Categories
National

मानवाधिकार हनन के मामले में आयोग ने मांगी रिपोर्ट

मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने राजधानी के नेहरू नगर स्थित बालिका गृह की बालिकाओं द्वारा अश्लील हरकत और मारपीट करने के आरोप लगाए जाने के मामले सहित अाधा दर्जन से अधिक मामलों में संबंधित अधिकारियों से जवाब-तलब किया है।

madhya pradesh human rights commission

आयोग द्वारा यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार आयोग ने बालिका गृह की घटना के मामले में महिला एवं बाल विकास विभाग के संचालक चार सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है। वहीं एसआईटी एक्सप्रेशन एजुकेशन वेलफेयर सोसायटी के डायरेक्टर योगेश राय द्वारा शारीरिक संबंध बनाने के लिए संस्थान की माॅडल पर दबाव बनाने के मामले में पुलिस उप महानिरीक्षक भोपाल से चार सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।

आयोग ने ग्वालियर स्थित जयारोग्य अस्पताल के ट्रामा सेंटर में बिजली जाने से वेंटीलेटर बंद हो जाने के कारण तीन की मृत्यु हो जाने के मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्रतिवेदन मांगा है। वहीं यहां के शहरी क्षेत्र में कुपोषण से पीड़ित तीन बच्चों को पोषण पुनर्वास केन्द्र में भर्ती कराये जाने के सिलसिले में प्रतिवेदन तलब किया है। खालवा विकास खंड के ग्राम मीरपुर निवासी कृष्णाबाई दो वर्ष से अपने बच्चों का जाति प्रमाण पत्र बनवाने के लिए भटकने के मामले में कलेक्टर हरसूद से चार सप्ताह में प्रतिवेदन मांगा है।

इसी प्रकार बुरहानपुर के ग्राम धाबा में गरीब आदिवासियों को खाद्यान नहीं मिलने के मामले में कलेक्टर से जवाब तलब किया है। खरगोन के बिस्टान प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्रसूता की तबीयत बिगड़ने पर उसे जिला अस्पताल ले जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं मिलने और इस कारण प्रसूता की मृत्यु हो जाने के मामले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से प्रतिवेदन तलब किया है।

इसी तरह धूलकोट ग्रामीण अंचल में राशन की दुकानें सेल्समैन की मर्जी से खुलने व बंद होने के मामले में कलेक्टर बुरहानपुर से प्रतिवेदन तलब किया है। ग्राम उंडली की दस साल की सुनीता और आठ साल की अनीता के पिता मिश्रीलाल की सड़क दुर्घटना में एवं लीलाबाई की सिलिकोसिस बीमारी से मृत्यु के बाद बैंक में जमा मुआवजा राशि बच्चों को बालिग होने तक नहीं मिलने के मामले में कलेक्टर बुरहानपुर से प्रतिवेदन मांगा है।

Categories
National

मानव अधिकार हनन की घटनाओं पर आयोग ने लिया संज्ञान

मध्यप्रदेश मानवाधिकार आयोग ने मानवाधिकार हनन से जुड़ी कई घटनाओं पर संज्ञान लिया है। आयोग की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक आयोग ने मानपुर थाना अन्तर्गत ग्राम कछौहा निवासी एक महिला के साथ गांव के लोगों द्वारा गाली गलौच कर जान से मारने की धमकी देने के मामले में संज्ञान लेकर पुलिस अधीक्षक उमरिया से जांच प्रतिवेदन तलब किया है।

Human Rights
Human Rights

 

आयोग ने सीहोर जिला अस्पताल में एक्सपायर्ड इंजेक्शन का उपयोग किये जाने के संबंध में संज्ञान लेकर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सीहोर से प्रतिवेदन मांगा है। वहीं आयोग ने मुरैना जिले की सबलगढ़ विधान सभा क्षेत्र के रामपुर घाटी में 12 ग्राम पंचायतों के रहवासियों को गांव से 10 किलोमीटर दूर 30-35 फीट गहरे कुंए में रस्सी के सहारे उतरकर पानी भरने के लिए मजबूर होने के मामले में संज्ञान लिया है।

आयोग ने इस मामले में कलेक्टर मुरैना से प्रतिवेदन तलब करते हुए पानी की व्यवस्था के लिए उपलब्ध संसाधन के सुरक्षित विकास एवं उपयोग को सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज