Categories
international

India will become super power: ये हथियार मिलते ही एशिया में खत्म हो जाएगी चीन की दादागिरी, भारत बनेगा सुपर पॉवर

India will become super power: हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल से निजात पाने के लिए भारत को जल्द ही वे हेलीकॉप्टर मिलने वाले हैं जो जमीन के साथ ही समुद्र में छोटी सी नाव से भी उड़ान भर सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर पानी के नीचे छुपी पनडुब्बियों के लिए यमराज माने जाते हैं। इनके मिलते ही हिंद महासागर में घूम रही चीनी पनडुब्बियां दुम दबाकर भाग निकलेंगी। इन हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है। द्विपक्षीय बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 

रोमियो और अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदेगा भारत

India will become super power:  जिस रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं, उसके तहत भारत 2.6 अरब डॉलर में 24 MH60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीदेगा। इसके अलावा 80 करोड़ डॉलर में छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर भी खरीदे जाएंगे। भारत आए ट्रंप ने कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के इस रक्षा समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

आतंकवाद के खिलाफ कदम उठाए पाकिस्तान

India will become super power: बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी को लेकर दोनों देशों में सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अपनी धरती पर पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए उपाय करे। प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

India will become super power: ट्रंप ने अपने शानदार स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया। मेलानिया और मैं भारत की महिमा और भारतीय लोगों की असाधारण उदारता और आदर से विस्मित हैं। हम आपके (मोदी) गृह राज्य के नागरिकों द्वारा किए गए शानदार स्वागत को हमेशा याद रखेंगे। हम यहां से सुखद अनुभव साथ लेकर जाएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का स्वागत करने के लिए एक लाख से अधिक लोग आए थे।

India will become super power: इधर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारियों में से एक है। भारत और अमेरिका के बीच बीच ड्रग तस्करी, आतंकवाद और संगठित अपराध जैसे गंभीर अपराधों के बारे में एक नया तंत्र बनाने पर सहमति बनी है।