Categories
National

Violence in delhi: यहां से लाए गए थे दिल्ली में हथियार, कई सालों से नुकीले हथियारों की खेप की आपूर्ति

Violence in delhi:  दिल्ली में रविवार से शुरू हुई हिंसा में 38 लोगों की मौत हो चुकी है और 200 से ज्यादा घायल हैं। घायलों का इलाज गुरु तेग बहादुर (GTB) और जग प्रवेश चंद्र अस्पताल में चल रहा है। घायलों को गोली लगने, तेज धार हथियार, लोहे की रॉड, झुलसने और भारी चीजों से मारने के कारण चोटें आई हैं। 14 लोगों की मौत गोली लगने से हुई है।


सांप्रदायिक हिंसा को देखने वाले लोगों के अनुसार भीड़ देसी कट्टे, तलवार, हथौड़े, दरांती, बेसबॉल बैट, डंडे और बड़े-बड़े पत्थर हाथ में लेकर घूम रही थी। हिंसा के दौरान इस्तेमाल किए गए देसी कट्टे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों से दिल्ली लाए गए थे। भीड़ में शामिल नकाब पहने लोगों ने बताया कि वो शामली और मुजफ्फरनगर से आए हैं।

Violence in delhi:  जाफराबाद में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अगर हिंसा के पहले दिन ही उत्तर प्रदेश से लगती दिल्ली की सीमा को सील कर दिया जाता तो हालात इतने खराब नहीं होते। हिंसा के 40 घंटे बाद यह काम किया गया। दिल्ली में बंदूकों की फैक्ट्री नहीं है। यहां जितने भी गैर-कानूनी पिस्तौल इस्तेमाल हुए हैं सब बाहर से तस्करी कर लाए गए हैं।

आसानी से उपलब्ध हैं देसी कट्टे

Violence in delhi:  पिछले साल दिसंबर में दिल्ली पुलिस ने एक मामले का पर्दाफाश किया था, जिसमें पता चला कि मेरठ, शामली और मुजफ्फरनगर जैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों में देसी कट्टे महज 3,000-5,000 रुपये में मिल जाते हैं।
बंदूकों के अलावा दंगाई पत्थरों का भी इस्तेमाल कर रहे थे। हिंसा में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को भी पत्थर से चोट लगी थी। लेकिन उनकी मौत गोली लगने से हुई थी। DCP अमित शर्मा को भी पत्थर लगने से सिर में गंभीर चोट आई है। फिलहाल वो अस्पताल में भर्ती हैं। भीड़ ने कई घरों पर भी पत्थरबाजी कर नुकसान पहुंचाया।

ट्रक में भरकर लाए गए थे पत्थर

मौजपुर में रहने वाले एक निवासी ने बताया, रविवार रात को यहां ट्रक में भरकर पत्थर लाए गए थे। ये लोग बाहर से आए थे। उनके वीडियो रिकॉर्ड किए हैं। सोच-समझकर हमला किया गया था। न्यू जाफराबाद रोड पर दंगाइयों ने कंक्रीट से बने डिवाइडर को तोड़ दिया और इसके लिए पत्थर और इसमें लगाई गई लोहे की रॉड को हथियारों के रूप मेें इस्तेमाल किया। दंगाइयों ने पेट्रोल बम और तलवारों की भी इस्तेमाल किया था। चांद बाग में भीड़ ने पेट्रोल बमों का भरपूर इस्तेमाल किया। पुलिस का मानना है कि दंगाइयों ने कबाड़ियों के पास से खाली बोतलें उठाई और इनमें पेट्रोल भरा। हिंसा में कम से कम तीन लोगों की झुलसने से मौत हुई है। सोशल मीडिया पर भी कई वीडियो वायरल हुए थे, जिनमें देखा जा सकता था कि दंगाई मोटरसाइकिल पर बैठकर हथियार लहराते हुए सड़कों पर घूम रहे थे।

नुकीले हथियारों का इस्तेमाल आम

दिल्ली पुलिस में तीन दशक से ज्यादा समय तक काम कर चुके पूर्व DCP एलएन राव ने बताया कि जिस इलाके में हिंसा हुई वहां की ज्यादातर युवा आबादी बेरोजगार है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों के युवा अपराधिक गतिविधियों में शामिल रहते हैं और लोगों को लूटने के लिए चाकू और ब्लेड का इस्तेमाल आम है। लोग अपने घरों में पत्थर, कांच की खाली बोतलें और ईंट जमा कर रखते हैं।

पुलिस ने दर्ज की 18 FIR

पुलिस ने अभी तक 18 FIR दर्ज की है और 106 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनसे पूछताछ में यह भी पता लगाया जाएगा कि वो हथियार कहां से लाए थे।

Categories
international

India will become super power: ये हथियार मिलते ही एशिया में खत्म हो जाएगी चीन की दादागिरी, भारत बनेगा सुपर पॉवर

India will become super power: हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल से निजात पाने के लिए भारत को जल्द ही वे हेलीकॉप्टर मिलने वाले हैं जो जमीन के साथ ही समुद्र में छोटी सी नाव से भी उड़ान भर सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर पानी के नीचे छुपी पनडुब्बियों के लिए यमराज माने जाते हैं। इनके मिलते ही हिंद महासागर में घूम रही चीनी पनडुब्बियां दुम दबाकर भाग निकलेंगी। इन हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है। द्विपक्षीय बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 

रोमियो और अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदेगा भारत

India will become super power:  जिस रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं, उसके तहत भारत 2.6 अरब डॉलर में 24 MH60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीदेगा। इसके अलावा 80 करोड़ डॉलर में छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर भी खरीदे जाएंगे। भारत आए ट्रंप ने कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के इस रक्षा समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

आतंकवाद के खिलाफ कदम उठाए पाकिस्तान

India will become super power: बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी को लेकर दोनों देशों में सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अपनी धरती पर पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए उपाय करे। प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

India will become super power: ट्रंप ने अपने शानदार स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया। मेलानिया और मैं भारत की महिमा और भारतीय लोगों की असाधारण उदारता और आदर से विस्मित हैं। हम आपके (मोदी) गृह राज्य के नागरिकों द्वारा किए गए शानदार स्वागत को हमेशा याद रखेंगे। हम यहां से सुखद अनुभव साथ लेकर जाएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का स्वागत करने के लिए एक लाख से अधिक लोग आए थे।

India will become super power: इधर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारियों में से एक है। भारत और अमेरिका के बीच बीच ड्रग तस्करी, आतंकवाद और संगठित अपराध जैसे गंभीर अपराधों के बारे में एक नया तंत्र बनाने पर सहमति बनी है।

Categories
Jobs

ISRO Recruitment 2020: दसवीं पास के लिए इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) में नौकरी का मौका, आवेदन 6 मार्च तक

इसरो अर्थात भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) को तकनीशियन-बी, ड्राफ्ट्समैन-बी और तकनीशियन-सहायक की आवश्यकता है। इसके लिए (ISRO) इसरो ने भर्तियां निकाली हैं। उम्मीदवार सिर्फ ऑनलाइन आवेदन ही कर सकते हैं। अन्य माध्यम से आवेदन स्वीकार नहीं होगा।

 

ISRO Recruitment 2020:

आवेदन की तिथि
ISRO Recruitment 2020: ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 15 फरवरी, 2020 को शुरू होकर 06 मार्च, 2020 तक चलेगी। फीस 07 मार्च, 2020 तक जमा कराई जा सकेगी।
ISRO ने तकनीशियन-बी, ड्राफ्ट्समैन-बी और तकनीशियन-सहायक आदि के 182 पदों पर भर्ती निकाली है। भर्ती के लिए परीक्षा होगी। परीक्षा एडमिट कार्ड परीक्षा से कुछ दिन पहले जारी किए जाएंगे।

ये है आवेदन शुल्क
आवेदन के लिए सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 500 रुपये आवेदन फीस देनी होगी। अन्य आरक्षित वर्ग उम्मीदवारों को कोई आवेदन फीस नहीं देनी होगी।

ये होनी चाहिए योग्यता
आवेदन से पहले उसके लिए मांगी गई पात्रता को जांच लें। अगर सभी मानदंड पूरा करते हैं तो ही आवेदन करें। सभी पदों के लिए शैक्षिक योग्यता अलग-अलग है, लेकिन उम्मीदवार का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं पास होना अनिवार्य है। उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए। पात्रता की अधिक जानकारी नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।

ऐसे करें आवेदन
आवेदन के लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। होम पेज पर खुलने वाले Career आइकन पर क्लिक करें। एक नई विंडो खुलेगी जिस पर दिए गए लिंक पर क्लिक करें। जिस पद के लिए आवेदन करना है, उस पद के लिंक पर क्लिक करें। मांगे जा रहे सभी विवरण दर्ज करके आवेदन करें।

ISRO भर्ती 2020 की अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें।
https://apps.isac.gov.in/TA-2020/advt.jsp

आवेदन के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
https://apps.isac.gov.in/TAHSFC-2019/advt.jsp

Categories
Results

10thBoard CBSE Exam 2020: ऐसे होंगे गणित के दो पेपर, ध्यान से पढ़ लें परीक्षार्थी

CBSE 10thBoard Exam 2020: सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के सभी विषयों में गणित ऐसा विषय है जो छात्रों को परेशान करता है। इस साल पहली बार 10वीं के छात्रों के लिए गणित के एक नहीं दो पेपर होंगे। यहां जान लें कि ये दो पेपर कैसे होंगे और उनकी मार्किंग कैसे होगी।

बेसिक और स्टैंडर्ड मैथ्स

सीबीएसई की ओर से 2019 में घोषणा की गई थी कि 10वीं में मैथमेटिक्स के दो लेवल के पेपर होंगे। एक बेसिक लेवल और दूसरा स्टैंडर्ड लेवल का पेपर होगा। जो छात्र 10वीं के बाद मैथ्स रखना चाहते हैं उनके लिए स्टैंडर्ड लेवल वाला पेपर होगा और जो छात्र मैथ्स नहीं रखना चाहते वे बेसिक लेवल वाला पेपर दे सकेंगे।

दोनों पेपर में ये है फर्क

स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स के मुकाबले बेसिक मैथमेटिक्स आसान होगी। लेकिन दोनों में इतना ही फर्क नहीं है। दोनों के वेटेज को लेकर भी फर्क है। बेसिक मैथमेटिक्स में 32 नंबर उन सवालों के लिए अलॉट किए हैं जिनके लिए फैक्ट्स, टर्म्स, कॉन्सेप्ट और आंसर याद रखना पड़ेगा। स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स में ऐसे ही सवालों के लिए 20 मार्क्स अलॉट किए गए हैं।

 

बेसिक मैथ्स में उन सवालों के लिए 28 नंबर अलॉट है जिसके जरिये किसी स्टूडेंट्स की कॉन्सेप्ट पर पकड़ को आंका जाता है और स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स में उसके लिए 23 मार्क्स अलॉट हैं। फार्मूले के आधार पर हल होने वाले सवाल के लिए बेसिक मैथमेटिक्स के पेपर में 12 मार्क्स जबकि स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स के पेपर में 19 मार्क्स होंगे। कुछ ऐसे सवाल जिनमें सूचना का विश्लेषण और मूल्यांकन करके जवाब देना होगा बेसिक मैथ्स के पेपर में उनके लिए 8 मार्क्स जबकि स्टैंडर्ड मैथ्स के पेपर में 18 मार्क्स होंगे।

Categories
Off Beat

रंग गोरा नहीं हुआ तो खरीदने वाले को देना होगा लाखों का मुआवजा, जेल में चक्की भी पीसनी पड़ेगी

विज्ञापनों में जिन क्रीम से रंग गोरा बनाने का दावा किया जाता है, उनसे रंग गोरा नहीं हुआ तो उन्हें बनाने और उनका विज्ञापन देकर झांसा देने वाली कम्पनियों के मालिकों, मैनेजरों और विज्ञापन में दावा करने वाले अभिनेताओं, खिलाड़ियों, सेलिब्रिटिज को पांच साल तक जेल में चक्की पीसनी पड़ेगी।

भ्रामक विज्ञापनों से लोगों को हो रही मानसिक और आर्थिक क्षति को देखते हुए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने औ​षधि और चमत्कारिक उपचार (आपत्तिजनक विज्ञापन अधिनियम, 1954) में संशोधन का प्रस्ताव पेश किया है। ऐसे विज्ञापन प्रसारित कराने वालों के खिलाफ अब 50 लाख रुपये का जुर्माना लगाए जाने के साथ-साथ उन्हें पांच साल की जेल की सजा दी जाएगी।
इसमें कहा गया है कि कंपनियां भ्रामक विज्ञापनों के जरिए लोगों का मानसिक और आर्थिक शोषण करते हुए मोटा मुनाफा कमा रही है और उन पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है। ऐसे में चमत्कारिक उपचार सहित 78 अन्य बीमारियों से संबंधित विज्ञापनों के प्रकाशन पर रोक लगाई जानी चाहिए।

इन बीमारियों के विज्ञापन नहीं करने देंगे

संशोधन प्रस्ताव में त्वचा को गोरा करने, यौन शक्ति बढ़ाने, बांझपन दूर करने, निसंतान का इलाज, हकलाना दूर करना, लंबाई बढ़ाना, समय से पहले बूढ़ा होना, बालों का झड़ना, बालों को सफेद होने से रोकना, एड्स से बचाव, मोटापे से छुटकारा, बिना वर्कआउट के वजन कम करना सहित 78 प्रकार के विज्ञापनों के प्रकाशन पर पूरी तरह से रोक लगा दी जाएगी।

 

ये सजा दी जाएगी

संशोधन प्रस्ताव में दी सजा की अवधि और जुर्माना बढ़ाने की दलील मंत्रालय ने भ्रामक विज्ञापन देने वालों के खिलाफ कड़ी सजा का प्रावधान करने की बात कही है। विज्ञापन देने वालों पर पहली बार चेतावनी के रूप में 10 लाख रुपये का जुर्माना और दो साल की जेल दी जाएगी। यदि इसके बाद भी वह विज्ञापन जारी करते हैं तो 50 लाख रुपये जुर्माना और पांच साल की सजा दी जाएगी। मंत्रालय का मानना है कि कड़ी सजा से ही ऐसे विज्ञापनों पर रोक लगाई जा सकती है। मंत्रालय की ओर से अधिनियम में संशोधन के लिए लोगों, संबंधित कंपनियों से सुझाव और आपत्तियां भी मांगी जाएगी। संशोधन का नोटिस जारी होने के 45 दिन की अवधि में सुझाव भेजे जा सकेंगे।

इन विज्ञापनों पर रहेगी रोक

संशोधन प्रस्ताव में भ्रामक उत्पादों का प्रकाश, ध्वनि, गैस, प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, इंटरनेटर या वेबसाइट के जरिए दिखाई या सुनाई देने वाले किसी भी तरीके से विज्ञापन नहीं करने की बात कही गई है। इन उत्पादों के समर्थन में कोई भी नोटिस, परिपत्र, पम्फलेट, ब्रोशर, बैनर, होर्डिंग्स, पोस्टर सहित कोई भी दस्तावेज ना तो छापा जाएगा और ना ही उसे वितरित किया या दीवारों पर चिपकाया जाएगा।

प्रसिद्ध हस्तियां भी नहीं कर सकेंगी प्रचार

भ्रामक विज्ञापनों के प्रचार और प्रसार पर रोक लगाने के साथ कोई भी प्रसिद्ध हस्ती भी ऐसे उत्पादों का समर्थन और प्रचार नहीं कर सकेगी। ऐसा करने पर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। मंत्रालय का मानना है कि आजमन प्रसिद्ध हस्तियों को रोल मॉडल मानते हैं और उनके द्वारा कही गई बातों का अनुकरण करते हैं। इसका सीधा असर जनता पर होता है।

टेलीविजन चैनलों को पहले दी जा चुकी है चेतावनी

भ्रामक विज्ञापनों पर रोक के लिए सरकार की ओर से पहले भी कदम उठाए गए थे। लोगों के मानसिक और आर्थिक शोषण को देखते हुए सरकार ने साल 2017 की शुरुआत में सभी टेलीविजन चैनलों को अपने शौ के दौरान किसी भी प्रकार के भ्रामक विज्ञापन नहीं दिखाने के लिए निर्देश दिए थे। उस दौरान कहा गया था कि चैनल केवल लाइसेंसधारी दवा और उत्पादों का ही विज्ञापन कर सकते हैं।

 

Categories
Business

भारत में जल्द ही काले बाजार में बिकेगी इस कम्पनी की आलू की चिप्स

गुजरात के किसान संगठनों ने आज यहां बहुराष्ट्रीय खाद्य एवं पेय पदार्थ विक्रेता कंपनी पेप्सिको इंडिया के नाम से प्रोटेक्शन ऑफ प्लांट वरायिटिज एंड फार्मर्स राइट्स एक्ट 2001 के तहत रजिस्टर्ड आलू की एक किस्म, जिसकी खेती के लिए कंपनी ने कुछ माह पहले गुजरात के कई किसानों पर भारी मुआवजे की मांग करते हुए मुकदमे दायर किये थे पर बाद में वापस ले लिये थे, की आज यहां सांकेतिक रोपाई कर विरोध प्रदर्शन किया।

किसान संगठनों ने कहा कि कानून के तहत किसानों की स्वतंत्रता और बीज के चयन के उनके अधिकार पर रोक नहीं लगायी जा सकती है। उन्होंने कंपनी को किसानों के कानून प्रदत्त अधिकारों का अतिक्रमण नहीं करने की चेतावनी भी दी।

एफएल 2027/एफसी-5 नाम के आलू की इस किस्म जिसका उपयोग कंपनी चिप्स बनाने के लिए करती है, की सांकेतिक रोपाई कर विरोध प्रदर्शन के मौके पर किसान बीज मंच के प्रतिनिधि कपिल शाह ने कहा कि कंपनी ने एक मामले में किसानों के खिलाफ अपनी कार्रवाई को उचित ठहराते हुए दलील दी थी। कंपनी किसानों के बीच भय पैदा करना चाहती है जो निंदनीय है। आलू की इस किस्म की सांकेतिक रोपाई का उद्देश्य किसानों को उनके कानूनी अधिकार के प्रति जागरूक करना है और साथ ही कंपनी को यह जताना भी है कि किसानों को डराया नहीं जा सकता।

इस मौके पर भारतीय किसान संघ के विट्ठल पटेल ने किसानों को बीज के चयन संबंधी संप्रभुता को समझने का आहवान किया। उन्हें यह समझना चाहिए कि बीज के चयन के मामले में उन्हें किसी से डरने की जरूरत नहीं है। गुजरात किसान सभा और गुजरात खेड़ूत समाज के प्रतिनिधियों ने अधिक से अधिक किसानों को इस सत्याग्रह में शामिल होने और उनके अधिकारों के बारे में जागरूकता फैलाने का आहवान किया।

Categories
Entertainment

गोवा में नाचते समय बिल्लौरी आंखों को अनूठे अंदाज में मटकाती है ये सुंदरी

गांधी, आवारा, बाहुबली और बाजी राव मस्तानी समेत 56 चर्चित देशी-विदेशी फिल्मों की क्लिप से तैयार थीम सांग को 20 नवम्बर से शुरू हो रहे 50 वें अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह के उद्घाटन में दिखाया जाएगा और इस समारोह के लिए रेडियो जिंगल भी तैयार किया गया है।
सुप्रसिद्ध नृत्यांगना गीता चंद्रन और ग्रैमी अवार्ड विजेता संगीतकार रिकी रोज ने यह थीम सांग तैयार किया है। यह सांग नौ रसों पर आधारित है। सूचना प्रसारण सचिव अमित खरे ,श्रीमती गीता चंद्रन और रिकी रोज तथा फ़िल्म समारोह आयोजन समिति के सदस्य एवम लव स्टोरी फ़िल्म के निर्माता राहुल रवैल ने बुधवार को यहां इस मनमोहक थीम सांग को जारी किया।

खरे ने पत्रकारों से कहा कि 20 नवम्बर से 50 वां अंतरराष्ट्रीय फ़िल्म समारोह गोआ के पणजी में आयोजित किया जा रहा है जिसमें 76 देशों की 200 से अधिक फिल्में दिखाई जा रही है। उस समारोह के लिए पद्मश्री से सम्मानित नृत्यांगना गीता चंद्रन और उनके सहयोगी रिकी रोज ने एक सुंदर थींम सांग तैयार किया है जिसकी अवधि करीब पौने तीन मिनट है। भारत में संगीत नृत्य एवं थिएटर की हज़ारों वर्ष पुरानी परंपरा रही है जिसे इस थीम सांग में फिल्मों से जोड़कर तैयार किया गया है। इसे राष्ट्रीय फ़िल्म विकास निगम ने तैयार किया है।

श्रीमती चंद्रन ने कहा कि इस थीम सांग के लिए 55 चुनिंदा फिल्मों की क्लिप्स को चुना गया है और इसमें श्रृंगार रस, अदभुत रस, रौद्र रस, हास्य रस, वीर रस, करुणा रस, वीभत्स रस, शांत रस, भयानक रस को दिखाया गया है। इस लघु फ़िल्म में धप्पा, मकबूल, सलाम बॉम्बे, तारे जमीन पर, हेल्लरो आदि शामिल है। उन्होंने बताया कि इस लघु फिल्म में गीता चन्द्रन के अलावा भारती शिवजी अरुणा मोहंती राजेन्द्र गंगानी जैसे नर्त्तक एवम नृत्यांगनाएं है।

इस लघु फ़िल्म में नरगिस, दीप्ति नवल, प्रियंका चोपड़ा और ओम पुरी तथा बिन किंग्सले जैसे लोगों के फुटेज भी हैं। उन्होंने कहा कि नौ रसों से ही हमारी कला के सम्पूर्ण भाव व्यक्त होते है। इसमें नृत्य, संगीत, नाटक सबको शामिल किया गया है जो भारतीय संस्कृति की विविधता है। इसी समारोह में बिग बी अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा तथा सुपरस्टार रजनीकांत को ‘आईकॉनिक’ अवार्ड से नवाजा जाएगा।

Categories
international

फांसी देने की तैयारी थी लेकिन बीमारी की वजह से फिलहाल बख्श दी गई इस पूर्व प्रधानमंत्री की जान

अपने पूर्व प्रधानमंत्रियों को फांसी पर लटकाने के लिए कुख्यात इस मुस्लिम देश ने अपने एक पूर्व प्रधानमंत्री की जान इस शर्त पर बख्श दी कि जब तक वे देश से बाहर रहेंगे, उनकी बेटी पाकिस्तान में रहेगी। भ्रष्टाचार मामले में जेल की सजा काट रहे एवं गंभीर रूप से बीमार होने के कारण अस्पताल में भर्ती पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-नवाज) के अध्यक्ष नवाज शरीफ डाक्टरों के मशविरे और परिजनों के दबाव में इलाज कराने के लिए विदेश जाने पर राजी हो गये हैं।
शरीफ परिवार के एक सूत्र ने डॉन को बताया कि शरीफ आखिरकार लंदन जाने को तैयार हो गए हैं, क्योंकि डॉक्टरों ने उन्हें स्पष्ट रूप से बता दिया है कि वे पहले ही पाकिस्तान में उपलब्ध सभी चिकित्सा उपचार (विकल्पों) करा चुके हैं इसलिए उनके पास विदेश जाना ही एकमात्र विकल्प बचा है। इसके बाद पीएमएल-एन ने इमरान खान सरकार के साथ शरीफ की विदेश यात्रा के बारे में डॉक्टरों की सिफारिशों को साझा किया था। उन्होंने कहा,“डॉक्टरों की रिपोर्टों के अनुसार, सरकार की ओर से एक या दो दिन में शरीफ का नाम एक्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) से हटाने की संभावना है ताकि वह देश से बाहर जाने में सक्षम हो सकें।”

सूत्र ने कहा कि शरीफ ईसीएल से अपना नाम हटाये जाने के बाद इसी सप्ताह लंदन के लिए रवाना हो सकते हैं। उन्होंने कहा,“हालांकि शरीफ सैन्य अस्पताल के मेडिकल बोर्ड की सिफारिशों और शरीफ मेडिकल सिटी के मेडिक्स एवं अपने परिवार के सदस्यों के अनुरोध के बाद भी विदेश जाने के लिए तैयार नहीं थे। अब वह आखिरकार विदेश जाने पर सहमत हो गए।”
सूत्र ने कहा कि शरीफ की बेटी मरियम नवाज अपने पिता के साथ नहीं जा सकेंगी क्योंकि उन्होंने चौधरी शुगर मिल घोटाला मामले में जमानत के खिलाफ अपना पासपोर्ट लाहौर उच्च न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था। सूत्र ने कहा,“इस समय शरीफ का स्वास्थ्य अधिक मायने रखता है क्योंकि वह अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सुश्री मरियम नवाज बाद में अपने पिता की देखभाल के लिए लंदन जाने का विकल्प तलाश सकती हैं।”
वर्तमान में, शरीफ का प्लेटलेट काउंट घटकर 24,000 रह गया है। डॉक्टरों के अनुसार, एक मरीज को हवाई यात्रा के लिए फिट घोषित किए जाने के लिए 50,000 प्लेटलेट्स और उससे अधिक की आवश्यकता होती है। सूत्र ने कहा कि डॉक्टर उन्हें प्लेटलेट्स बढ़ाने के लिए उच्च खुराक दे सकते हैं, जिससे वह यात्रा करने में सक्षम हो सकें।

गृह मंत्री सेवानिवृत्त ब्रिगेडियर एजाज शाह पहले ही शरीफ को विदेश जाने की अनुमति देने का संकेत दे चुके हैं। उन्होंने कहा,“अगर इलाज के लिए विदेश जाना नवाज़ शरीफ़ के लिए एकमात्र विकल्प है, तो सरकार रास्ता निकालेगी।” सरकार की सहयोगी पाकिस्तान मुस्लिम लीग के अध्यक्ष चौधरी शुजात हुसैन ने भी प्रधानमंत्री इमरान खान से शरीफ को उनके इलाज के लिए देश छोड़ने की अनुमति देने के लिए कहा है। इस बीच, पीएमएल-एन की सूचना सचिव एम औरंगजेब ने कहा कि नवाज शरीफ के प्लेटलेट्स के फिर से खतरनाक स्तर पर गिरने के बाद उनका इलाज करने वाले डॉक्टरों के बोर्ड की एक आपात बैठक बुलाई गई। उन्होंने एक बयान में कहा कि डॉक्टरों ने शरीफ की स्थिति को अत्यंत गंभीर बताया है।
पूर्व प्रधानमंत्री को बुधवार को सैन्य अस्पताल से उनके जाटी उमरा निवास में स्थित गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में स्थानांतरित कर दिया गया। पीएमएल-एन ने कहा कि विशेष आईसीयू की स्थापना डॉक्टरों की सिफारिशों पर की गई थी और शरीफ मेडिकल सिटी के डॉक्टर चौबीसों घंटे वहां उपलब्ध रहेंगे।

नवाज की बेटी मरियम, जिन्हें पंजाब सरकार ने अपने पिता की देखभाल के लिए सैन्य अस्पताल में रहने की विशेष अनुमति दी थी, बुधवार को चौधरी शुगर मिल मामले में जमानत पर रिहा होने के बाद रायविंड में स्थित जाटी उमरा के लिए रवाना हुईं। गौरतलब है कि सैन्य अस्पताल में उपचार के दौरान शरीफ को उनके उतार-चढ़ाव वाले प्लेटलेट्स की वजह से मसूड़ों और कुछ अन्य भागों से रक्तस्राव की शिकायत के अलावा, एनजाइना का दौरा भी पड़ा था।
इस्लामाबाद उच्च न्यायालय ने पिछले सप्ताह शरीफ को चिकित्सा आधार पर अल-अजीजिया स्टील मिल्स घोटाला मामले में सुनाई गई सात साल की सजा को स्थगित करते हुए आठ सप्ताह के लिए जमानत दे दी थी। इससे पहले, शरीफ को इसी आधार पर लाहौर उच्च न्यायालय से चौधरी शुगर मिल घोटाला मामले में भी जमानत मिल गई।

Categories
Tech

होंडा भारत में करेगी ऐसी मोटरसाइकिल लांच जो 3 सैकिंड में पकड़ लेगी 100 की रफ्तार

जापानी कम्पनी होंडा एक ऐसी मोटरसाइकिल भारत में लांच करेगी जो मात्र 3 सैकिंड में 100 की रफ्तार पकड़ लेगी। यह जानकारी कम्पनी के ब्रांड ऑपरेटिंग प्रमुख और उपाध्यक्ष प्रभु नागराज ने दी। दुपहिया वाहन निर्माण की प्रमुख कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड भारतीय बाजार में अगले साल प्रीमियम श्रेणी की मोटरसाइकिल और स्कूटर उतारने की आक्रमक रणनीति बना रही है जिससे भारतीय बाजार की संभावनाओं का पूरा इस्तेमाल किया जा सके। कंपनी के ब्रांड ऑपरेटिंग प्रमुख और उपाध्यक्ष प्रभु नागराज ने बताया कि भारतीय बाजार में प्रीमियम श्रेणी के दुपहिया वाहनों की मांग में भारी इजाफा हो रहा है। देश में युवाओं में प्रीमियम श्रेणी के वाहनों में रूचि बढ़ रही है। परंपरागत तौर पर भारतीय बाजार यात्री वाहनों के लिए जाना चाहता है लेकिन अर्थव्यवस्था का स्वरूप बदलने और व्यक्तिगत आय बढ़ने के कारण प्रीमियम श्रेणी के वाहनों की बिक्री में वृद्धि हो रही है।

होंडा भारतीय बाजार में उन दुपहिया वाहनों को भी भारतीय युवाओं के लिए पेश करने की तैयारी कर रहा है जो अभी तक यूरोपीय बाजार में ही देखे जा सकते हैं। कंपनी यूरोप के पर्यावरण मानकों को पूरा कर रही है और इन वाहनों को भारतीय बाजार में भी उतारा जाएगा। इससे पहले कंपनी के यूरोपीय क्षेत्र के वरिष्ठ उपाध्यक्ष टॉम गार्डनर ने मोटरसाइकिल सीबीआर 1000 आर आर के नए संस्करण को वैश्विक स्तर पर जारी किया।
इसमें नई तकनीक का इस्तेमाल किया गया है जिसके कारण यह पर्यावरण के आधुनिक मानकों के अनुरूप है और इसकी क्षमता में भी वृद्धि की गई है। इसके साथ ही एस एच 125 आई , सीएमएस 500 रिबेल और अफ्रीका ट्विन के नए संस्करण भी वैश्विक बाजार में उतारे गये है तथा सीबी 1000 आर, मोटरसाइकिल का नया संस्करण जारी किया गया। यह सभी वाहन वर्ष 2020 की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए तैयार किए गए हैं। जारी किए गए सभी दुपहिया वाहन भारतीय ग्रामीण परिस्थितियों और आवश्यकता के अनुरूप है। इन सभी वाहनों को अगले वर्ष के अंत तक भारतीय बाजार में जारी कर दिया जाएगा।

नये वाहन निश्चित रूप से भारतीय युवाओं और उपभोक्ताओं को पसंद आएंगे। कंपनी ग्रामीण क्षेत्रों में भी अपना डीलर नेटवर्क बढ़ाने की योजना भी बना रही है। इस योजना को प्रयोग के तौर पर गुड़गांव में लागू किया जा चुका है और यह सफल रही है। उन्होंने बताया कि दिवाली के अवसर पर कंपनी के दुपहिया वाहनों की बिक्री से यह साफ हो गया है कि भारतीय बाजार में होंडा के वाहनों के प्रति भरोसा है और कंपनी इसका पूरा लाभ उठाएगी।

देश में स्वच्छ ऊर्जा से चलने वाले वाहनों के लिए होंडा अगले साल अनुकूलता रिपोर्ट तैयार करेगी। भारत में अभी बिजली से चलने वाले वाहनों के लिए बुनियादी ढांचा विकसित करने की जरूरत है। मोटरसाइकिल और स्कूटर जैसे दुपहिया वाहनों की ग्रामीण क्षेत्रों में भारी मांग है तथा ज्यादातर लोग दुपहिया वाहनों का इस्तेमाल रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं। ऐसे में इनके लिए बुनियादी ढांचा विकसित करना जरूरी है।



		
Categories
National

गुस्से में उत्तरभारत से निकले बादल समुद्र किनारे जाकर फटे, इस राज्य के सात जिले डूबे

केरल के सात जिलों में भारी बारिश के कारण सात जिलों में ओरेंज अलर्ट जारी किया गया जबकि तिरुवनंतपुरम और एरनाकुल्म जिले में भारी बारिश की चेतावनी के कारण स्कूलों में छुट्टी की घोषणा की गयी है। राज्य में अगले चार दिनों तक भारी बारिश जारी रहने की संभावना है।
आधिकारिक बयान के अनुसार एरनाकुल्म, त्रिवेंद्रम, त्रिसुर, पलक्कड, मलापुरम, अलपुझा और वायानाड जिले में 21 अक्टूबर को ओरेंड अलर्ट जारी किया गया है। एरनाकुल्म, इडुकी, त्रिसुर, पलक्कड, मलापुरम, कन्नूर और कासारागोड जिले में 22 अक्टूबर के लिए ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक इन क्षेत्रों के कुछ स्थानों में 115 से 204.5 मिलीमीटर तक बारिश की संभावना है।

कोल्लम, पथानामथिट्टा, एरनाकुल्म, इडुकी, त्रिसुर, मलापुरम, कोझिकोड, वायानाड, कासारागोड और कन्नूर जिले में 23 अक्टूबर के लिए ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है जबकि इनमें से ज्यादात्तर क्षेत्रों के लिए 24 अक्टूबर के लिए भी ओरेंज अलर्ट जारी किया गया है।
इधर पांच विधानसभा सीटों पर सोमवार को हो रहा मतदान शुरू में भारी बारिश के कारण बाधित हुआ। तिरुवनंतपुरम और एर्नाकुलम जिले में भारी बारिश हो रही है जिससे मतदान भी प्रभावित है।

बारिश के कारण कम हो रहा मतदान प्राय: सभी राजनीतिक पार्टियों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। अन्य इलाकों में मतदाता सुबह से ही मतदान करने के लिए लाइन में लगे हुए हैं। राज्य में 896 मतदान केंद्रों पर मतदान हो रहा है। मतदान शाम छह बजे तक चलेगा। पांच विधानसभा क्षेत्रों में 4,91,455 महिला और सात ट्रांसजेंडर सहित 9,57,509 से अधिक मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करके 35 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। सभी निर्वाचन क्षेत्रों में सत्तारूढ़ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी नीत लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट(एलडीएफ), कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) और भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के बीच कांटे की लड़ाई देखने को मिल रही है।

राज्य में उपचुनाव के लिए लगभग 3,696 पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है। चुनाव आयोग ने राज्य में मतदान ड्यूटी के लिए 5,225 अधिकारियों को तैनात किया गया है। लोकसभा चुनाव में चार मौजूदा विधायकों- एच ईडन (एर्नाकुलम), अदूर प्रकाश (रान्नी), के मुरलीधरन (वट्टीयोर्कावु) और ए एम आरिफ (अरूर) की जीत के बाद उनके विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहे हैं। मानचेश्वरम सीट पर आईयूएमएल के विधायक अब्दुल रजाक के निधन के कारण उपचुनाव हो रहा है। चुनाव परिणाम 24 अक्टूबर को आयेंगे।