रों के लिए अपने दरवाजे खोलने के साथ ही देश भर में 12 अनुसंधान एवं इन्क्यूबेशन केंद्र खोलने की घोषणा की है।इसरो के अध्यक्ष के. शिवन ने आज यहाँ संवाददाताओं को बताया कि सभी 36 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों से तीन-तीन छात्रों का चयन कर उन्हें एक महीने के लिए एजेंसी की प्रयोगशालाओं में काम करने का मौका दिया जायेगा। उनके आने-जाने, ठहरने, खाने का सारा खर्च इसरो वहन करेगा।

उन्होंने बताया कि इन छात्रों को वहाँ उपग्रह बनाने का मौका मिलेगा और यदि उपग्रह अच्छे हुये तो इसरो उन्हें अंतरिक्ष में भी भेजेगा। यह अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के एक कार्यक्रम जैसा ही होगा। इसके लिए राज्य सरकारों से बात चल रही है।इसरो प्रमुख ने बताया कि देश के छह हिस्सों उत्तर, दक्षिण, पूरब, पश्चिम, पूर्वोत्तर और मध्य में एक-एक इन्क्यूबेशन केंद्र तथा एक-एक अनुसंधान केंद्र खोलने की भी योजना है। इससे इसरो का विस्तार पूरे देश में हो सकेगा। उन्होंने बताया कि एनआईटी त्रिपुरा और एनआईटी जालंधर में इन्क्यूबेशन केंद्र खोले जा चुके हैं। अन्य इन्क्यूबेशन केंद्र तिरुचि, नागपुर, इंदौर और राउरकेला में शुरू किये जायेंगे। छह इसरो अनुसंधान केंद्र जयपुर, गुवाहाटी, पटना, कन्याकुमारी, आईआईटी वाराणसी और एनआईटी कुरुक्षेत्र में खोलने की योजना है।

Categories
Off Beat

राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया

जयपुर | राजस्थान विश्वविद्यालय के 73वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में नहीं जाने देने से नाराज छात्रों ने आज प्रदर्शन कर अपना विरोध जताया।विश्वविद्यालय के मानविकी पीठ सभागार में आयोजित कार्यक्रम के बाहर एकत्रित होकर छात्रों ने कुलपति और विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर अपना विरोध  जताया |

 

इस दौरान छात्रों ने कार्यक्रम में आये उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी और कुलपति आर के कोठारी की गाड़ी के आगे आकर प्रदर्शन किया।बाद में पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों को हटाया।छात्रों का कहना है कि कार्यक्रम में खास मेहमानों को ही प्रवेश दिया गया जबकि आम छात्रों को प्रवेश से वंचित रखा गया।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

———————————

 

Categories
Results

परीक्षा के प्रवेश पत्र नहीं मिले, घबराए छात्रों ने निकाला जुलूस

क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली विश्वविद्यालय के एसओएल छात्रों के साथ मिलकर आर्ट्स फैकल्टी पर एसओएल प्रशासन के खिलाफ परीक्षा के 3 दिन पहले तक प्रवेश पत्र नहीं जारी करने को लेकर प्रदर्शन किया| ज्ञात हो कि स्नातकोत्तर एम.ए. राजनीति विज्ञान छात्रों में परीक्षा के तीन दिन पहले तक प्रवेश पत्र न जारी किये जाने से भारी अफरातफरी है| 

 

ज्ञात हो कि एसओएल के स्नातकोत्तर छात्रों की परीक्षा 3 दिन बाद 26 नवम्बर से शुरू होने वाली है, और एसओएल प्रशासन ने ज्यादातर छात्रों के प्रवेश पत्र अभी तक जारी नहीं किये हैं| ज्ञात हो कि एसओएल ऐसा हर साल करता रहा है| पिछले साल भी  स्नातकोत्तर छात्रों की परीक्षा की तिथियों को परीक्षा शुरू होने से 3 दिन पहले ही बताया गया था| 2016 में भी स्नातक छात्रों को उनका प्रवेश पत्र परीक्षा के 3 दिन पहले ही जारी किया गया था| 

 

 

जहाँ एक ओर दिल्ली विश्वविद्यालय के रेगुलर कोर्सों में प्रवेश पत्र परीक्षा से करीब एक महीने पहले ही जारी कर दिया जाता है, वहीं एसओएल में छात्रों को परीक्षा की तैयारी का भी समय नहीं दिया जाता| ज्ञात हो प्रवेश पत्र पहले नहीं जारी होने के कारण छात्रों में भारी घबराहट थी कि कहीं उनका एक साल इम्तेहान नहीं दिए जाने की वजह से बर्बाद न हो जाए| पेपर लीक और नक़ल रोकने का कारण जो एसओएल बता रहा है, वो भी इसलिए होता है क्योंकि छात्रों को पढ़ाई के नाम पर सिर्फ 13 दिन की आधी-अधूरी कक्षाएं ही मुहैया कराई जाती हैं| इन कक्षाओं में भी छात्रों को भीड़ और टीचर की गैरमौजूदगी झेलनी पड़ती है| 

 

इसके साथ-साथ एसओएल प्रशासन ने सिलेबस से सम्बंधित उलझनों के बारे में भी स्थिति स्पष्ट नहीं की है| छात्रों को जो स्टडी मटेरियल मुहय्या करवाया जाता है उसमे बस 30 प्रतिशत सिलेबस ही ख़त्म हो पाता है| जाहिर है इसके कारण छात्रों के परीक्षा परिणाम पर दुष्प्रभाव पड़ेगा| केवाईएस एसओएल प्रशासन की कड़ी भर्त्सना करता है और छात्रों का कीमती समय बर्बाद करने के लिए माफ़ी मांगने की मांग करता है| साथ ही, आने वाले दिनों में केवाईएस एसओएल के छात्र-विरोधी रवैये के खिलाफ छात्रों को आंदोलनरत करेगा|

Categories
Off Beat

दो छात्र समूहों के बीच झड़पों के बाद गैर स्थानीय छात्रों ने कैंपस में प्रदर्शन किया

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान(एनआईटी) में दो छात्र समूहों के बीच झड़पों के बाद गैर स्थानीय छात्रों ने कैंपस में प्रदर्शन किया।अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दो गैर स्थानीय एवं कुछ स्थानीय छात्रों के बीच गुरुवार रात को किसी मुद्दे को लेकर उग्र बहस हो गई। बहस इतनी बढ़ गई दोनों समूह के बीच झड़पें शुरू हो गई।

उन्होंने बताया कि झड़पाें के बाद गैर-स्थानीय छात्रों ने शुक्रवार को कक्षाओं का वहिष्कार किया और कैंपस में प्रदर्शन किया।उन्होंने कहा,“ श्रीनगर के उपायुक्त डॉ. सईद आबिद रशीद शाह के कैंपस में आने और झड़पों के लिए जिम्मेदार लोगों को उचित सजा देने के आश्वासन के बाद छात्रों ने प्रदर्शन खत्म किया।एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

——————————

<p style=”text-align: justify;”>