Categories
sports

आईसीसी विश्वकप के सेमीफाइनल में पुहंचकर ये बोले आस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच

लंदन, । आईसीसी विश्वकप के सेमीफाइनल में आठवीं बार पहुंचने के बाद गत चैंपियन आस्ट्रेलिया के कप्तान आरोन फिंच ने कहा है कि विश्व की नंबर एक टीम तथा मेजबान इंग्लैंड को हराकर सेमीफाइनल में पहुंचना उनके लिये बहुत सुखद है।

इंग्लैंड के खिलाफ कल 64 रन की महत्वपूर्ण जीत हासिल करने के बाद फिंच ने कहा कि उनकी टीम इस टूर्नामेंट में संतुलित होकर खेल रही है और वह बहुत अच्छी लय में है। फिंच ने कहा, “हमने अब तक अच्छा क्रिकेट खेला है।

टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में क्वालीफाई करना इस विश्वकप का पहला पड़ाव है। मैं टीम के प्रदर्शन से काफी खुश हूं। हम सही दिशा में खेल रहे हैं। इंग्लैंड मजबूत टीम है और वह बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों ही क्षेत्रों में इतनी आसानी से हमें आगे बढ़ने नहीं दे सकती थी।”

Categories
sports

146 रन की साझेदारी से दिया 307 का लक्ष्य, भारत के पडोसी को वर्ल्ड कप में मिली शिकस्त

ओपनर डेविड वार्नर (107) के शानदार शतक और उनकी कप्तान आरोन फिंच (82) के साथ 146 रन की ओपनिंग साझेदारी के बदौलत गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के खिलाफ आईसीसी विश्वकप मुकाबले में बुधवार को 49 ओवर में 307 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।

ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने ओपनरों के शानदार साझेदारी के दम पर एक समय 350 से ऊपर के स्कोर की तरफ बढ़ती नजर आ रही थी लेकिन पाकिस्तानी गेंदबाजों खासतौर पर बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने शानदार वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के बढ़ते कदमों को रोक दिया। आमिर ने 10 ओवर में 30 रन पर पांच विकेट झटके। आमिर ने पहली बार वनडे में पांच विकेट लिए और अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

वार्नर और फिंच ने 22.1 ओवर में 146 रन की बेहतरीन साझेदारी की। एक समय ऑस्ट्रेलिया ने 34वें ओवर तक दो विकेट पर 223 रन बना लिए थे लेकिन इसके बाद बल्लेबाज पाकिस्तान की प्रभावशाली गेंदबाजी के सामने अपने विकेट गंवाते चले गए और पूरी टीम 49 ओवर में सिमट गयी। ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी छह विकेट मात्र 30 रन जोड़कर गंवाए। ऑस्ट्रेलिया को पिछले मुकाबले में भारत से हार का सामना करना पड़ा था।

वार्नर ने अपना 15वां शतक बनाया और 111 गेंदों पर 107 रन की पारी में 11 चौके और एक छक्का लगाया। वार्नर का पाकिस्तान के खिलाफ पिछले तीन मैचों में यह लगातार तीसरा शतक है।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान फिंच ने पाकिस्तान के खिलाफ अपने शानदार प्रदर्शन को विश्वकप में बरकरार रखते हुए 84 गेंदों पर 82 रन में छह चौके और चार छक्के लगाए। फिंच ने विश्वकप से पहले पाकिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में 116, नाबाद 153, 90, 39 और 53 रन बनाए थे।

Categories
sports

टेम्परिंग के बाद अाईसीसी करेगा खिलाड़ी संहिता की समीक्षा

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद(आईसीसी) ने ‘बॉल टेम्परिंग’ प्रकरण के बाद मैदान पर खिलाड़ियों के आचार संहिता से जुड़े अपने नियमों की समीक्षा करने का फैसला किया है।

David Richardson

यह भी देखिये-स्मिथ-वार्नर को ज्यादा कड़ी सज़ा दी गयी: आकाश

आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने गुरूवार को इसकी जानकारी दी। आस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों के दक्षिण अफ्रीका में खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ के तीसरे केपटाउन मैच के दौरान गेंद से छेड़छाड़ के मामले के सामने आने के बाद वैश्विक संस्था ने यह फैसला लिया है।

इस मामले में आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीवन स्मिथ, उपकप्तान डेविड वार्नर और कैमरन बेनक्राफ्ट शामिल पाये गये थे जिन्हें उनके राष्ट्रीय बोर्ड(सीए) ने क्रमश: एक एक साल और नौ माह के लिये निलंबित कर दिया है। रिचर्डसन ने कहा“ केपटाउन में जो हुआ उसने जल्द खिलाड़ियों की आचार संहिता को लेकर कदम उठाने की जरूरत पैदा कर दी है।

यह भी देखिये-जीएसएलवी-एफ08 रॉकेट का भारत ने किया सफल प्रक्षेपण

आईसीसी अधिकारी ने कहा“ बोर्ड के पूरे समर्थन के साथ हम खिलाड़ियों के आचार संहिता नियमों की दोबारा से समीक्षा कर रहे हैं ताकि खेल की भावना को बनाये रखा जाए। ” रिचर्डसन ने कहा कि पूर्व और मौजूदा क्रिकेटरों के साथ आईसीसी की क्रिकेट समिति, मेरिलबोन क्रिकेट क्लब(एमसीसी) और मैच अधिकारियों को एक साथ लाकर इन नियमों पर चर्चा किये जाने की योजना है।

रिचर्डसन ने कहा“ हम विभिन्न लोगों और समूह को एक साथ जोड़ने तथा पूर्व क्रिकेटरों को भी साथ लाने पर विचार कर रहे हैं ताकि खेल को कैसे खेला जाए इस पर निर्णय किया जा सके। मेरे दिमाग में जो खिलाड़ी हैं उनमें एलेन बार्डर, अनिल कुंबले, शॉन पोलक, कर्टनी वाल्श, रिची रिचर्डसन जैसे नाम हैं जिन्होंने पूरे जज्बे के साथ क्रिकेट खेला और इनकी आक्रामकता में आप गलती नहीं ढूंढ सकते।

यह भी देखिये-दिल्ली में मेट्रो हुई ख़राब ब्लू लाइन ख़राब दिल्लीवासियों में मचा हड़कंप

उन्होंने कहा कि खेल भावना को लेकर कोई सही परिभाषा नहीं है। जब अंपायर और रेफरी इसे लेकर आरोप लगाते हैं तो विरोधाभास पैदा हो जाता है। ऐसे में इन नियमों की परिभाषा तय किये जाने की जरूरत है ताकि यह स्पष्ट हो सके कि खिलाड़ियों का खेल की भावना को लेकर क्या दायरा हो सकता है।

Categories
sports

ग्लोबल टी-20 लीग कनाडा को आईसीसी से मिली मंजूरी

कनाडा की अपनी पहली घरेलू टी-20 लीग ग्लोबल टी-20 कनाडा को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) की ओर से स्वीकृति मिल गई है। इस स्वीकृति से क्रिकेट कनाडा काफी खुश है। गुरुवार को एक राजधानी दिल्ली में आयोजित एक समारोह में इसकी घोषणा की गई। इस लीग की शुरुआत इसी साल जुलाई में होगी। इस लीग की अवधारणा, प्रणाली और प्रबंधन मर्करी ग्रुप ने देश में आधिकारिक क्रिकेट निकाय-क्रिकेट कनाडा के साथ मिलकर किया है।

ICC
ICC

यह भी देखिये- राम मंदिर के निर्माण के साथ ही राजपूत संगठनों ने की आरक्षण की मांग

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने अपने भारत दौरे के अंतिम चरण में गुरुवार को राजधानी दिल्ली के एक स्कूल में आयोजित समारोह में हिस्सा लिया। इस दौरान, एक बल्ले पर हस्ताक्षर करते हुए ट्रूडो ने ग्लोबल टी-20 कनाडा को शुभकामनाएं दीं।

एजेंसी के मुताबिक इस लीग में छह टीमें होंगी, जिनके मैच टोरंटो के टोरंटो क्रिकेट स्केटिंग एवं कर्लिग क्लब, सनीब्रुक पार्क, माप्ले लीफ क्रिकेट क्लब में खेले जाएंगे। लीग में हिस्सा लेने वाली हर टीम में कनाडा के चार-चार खिलाड़ी शामिल हैं और अन्य अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं।

यह भी देखिये-तेजस्वी ने बिहार सीएम पर लगाया जहर देने की साजिश रचने का आरोप

इस मौके पर क्रिकेट कनाडा के अध्यक्ष रणजीत सैनी ने कहा, ‘इस लीग में कनाडा में खेले जाने वाले क्रिकेट को पूरी तरह से बदलने की क्षमता है। यह एक बड़ी चुनौती है और क्रिकेट कनाडा एक सफल लीग के आयोजन के लिए पूरी तरह से तैयार है। यह लीग न केवल एक बड़ी प्रतियोगिता होगी, बल्कि इससे कनाडा के पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।’

यह भी देखिये-किसी भी लॉक पैराग्राफ को कॉपी करने का आसान तरीका

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

 

Categories
sports

रबाडा को महंगा पड़ा विकेट का जश्न, आईसीसी ने लगाया जुर्माना

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मंगलवार को पोर्ट एजिलाबेथ में खेले गए छह वनडे मैचों की सीरीज के पांचवें मैच में भारत ने 73 रनों से जीत हासिल करते हुए इतिहास रच दिया। इस जीत के साथ भारत ने 26 सालों के इंतजार के बाद दक्षिण अफ्रीका की जमीन पर पहली वनडे सीरीज अपने नाम कर ली।

celebrate wicket
celebrate wicket

यह भी देखिये- ‘अंखियों के तीर’ के बाद ‘नैनों की बंदूक’ चला रहीं प्रिया प्रकाश

एक तरफ जहां मेजबान टीम को सीरीज में हार मिली, वहीं दूसरी तरफ टीम के तेज गेंदबाज कागिसो रबाडा को आईसीसी ने बड़ा झटका दिया है। रबाडा पर मैच फीस के 15 प्रतिशत जुर्माने के साथ एक डिमेरिट प्वाइंट भी लगाया गया है। रबाडा पर यह जुर्माना शिखर धवन के आउट होने के बाद मनाए गए जश्न को देखकर लगाया गया है।

भारतीय पारी के आठवें ओवर में यह घटना घटी जब रबाडा ने धवन को आउट करने के बाद पवेलियन लौट रहे इस बल्लेबाज की ओर इशारा किया और कुछ ऐसे शब्दों का इस्तेमाल किया, जिस पर बल्लेबाज जवाब दे सकता था।

यह भी देखिये- छठें दिन भी बॉक्स पर जारी रहा अक्षय कुमार की ‘पैडमैन’ का जलवा

आईसीसी ने बयान में कहा कि रबाडा के खाते में एक डिमेरिट प्वाइंट भी जुड़ गया है।उन्हें खिलाड़ियों और सहयोगी अधिकारियों की आईसीसी आचार संहिता की धारा एक के उल्लघंन का दोषी पाया गया है। मैदानी अंपायर इयान गोल्ड और शॉन जॉर्ज, तीसरे अंपायर अलीम डार और चौथे अंपायर बोंगानी जेले ने 2.1.7 धारा के अंतर्गत उन पर आरोप लगया था।

रबाडा ने आईसीसी मैच रैफरी के एलीट पैनल के एंडी पाइक्रोफ्ट द्वारा लगाया गया यह उल्लघंन स्वीकार कर लिया, जिससे किसी आधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी। इस तेज गेंदबाज के अनुशासनात्मक रिकॉर्ड में पांच डिमेरिट अंक हो गए हैं, जिन्हें श्रीलंका के खिलाफ वनडे में आठ फरवरी 2017 को तीन जबकि इंग्लैंड के खिलाफ सात जुलाई 2017 को लार्ड्स टेस्ट में एक डिमेरिट प्वाइंट मिला था।

यह भी देखिये-पीएनबी महाघोटाला- नीरव मोदी से संबंध रखने के आरोप में बैंक ने 10 कर्मचारियों को किया सस्पेंड

Categories
sports

टीम इंडिया ने रचा इतिहास, 26 साल में पहली बार दक्षिण अफ्रीका में जीती सीरीज

टीम इंडिया ने मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका में इतिहास रचते हुए 26 साल के इंतजार के बाद पहली वनडे सीरीज पर कब्जा जमा लिया है। पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए छह वनडे मैचों की सीरीज के पांचवे मैच में भारत ने अफ्रीका को 73 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही भारत ने सीरीज में 4-1 की बढ़त बना ली है। भारत की ओर से दिए गए 275 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अफ्रीका की पूरी टीम 42.2 ओवर में 201 रनों पर ढेर हो गई। मैच में बेहतरनी शतकीय पारी खेलने पर रोहित शर्मा को मैन ऑफ दा मैच चुना गया।

won series
won series

यह भी देखिये-29 करोड़ की मशीन से चूहों के बिल ढूंढेगी भारतीय रेलवे

लक्ष्य का पीछा करते हुए ओपनर हाशिम अमला 71 व मार्करम 34 ने दक्षिण अफ्रीका को सधी हुई शुरुअात दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 9.4 ओवर में 52 रन जोड़ दिए, लेकिन इसी स्कोर पर बुमराह ने मार्करम को कप्तान कोहली के हाथों कैच कराकर भारत को पहली सफलता दिला दी। कुछ देर बाद ही पंड्या ने जेपी डुमीनी को एक रन के निजी स्कोर पर रोहित शर्मा के हाथों कैच कराकर टीम को लगातार दूसरी सफलता दिला दी।

इसके बाद पंड्या ने टीम को फिर से बड़ी सफलता दिलाई। उन्होंने एबी डिविलियर्स 6 को धोनी के हाथों कैच कराकर चलता कर दिया। बाद में बल्लेबाजी पर आए डेविड मिलर 36 ने अमला के साथ पारी को आगे बढ़ाया, लेकिन 127 के कुल योग पर चहल ने मिलर को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ दिया। इसके बाद क्लासन 39 ने अमला के साथ पारी को आगे बढ़ाया, लेकिन कुछ देर बाद ही पड़या ने बेहतरनी फील्डिंग करते हुए अमला को रन आउट कर टीम को बड़ी सफलता दिला दी।

यह भी देखिये- मासूम बच्चों के लिए टीचर बन गई ‘चोटीकटवा’

इसके बाद कोई भी खिलाड़ी क्लासन का साथ नहीं दे सके और बढ़ती रनरेट को कम करने के दबाव में क्लासन भी अपना विकेट देकर चले गए। रही सही कसर कुलदीप यादव ने कर दी। उन्होंने 42वें ओवर की दूसरी, चौथी व पांचवीं बॉल पर विकेट चटकाकर अफ्रीका टीम की हार पक्की कर दी और अगले ही ओवर में चहल ने मोर्कल को आउट कर टीम इंडिया की इतिहास रचने वाली जीत पर मुहर लगा दी। भारत की ओर से कुलदीप यादव ने सर्वाधिक चार, चहल व पंड्या ने दो-दो तथा बुमराह ने एक विकेट लिया।

इससे पहले टॉस हारकर पहले खेलनी उतरी टीम इंडिया ने हिटमैन रोहित शर्मा के शानदार शतक 115 रन तथा शिखर धवन 34, कप्तान विराट कोहली 36 तथा श्रेयष अय्यर 30 की पारियों की बदौलत निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट के नुकसान पर 274 रन का लक्ष्य खड़ा किया था। अफ्रीका की ओर से नगीडी ने सर्वाधिक चार तथा रबाडा ने एक विकेट लिया था।

यह भी देखिये-कोच्चि शिपयार्ड में ओएनजीसी के ड्रिल शिप में धमाका, चार की मौत

Categories
sports

भारत ने रिकॉर्ड चौथी बाद जीता विश्वकप, कंगारुआें को आठ विकेट से रौंदा

न्यूजीलैंड में खेले जा रहे आईसीसी अण्डर-19 विश्वकप (ICC World Cup) का खिताबी मुकाबला शनिवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। इसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को ओपनर मनोज कालरा के शानदार शतक नाबाद 101 रनों की बदौलत आठ विकेट से रौंदते हुए रिकॉर्ड चौथी बार विश्व कप अपने नाम कर लिया।

ICC World Cup
ICC World Cup

यह भी देखिये-अब डाकघरों से भी होगी रेलवे टिकट की बुकिंग

ऑस्ट्रेलिया की ओर से दिए गए 217 रन के लक्ष्य को भारत ने 38.5 ओवर में दो विकेट खोकर ही हासिल कर लिया। ओपनर मनोज कालरा 101 व हार्विक देसाई 47 रन बनाकर नाबाद रहे। जीत के बाद भारतीय खिलाडि़यों ने मैदान के चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को ओनपर मनोज कालरा व कप्तान पृथ्वी शॉ ने बेहतर शुरुअात दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 11.4 ओवर में 71 रन जोडृ दिए, लेनिक उसी दौरान सुथरलैंड ने शॉ को 29 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया। इसके बाद बल्लेबाजी पर आए शुभमन गिल ने कालरा के साथ के संभलकर खेलते हुए पारी को आगे बढ़ाया और टीम के स्कोर को 21 ओवर में 130 के पार पहुंचा दिया।

यह भी देखिये-मेघालय विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने जारी की 45 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

इसी दौरान कुल 131 रन के स्कोर पर उप्पल ने गिल को 31 के निजी स्कोर पर बोल्ड कर टीम को दूसरी सफलता दिला दी, लेकिन इसके बाद बल्लेबाजी पर आए हार्विक देसाई ने कालरा का भरपूर साथ देते हुए कोई विकेट नहीं गिरने दिया और भारत को रिकॉर्ड चौथी बार विश्वकप दिला दिया।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया, लेकिन भारत की दमदार गेंदबाजी के आगे ऑस्ट्रेलिया टीम बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाई। पूरी ऑस्ट्रेलिया टीम 47.2 ओवर में 216 रनों पर ढेर हो गई। ऑस्ट्रेलिया की ओर से जोनाथन मारलो ने 76, परम उप्पल ने 34, ओपनर बल्लेबाज जैक एडवर्ड 34 और नाथन मैकस्विगी ने 23 रनों का योगदान दिया।इसी प्रकार मैक्स ब्रायंट ने 14 और कप्तान जेसन सांगा ने 13 रन बनाए।

यह भी देखिये-सीलिंग को लेकर उपराज्यपाल के घर पर हुई बैठक, जल्द लग सकती है सीलिंग पर रोक

भारत की ओर से इशान पोरेल, शिवा सिंह, कमलेश नागरकोटी और अनुकूल रॉय ने दो-दो विकेट लिए जबकि शिवन मावी को एक विकेट मिला। इससे पहले भारतीय टीम का टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा है। सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान पर बड़ी जीत दर्ज करने के बाद भारत ने फाइनल में अपनी जगह बनाई थी।

यह भी देखिये-बोफोर्स मामले में सीबीअाई ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा