Categories
Tech

गंदी वेबसाइटें हो गई बंद तो लोगों ने निकाल लिया ये रास्ता, अचानक बढ़ गया…

देशभर में पोर्न वेबसाइट्स को बैन कर दिया गया है। विशेष तौर पर बाल यौन अपराधों को देखते हुए ये कदम उठाया गया है। सबसे पहले जियो नेटवर्क पर ये बैन लागू हुआ। इसके बाद अन्य कंपनियों ने भी इन साइट्स पर पाबंदी लगा दी है। लेकिन इस कदम से कुछ साइट्स के मजे हो गए हैं। पोर्न बैन का सबसे ज्यादा फायदा उन्हें ही हो रहा है। आइए जानते हैं किसे हो रहा है फायदा:

देश में किसी भी तरीके से पोर्न नहीं देख पाने के चलते यूजर दूसरी साइट्स पर अपनी तलाश पूरी करने में लगे हैं। ऐसे में उन वीडियो साइट्स और सोशल अकाउंट्स को फायदा मिलने लगा है जो उत्तेजक वीडियो दिखाती हैं। यूट्यूब पर हजारों वीडियो मौजूद हैं जिनमें भाभी, देवर, कामवाली, पड़ोसन, टीचर इत्यादि टाइटल होते हैं। हालांकि इन्हें पोर्न नहीं कहा जा सकता है। लेकिन शायद इन्हें देखने के बाद व्यक्ति पोर्न ही देखना चाहेगा।

इन यूट्यूब चैनलों पर अब लाखों की संख्या में लोग विजिट कर रहे हैं। जिन वीडियोज के व्यूज पहले हजारो में थे उनके लाखों हो गए और जिनके लाखों में थे उनके करोड़ों हो गए।

इस तरह के कई मोबाइल एप्स भी मौजूद हैं जिनमें इस तरह के कामुक वीडियो यूजर ही डालते हैं और बाकी लोग देखते हैं। इंस्टाग्राम पर आज भी आपको लाखों की संख्या में ऐेसे वीडियोज मिल जाएंगे जिनमें कामुकता भरी पड़ी है। इनमें बॉलीवुड स्टार पूनम पांडे भी शामिल है। पूनम अपने फैंस को ललचा कर अपने एप पर आने को कहती हैं। इनकी इंस्टाग्राम पोस्ट भी ऐसे ही वीडियोज से भरी पड़ी है।

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि सोशल साइट्स पर आज भी पोर्न वीडियोज शेयर किए जा रहे हैं। हालांकि ना तो कोई इस बारे में शिकायत कर रहा है और ना ही कोई मुंह खोल रहा है। बस लोग एक—दूसरे को ऐसे वीडियोज शेयर जरूर कर रहे हैं।

Categories
National

अफवाह फैलाने से रोकने के लिए दक्षिणी कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं पर रोक

जम्मू कश्मीर में अफवाह फैलाने से रोकने के लिए एहतियातन निलंबित की गयी इंटरनेट सेवाएं दक्षिण कश्मीर में आज स्थगित रखी गयी जबकि मध्य कश्मीर में इंटरनेट पर लगी पाबंदियों को हटा लिया गया है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि शोपियां जिले समेत पूरे दक्षिण कश्मीर में भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) समेत सभी मोबाइल इंटरनेट और ब्राडबैंड सेवाओं पर रोक जारी है।

 Internet Services
Internet Services

 

रविवार को शोपियां जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों की मुठभेड़ में पांच आतंकवादियों और प्रदर्शनों में छह आम नागरिकों की मौत हो गयी थी। मध्य कश्मीर के श्रीनगर, बड़गाम और गंदेरबल जिलों में इंटरनेट सेवाओं पर तीन दिनों से लगी रोक को हटा लिया गया है। यहां अफवाह फैलने से रोकने के लिए यह रोक लगायी गयी थी।श्रीनगर में सभी मोबाइल कंपनियों की इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गयी हैं।

श्रीनगर में बीएसएनएल की ब्राडबैंड सेवा और अन्य कंपनियों की प्वाइंट टू प्वाइंट इंटरनेट सेवाएं सामान्य रूप से काम कर रही हैं हालांकि इंटरनेट की स्पीड यहां काफी कम है। यहां रामपुरा छताबल में शनिवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों की मुठभेड़ में लश्कर-ए-तयैबा के तीन आतंकवादी और प्रदर्शनकारियों द्वारा पथराव के समय पुलिस वाहन से टकराने से एक युवक की मौत हो गयी थी। इसके बाद एहतियान मोबाइल इंटरनेट सेवाओं पर रोक लगा दी गयी थी।मध्य कश्मीर के अन्य जिलों गंदेरबल और बड़गाम में भी इंटरनेट सेवाएं बहाल कर दी गयी हैं।उत्तर कश्मीर में भी इंटरनेट सेवाएं सामान्य रूप से जारी हैं।

[divider style=”dotted” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज