Categories
sports

IPLके आयोजन पर सरकार लेगी निर्णय : किरेन रिजिजू

मुंबई । कोरोना वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हुए आईपीएल के 13वें सत्र को आयोजित कराने को लेकर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को कहा कि इस बाबत फैसला भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) नहीं बल्कि केंद्र सरकार करेगी।

कोरोना वायरस के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंध के कारण बीसीसीआई ने आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था। रिजिजू ने कहा कि आईपीएल आयोजित कराने पर फैसला लोगों की सुरक्षा को देखते हुए लिया जाएगा।

खेल मंत्री ने कहा, “भारत में आईपीएल को लेकर फैसला सरकार देश में महामारी की स्थिति को देखते हुए लेगी।उन्होंने इंडिया टूडे से कहा, “केवल खेल प्रतियोगिता आयोजित करने के लिये हम अपने देशवासियों का स्वास्थ खतरे में नहीं डाल सकते। हमारा मुख्य उद्देश्य कोविड-19 से लड़ना है।”ऐसा माना जा रहा है कि दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 विश्वकप का आयोजन नहीं होने की स्थिति में आईपीएल के आयोजन पर विचार कर सकती है।

Categories
sports

IPL के आयोजन पर सोचना जल्दबाजी होगी: BCCI

मुंबई । कोरोना वायरस के कारण देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम को सशर्त खोलने की इजाजत के बावजूद (बीसीसीआई) का कहना है कि मौजूदा हालात में आईपीएल के आयोजन के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी।

सरकार ने रविवार को देशभर में लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने की घोषणा की थी। गृह मंत्रालय ने दिशानिर्देश जारी करते हुए बताया था कि लॉकडाउन के बावजूद देशभर में स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम दर्शकों के बिना खोले जा सकते हैं। हालांकि इस दौरान ऐसे टूर्नामेंटों के आय़ोजन पर रोक बरकरार है जिसमेंं भारी संख्या में दर्शकों की भीड़ जुटने की संभावना है। बीसीसीआई ने सरकार के इस आदेश का स्वागत किया है।

सीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने सोमवार को कहा कि भले ही सरकार ने स्टेडियम खोलने की इजाजत दी है लेकिन देशभर में 31 मई तक हवाई यात्रा पर प्रतिबंध लगा हुआ है और मौजूदा हालात में आईपीएल के 13वें सत्र का आयोजन करने के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के कारण देशभर में जारी लॉकडाउन और विदेशी यात्रियों के आने पर प्रतिबंध के बाद बीसीसीआई ने अप्रैल में आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था।

यह पूछे जाने पर कि क्या बीसीसीआई इस साल आईपीएल के आयोजन के बारे में विचार कर रही है, धूमल ने कहा कि मौजूदा हालात में टूर्नामेंट के आयोजन के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि विश्वभर में विदेशी यात्राओं पर प्रतिबंध हटने के बाद क्रिकेट कलेंडर को देखते हुए आईपीएल के लिए विंडो देखना होगा। इस बीच आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीमें इसके आय़ोजन को लेकर बीसीसीआई के फैसले का इंतजार कर रही हैं।

आईपीएल की एक फ्रेंचाइजी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि सरकार के आदेश से बीसीसीआई पर प्रभाव पड़ेगा और इससे आईपीएल के आयोजन को लेकर सकारात्मक स्थिति बनेगी।भारतीय टीम को जुलाई में श्रीलंका का भी दौरा करना है जहां उसे तीन वनडे और टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है। धूमल ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट ने इस संबंध में बीसीसीआई को पत्र लिखकर इस सीरीज की मेजबानी की इच्छा जाहिर की है लेकिन सरकार के निर्देश के बिना अभी यह कह पाना संभव नहीं है कि टीम इस सीरीज के लिए श्रीलंका जा पाएगी या नहीं।

Categories
sports

अब क्रिकेटर बनने के लिए इस हेराफेरी पर होगी कड़ी सजा, क्रिकेट संघों को किया सूचित

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने स्पष्ट किया है कि उसके टूर्नामेंटों के लिए पंजीकरण कराते समय यदि कोई अपनी जन्मतिथि के साथ छेड़छाड़ करता है तो उसे सत्र के लिए अयोग्य करार दिया जाएगा।

बीसीसीआई की खेलों में उम्र की धोखाधड़ी करने पर ‘कतई बर्दाश्त नहीं’ की नीति है और उसने बीसीसीआई टूर्नामेंटों के लिए पंजीकरण कराते समय जन्म प्रमाणपत्र की तारीख के साथ छेड़छाड़ करने के लिए दोषी पाए जाने वाले क्रिकेटरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

बोर्ड ने सत्र की शुरुआत में ही राज्य संघों को सूचित कर दिया था कि 2018-19 सत्र से यदि कोई क्रिकेटर अपने जन्म प्रमाणपत्र से छेड़छाड़ करने का दोषी पाया जाता है तो उसे दो सत्रों 2018-19 और 2019-20 में बीसीसीआई टूर्नामेंटों में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

Categories
sports

आईसीसी भी बनाएगा महिला सुरक्षा पर पॉलिसी

नयी दिल्ली । दुनियाभर में चल रहे ‘मी टू’ अभियान के मद्देनज़र अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर परिषद (अाईसीसी) ने क्रिकेट में महिला शोषण के खिलाफ सख्ती से कदम उठाते हुये आगामी महिला विश्वकप ट्वंटी 20 से पूर्व ‘महिला सुरक्षा एवं दिशानिर्देश’ पॉलिसी बनाने का फैसला किया है।

Me-To

दुनियाभर में मी टू अभियान के बाद कई क्रिकेटरों और अधिकारियों पर भी यौन उत्पीड़न के आरोप लगे हैं।ऐसे में आईसीसी ने इस मामले को सख्ती से लिया है।वहीं वैश्विक संस्था वेस्टइंडीज़ में नौ नवंबर से शुरू होने वाले महिला विश्वकप को ध्यान में रखते हुये महिला उत्पीड़न के खिलाफ इस पॉलिसी को लागू करना चाहती है।

आईसीसी सिंगापुर में बुधवार से शुरू होने जा रही अपनी बैठक में इस पॉलिसी पर चर्चा करेगा।वैश्विक संस्था नेपिछले 18 महीनों में आईसीसी के टूर्नामेंटोंं, अंतरराष्ट्रीय मैचों और विश्व क्रिकेट में कथित यौन उत्पीड़न और गलत तरीके से छूने आदि के लगातार बढ़ रहे मामलों के मद्देनज़र यह नियम जल्द लागू करने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि हाल ही में मी टू अभियान के तहत भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) के मुख्य कार्यकारी राहुल जौहरी पर एक अनजान महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है जबकि श्रीलंकाई क्रिकेट लसित मलिंगा पर भी इंडियन प्रीमियर लीग के दौरान एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है।हालांकि अभी तक इन आरोपों पर किसी तरह का संज्ञान नहीं लिया गया है।

Categories
National

विराट कोहली के कहने के बाद बीसीसीआई ने दी पत्नियों को दौरे पर अनुमति

नयी दिल्ली । भारतीय कप्तान विराट कोहली की अपील के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने नियम में बदलाव करते हुये राष्ट्रीय टीम के क्रिकेटरों की पत्नियों एवं प्रेमिकाओं को उनके साथ विदेश दौरे पर जाने की अनुमति दे दी है।

 Virat Kohli,

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने भारतीय खिलाड़ियों को उनकी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरे पर ले जाने की अनुमति दे दी है। हालांकि यह छूट किसी विदेश दौरे के शुरू होने के 10 दिन बाद से शुरू होगी और उसके बाद दौरे की समाप्ति तक पत्नियां एवं प्रेमिकाएं खिलाड़ियों के साथ रह सकती हैं।

हाल ही में भारतीय कप्तान विराट ने बीसीसीआई से पत्नियों को दौरे पर ले जाने के नियम में बदलाव करने के लिये कहा था। पहले के नियम के अनुसार खिलाड़ी अपनी पत्नियों को केवल दो सप्ताह के लिये अपने साथ रख सकते थे। सीओए की इस नियम को लागू करने के पीछे दलील थी कि परिवारों के दूर रहने से खिलाड़ी अपने प्रदर्शन पर अधिक ध्यान दे पाएंगे। भारतीय टीम का विदेश दौरों में प्रदर्शन आमतौर पर निराशाजनक रहता है यह भी इस नियम की एक बड़ी वजह था।

आमतौर पर सभी क्रिकेटर अपनी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरों पर ले जाते हैं। विराट, अजिंक्या रहाणे, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धोनी, चेतेश्वर पुजारा आदि क्रिकेटरों की पत्नियां भी अधिकतर दौरों पर उनके साथ ही रहती हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का अगला चुनौतीपूर्ण दौरा विराट की अगुवाई में आस्ट्रेलिया का है।गौरतलब है कि वर्ष 2015 में क्रिकेट आस्ट्रेलिया(सीए) के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड ने भी इसी तरह का निर्णय आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिये जारी किया था। इसके बाद सीओए ने भी इस तरह के नियम को लागू किया था।

Categories
sports

मयंक अग्रवाल को पदार्पण का मौका नहीं, रिषभ पंत विकेट कीपर

हैदराबाद। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) ने वेस्टइंडीज़ के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के लिये गुरूवार को अपनी 12 सदस्यीय टीम घोषित कर दी लेकिन मयंक अग्रवाल को टेस्ट पदार्पण का मौका एक बार फिर नहीं मिल सका जबकि रिषभ पंत को विकेट कीपिंग की जिम्मेदारी दी गयी है।

Mayank Agarwal

मयंक के भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच हैदराबाद में शुक्रवार से शुरू होने जा रहे दूसरे मैच में पदार्पण की उम्मीद थी लेकिन चयनकर्ताओं ने उन्हें भारतीय टीम में शामिल नहीं किया है। अंतिम एकादश में राजकोट टेस्ट की टीम के अलावा शार्दुल ठाकुर को 12वें खिलाड़ी के तौर पर जगह दी गयी है।

भारतीय टेस्ट टीम में पिछले लंबे समय से जगह पाने के लिये प्रयास कर रहे मयंक को एक बार फिर नज़र अंदाज़ किया गया है। हैदराबाद टेस्ट से पूर्व हुये अभ्यास सत्र में हालांकि सलामी बल्लेबाज़ ने हिस्सा लिया था जिसके बाद उनकेएकादश में खेलने की भी उम्मीद जताई जा रही थी। हालांकि एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली बीसीसीआई की चयन समिति ने 12 सदस्यीय टीम में उन्हें पदार्पण का मौका नहीं दिया है जबकि खराब फार्म से गुज़र रहे लोकेश राहुल फिर से बल्लेबाज़ी क्रम का हिस्सा हैं।

Categories
Business sports

मीडिया अधिकारों की नीलामी से मालामाल हुआ बीसीसीआई

स्टार इंडिया ने आईपीएल के मीडिया अधिकार 16347.5 करोड़ रूपये में खरीदने के सात महीने बाद ही भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के वर्ष 2018 से 2023 तक के मीडिया अधिकार गुरूवार को ई-नीलामी के तीसरे दिन 6138 करोड़ रुपये (94.4 करोड़ डॉलर) में खरीद लिये।

bcci
bcci

 

स्टार इंडिया ने भारतीय क्रिकेट पर पकड़ बनाने के अलावा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट पर अपनी पकड़ पहले ही मजबूत कर ली थी।स्टार ने 2015 से 2023 तक आईसीसी टूर्नामेंटों के प्रसारण अधिकार पहले ही 1.9 अरब डॉलर में खरीद लिये थे।स्टार ने बीसीसीआई के मीडिया अधिकारों के लिये जो बोली लगाई वह पिछले 3851 करोड़ रूपये से 59 फीसदी ज्यादा रही।

मंगलवार को शुरू हुई ई नीलामी तीन दिन बाद जाकर समाप्त हुई।मीडिया अधिकारों की होड़ में तीन कंपनियां स्टार इंडिया, रिलायंस और सोनी शामिल थीं।बीसीसीआई भारत के अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू मैचों के लिए पहली बार ई-नीलामी प्रक्रिया के तहत मीडिया अधिकार बेचे।वैश्विक समग्रित अधिकार (जीसीआर) के लिए पहले दिन सबसे ज्यादा बोली 4442 करोड़ रुपये पहुंची और उसके बाद दूसरे दिन 6032.50 करोड़ रुपये पहुंची।

यह सिलसिला 6138 करोड़ पर जाकर रूका।भारत में 15 अप्रैल 2018 से 31 मार्च 2023 तक बीसीसीआई द्वारा अंतर्राष्ट्रीय मैचों के वैश्विक टेलीविज़न और डिजिटल अधिकार शामिल हैं।क्रिकेट बोर्ड ने पिछले साल सितंबर में आईपीएल के टीवी और डिजीटल अधिकार 2018 से 2022 तक की अवधि के लिये 16347.5 करोड़ रूपये में स्टार इंडिया को बेचे थे

जबकि बोर्ड ने टीम इंडिया के मीडिया अधिकार 6138 करोड़ रूपये में बेचे हैं।भारतीय टीम के प्रति मैच की औसत कीमत लगभग 60 करोड़ रूपये आ रही है जो आईपीएल के प्रति मैच कीमत 54.5 करोड़ रूपये से भी अधिक है।