Categories
Crime

गरीबों की किचन में परोस रहे थे शराब, मयखाना चलाने वाले दो विदेशी गिरफ्तार

लॉकडाउन में फंसे गरीबो को भोजन मुहैया कराने के नाम पर चलाए जा रहे किचन में मयखाने चलाए जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने ऐसे ही एक मयखाने का भंडाफोड़ करके दो विदेशियों को गिरफ्तार किया है। अफ्रीकी मूल के दोनो विदेशी के कब्जे से अवैध शराब भी बरामद की गयी है।

इस सिलसिले में आरोपियों के खिलाफ मोहन गार्डन थाने में आपराधिक मामला दर्ज कराया गया है। गिरफ्तार दोनो अफ्रीकी युवकों की उम्र 30 और 22 साल है।
डीसीपी के मुताबिक, 22-23 अप्रैल की मध्य रात्रि में करीब ढाई बजे इस संदिग्ध किचन के बारे में सूचना मिली थी। यह किचन मोहन गार्ड के विपिन गार्डन में चल रहा था। किचन की आड़ में चल रहे मयखाने का पर्दाफाश करने के लिए प्रशिक्षु आईपीएस अक्षत कौशल, एसएचओ मोहन गार्डन अरुण कुमार, सहायक उप निरीक्षक संजय धामा, हवलदार लोकेंद्र और एसीपी मोहन गार्डन विजय सिंह की तीन टीमें बनाई गयीं।

योजना बनाकर किचन को घेर लिया

इन्हीं टीमों ने योजना बनाकर किचन को घेर लिया। पुलिस टीमों ने जब छापा मारा तो, मौके से पुलिस को 11 बीयर की बोतलें, 3 क्वार्टर बोतल, बीयर की कई खाली बोतलें मिलीं। मौके पर मौजूद मिले दोनो अफ्रीकी मूल के युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। छानबीन के दौरान दोनो आरोपी विेदेशी युवक भारत में अपने ठहरने का कोई वैध दस्तावेज भी नहीं दिखा पाये।
छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि, जिस मकान में किचन के अंदर चोरी छिपे ये मयखाना चल रहा था वो, किराये पर था। पता चला कि मकान मालिक ने भी बिना कोई वेरीफिकेशन कराये हुए ही विदेशी युवकों को किराये पर मकान दे दिया था। लिहाजा मकान मालिक के खिलाफ भी पुलिस ने अलग से एक और मामला दर्ज किया है।

Categories
Off Beat

तेजस में सफर करेंगे लौकी, टमाटर, टिंडे, धनिया, खबर सुनते ही मुंह के बल जा गिरा……

देश में प्राइवेट ट्रेन चलाने का रास्ता साफ हो गया है. रेलवे 150 ट्रेनों को पब्लिक प्राइवेट पाटर्नरशिप के तहत चलाए जाएगा. देश के प्रमुख पर्यटन स्थलों को जोड़ने के लिए तेजस एक्सप्रेस ट्रेने चलाई जाएगी. रेलवे पीपीपी के जारिए किसान रेल चलाएगा. किसान रेल सेवा में रेफ्रिजरेटिड बोगिया भी होंगी, ताकि कृषि उत्पाद को आसानी और समय से बाजार तक पहुंचाया जा सके.

किसान रेल सेवा के अलावा किसानों की आय बढ़ाने और उनके उत्पादों को सही मूल्य दिलाने के लिए ‘किसान उड़ान योजना’ भी शुरु होगी. किसानों की उपज को विशेष विमान सेवा के जरिए एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाया जाएगा. इससे सामान जल्द बाजार में पहुंंच सकेगा. दूध, मांस समेत जल्द खराब होने वाली वस्तुओं को इस योजना के तहत पहुंचाया जाएगा.

किसान रेलगाड़ियां सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) के तहत चलाने का प्रस्ताव है. इससे ऐसे उत्पादों की ढुलाई तेजी से हो सकेगी. चुनिंदा मेल एक्सप्रेस और मालगाड़ियों के जरिये जल्द खराब होने वाले सामान की ढुलाई के लिये रेफ्रिजरेटिड पार्सल वैन का भी प्रस्ताव है. जल्द खराब होने वाले फल, सब्जियों, डेयरी उत्पादों, मछली, मांस आदि को लंबी दूरी तक ले जाने के लिये इस तरह की तापमान नियंत्रित वैन की जरूरत है.

मोदी सरकार के दूसरे बजट में नौकरी पेशा करदाताओं को आयकर में राहत देने के साथ ही कंपनियों को लाभांश वितरण कर से मुक्ति देने की घोषणा की गई है. रसोई और भोजन की मेज पर इस्तेमाल होने वाले बर्तनों, बिजली के सामान से लेकर चप्पल जूते, फर्नीचर, स्टेशनरी और खिलौनों पर सीमा शुल्क बढ़ा दिया है. नई आयकर व्यवस्था में ढाई लाख रुपये तक की सालाना आय को पहले की तरह कर मुक्त रखा गया है जबकि ढाई लाख रुपये से लेकर पांच लाख रुपये की आय पर 5 प्रतिशत की दर से आयकर देय होगा. व्यक्तिगत आयकर की मौजूदा व्यवस्था में ढाई लाख रुपये की सालाना आय पूरी तरह से करमुक्त है. कंपनियों को लाभांश कर से निजात देने की भी बजट में घोषणा की गई. अब कंपनियों के बजाय लाभांश प्राप्त करने वाले को कर देना होगा. प्रत्यक्ष कर क्षेत्र में व्यापक सुधार उपायों को आगे बढ़ाते हुये पुराने विवादित कर मामलों का निपटान करने के लिये ‘‘विवाद से विश्वास’’ योजना की घोषणा की गई है. बैंक में जमा राशि पर बीमा सुविधा को मौजूदा एक लाख रुपये से बढ़ाकर पांच लाख रुपये करने की घोषणा की गई है. हालांकि, शेयर बाजार की प्रतिक्रिया काफी तीखी रही है. बंबई शेयर बाजार का सूचकांक बजट के बाद 988 अंक गिर गया.