Categories
Crime

स्कूली बच्चों के लिए खाना बनाने के दौरान फटा सिलेंडर

मोतिहारी । बिहार में पूर्वी चंपारण जिले के सुगौली थाना क्षेत्र में आज सुबह खाना बनाने के दौरान रसोई गैस सिलेंडर के फटने से चार लोगों की मौत हो गयी तथा तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये।

पुलिस सूत्रों ने यहां बताया कि एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) द्वारा सुगौली रेलवे गुमटी के निकट स्कूली बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन बनाया जा रहा था तभी अचानक रसोई गैस सिलेंडर में रिसाव के कारण आग लग गयी। इसके बाद सिलेंडर धमाके के साथ फट गया जिसमें चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी तथा तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये।

सूत्रों ने बताया कि धमाका इतना जोर का था कि मृतकों के शव क्षत-विक्षत हो गयें हैं। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया है। मृतकों की तत्काल पहचान नहीं की जा सकी है। पुलिस राहत एवं बचाव कार्य में जुटी है।

Categories
Crime

पुलिस और सामाजिक कार्यकताओं ने तस्करों के जाल से लड़कियो को कराया मुक्त

इम्फाल | मणिपुर पुलिस और सामाजिक कार्यकताओं ने राज्य में दिन भर चले अभियान के दौरान तस्करों के चंगुल से 100 से अधिक लड़कियों को बचाया और छह संदिग्ध मानव तस्करों को हिरासत में लिया। पुलिस सीमावर्ती क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही पर अब भी लगातार निगरानी रख रही है। मणिपुर पुलिस ने नेपाल अौर राज्य के कार्यकर्ताओं द्वारा सतर्क किये जाने के बाद शुक्रवार को मोरेह सीमा पर एकीकृत जांच चौकी पर 16 लड़कियों को तस्करों से मुक्त कराया। मोरेह में होटलों में छापे मारे गये और करीब 40 लड़कियों को बचाया गया।

पुलिस ने पूरे दिन अभियान चलाया और इंफाल के ‘होटल जंक्शन’ से अन्य 61 लड़कियों को तस्करों के चंगुल से छुड़ाया। संदिग्ध तस्करों को इम्फाल और मोरेह के विभिन्न होटलों में पकड़ा गया। पुलिस ने संदेह जताया है कि इनका इस्तेमाल पड़ोसी देशों में अवैध गतिविधियों के लिए किया जाना था। टेंगनौपाल पुलिस ने बताया कि नेपाल के सनौली शहर के राजीव शर्मा पर उन लड़कियों को मणिपुर भेजने का संदेह है।

अभियान में शामिल मणिपुर एलायंस फॉर चाइल्ड राइट्स (एमएसीआर) के संयोजक मोंटू अहनथेम ने बताया कि मणिपुर के कार्यकर्ताओं ने मामले के बारे में सतर्क किया था। मणिपुर के कार्यकर्ता नेपाल स्थित गैर सरकारी संगठन मैती से संपर्क में थे। सभी लड़कियों को उज्जवला आश्रय गृह में रखा गया है और उन्हें औपचारिकता पूरी करने के बाद उनके देश भेज दिया जाएगा।

Categories
National

मोदी सरकार ने आज एक ऐसे ‘ऑनलाइन टूल’ की शुरूआत विदेशों से मिलने वाले चंदे का दुरुपयोग करने वाले गैर सरकारी संगठनों के साथ शुरू से ही सख्ती बरती जाएगी

नयी दिल्ली विदेशों से मिलने वाले चंदे का दुरुपयोग करने वाले गैर सरकारी संगठनों के साथ शुरू से ही सख्ती बरत रही मोदी सरकार ने आज एक ऐसे ‘ऑनलाइन टूल’ की शुरूआत की है जो इन्हें मिलने वाले विदेशी धन और उसके इस्तेमाल पर कड़ी नजर रखेगा।

organizations

केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यहां इस टूल को ‘लांच’ किया।इसकी मदद से विदेशी अंशदान (नियमन) (एफसीआरए)अधिनियम 2010 के तहत पंजीकृत सभी गैर सरकारी संगठनों के खातों से लेन देन पर नजर रखी जायेगी।इस टूल की मदद से विभिन्न सरकारी विभाग यह पता लगा सकेंगे कि किस संगठन को कहां से पैसा मिल रहा है और इनका वास्तविक उपयोग कहां किया जा रहा है।

यह भी देखिये- चालीस से अधिक की महिलाओं के लिए जारी होगा योग प्रोटोकॉल

अब सरकारी विभागों को इस अधिनियम के प्रावधानों के तहत गैर सरकारी संगठनों के पैसे के इस्तेमाल से संबंधित आंकडे और सबूत जुटाने में भी आसानी होगी।इस टूल में आंकडों का विश्लेषण करने की सुविधा है जिससे तथ्यों का पता लगाने में सुविधा रहती है।इसका डेशबोर्ड पंजीकृत संगठनों के बैंक खातों से जुड़ा होगा ।

यह भी देखिये- पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की हत्या के आरोपियों को एसआईटी ने लिया हिरासत में

इस मौके पर इस टूल के काम करने की प्रणाली का प्रस्तुतिकरण भी किया गया।इस मौके पर गृह सचिव राजीव गौबा , गुप्तचर ब्यूरो के निदेशक राजीव जैन , एनआईसी की महानिदेशक नीता वर्मा और गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।अभी एफसीआरए में लगभग 25 हजार सक्रिय संगठन पंजीकृत हैं।इन संगठनों को वित्त वर्ष 2016-17 में 18 हजार 65 करोड रूपये का अंशदान मिला था।मोदी सरकार ने सत्ता में आने के बाद से विदेशी चंदे का दुरूपयोग करने वाले कई संगठनों के खिलाफ कडी कार्रवाई की है।

यह भी देखिये- बिना इंटरनेट के देखिये 12th कला वर्ग का परिणाम 2018