Categories
National

भारत को वेंटिलेटर देगा अमेरिका : ट्रम्प

वाशिंगटन । अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) के खिलाफ लड़ाई में भारत-अमेरिका साझेदारी को महत्वपूर्ण करार देते हुए भारत को वेंटिलेटर देने की घोषणा की है।

ट्रम्प ने शुक्रवार को ट्वीट किया, “ मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि अमेरिका अपने मित्र भारत को वेंटिलेटर देगा। इस महामारी के समय में हम भारत और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ खड़े हुए हैं। हम कोविड-19 का टीका विकसित करने की दिशा में भी सहयोग कर रहे हैं। हम साथ मिलकर इस अदृश्य शत्रु को हराएंगे।”

ट्रम्प ने कहा कि भारत और अमेरिका कोविड-19 का टीका विकसित करने की दिशा में एक-दूसरे के साथ सहयोग कर रहे हैं। हम साथ मिलकर इस अदृश्य शत्रु को हराएंगे।उल्लेखनीय है कि भारत ने अप्रैल में कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में अमेरिका की मदद के तहत हाइड्रॉक्सोक्लोरोक्वीन दवा की बड़ी खेप भेजी थी। जिसके बाद  ट्रम्प ने मोदी के नेतृत्व को मजबूत करार देते हुए उनकी प्रशंसा की थी और भारत का धन्यवाद किया था।

गौरतलब है कि अमेरिका में यह महामारी विकराल रूप ले चुकी है और अब तक 14 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। भारत में भी कोरोना संक्रमण के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं और संक्रमितों की संख्या चीन से अधिक हो गयी है।

जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या 87 हजार को पार कर 87427 पहुंच गयी है जबकि संक्रमितों की संख्या 14 लाख का आंकड़ा पार कर 1441172 हो गयी है।

Categories
international

India will become super power: ये हथियार मिलते ही एशिया में खत्म हो जाएगी चीन की दादागिरी, भारत बनेगा सुपर पॉवर

India will become super power: हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल से निजात पाने के लिए भारत को जल्द ही वे हेलीकॉप्टर मिलने वाले हैं जो जमीन के साथ ही समुद्र में छोटी सी नाव से भी उड़ान भर सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर पानी के नीचे छुपी पनडुब्बियों के लिए यमराज माने जाते हैं। इनके मिलते ही हिंद महासागर में घूम रही चीनी पनडुब्बियां दुम दबाकर भाग निकलेंगी। इन हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है। द्विपक्षीय बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 

रोमियो और अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदेगा भारत

India will become super power:  जिस रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं, उसके तहत भारत 2.6 अरब डॉलर में 24 MH60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीदेगा। इसके अलावा 80 करोड़ डॉलर में छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर भी खरीदे जाएंगे। भारत आए ट्रंप ने कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के इस रक्षा समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

आतंकवाद के खिलाफ कदम उठाए पाकिस्तान

India will become super power: बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी को लेकर दोनों देशों में सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अपनी धरती पर पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए उपाय करे। प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

India will become super power: ट्रंप ने अपने शानदार स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया। मेलानिया और मैं भारत की महिमा और भारतीय लोगों की असाधारण उदारता और आदर से विस्मित हैं। हम आपके (मोदी) गृह राज्य के नागरिकों द्वारा किए गए शानदार स्वागत को हमेशा याद रखेंगे। हम यहां से सुखद अनुभव साथ लेकर जाएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का स्वागत करने के लिए एक लाख से अधिक लोग आए थे।

India will become super power: इधर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारियों में से एक है। भारत और अमेरिका के बीच बीच ड्रग तस्करी, आतंकवाद और संगठित अपराध जैसे गंभीर अपराधों के बारे में एक नया तंत्र बनाने पर सहमति बनी है।

Categories
international

15 करोड़ रुपए नहीं दिए तो दुनिया के इस ताकतवर राष्ट्रपति को जेल भेज देगी अदालत

पूरी दुनिया को झुकाने के दम्भ में हर किसी को कुछ भी कह देने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर दान की राशि का घोटाला करने के आरोप में एक अमेरिकी अदालत ने 15 करोड़ का जुर्माना लगाया है। अमेरिका के हिसाब से ये राशि बीस लाख डालर है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर न्यूयॉर्क की एक अदालत ने करीब 15 करोड़ रुपये का भारी भरकम जुर्माना लगाया है। अदालत ने इसके साथ ही उनके ट्रंप फाउंडेशन को बंद करने के आदेश भी दे दिए हैं।

ट्रंप को उनके चैरिटेबल फाउंडेशन के गलत इस्तेमाल के लिए 20 लाख डॉलर (करीब 15 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया है। कोर्ट में ट्रंप पर यह आरोप सही साबित हुए हैं कि उन्होंने अपने चैरिटेबल फाउंडेशन का इस्तेमाल अपने राजनीतिक और बिजनस से जुड़े हितों को साधने के लिए किया था।
रिपोर्ट के मुताबिक, न्यायाधीश सैलियन स्क्रापुला ने इस मामले पर अपना निर्णय सुनाते हुए यह भी आदेश दिया कि ट्रंप फाउंडेशन को बंद कर दिया जाए और इस फाउंडेशन के बाकी बचे हुए फंड (करीब 17 लाख डॉलर) को अन्य गैर लाभकारी संगठनों में बांट दिया जाए। मामले की सुनवाई के दौरान ट्रंप ने आरोप स्वीकार कर लिया था।
गौरतलब है कि ट्रंप पर यह मुकदमा पिछले साल दायर हुआ था। ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अपने चैरिटी फाउंडेशन का पैसा 2016 संसदीय चुनाव प्रचार में खर्च किया था।
अटॉर्नी जनरल जेम्स ने यह मुकदमा दायर करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप पर 2.8 मिलियन (28 लाख) डॉलर क्षतिपूर्ति लगाने की मांग की थी। न्यायाधीश स्क्रापुला ने इस राशि को कम करते हुए 20 लाख डॉलर कर दिया। फाउंडेशन के वकील ने पहले कहा था कि राष्ट्रपति ट्रंप पर यह मुकदमा राजनीति से प्रेरित है।

Categories
National

प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी को कही डोनाल्ड ट्रम्प ने अपनी दिली इच्छा की बात

नयी दिल्ली । अमेरिका ने अपने विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के प्रधानमंत्री नेरन्द्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर से अहम बैठक से पहले मजबूत द्विपक्षीय व्यापरिक संबंधों पर जोर देते हुए कहा है कि डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन की दिली इच्छा है कि भारत, व्यापार अड़चनों को कम करे और निष्पक्ष एवं पारस्परिक कारोबार की तरफ बढ़े।

पोम्पियो भारत की तीन दिवसीय यात्रा पर कल रात यहां पहुंचे। अमेरिकी सरकार ने इस बीच बयान जारी करके कहा,“ ट्रम्प प्रशासन यह सुनिश्चत करने की दिशा में काम कर रहा है कि भारत में काम कर रही अमेरिकी कंपनियों को वही सहूलियतें और अवसर मिले जो भारतीय कंपनियों को अमेरिका में मिल रही हैं।

अगर भारत व्यापारिक अड़चनों को कम करके निष्पक्ष और पारस्परिक कारोबारी रुख की तरफ बढ़ता है तो हमारे व्यापारिक संबंधों के भारी वृद्धि और उच्च णवत्ता वाली नौकरियों, जैसा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चाहते हैं, के सृजन की असीम संभावनाएं हैं।

अमेरिकी सरकार ने इस बयान से यह साफ करने की कोशिश की है कि भारत के साथ व्यापार के पक्ष को लेकर उसका रुख बहुत सकारात्मक है और वह कारोबार और रूस के साथ हथियार समझौते को लेकर उपजे विवादों को खत्म करने का पक्षधर है।

Categories
international

डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग लाने के सभी विकल्पों पर चर्चा

अमेरिकी कांग्रेस की डेमोक्रेटिक समिति के अध्यक्ष जेरी नाडलर ने कहा है कि न्याय के रास्ते में व्यवधान को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग लाने के सभी विकल्पों पर चर्चा की जा रही है।

श्री नाडलर ने मंगलवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में श्री ट्रम्प के खिलाफ संभावित महाभियोग की प्रक्रिया में उनके समर्थन के बारे में पूछे जाने पर कहा, “ मैं सार्वजनिक रूप से यही कह सकता हूं कि राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग लाने के सभी विकल्पों पर चर्चा की जा रही है।”

उन्होंने कहा कि कांग्रेस की प्रतिनिधि सभा का इरादा विशेष अधिवक्ता रॉबर्ट मुलर का बयान दर्ज करने का है और जरुरत पड़ी तो उन्हें समन भी किया जायेगा।

प्रतिनिधि सभा ने ट्रम्प प्रशासन के अधिकारियों के खिलाफ कानूनी कदम उठाने के लिए समितियों को अधिकार देने को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया था। सवाल-जवाब के लिए संसद में उपस्थित होने के कांग्रेस के समन को अधिकारियों द्वारा नहीं मानने को लेकर यह प्रस्ताव लाया गया था। इसके बाद श्री नाडलर भी डेमोक्रेटिक पार्टी के अन्य नेता के साथ आ गये।

श्री मुलर कह चुके हैं कि राष्ट्रपति चुनाव में श्री ट्रम्प के रूस के साथ कथित संबंधों को लेकर उनकी जांच रिपोर्ट पर आगे किसी भी प्रकार की चर्चा अनुचित होगी।

श्री मुलर ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि श्री ट्रम्प का प्रचार अभियान का रूस से कोई संबंध नहीं था। लेकिन उन्होंने श्री ट्रम्प के कार्यों के 10 ऐसे उदाहरण गिनाये थे जिनसे न्याय के रास्ते में रुकावट आ सकती थी। इसके बाद अमेरिकी अटॉर्नी जनरल विल्लियम बार ने कहा कि श्री मुलर की रिपोर्ट में इंकित अदाहरण न्याय के रास्ते में रुकावट डालने की श्रेणी में नहीं आते हैं।

उल्लेखनीय है कि रूस ने बार-बार इस बात से इंकार किया है कि वर्ष 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में उसका किसी तरह का राजनीतिक हस्तक्षेप था। उसने कहा है कि राष्ट्रपति चुनाव हारने वालीं पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन ने चुनाव में करारी हार के कारण रूस पर यह आरोप लगया था।

Categories
international

इस देश के साथ मई में व्यापार समझौता हो सकता है : ट्रम्प

वाशिंगटन (स्पूतनिक)| अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प मई में जापान की यात्रा से पहले उसके साथ द्विपक्षीय व्यापार समझौता कर सकते हैं। ट्रम्प शुक्रवार को ओवल कार्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘मुझे लगता है कि यह जल्दी समझौता हो सकता है, मुझे लगता है कि यह काफी जल्दी समझौता हो सकता है, हो सकता है कि हम वहां(जापान में) हस्ताक्षर कर सकते हैं।

ट्रम्प और प्रथम महिला मेलानिया ट्रम्प 25-28 मई के बीच जापान के महामहिम सम्राट नारुहितो से मिलने के लिए वहां की यात्रा करेंगे। ट्रम्प जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे।अमेरिका के राष्ट्रपति ने व्यापार, उत्तर कोरिया और अन्य विदेश नीति के मुद्दों पर आपसी हितों की एक श्रृंखला पर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को  आबे का व्हाइट हाउस में स्वागत किया।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
National

डोनाल्ड ट्रम्प 19 मार्च को करेंगे इस देश के राष्ट्रपति से मुलाकात

वाशिंगटन| अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प आगामी 19 मार्च को यहां ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सनरो से मुलाकात करेंगे।अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को जारी एक बयान में यह जानकारी दी।

बयान के मुताबिक ट्रम्प और बोल्सनरो बैठक के दौरान व्यापारिक नीति , रक्षा क्षेत्र में सहयोग, अंतरराष्ट्रीय अपराधों से निपटने तथा वेनेजुएला के मुद्दों पर चर्चा करेंगे। दोनों नेता वेनेजुएला को मानवीय आधार पर सहायता उपलब्ध कराने के वास्ते अपने प्रयासों को लेकर भी बातचीत करेंगे।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
international

ट्रम्प पर लगे कई गंभीर आरोप जानकर हैरान हो जायेंगे आप

वाशिंगटन| अमेरिका के क्विनिपियाक विश्वविद्यालय में कराये गए मतदान से खुलासा हुआ है कि अमेरिका के अधिकांश मतदाताओं ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग चलाने के पक्ष में नहीं हैं।

विश्व विद्यालय के मतदान में 35 प्रतिशत मतदाताओं ने ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग चलाने के पक्ष में मतदान किया, जबकि 59 मतदाताओं ने इसके विरोध में वोट डाला। इस दौरान हालांकि 58 प्रतिशत मतदाताओं ने इस बात पर सहमति व्यक्त की कि कांग्रेस (संसद) को ट्रम्प पर लगे अनैतिक तथा गैरकानून व्यवहार के आरोपों की जांच करनी चाहिए।

उल्लेखनीय है कि ट्रम्प के पूर्व निजी वकील माइकल कोहेन ने पिछले सप्ताह कांग्रेस में दिये गए बयान में उन पर प्रचार वित्त उल्लंघन और संभावित कर धोखाधड़ी सहित कई अपराधिक वारदाताओं में शामिल होने का आरोप लगाया था।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
international

डोनाल्ड ट्रम्प किम जोंग के साथ और कई तरह की करेंगे बैठक

वाशिंगटन (स्पूतनिक)| अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को कहा कि अगले सप्ताह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ होने वाली उनकी मुलाकात दोनों नेताओं के बीच आखिरी बैठक नहीं होगी और भविष्य में ऐसी और भी मुलाकातें हो सकती हैं।

ट्रम्प ने संवाददाताओं से कहा, “ हमने इस दिशा में बहुत प्रगति की है और आगे बढ़े हैं इसका यह मतलब नहीं कि यह हमारे बीच आखिरी मुलाकात होगी क्योंकि मैं ऐसा नहीं मानता।”अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि यदि उत्तर कोरिया की ओर से उम्मीद के मुताबिक बेहतर कदम उठाए जाते हैं तो उन्हें प्योंगयांग पर लगे प्रतिबंध हटाने में खुशी होगी।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
international

ट्रम्प ने कांग्रेस द्वारा पारित इस महत्वपूर्ण समझोते पर किये हस्ताक्षर

वाशिंगटन (शिन्हुआ)| अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को कांग्रेस द्वारा पारित खर्च एवं सीमा सुरक्षा कानून पर हस्ताक्षर किये। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने इसकी पुष्टि की।राष्ट्रपति की मंजूरी संघीय सरकार के एक और आंशिक बंद के लिए निर्धारित आधी रात की समयसीमा से कुछ घंटे पहले दी गयी। 333 अरब अमेरिकी डॉलर का बिल संघीय सरकार को सितंबर के अंत तक खोलने की अनुमति देता है।

सीनेट और सदन ने गुरुवार को इस विधेयक को अलग से पारित किया है। इसमें अमेरिका-मैक्सिको की सीमा पर दीवार के साथ भौतिक अवरोध के लिए 1.375 अरब डॉलर शामिल हैं लेकिन ट्रम्प ने पहले सीमावर्ती दीवार अभियान वादे के लिए 5.7 अरब डॉलर की मांग की थी।

ट्रम्प ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपातकाल की भी घोषणा की जो उन्हें सीमा पर दीवार का विस्तार करने के लिए कई अरब डॉलर पुनर्निर्देशित करने की शक्ति देता है। आपातकालीन घोषणा ने हालांकि तुरंत ही कानूनी और पक्षपातपूर्ण लड़ाई का एक नया दौर शुरू कर दिया।