Categories
Results

Benefits of joining a coaching class: यहां जाकर करेंगे पढ़ाई तो सफलता निश्चित तौर पर कदम चूमेगी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए छात्र कोचिंग की मदद लेते हैं लेकिन कई छात्र कन्फ्यूज होते हैं कि क्या कोचिंग क्लास लेना सही है! तो हम बताते हैं कि कोचिंग क्लास ज्वाइन करने के फायदे क्या हैं।

 

मिलता है सही मार्गदर्शन

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए छात्रों को एक अच्छी स्ट्रेटजी और सही तैयारी की बहुत जरुरी होती है। कोचिंग क्लास में अच्छे शिक्षक होते हैं, जिनकी मदद से छात्र परीक्षा की तैयारी के लिए एक सही स्ट्रेटजी बना सकते हैं। उन्हें शिक्षकों द्वारा सही और अच्छा मार्गदर्शन मिलता है। शिक्षक छात्रों के समय का सही उपयोग करके तैयारी की एक अच्छी स्ट्रेटजी बनाने में मदद करते हैं।

मिलते हैं प्रश्न हल करने के नए तरीके

प्रतियोगी परीक्षा में समय कम होता है और प्रश्न अधिक होते हैं। तय समय में सभी प्रश्नों को हल करने के लिए प्रश्नों को शॉर्ट कट लगाकर हल करने की जरुरत होती है। कोचिंग क्लास में प्रश्नों की शॉर्ट ट्रिक्स पता चलती हैं। साथ ही प्रश्नों को हल करने के लिए कई अन्य तरीके पता चलते हैं, जिससे आसानी से और जल्द प्रश्न को हल कर सकते हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं की जानकारी भी

कोचिंग क्लास में पढ़ाई करने से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता चलता है। कई छात्रों को सिर्फ गिनी चुनी ही प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता होता है। कोचिंग में अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता चलता है।

सिलेबस समय पर पूरा

छात्र पढ़ाई करने के लिए एक टाइम टेबल तो बना लेते हैं, लेकिन वे उस टाइम टेबल को फॉलो नहीं कर पाते हैं। अधिकतर छात्र अपनी पढ़ाई को टाल देते हैं और अंत में उनके पास पढ़ने के लिए काफी कुछ इक्ट्ठा हो जाता है और वे समय से सिलेबस पूरा नहीं कर पाते हैं। कोचिंग क्लास में एक शेड्यूल के अनुसार पढ़ाई होती है। छात्र रोजाना कोचिंग क्लास जाते हैं और समय से सिलेबस पूरा कर पाते हैं।

संदेह दूर होते हैं

कोचिंग क्लास में पढ़ाई करने से संदेह को आसानी से दूर कर सकते हैं। कई बार पढ़ाई करते हुए किसी कॉन्सेप्ट पर अटक जाते हैं और उसे लेकर मन में कई डाउट होते हैं।
कोचिंग क्लास में शिक्षकों से पूछकर प्रश्न के डाउट को दूर कर सकते हैं।

Categories
Off Beat

2020 में होने वाली इन प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रवेशपत्र जारी, अभ्यर्थी कर सकते हैं डाउनलोड

अमूमन प्रतियो​गी परीक्षाओं में हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों को परीक्षा प्रवेश पत्र और परीक्षा सम्बंधी अन्य जानकारियों के लिए हमेशा परेशान होना पड़ता है। कई बार तो परीक्षा शुरू होने से एक घंटे पहले तक उनके पास प्रवेश पत्र नहीं होता और वे अपने कॅरियर को डूबता हुआ महसूस करते हैं।

इसके लिए वे विभिन्न प्रयास करते हैं लेकिन इसके बावजूद सफलता नहीं मिलती। सम्भवत: ऐसे ही हालात से 2020 में होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं के विद्यार्थी गुजर रहे होंगे। यहां आपको बता दें कि लोकसेवा आयोग जनवरी 2020 में दो बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथि घोषित कर चुका है और उनके प्रवेशपत्र जारी करने की प्रक्रिया जारी कर चुका है। दोनों बड़ी प्रतियोगी परीक्षाओं के नाम इंजीनियरिंग सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 2020 और सम्मिलित भू-वैज्ञानिक (प्रारंभिक) परीक्षा, 2020 है।

इंजीनियरिंग सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा, 5 जनवरी 2020 को होगी और इसके परीक्षा प्रवेश पत्र जल्द जारी होंगे। इसी तरह सम्मिलित भू-वैज्ञानिक (प्रारंभिक) परीक्षा, 19 जनवरी 2020 को होगी और इसके परीक्षा प्रवेश पत्र भी जल्द जारी होने की सम्भावना है।
दोनो परीक्षाओं की उत्तरपुस्तिकाओं की जांच में नेगेटिव मार्किंग प्रणाली का उपयोग होगा और काले बालपैन के अलावा अन्य स्याही वाले पैन अथवा पैंसिल इत्यादि का उपयोग करने वाले अभ्यर्थियों की उत्तरपुस्तिकाएं अस्वीकृत करने का खतरा रहेगा।

वैसे केन्द्रीय लोकसेवा आयोग ने 2020 में होने वाली अपनी 25 प्रतियोगी परीक्षाओं की तिथि घोषित कर दी है और उनके प्रवेश पत्र जारी करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। इन परीक्षाओं का आवेदन करने वाले अभ्य​र्थी अपने प्रवेश पत्र आनलाइन डाउनलोड कर सकते हैं। आयोग ने अभ्यर्थियों को क्या करें और क्या नहीं करें ​के निर्देश भी जारी कर दिए हैं। आयोग ने कहा है कि वह इस बार प्रवेशपत्र डाक से नहीं भेजेगा बल्कि अभ्यर्थियों को ये डाउनलोड करने होंगे। आयोग की पहली परीक्षा 5 जनवरी 2020 को होगी। इसमें सिर्फ इंजीनियरिंग की डिग्रीधारी ही हिस्सा ले सकते हैं