Categories
international

India will become super power: ये हथियार मिलते ही एशिया में खत्म हो जाएगी चीन की दादागिरी, भारत बनेगा सुपर पॉवर

India will become super power: हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल से निजात पाने के लिए भारत को जल्द ही वे हेलीकॉप्टर मिलने वाले हैं जो जमीन के साथ ही समुद्र में छोटी सी नाव से भी उड़ान भर सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर पानी के नीचे छुपी पनडुब्बियों के लिए यमराज माने जाते हैं। इनके मिलते ही हिंद महासागर में घूम रही चीनी पनडुब्बियां दुम दबाकर भाग निकलेंगी। इन हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है। द्विपक्षीय बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 

रोमियो और अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदेगा भारत

India will become super power:  जिस रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं, उसके तहत भारत 2.6 अरब डॉलर में 24 MH60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीदेगा। इसके अलावा 80 करोड़ डॉलर में छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर भी खरीदे जाएंगे। भारत आए ट्रंप ने कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के इस रक्षा समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

आतंकवाद के खिलाफ कदम उठाए पाकिस्तान

India will become super power: बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी को लेकर दोनों देशों में सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अपनी धरती पर पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए उपाय करे। प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

India will become super power: ट्रंप ने अपने शानदार स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया। मेलानिया और मैं भारत की महिमा और भारतीय लोगों की असाधारण उदारता और आदर से विस्मित हैं। हम आपके (मोदी) गृह राज्य के नागरिकों द्वारा किए गए शानदार स्वागत को हमेशा याद रखेंगे। हम यहां से सुखद अनुभव साथ लेकर जाएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का स्वागत करने के लिए एक लाख से अधिक लोग आए थे।

India will become super power: इधर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारियों में से एक है। भारत और अमेरिका के बीच बीच ड्रग तस्करी, आतंकवाद और संगठित अपराध जैसे गंभीर अपराधों के बारे में एक नया तंत्र बनाने पर सहमति बनी है।

Categories
National

नरेन्द्र मोदी का राजतिलक 30 को, शपथ ग्रहण में आने को बेकरार पाक पीएम इमरान खान

नयी दिल्ली। नरेन्द्र मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे। उनके साथ केन्द्रीय मंत्रिपरिषद के सदस्य भी शपथ लेंगे। राष्ट्रपति भवन के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद 30 मई को शाम 7 बजे राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में मोदी और मंत्रिपरिषद में उनके सहयोगियों को शपथ दिलायेंगे।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की ऐतिहासिक जीत पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को रविवार को फोन करके बधाई दी। इसके पहले 19 मई को मतगणना के रुझानों में भाजपा के प्रचंड बहुमत की ओर अग्रसर होेने पर खान ने ट्वीट करके मोदी को जीत की बधाई दी थी।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ मोहम्मद फैसल ने यह जानकारी दी। डॉ फैसल ने कहा कि प्रधानमंत्री ने मोदी को बधाई देते हुए दोनों देशों के नागरिकों की बेहतरी के लिए साथ मिलकर काम करने की इच्छा जतायी है। खान ने दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और विकास के लिए भारतीय प्रधानमंत्री के साथ काम करने की इच्छा को भी एक बार फिर दोहराया है।

पाकिस्तानी पीएम की तरफ से हरसंभव कोशिश की जा रही है कि उन्हें मोदी के शपथ ग्रहण में बुला लिया जाए। लेकिन अभी तक आधिकारिक तौर पर देश की तरफ से कोई मैसेज नहीं दिया गया है। इससे पहले श्रीलंका के राष्ट्रपति को बुलाने की खबरें जोरों पर थी, लेकिन अब कहा जा रहा है कि उनको बुलाने पर कोई फैसला नहीं हुआ है।

माेदी ने शनिवार को राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के नवनिर्वाचित सांसदों से हिन्दू-मुस्लिम सौहार्द के मॉडल पर काम करने की अपील की थी। उल्लेखनीय है कि 17 वीं लोकसभा चुनाव में भाजपा को 303 सीटें मिली हैं जबकि कांग्रेस को 52 सीटों पर जीत मिली है। विश्व भर के नेताओं ने माेदी को जीत पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

Categories
National

चेताया था रिजर्व बैंक ने, कालाधन नोटों में नहीं, ये चीजें खरीद कर जमा करते हैं भारतीय

चुनाव की घोषणा होते ही सरकारी मशीनरी के तेवर बदल गए हैं। इसका पहला उदाहरण नोटबंदी के निर्णय पर रिजर्व बैंक की असहमति और अर्थव्यवस्था पर असर से जुड़ी फाइल के वे अंश आरटीआई के जरिए बाहर गए हैं जिनमें बैंक बोर्ड ने सरकार को चेताया था कि नोटबंदी आत्मघाती कदम होगा।

एक आरटीआई के जरिए बाहर आई जानकारी के अनुसार बोर्ड ने सरकार से कहा था कि जिस कालेधन को बाहर लाने के लिए वह नोटबंदी करना चाहती है तो वह नोटों के रूप में है ही नहीं, वह तो सोना, जमीन और रियल एस्टेट में लगा हुआ है और उसे बाहर निकालने का फिलहाल कोई उपाय नहीं है। इसलिए नोटबंदी से कालेधन को समाप्त करने का उद्देश्य पूरा नहीं हो पाएगा उल्टे इससे मजदूर, किसान छोटे व्यापारियों की कमर टूट जाएगी।

बोर्ड ने कहा कि जहां तक जाली नोटों की बात है तो अर्थव्यवस्था में घूम रहे पन्द्रह लाख करोड़ के नोटों में उसका हिस्सा मात्र चार सौ करोड़ है और इतनी बड़ी संख्या के नोटों में वह ऊंट के मुंह में जीरे के समान है। आरबीआई बोर्ड ने यह भी कहा कि नोटबंदी से कुली, टैक्सी ड्राईवर, टूरिस्ट, छोटे व्यापारी इससे बर्बाद हो जाएंगे। जहां तक कैशलैस अर्थव्यवस्था का सवाल है तो वह बनाने का सपना शेखचिल्ली के सपने के समान है क्योंकि भारत में अभी कम्प्यूटराइजेशन की स्थिति उतनी मजबूत नहीं है जितनी होनी चाहिए। इसके अलावा भारत का सरकारी और निजी क्षेत्र का ढांचा भी इसके लायक नहीं है इस वजह से कैशलैस अर्थव्यवस्था की बात सोचना अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मारने के समान है।

 

अगर रिजर्व बैंक बोर्ड की ओर से आरटीआई के जरिए दी गई इस जानकारी पर भरोसा किया जाए तो सरकार का नोटबंदी का फैसला पूरी तरह राजनीतिक था और उसकी वजह से पूरे देश में हाहाकार मच गया था।

Categories
National

राम मंदिर पर बीजेपी का रुख हुआ स्पष्ट, पीएम मोदी ने खुलेआम किया ये ऐलान

नयी दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव में बड़ा मुद्दा बनने जा रहे अयोध्या में राम मंदिर के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज स्पष्ट किया कि अदालत का फैसला आने के बाद ही सरकार इस मामले में कोई कार्रवाई करेगी।

Narendra Modi

मोदी ने कांग्रेस से भी अपील की कि वह मंदिर के मुद्दे पर न्यायिक प्रक्रिया में अपने वकीलों के माध्यम से अड़ंगा न लगाये। प्रधानमंत्री का यह बयान इस दृष्टि से महत्वपूर्ण है क्योंकि देश भर में राम मंदिर पर अध्यादेश लाये जाने को लेकर अटकलें लगायी जा रही हैं।

Narendra Modi

प्रधानमंत्री ने नये साल के मौके पर अपने एक साक्षात्कार के बारे में टि्वट करते हुए कहा,“ मैं कांग्रेस से अपील करता हूं कि वह राम मंदिर के मामले में अपने वकीलों के जरिये न्यायिक प्रक्रिया में देरी न करवाये।” अगले टि्वट में उन्होंने कहा, “न्यायिक प्रक्रिया को पूरा होने दीजिए। इस मामले को राजनीतिक रूप से न देखें। पहले न्यायिक प्रक्रिया पूरी हो जाये उसके बाद सरकार के रूप में हमारी जो जिम्मेदारी बनती है हमें उसे निभाने के लिए सभी प्रयास करेंगे।”

पिछले एक साल से सरकार के गले की हड्डी बने राफेल सौदे पर उन्होंने कहा, “उच्चतम न्यायालय ने अपना फैसला दे दिया है और फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने भी अपनी बात कही है। मैंनें भी संसद और विभिन्न जनसभाओं में अपनी बात कही है।” उन्होंने कहा, “उनकी नजर में मेरा अपराध यह है कि मैं रक्षा क्षेत्र को आत्म निर्भर बनाने के लिए मेक इन इंडिया पर काम कर रहा हूं, मेरा अपराध यह है कि मैं सेना की जरूरतों को पूरा करने पर ध्यान दे रहा हूं। लेकिन मैं उनके आरोपों की परवाह नहीं करता। मैं सेना को मजबूत बनाने के लिए अपना काम करता रहुंगा। मैं ईमानदारी से काम कर रहा हूं।”

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साक्षात्कार को पैरोडी करार देते हुये कहा है कि उनके कार्यकाल में जो कुछ भी हुआ, देश की जनता उनका खामियाजा भुगत रही है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा कि

मोदी ने साक्षात्कार में जो भी बातें कही हैं वह जमीनी हकीकत नहीं, बल्कि जुमलेबाजी है। उन्होंने कहा “न ज़मीनी हक़ीक़त की दरकार, न किये हुये वादों से सरोकार, जुमलों भरा मोदीजी का साक्षात्कार।”

Categories
National

पीएसयू को खत्म कर रही है मोदी सरकार : कांग्रेस

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने मोदी सरकार पर सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) को सुनियोजित ढंग से खत्म करने का आरोप लगाया है और कहा है कि यह गंभीर मामला है और उच्चतम न्यायालय को स्वत: संज्ञान में लेते हुए इसकी जांच कराने का आदेश देना चाहिए।

कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने मंगलवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पहले मोदी सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम हिंदुस्तान एरोनेटिक लिमिटेड (एचएएल) को तबाह करने के लिए राफेल लड़ाकू विमान सौदे में ऑफसेट काम उससे छीनकर एक निजी कंपनी को दिया। सरकार के इस फैसले का इसका दुष्प्रभाव एचएएल के हजारों कर्मचारियों को झेलना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि एचएएल की तरह ही सरकार ने सार्वजनिक क्षेत्र की मुनाफा वाली कंपनी ओएनजीसी को खत्म करने की साजिश की। इस संबंध में उन्होंने ओएनजीसी कर्मचारी मजदूर सभा का पिछले माह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र का हवाला दिया जिसमें आरोप लगाया गया है कि मोदी सरकार ने किस तरह से लाभ में चलने वाले इस पीसीयू को घाटे में धकेल दिया और आज कंपनी के पास अपने कर्मचारियों को वेतन देने का पैसा नहीं है। देश की तेल जरूरत को पूरा करने में सर्वाधिक योगदान देने वाली कंपनी को अब ओवर ड्राफ्ट के माध्यम से अपने कर्मचारियों का वेतन देना पड़ रहा है।

प्रवक्ता ने कहा कि ओएनजीसी को डुबोने के लिए मोदी सरकार ने गुजरात राज्य पेट्राेलियम निगम (जीएसपीसी) का सहारा लिया और कहा कि ओएनजीसी इस डूबती कंपनी के शेयर खरीदे। ओएनजीसी ने कंपनी के शेयरों के लिए आठ हजार करोड़ रुपए का भुगतान किया जिससे ओएनजीसी पर आर्थिक दबाव बन गया और उसकी स्थिति दिन प्रतिदिन बिगड़ने लगी।

Categories
National

कर्नाटक में राहुल बोले थे मैं बनूंगा प्रधानमंत्री, अब​ दिए पीछे हटने के संकेत

रायपुर। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अगले वर्ष होने वाले लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री पद की दावेदारी से पीछे हटने का लगभग साफ संकेत देते हुए कहा कि उनका मुख्य लक्ष्य मोदी एवं भाजपा को सत्ता में आने से रोकने का है।

rahul

 

गांधी ने आज यहां वरिष्ठ पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस बारे में नम्बर आने पर चुनाव के बाद बात हो जाएगी। इसका खास मायने नहीं है और न ही इसको लेकर कोई समस्या है। उन्होंने यह भी विश्वास जताया कि भाजपा को अगर 200 से कम सीटें हासिल हुई तो मोदी को उऩके सहयोगी दल ही प्रधानमंत्री के रूप में स्वीकार नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा के विजय रथ को वह गठबन्धनों के बूते पर रोकने में सफल रहेंगे।

Rahul&Modi
Rahul&Modi

 

उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश एवं बिहार में बनने वाले गठबंधनों से मोदी को करारा झटका मिलने वाला है। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश में बसपा सपा के गठबंधन में कांग्रेस भी शामिल होगी, इसके लिए बातचीत चल रही है। अगर तीनों दल मिलकर चुनाव लड़े तो मोदी को पांच सीटे भी उत्तरप्रदेश में नही मिल पायेंगी।

Rahul Gandhi
Rahul Gandhi

 

पिछले लोकसभा चुनाव में राज्य की 80 सीटों में से भाजपा एवं उसके सहयोगी दल ने 73 सीटे जीती थी।कांग्रेस को केवल दो सीटे रायबरेली एवं अमेठी मिली थी। रायबरेली से सोनिया गांधी तो काफी अच्छे अन्तर से विजयी हुई थी लेकिन राहुल को काफी जबर्दस्त चुनौती का अमेठी में सामना करना पड़ा था।

उत्तरप्रदेश में गठबंधन में कांग्रेस को कितनी सीटें मिलेगी इस बारे में उन्होंने कुछ नहीं कहा। गांधी ने बिहार का जिक्र किया और कहा कि वहां भी राजद, कांग्रेस एवं अन्य दलों के गठबंधन द्वारा मोदी को करारी चुनौती मिलने वाली है। उन्होंने कहा कि इन्हीं दो राज्यों में मिलने वाली शिकस्त से मोदी का रास्ता रूक जाएगा।

Categories
National

अमित शाह ने कांग्रेस और इसके सहयोगियों के बारे में कही ऐसी बात, कई रात सो नहीं पाएंगे

नयी दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने लोकतंत्र में परिवर्तन के लिए जन भागीदारी को जरूरी बताते हुए आज कहा कि मोदी सरकार ने जन सामान्य के जीवन में बदलाव लाकर ‘सबका साथ और सबके विकास’ के सिद्धांत का पालन किया है इसलिए उन्हें भरोसा है कि जनता आने वाले चुनाव में तीन राज्यों के साथ साथ केंद्र में भी भाजपा को फिर सत्ता सौंपेगी।

amit shah
Amit Shah

 

शाह ने यहां ‘ब्लू प्रिंट फॉर एन इकोनॉमिक मिराकल’ पुस्तक के विमोचन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने जनधन योजना, गरीबों के घर गैस सिलेंडर पहुंचाने, अंधेरे में डूबे गांवाें में बिजली पहुंचाने, पंडित नेहरू के समय से लम्बित पड़ी सिंचाई योजनाओं पर काम शुरू करके देश की आधी से ज्यादा आबादी के जीवन में खुशहाली लाने का काम किया है। सरकार के काम को देखकर देश की जनता समझ चुकी है कि परिवर्तन सरकारें बदलने से नहीं बल्कि लोगों के जीवन में बदलाव लाने से होता है और यही काम मोदी सरकार कर रही है इसलिए देश की जनता उन्हें फिर सत्ता सौँपने का मन बना चुकी है।

amit shah
Amit Shah and PM Modi

 

उन्होंने कहा कि वह हवा में दावा नहीं कर रहे हैं बल्कि जमीन पर जो काम हुआ है उसके आधार पर बने जन मन की बात की अवधारणा का आकलन कर अपनी बात कह रहे हैं। सत्ता विरोधी लहर तब होती है जब सत्ता में बैठी सरकार ने जनता के लिए कोई काम नहीं करती लेकिन यहां 18 घंटे काम करने वाले दुनिया के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री हैं इसलिए देश फिर उनको सत्ता सौंपने जा रहा है।

Rahul Gandhi
Rahul Gandhi

 

यह पूछने पर कि पूरा विपक्ष मोदी सरकार को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए एकजुट हो चुका है, उन्होंने कहा कि विपक्षी दलों की एकता मोदी सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में तथा राज्यसभा में उपसभापति पद के लिए हुए चुनाव के दौरान सामने आ चुकी है। अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान लोकसभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के मोदी के गले मिलने संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा कि वह इस स्तर की राजनीति पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे।

Categories
National

मोदी ने ताल ठोक कर कह दिया: चोर लुटेरे नहीं हैं उद्योगपति, फोटो खिंचवाने में कोई गुरेज नहीं

कांग्रेस और अन्य विरोधी दलों पर परोक्ष रूप से उद्योगपतियों के साथ दोगला व्यवहार करने का आरोप लगाते हुये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि देश के विकास में अहम भूमिका निभाने वाले उद्योगपतियों से मधुर संबंध रखने से उन्हे या उनकी सरकार को कोई गुरेज नहीं है।

 

मोदी ने रविवार को यहां 60 हजार करोड़ रूपये के औद्योगिक निवेश का शिलान्यास करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित करते हुये कहा कि पहले की सरकारें उद्योगपतियों के साथ पर्दे के पीछे के संबंध रखती थी जबकि सार्वजनिक रूप से उनसे मिलने से कतराती थी। इसके विपरीत उन्हें उद्योगपतियों से सार्वजनिक तौर से मिलने में कोई आपत्ति नहीं है। जब नीयत साफ हो और इरादे मजबूत हो तो मेलजोल से डरने की कोई जरूरत नहीं होती।

उन्होंने कहा “ जो आरोप लगाते हैं, उनकी मंशा साफ नहीं होती है और वे पर्दे के पीछे मुलाकात करते हैं। मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि देश का कोई उद्योगपति ऐसा नहीं होगा जिसने पिछले हुक्मरानो के दरबार में दंडवत न की हो। यहां पर विराजमान अमर सिंह से बेहतर यह कौन जान सकता है। जिसकी नीयत साफ है उसको किसी के साथ तस्वीर खिंचाने में कोई डर नही होता। महात्मा गांधी को बिरलाजी के साथ खड़े होने में कभी संकोच नहीं हुआ। वे उनके घर जाकर रुकते थे।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में उद्योगपतियों की अहम भूमिका होती है। उन्हें चोर-लुटेरा कहना भारतीय संस्कृति के खिलाफ है। लेकिन जो गलत काम करेगा, उसे देश छोड़ना पड़ेगा या फिर जेल जाना होगा। देश की सवा सौ करोड़ जनता को लोगो का सम्मान करने के लिये आना होगा।

इससे पहले मोदी ने 60 हजार करोड़ की 81 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस उपलब्धि के लिये उन्होने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना समेत सूबे के तमाम मंत्रियों और अफसरों को बधाई दी।

Categories
National

मोदी की हुंकार: ‘सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार और इसे हम लेकर रहेंगे’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश में शासन की गुणवत्ता में सुधार पर बल देते हुए रविवार को कहा कि ‘सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ कहने का वक्त आ गया है।

PM Modi in Mann Ki Baat
PM Modi in Mann Ki Baat

 

आकाशवाणी से प्रत्येक माह प्रसारित ‘मन की बात’ कार्यक्रम में मोदी ने स्वतंत्रता आंदोलन के महान सेनानी लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के मशहूर नारे ‘स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ का उल्लेख करते हुए कहा कि अब नये भारत के संदर्भ में सुशासन पर जोर देने और ‘सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है’ कहने का उचित वक्त आ गया है।

उन्होंने कहा, “लोकमान्य तिलक ने देशवासियों में आत्मविश्वास जगाने का काम किया था और नारा दिया था- ‘स्वराज्य हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और इसे हम लेकर रहेंगे।’आज यह कहने का समय आ गया है- सुराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और हम इसे लेकर रहेंगे।” मोदी ने कहा कि प्रत्येक भारतीय को सुशासन और विकास का सकारात्मक लाभ हासिल करने का अधिकार है।

उन्होंने सामाजिक जागरण और सामूहिकता का भाव जगाने के लिए लोकमान्य तिलक के प्रयासों को याद करते हुए कहा, “लोकमान्य तिलक के प्रयासों से ही सार्वजनिक गणेशोत्सव की परम्परा शुरू हुई। सार्वजनिक गणेश उत्सव परम्परागत श्रद्धा और उत्सव के साथ-साथ समाज-जागरण, सामूहिकता, लोगों में समरसता और समानता के भाव को आगे बढ़ाने का प्रभावी माध्यम बन गया था।”

उन्होंने कहा कि वह एक कालखंड था जब जरूरत थी कि देश अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई के लिए एकजुट हो, इन उत्सवों ने जाति और सम्प्रदाय की बाधाओं को तोड़ते हुए सभी को एकजुट करने का काम किया। उन्होंने महान स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद को भी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि देश के प्रति आजाद के जज्बे और उनकी बहादुरी देशवासियों को हमेशा प्रेरित करते हैं।

Categories
National

पीएम मोदी की घटी लोकप्रियता, लग रहा हार का डर, इसलिए जल्द कराएगी चुनाव- मायावती

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर विकास के नाम पर लोगों को बरगलाने का आरोप मढते हुये आशंका जाहिर की कि चुनावों में संभावित हार के डर से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) साल के अंत तक लोकसभा के आमचुनाव के साथ-साथ मध्यप्रदेश,छत्तीसगढ और राजस्थान विधानसभा चुनाव भी करा सकती है।

Mayawati
Mayawati

 

महेन्द्र सिंह धोनी के वनडे में 300 कैच पूरे, बनाया गजब का ये रिकॉर्ड

मायावती ने रविवार को यहां कहा कि मोदी ने ‘विकास’ के भ्रमित करने वाले राग काे छाेड़कर जातिवादी एवं सांप्रदायिकता को बढावा देने की कवायद शुरू की है। इससे जनता मे इस धारणा काे बल मिला है कि मोदी की घटती लोकप्रियता से बौखलायी भाजपा काफी हताश है अौर मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ एवं राजस्थान विधानसभा के साथ ही लाेकसभा का आमचुनाव भी समय से कुछ पहले इस वर्ष के अन्त तक करा सकती है। जम्मू-कश्मीर मे महबूबा मुफ्ती की सरकार को गिराकर भाजपा इसकी भूमिका पहले ही तैयार कर चुकी है।

संजू ने तोड़ा सलमान-शाहरुख-आमिर खान का घमंड, कमा लिए इतने करोड़

आजमगढ और मिर्जापुर में मोदी के भाषण काे चुनावी जुगाड वाला करार देते उन्होने कहा कि कर्नाटक मे साम, दाम,दण्ड, भेद सभी प्रकार के हथकण्डे अपनाने के बावजूद वहाँ सरकार नही बनाने के कारण भाजपा का शीर्ष नेतृत्व कुण्ठा और हताशा से ग्रसित प्रतीत हाे रहा है और ओछी चुनावी राजनीति के लिये मैदान तैयार करने के क्रम में देश को जातिवाद, साम्प्रदायिक तनाव आैर हिंसा की आग में झाेकने का प्रयास सरकारी संरक्षण में लगातार कर रहा है।

लड़कों की बराबरी कर रही मुस्लिम लड़कियां, अब नहीं हो रहा पहले वाला ये काम

 

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
mobilepenews@gmail.com
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
फेसबुक मोबाइलपेन्यूज
ट्विटर मोबाइलपेन्यूज