Categories
Crime

delhi police getting alert: मिलते रहे अलर्ट फिर भी हाथ बांधे खड़ी रही पुलिस

delhi police getting alert:  खुफिया एजेंसियों ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हिंसा शुरू होने से पहले दिल्ली पुलिस को कम से कम छह बार अलर्ट भेजा गया था। भाजपा नेता कपिल मिश्रा के भड़काऊ बयान के दौरान पुलिस को ये अलर्ट भेजे गए थे और इलाके में पुलिस बल की तैनाती बढ़ाने को कहा गया था। लेकिन पुलिस कार्रवाई में नाकाम रही और हिंसा पूरे इलाके में फैल गई।

हिंसा से पहले बढ़ा तनाव

शनिवार रात को जाफराबाद में लगभग 500 महिलाएं नागरिकता कानून (CAA) के विरोध में सड़क पर धरने पर बैठ गईं थीं। विरोध में भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने CAA समर्थकों से रविवार दोपहर तीन बजे मौजपुर चौक पर इकट्ठा होने को आह्वान किया।
मिश्रा तय समय पर चौक पर पहुंचे और समर्थकों की मौजूदगी में पुलिस को चेतावनी दी कि वो तीन दिन के अंदर सड़के खाली कराएं नहीं तो उन्हें खुद सड़कों पर उतरना पड़ेगा।

मिश्रा के जाने के बाद पत्थरबाजी

भाषण देने के बाद कपिल मिश्रा इलाके से चले गए। उनके जाने के बाद CAA समर्थकों और विरोधियों में पत्थरबाजी शुरू हो गई। पहले पत्थरबाजी किसने की, ये अभी तक साफ नहीं है। रविवार को देर शाम तक पत्थरबाजी की खबरें आती रहीं। अगले दिन सोमवार को हिंसा ने बड़ा रूप ले लिया और ये दंगे में बदल गया जो तीन दिन तक चलता रहा। दिल्ली पुलिस के हिंसा रोकने में नाकाम पर गंभीर सवाल उठे हैं।

इस समय भेजा गया पहला अलर्ट

‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की रिपोर्ट के अनुसार, स्पेशल ब्रांच और खुफिया इकाई ने वायरलेस रेडियो के जरिए उत्तर-पूर्व जिले के पुलिस अधिकारियों को कई अलर्ट भेजे।
पहला अलर्ट दोपहर 1:22 बजे के बाद भेजा गया जब मिश्रा ने ट्वीट कर लोगों को मौजपुर चौक पर जमा होने को कहा था। दोनों गुटों में टकराव की आशंका को देखते हुए खुफिया इकाई ने स्थानीय पुलिस को इलाके में सतर्कता बढ़ाने को कहा था।

पत्थरबाजी शुरु होने के बाद आए बाकी अलर्ट

जब इलाके में दोनों गुटों के बीच पत्थरबाजी हुई और भीड़ इकट्ठा होने लगी, तब भी स्पेशल पुलिस और खुफिया इकाई की तरफ से पुलिस को कई अलर्ट भेजे गए थे। हालांकि पुलिस ने इन अलर्ट पर किसी भी तरह की लापरवाही बरतने की बात से इनकार किया है।
एक पुलिस अधिकारी ने टाइम्स आॅफ इंडिया से कहा, अलर्ट मिलने के बाद सभी आवश्यक कदम उठाए गए। इसी कारण एक वरिष्ठ अधिकारी मिश्रा के साथ था और उसने ये सुनिश्चित किया कि वो जल्द से जल्द इलाके से बाहर जाएं। इन प्रयासों के बावजूद CAA विरोधियों ने मिश्रा के समूह पर पत्थरबाजी शुरू कर दी।

Categories
National

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया इतना महान काम छह वर्ष की इस मासूम बच्ची के लिए

नयी दिल्ली । मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शनिवार को दिल्ली के उपनगर द्वारका में दुष्कर्म पीड़ित छह वर्ष की मासूम से मिलने सफदरजंग अस्पताल पहुंचे।

छह वर्ष की मासूम के साथ मंगलवार को द्वारका में फुसलाकर पड़ोस के ही एक व्यक्ति ने दुष्कर्म किया। बच्ची की हालत गंभीर है और उसका सफदरजंग अस्पताल में उपचार चल रहा है। दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से गिरफ्तार कर लिया है।

अस्पताल में मासूम बालिका का हालचाल और उसके परिजनों से मुलाकात के बाद केजरीवाल ने कहा दिल्ली सरकार पीड़ित के परिवार को दस लाख रुपए की आर्थिक मदद देगी। उन्होंने कहा बालिका का उपचार कर रहे डाक्टरों से मिलकर जानकारी ली है। बालिका का स्वास्थ्य अब स्थिर है और वह खतरे से बाहर है।

मुख्यमंत्री ने कहा दिल्ली सरकार पीड़ित बालिका के परिवार को कानूनी मदद के लिए एक वकील की सेवाएं मुहैया करायेगी।गौरतलब है कि शुक्रवार को दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल भी बालिका से मिलने अस्पताल गई थीं।

Categories
National

भाजपा के दुश्मन का ऐलान मुझे नहीं चाहिए तुगलक का टिकट, कई पार्टियां घूम रही हैं उनके पीछे

इन दिनों भाजपा के सबसे बड़े शत्रु ने कहा है कि लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए उनको टिकट देने वाली पार्टियों की कमी नहीं है। फिल्मी पर्दे पर खामोश डायलाग के साथ मशहूर हुए बिहारी बाबू ने यह बात आम आदमी पार्टी की चंडीगढ़ में रविवार को हुई रैली में कही। 

 

रैली को संबोधित करते हुये अभिनेता से नेता बने भाजपा के सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि यह सही मायनों में चुनावी रैली नहीं है क्योंकि चुनाव की घोषणा तो अभी होनी है। यह तो मिलन की घड़ी है। उन्होंने कहा कि अभी तो भाजपा ने मुझे निकाला नहीं है और न ही मैंने पार्टी छोड़ी। कुछ लोग कहते हैं कि उन्हें इस बार टिकट नहीं मिलेगी, तो वह यह बात साफ कर देना चाहते हैं कि उन्हें टिकट की कोई कमी नहीं ।
सिन्हा ने कहा कि व्यक्ति से बड़ी पार्टी और पार्टी से बड़ा देश होता है। उन्होंने हमेशा जनहित की बात की है। मैं भाजपा का तो हूं ही लेकिन उससे पहले भारत की जनता का हूं। मेरी जिम्मेदारी आपके प्रति है। पार्टी में अटल बिहारी बाजपेयी के समय लोकशाही थी लेकिन अब तानाशाही है। अचानक रातोंरात बेवजह तुगलकी फरमान जारी कर दिये जाते हैं। 

 

उन्होंने पार्टी के भीतर की कारगुजारी पर चिंता जताते हुये कहा कि लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अरूण शौरी, यशवंत सिन्हा जैसे योग्य नेताओं को दरकिनार कर सलाह मशविरा किये बिना फैसले ले लिये गये तथा नोटबंदी कर दी गई जिसमें छोटे- छोटे व्यापारी तबाह हो गये। छोटे धंधे बंद हो गये तथा माताओं -बहनों की जमापूंजी सहित करोड़ों करोड़ रातोंरात हवाहवाई हो गये। अर्थव्यवस्था चौपट हो गयी। उसके बाद जीएसटी की घोषणा कर दी गई जिसकी मार से लोग संभल नहीं सके हैं। ये सब मिल बैठकर किये गये फैसले नहीं थे। 

 

सिन्हा ने कहा कि जो कल तक अर्थशास्त्री एवं पूर्व प्रधानमंत्री मोहन सिंह की काबिलियत पर उंगली उठाते थे, अब लोग उंगली उठाने वालों से देश तथा सीमा के हालात के बारें में पूछें तो कैसा लगेगा। देश का मामला है तो उठाओ साहसिक कदम तथा काम में ईमानदारी तथा पारदर्शिता लाओ। उन्होंने राफेल का मुद्दा उठाया लेकिन ज्यादा कुछ नहीं बोले क्योंकि उच्च न्यायालय ने इस बारे में रिव्यू पिटीशन को मंजूर कर लिया है। देश का सिस्टम डगमगा रहा है। उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां एक दूसरे की दुश्मन नहीं। इससे पहले आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आप सभी ने नरेन्द्र मोदी के चक्कर में अभिनेत्री किरण खेर को वोट तो दे दिया लेकिन वो तो ज्यादातर समय मुंबई में रहती हैं। आप कैसे उन्हें पकड़ोगे। वोट उसे दो जो आपकी पकड़ में हो। चंडीगढ़ के साथ धोखा हो गया।

Categories
National

अरविंद केजरीवाल ने मेजर अमित सागर के परिजनों को एक करोड़ रूपए की सहायता राशि का चेक सौंपा

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जनवरी 2017 में कश्मीर के सोनमर्ग में भीषण हिमस्खलन के दौरान ड्यूटी पर देश के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले मेजर अमित सागर के परिजनों को आज एक करोड़ रूपए अनुदान राशि का चेक सौंपा।

 Arvind Kejriwal

इस दाैरान उनके साथ राजस्व मंत्री कैलाश गहलोत और स्थानीय विधायक जगदीप सिंह भी थे।दिल्ली सरकार ने पिछले माह मेजर सागर के अलावा दिल्ली पुलिस और दमकल विभाग के ऐसे कईं कर्मियों को एक करोड़ रूपए देने की घोषणा की थी जिन्होंने ड्यूटी पर रहते हुए देश की सेवा के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी थी।मेजर सागर 115वीं इन्फैंट्री बटालियन महार रेजीमेेेेंट की आतंकवाद निरोधक शाखा में थे और उनकी तैनाती सोनमर्ग में थी और वह 25 जनवरी 2017 को हुए भीषण हिमस्खलन की चपेट में आ गए थे।

Categories
National

अरविंद केजरीवाल पर युवक ने मिर्ची पाउडर फेंका, बाद में गरमाया माहौल

नयी दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में मंगलवार को एक शख्स के कथित रूप से मिर्ची पाउडर फेंकने को लेकर सियासत शुरू हो गयी है। आम आदमी पार्टी (आप) ने आरोप लगाया है कि हमलावर को केंद्र की भाजपा सरकार का समर्थन है, वहीं राजौरी गार्डन से विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा ने इस घटना को ‘केजरीवाल का स्वयं रचित ड्रामा’ करार दिया है।सुरक्षाकर्मियों ने मिर्ची पाउडर फेंकने वाले व्यक्ति को पकड़ लिया। उसका नाम अनिल शर्मा बताया जा रहा है। मुख्यमंत्री की आंख में मिर्ची पाउडर गिरा है और धक्का.मुक्की के दौरान केजरीवाल का चश्मा भी टूट गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री दिल्ली सचिवालय कार्यालय में आये हुए थे और बैठक के लिए अपने चैंबर में जा रहे थे। इसी दौरान चैंबर के बाहर खड़े युवक ने उन पर मिर्ची पाउडर फेंका। युवक इसे एक डिब्बी में लाया था। पुलिस ने युवक को पकड़ लिया है और उसे दिल्ली सचिवालय से कुछ ही दूरी पर स्थित आईपी एक्सटेंशन थाने ले जाया गया है। घटना अपराह्न करीब दो बजे की बताई जा रही है।

आम आदमी पार्टी (आप) ने इसे घातक हमला करार देते हुए कहा है कि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री की सुरक्षा में गंभीर चूक की है। पार्टी ने कहा है कि दिल्ली में मुख्यमंत्री तक सुरक्षित नहीं है।सिरसा ने कहा,“ पहले भी हम केजरीवाल के ऐसे नाटक देख चुके हैं। उनके ऊपर पहले स्याही अथवा जूता फेंका गया, यह भी उनके पैदा किये गये विवाद थे।

अब सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए यह योजना बनाई गयी जिससे कि मीडिया का ध्यान उनकी ओर आकर्षित हो सके।”उन्होंने कहा, “ दिल्ली सचिवालय में उनकी अपनी सुरक्षा व्यवस्था है और कोई भी व्यक्ति बिना पास के अंदर घुस नहीं सकता।”इस घटना के बाद आप पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा और सौरभ भारद्वाज ने आरोप लगाया कि यह कृत्य भाजपा की केंद्र की सरकार के समर्थन से हुआ है। दोनों ने कहा, “ भाजपा की केंद्र सरकार ऐसा माहौल पैदा कर रही है जिससे समाज विरोधी तत्व मुख्यमंत्री केजरीवाल पर हमला करें और इन्हें केंद्र सरकार का संरक्षण मिला हुआ है।”दोनों ने कहा, “ यदि ुख्यमंत्री सुरक्षित नहीं हैं और उनकी हत्या का प्रयास होता है तो आम आदमी कैसे सुरक्षित हो सकता है।”

भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने इस घटना की कड़ी भर्त्सना की है। उन्होंने कहा कि नाराजगी कितनी भी हो ऐसे व्यवहार को कभी उचित नहीं कहा जा सकता है।

Categories
National

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल दिल्ली में नहीं है सुरक्षित

नयी दिल्ली । मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर दिल्ली सचिवालय में मंगलवार को एक शख्स ने मिर्ची पाउडर फेंक दिया।

 Arvind Kejriwal

सुरक्षाकर्मियों ने मिर्ची पाउडर फेंकने वाले व्यक्ति को पकड़ लिया। उसका नाम अनिल शर्मा बताया जा रहा है। मुख्यमंत्री की आंख में मिर्ची पाउडर गिरा है और धक्का.मुक्की के दौरान केजरीवाल का चश्मा भी टूट गया।प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री दिल्ली सचिवालय कार्यालय में आये हुए थे और बैठक के लिए अपने चैंबर में जा रहे थे। इसी दौरान चैंबर के बाहर खड़े युवक ने उन पर मिर्ची पाउडर फेंका।

युवक इसे एक डिब्बी में लाया था। सुरक्षा कर्मियों ने युवक को पकड़ लिया है और उसे दिल्ली सचिवालय से कुछ ही दूरी पर स्थित आईपी एक्सटेंशन पुलिस थाने ले जाया गया है। घटना अपराह्न करीब दो बजे की बताई जा रही है।आम आदमी पार्टी (आप) ने इसे घातक हमला करार देते हुए कहा है कि दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री की सुरक्षा में गंभीर चूक की है। पार्टी ने कहा है कि दिल्ली में मुख्यमंत्री तक सुरक्षित नहीं है।

Categories
National

मुख्य सचिव मामले में केजरीवाल.सिसोदिया और 11 आप विधायकों को समन

नयी दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस अदालत ने मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट मामले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत आम आदमी पार्टी(आप) के 11 विधायकों को समन जारी किया है।

Kejriwal and Sisodia
Kejriwal and Sisodia

 

 

दिल्ली पुलिस ने 13 अगस्त को आरोपपत्र दाखिल किया था जिस पर संज्ञान लेते हुए अदालत ने सभी को 25 अक्टूबर को पेश होने का आदेश दिया है।केजरीवाल और अन्य को समन मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर 19 फरवरी की मध्यरात्रि को हुई कथित मारपीट के मामले में जारी किया गया है। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 13 अगस्त को आरोपपत्र दाखिल किया था जिसमें मुख्यमंत्री और अन्य को आरोपी बनाया गया है।

दिल्ली पुलिस के आरोपपत्र में केजरीवाल और सिसोदिया के अलावा आप के विधायक नितिन त्यागी, अमानतुल्ला खां, संजीव झा, प्रकाश जरवाल, राजेश ऋषि, रितूराज गोविंद, अजय दत्त, दिनेश मोहनिया, प्रवीण कुमार, राजेश गुप्ता और मदन लाल को आरोपी बनाया है।इस मामले के अगले दिन अमानतुल्ला खां और प्रकाश जरवाल को गिरफ्तार कर लिया गया था । दोनों फिलहाल जमानत पर हैं।मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री और विधायकों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी,186, 332, 323, 342,353, 506(2) के अलावा अन्य धाराओं में आरोपपत्र दाखिल किया गया है।

Categories
National

दिल्ली में 40 सेवाओं की घर-घर आपूर्ति शुरू

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकारी सेवाओं को जनता के द्वार तक पहुंचाने के मकसद से 40 सेवाओं की ‘डोरस्टेप डिलीवरी’ यानी घर-घर आपूर्ति की सोमवार को शुरुआत की।

 

केजरीवाल ने सुबह दिल्ली सचिवालय में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया अौर अन्य कैबिनेट मंत्रियाें के साथ इस योजना का शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा, “ यह एक क्रांतिकारी कदम है। आप 1076 पर कॉल करके अपने द्वार पर सेवाएं पा सकते हैं। अगर फोन लाइन व्यस्त मिलती है तो कंपनी आपको वापस कॉल करेगी। ये सेवाएं रात 10 बजे तक उपलब्ध होंगी। इसके लिए 50 रुपये की फीस का भुगतान करना होगा। ”

ये 40 सेवाएं राजस्व, समाज कल्याण, परिवहन, दिल्ली जल बोर्ड, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, श्रम और अनुसूचित जाति/ जनजाति/ अन्य पिछड़ा वर्ग/ अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अंतर्गत हैं।

दिल्ली सरकार इस योजना के जरिये इन विभागों की 40 सेवाओं को सीधा आवेदक के घर तक पहुंचाएगी। सरकार इसके तहत जाति प्रमाण पत्र, आय प्रमाण पत्र, विवाह पंजीकरण, जन्म एवं मृत्यु पंजीकरण और दिव्यांगों को स्थायी पहचान पत्र, ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन, नया पानी या सीवर कनेक्शन लगवाने या कटवाने के लिए आवेदन जैसी कुल 40 सेवाएं देगी हालांकि सिसोदिया का दावा है कि बाद में ये सेवाएं बढ़ाकर 70 तक की जा सकती हैं। फिलहाल जिन 40 सेवाओं को घर-घर पहुंचाया जा रहा है, साल 2017 में उनके लिए करीब 25 लाख आवेदन आये थे।

Categories
National

अंशु प्रकाश के साथ मारपीट मामले में आरोप पत्र दाखिल

नयी दिल्ली ।दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित तौर पर मारपीट के मामले में पुलिस ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया।

 Anshu Prakash

पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल आरोप पत्र में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के अलावा 11 विधायकों को आरोपी बनाया गया है। यह मामला इसी वर्ष 19 फरवरी का है। मुख्य सचिव को मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर बैठक के लिए बुलाया गया था। आरोप है कि मुख्यमंत्री की मौजूदगी में प्रकाश के साथ मारपीट की गयी। मेडिकल रिपोर्ट में मुख्य सचिव के साथ मारपीट की पुष्टि भी हुई थी। पुलिस ने इस मामले में मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री से पूछताछ भी की थी। आम आदमी पार्टी के दो विधायकों को गिरफ्तार भी किया गया था। इस मामले ने बहुत तूल पकड़ा था। नौकरशाही और सरकार के बीच आरोप-प्रत्यारोप भी लगाये गये। दिल्ली विधानसभा में विपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता ने आरोपपत्र दाखिल हो जाने पर केजरीवाल से इस्तीफे की मांग की है गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो गया है, इसके मद्देनजर उन्हें नैतिक आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए।

 

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
National

दिल्ली में यमुना का जल स्तर लाल निशान से ऊपर, बाढ़ का खतरा देख केजरीवाल ने बुलाई आपात बैठक

नयी पिछले दो दिनों से हो रही बारिश और हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से लगातार पानी छोड़े जाने से दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर खतरे के निशान को पार कर गया। बैराज से छह लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़े जाने से दिल्ली में बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।

 

 Yamuna water

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बाढ़ के खतरे की आशंका को देखते हुए आपात बैठक बुलाई है। केजरीवाल ने ट्वीट के कहा कि हरियाणा ने पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़ा है। इसे देखते हुए विचार-विमर्श के लिए आपात बैठक बुलाई गई है।
दिल्ली के बाढ़ नियंत्रण विभाग के अनुसार लोहे के पुल पर शाम सात बजे यमुना नदी का जल स्तर 205.30 मीटर हो गया है जो खतरे के निशान 204.83 मीटर से 0.47 मीटर अधिक है। विभाग के अनुसार हथिनी कुंड बैरोज से पानी लगातार छोड़ा जा रहा है और अाज रात नौ-10 बजे के बीच जल स्तर और बढ़कर 205.40 मीटर तक पहुंच सकता है। विभाग का कहना है कि पानी की मात्रा को देखते हुए यमुना के जल में और बढ़ोतरी हो सकती हैं।

विभाग ने बताया कि हथिनी कुंड बैराज से छह लाख पांच हजार 949 क्यूसेक से पानी छोड़ा गया है। इस पानी को दिल्ली पहुंचने में 48 से 72 घंटे का समय लगता है। पूरा पानी आ जाने पर जल स्तर में वृद्धि की आशंका बनी हुई है।
नदी में बढ़ते जल स्तर को देखते एहतियातन किनारे रहने वाले लोगों को सतर्क कर दिया है। नदी क्षेत्र में स्थित कुछ गाँवों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। उत्तर पूर्वी दिल्ली में नदी के किनारे बसे न्यू उस्मानपुर, गढ़ी मांडू और सोनिया विहार से लोगों को हटाकर वहीं पास में सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। पानी में वृद्धि को देखते हुए निचले इलाके में रहने वाले लोग स्वयं भी सामान लेकर सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं।

हथिनी कुंड बैराज दिल्ली से 200 किलोमीटर दूर हरियाणा के यमुना नगर में है। यमुनानगर से मिली जानकारी के अनुसार वहां से छह लाख पांच हजार क्यूसेक पानी छोड़ा जा चुका है। यह पानी यमुनानगर, करनाल और पानीपत होते हुए दिल्ली पहुंचेगा।

पूरा पानी दिल्ली पहुंचने पर बाढ़ की आशंका उत्पन्न हो गई है। कई वर्षों बाद हथिनी कुंड से इतना अधिक पानी यमुना में दिल्ली की तरफ छोड़ा गया है। दिल्ली सरकार का बाढ़ नियंत्रण विभाग सतर्क है और यमुना के किनारे बसे लोगों को हटाने का काम जोरों पर किया जा रहा है।
पूर्वी जिले के एसडीएम अरुण गुप्ता ने बताया कि लोगों से ऊपरी स्थानों पर जाने की अपील की गई है। बाढ़ नियंत्रण विभाग ने कई स्थानों पर प्रभावितों के रहने के लिए टेंट का इंतजाम किया है।