Categories
Results

GATE Answer Key 2020: गेट परीक्षा की आंसर की कर दी गई है जारी

GATE 2020 Answer Key: गेट परीक्षा 2020 की आंसर की जारी कर दी गई है। परीक्षा की आंसर की 19 फरवरी को जारी होनी थी लेकिन इसे एक दिन पहले जारी कर दिया गया है। आंसर की पर 19 फरवरी से ही आपत्ति दर्ज की जा सकेगी।
GATE 2020 Official Answer Key: आईआईटी दिल्ली ने गेट परीक्षा की आंसर की जारी कर दी है। आंसर की को आईआईटी गेट की वेबसाइट gate.iitd.ac.in से डाउनलोड किया जा सकता है।

GATE Answer Key 2020: आपत्ति 19 फरवरी सुबह 11 बजे से 21 फरवरी शाम 6 बजे तक दर्ज कराई जा सकती है। आवेदक परीक्षा के किसी भी सवाल पर आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। आवेदकों को प्रति आपत्ति 500 रुपए का भुगतान करना होगा। बिना भुगतान आपत्ति स्वीकार नहीं होगी। जिस आपत्ति को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उसके पैसे रिफंड कर दिए जाएंगे।

GATE Answer Key 2020: आंसर की चैलेंज करते समय आवेदक ध्यान रखें कि सवाल का नंबर वही हो जो गेट की वेबसाइट पर दिए गए पेपर में सवाल का नंबर है। ऐसा न हो कि आपत्ति किसी सवाल पर दर्ज करानी हो और नंबर किसी दूसरे सवाल का दें। ऐसी स्थिति में आपत्ति खारिज कर दी जाएगी।

GATE Answer Key 2020: अगर आपत्ति के सपोर्ट में कोई डॉक्यूमेंट अपलोड कर रहे हैं तो डॉक्यूमेंट पर सेक्शन नंबर और सवाल नंबर लिखना होगा। आंसर की पर अंतिम फैसला गेट 2020 कमिटी का होगा। किसी तरह का कोई पत्राचार स्वीकार नहीं होगा। इससे पहले आईआईटी दिल्ली ने गेट परीक्षा की रेस्पॉन्स शीट और पेपर जारी किए थे।

Categories
Results

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020: यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए ऐसे करें तैयारी, जानें परीक्षा पैटर्न

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020: लखनऊ विश्वविद्यालय (LU) की ओर से आयोजित उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 के जरिए उत्तर प्रदेश के कॉलेजों में BEd पाठ्यक्रम के प्रवेश लेने के इच्छुक उम्मीदवारों को परीक्षा में अच्छा स्कोर करना होगा। इसके लिए वे परीक्षा का पेटर्न समझकर इस लेख के अनुसार तैयारी करें।

 

निगेटिव होगी मार्किंग

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020:  प्रवेश परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न आएंगे। परीक्षा में निगेटिव मार्किंग की जाएगी। परीक्षा में दो पेपर होंगे। पहले पेपर में सामान्य ज्ञान और भाषा (हिंदी/अंग्रेजी) के प्रश्न होंगे। दोनों भाग में से 100-100 नंबर के 50-50 प्रश्न पूछे जाएंगे। दूसरे पेपर में जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट और विषय योग्यता के प्रश्न होंगे। दोनों भाग में 100-100 नंबर के 50-50 प्रश्न पूछे जाएंगे। दोनों पेपर के लिए तीन-तीन घंटे का समय मिलेगा।

सिलेबस देखकर बनाएं पढ़ाई की रणनीति

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020:  उम्मीदवारों को प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू करने से पहले परीक्षा के सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को अच्छी तरह से देखना और समझना चाहिए। उसके बाद तैयारी की एक ऐसी स्ट्रेटजी बनानी चाहिए, जिससे सिलेबस कवर हो सके। एक सही टाइम टेबल बनाना चाहिए, जिसमें सभी टॉपिक्स को बराबर समय दिया गया हो, हालांकि, ज्यादा नंबर वाले टॉपिक को ज्यादा समय दे सकते हैं।

किताबों का सही चुनाव जरूरी

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020:  उम्मीदवारों को परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए सही किताबों और अच्छे स्टडी मैटेरियल का चुनाव करना बहुत जरुरी है। उम्मीदवारों को प्रत्येक टॉपिक के लिए एक या दो अच्छी रेफरेंस किताबों से पढ़ाई करनी चाहिए। इससे आपकी तैयारी अच्छी होगी।

पिछले साल के प्रश्न पत्र हल करें

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020:  किसी भी परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए उम्मीदवारों को समय का सही उपयोग करने की कला सीखना बहुत जरुरी है। परीक्षा में प्रश्न अधिक होते हैं और उऩ्हें हल करने के लिए समय कम होता है। इसलिए पढ़ाई करते समय भी समय का सही से उपयोग करना सीखना चाहिए और समझना चाहिए कि परीक्षा में पहले कौन से प्रश्न हल करें। समय मैनेजमेंट के लिए पिछले साल के प्रश्न पत्र करें। इससे परीक्षा पैटर्न का भी पता चलता है।

जमकर करें अभ्यास

How to prepare for UP B.Ed entrance exam 2020:  परीक्षा के लिए अभ्यास बहुत जरुरी है। रोजाना पढ़ी हुई चीजों का अभ्यास करना चाहिए, जिससे कि पढ़ी हुई चीजों को नहीं भूलें। पिछले साले के पेपर और सैंपल पेपर आदि भी हल कर सकते हैं।

Categories
Jobs

BSF Recruitment 2020: तत्काल करें आवेदन, सीमा सुरक्षा बल में मिल सकती है एक लाख रुपए वेतन वाली ​नौकरी

BSF Recruitment 2020: सीमा सुरक्षा बल (बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स BSF) ने SI (मास्टर), SI (इंजन ड्राइवर), SI (कार्यशाला), HC (मास्टर), HC (इंजन ड्राइवर), कांस्टेबल (जनरल ड्यूटी) पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगे हैं।

इस तिथि तक आवेदन

BSF Recruitment 2020: अधिसूचना के अनुसार BSF भर्ती 2020 के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 मार्च, 2020 है। BSF ने SI (मास्टर), SI (इंजन ड्राइवर), SI (कार्यशाला), HC (मास्टर), HC (इंजन ड्राइवर), कांस्टेबल (जनरल ड्यूटी) आदि के 317 पदों पर भर्ती निकाली है। आवेदन आॅनलाइन करने होंगे। किस अन्य माध्यम से किया गया आवेदन स्वीकार नहीं होगा।

ये कर सकते हैं आवेदन

BSF Recruitment 2020: सभी पदों के लिए शैक्षिक योग्यता अलग-अलग है, लेकिन किसी भी पद के लिए आवेदन करने के लिए उम्मीदवार का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं पास होना अनिवार्य है। उम्मीदवार की आयु 20-28 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

एक लाख तक मिलेगा वेतन

BSF Recruitment 2020: उम्मीदवारों को 200 रुपये आवेदन फीस देनी होगी। अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के उम्मीदवारों को कोई आवेदन फीस नहीं देनी होगी। इन पदों पर भर्ती होने वाले उम्मीदवारों को लगभग 22 हजार रुपये से लेकर एक लाख 12 हजार रुपये तक वेतन मिलेगा।

ऐसे करें आवेदन

BSF Recruitment 2020: आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों को आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर होम पेज पर इस भर्ती के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा। उम्मीदवार को मांगे जा रहे विवरण जैसे ई—मेल आईडी और नाम आदि दर्ज करना होगा। आवेदन पत्र में अपनी पासपोर्ट साइज की फोटो और हस्ताक्षर की स्कैन कॉपी भी अपलोड करनी होगी। आवेदन करने के बाद आवेदन पत्र का प्रिंट आउट निकाल लें।
भर्ती की अधिक जानकारी के लिए उम्मीदवार आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अधिसूचना प्राप्त कर सकते हैं।

आधिकारिक अधिसूचना के लिए यहां क्लिक करें।

http://www.davp.nic.in/WriteReadData/ADS/eng_19110_104_1920b.pdf

Categories
Results

Bihar BSEB STET Answer Key 2020: बिहार सेकंडरी टीचर्स एलिजिब्लिटी टेस्ट 2019 की आंसर की जारी, ये रहा डाउनलोड लिंक

Bihar STET 2020 Answer Key: बिहार सेकंडरी टीचर्स एलिजिब्लिटी टेस्ट 2019 की आंसर की जारी हो गई है। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना ने सेकंडरी टीचर्स एलिजिब्लिटी टेस्ट 2019 परीक्षा आंसर की बिहार बोर्ड की वेबसाइट biharboardonline.com पर जारी की है। Bihar BSEB STET Answer Key 2020:

 

पीडीएफ फॉर्मेट में है आंसर की 

Bihar BSEB STET Answer Key 2020:परीक्षार्थी आंसर की डाउनलोड कर सकते हैं। आंसर की पीडीएफ फॉर्मेट में है इसलिए आंसर किसी तरह के लॉगिन आईडी और पासवर्ड की जरुरत नहीं है। बिहार सेकंडरी टीचर्स एलिजिब्लिटी टेस्ट 2019 (STET) के लिए आंसर की bsebstet2019.in पर नहीं बल्कि biharboardonline.com पर जारी की गई है इसलिए कई आवेदक आंसर को लेकर कन्फ्यूज हो रहे हैं लेकिन यहां आंसर की देखने और इस पर आपत्ति दर्ज करने का डायेरक्ट लिंक दिया है। आपत्ति केवल ऑनलाइन ही दर्ज होगी।

रिजल्ट भी इसी के आधार पर जारी 

Bihar BSEB STET Answer Key 2020:किसी अन्य माध्यम से भेजी आपत्तियों पर विचार नहीं होगा। आंसर की पर आपत्ति सही मिलती है तो फिर फाइनल आंसर की जारी की जाएगी और फिर इसी के आधार पर रिजल्ट भी जारी किया जाएगा। अगर आप परीक्षार्थी हैं तो लगातार बिहार बोर्ड की ऑफिशल वेबसाइट्स पर नजर रखें। आंसर की में सवाल का नंबर और उत्तर का सही विकल्प दिया हुआ है। आंसर की को ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं। आंसर की देखने और आपत्ति दर्ज कराने का एक ही पेज है जिसका डायरेक्ट लिंक नीचे हैं।Bihar BSEB STET Answer Key 2020:

Bihar STET Answer Key 2020 के इस लिंक पर क्लिक करें

http://biharboardonline.com/Grievance/Objection/TetObjection

Categories
Results

Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020: ऐसे पूरा करें बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) में पढ़ाई करने का सपना

Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020:

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा में पास होने के बाद प्रवेश दिया जाता है। BHU के अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए अंडरग्रेजुएट एंट्रेंट टेस्ट (UET) और पोस्ट ग्रेजुएशन पाठ्यक्रमों के लिए पोस्ट ग्रेजुएट एंट्रेंस टेस्ट (PET) देना होगा। डॉक्टरेट पाठ्यक्रम के लिए RET और MBA में CAT स्कोर से प्रवेश मिलता है। उम्मीदवार ऑनलाइन कर सकते हैं।

 

प्रवेश परीक्षा आवेदन की तिथि

BHU प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए आवेदन 30 जनवरी, 2020 से शुरू होकर 29 फरवरी, 2020 तक किया जा सकता है। प्रवेश परीक्षा 26 अप्रैल से 28 मई, 2020 के बीच होगी। एडमिट कार्ड अप्रैल में जारी होंगे। रिजल्ट मई-जून, 2020 में घोषित होगा और काउंसलिंग जून-जुलाई में होगी। Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020

ये है आवेदन शुल्क

शास्त्री (Hons) को छोड़कर सभी कोर्सों के लिए सामान्य/अन्य पिछड़ा वर्ग को 600 रुपये और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों को 300 रुपये फीस देनी होगी। शास्त्री (Hons) के लिए सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 400 रुपये और बाकी को 200 रुपये देने होंगे। Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020

ये है परीक्षा पैटर्न

अंडरग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन कंप्यूटर आधारित मोड (CBT) में होगा। सभी कोर्स की प्रवेश परीक्षा का पैटर्न अलग-अलग है। पोस्ट ग्रेजुएशन के ज्यादातर कोर्स की परीक्षा में 300 नंबर के 120 मल्टीपल चॉइस टाइप प्रश्न (MCQ) पूछे जाएंगे। जिसके लिए आपको 120 मिनट का समय दिया जाएगा। प्रवेश परीक्षा का आयोजन 200 शहरों में बनें परीक्षा केंद्रों में किया जाएगा। Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020

ये हैं पात्रता के मानदंड

अंडरग्रेजुएट पाठ्यक्रमों के लिए 12वीं पास आवेदन के पात्र हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्सों के लिए स्नातक पास आवेदन के पात्र हैं। Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020

ऐसे करें आवेदन

सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट www.bhuonline.in पर जाएं। होम पेज पर सभी कोर्स के लिए लिंक मिलेगा। जिस कोर्स के लिए आवेदन करना है, उसके Apply पर क्लिक करें। एक नई विंडो खुलेगी जिसमें नाम, पता आदि दर्ज करके आवेदन करें। Banaras Hindu University (BHU) Entrance Examination 2020

आवेदन के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

http://bhuonline.in/

Categories
Results

UP B.Ed Joint Entrance Exam 2020: शिक्षक बनना चाहते हैं तो उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए करें आवेदन

लखनऊ विश्वविद्यालय (LU) ने उत्तर प्रदेश बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। उत्तर प्रदेश के कॉलेजों के BEd पाठ्यक्रम के प्रवेश के इच्छुक उम्मीदवारों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा।

 

UP BEd प्रवेश परीक्षा 2020 की पूरी जानकारी।

आवेदन की अंतिम तिथि

UP BEd प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 12 फरवरी, 2020 से शुरू हो गई है और अंतिम तिथि 06 मार्च, 2020 है। लेट फीस के साथ आवेदन की अंतिम तिथि 11 मार्च, 2020 है। परीक्षा 08 अप्रैल, 2020 को होगी। रिजल्ट 11 मई, 2020 को जारी किया जाएगा। काउंसलिंग 01 जून, 2020 से शुरू होगी।

दो साल का है पाठ्यक्रम, ये कर सकते हैं आवेदन

UP BEd प्रवेश परीक्षा 2020 के लिए किसी भी मान्यता प्राप्त संस्थान से कम से कम 50 प्रतिशत नंबरों के साथ स्नातक कोर्स पास कर चुके उम्मीदवार आवेदन करने के पात्र हैं। इंजीनियरिंग की डिग्रीधारकों के लिए 55 प्रतिशत नंबर अनिवार्य है। आवेदक की आयु 15 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए। पाठ्यक्रम दो वर्ष का है। परीक्षा का आयोजन राज्य के विभिन्न कॉलेजों में दो लाख सीटों पर प्रवेश देने के लिए किया जाता है।

ये देना होगा आवेदन शुल्क

अन्य राज्यों और UP के सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 1500 रुपये आवेदन फीस देनी होगी। अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के उम्मीदवारों को 750 रुपये आवेदन फीस देनी होगी। अन्य राज्यों और UP के सामान्य और अन्य पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 2,000 रुपये लेट फीस और अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के उम्मीदवारों को 1,000 रुपये लेट फीस देनी होगी।

परीक्षा का ये होगा पैटर्न

प्रवेश परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे। परीक्षा में निगेटिव मार्किंग की जाएगी। परीक्षा में दो पेपर होंगे। पहले पेपर में सामान्य ज्ञान भाषा (हिंदी/अंग्रेजी) के प्रश्न होंगे। दोनों भाग में से 100-100 नंबर के 50-50 प्रश्न पूछे जाएंगे। दूसरे पेपर में जनरल एप्टीट्यूड टेस्ट और विषय येग्यता के प्रश्न होंगे। दोनों भाग में 100-100 नंबर के 50-50 प्रश्न पूछे जाएंगे। दोनों पेपर के लिए तीन-तीन घंटे का समय मिलेगा।

ऐसे करें आवेदन

आवेदक आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इसके लिए दिए लिंक पर क्लिक करें। आपके सामने एक नई विंडों खुलकर आ जाएगी। उसमें विवरण दर्ज करें। आवेदन सबमिट करने से पहले भरे गए विवरण जांच लें और उसका प्रिंट आउट निकाल लें।

ये है अधिसूचना प्राप्त करने का लिंक 

UP BEd प्रवेश परीक्षा 2020 की जानकारी और आवेदन की आधिकारिक अधिसूचना के लिए यहां क्लिक करें।

http://www.lkouniv.ac.in/site/writereaddata/siteContent/202002121424079609bed_final_brochure.pdf

Categories
Off Beat

OFB Recruitment 2019 के 6060 पदों के लिए 10वीं पास के लिए सरकारी नौकरी का मौका, 9 फरवरी 2020 तक किया जा सकता है आवेदन

भारतीय आयुध निर्माणी बोर्ड ने विभिन्न पदों पर भर्तियां निकाली हैं। ट्रेड अपरेंटिस के विभिन्न पदों पर ये भर्तियां की जा रही हैं। भर्ती के जरिए कुल 6060 पदों को भरा जाएगा। जो उम्मीदवार इस भर्ती के लिए इच्छुक हैं वो 9 फरवरी, 2020 तक इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इन पदों के लिए ऑनलाइन मोड में आवेदन प्रक्रिया जारी है। आवेदन प्रक्रिया 10 जनवरी, 2020 से शुरू हो चुकी है और 09 फरवरी, 2020 तक आवेदन किया जा सकता है।
आवेदन के लिए उम्मीदवार की आयु 15 साल से 24 साल के बीच होनी चाहिए। इस भर्ती के जरिए खाली पड़ें 6060 पद भरे जाएंगे, इनमें चंडीगढ़, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, उड़ीसा, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल समेत विभिन्न राज्यों में भर्ती की जाएगी।

ऐसे करें आवेदन (How to Apply)-

इन पदों पर आवेदन के लिए सबसे पहले उम्मीदवार ओएफबी भर्ती 2020 के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं। यहां ऑनलाइन मोड में 09 फरवरी 2020 या उससे पहले तक आवेदन कर सकते हैं।

 

महत्वपूर्ण तिथियां (Important Dates)-

ऑनलाइन आवेदन करने की प्रथम तिथि: 10 जनवरी, 2020
ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि: 09 फरवरी, 2020
पदों का विवरण-

उत्तर प्रदेश (आयुध वस्त्र कारखाना शाहजहांपुर)- 282 पद
उत्तर प्रदेश (आयुध उपकरण कारखाना हजरतपुर)- 49 पद
उत्तर प्रदेश (आयुध निर्माणी मुरादनगर)- 178 पद
उत्तर प्रदेश (आयुध पैराशूट फैक्ट्री कानपुर)- 181 पद
उत्तर प्रदेश (लघु शस्त्र कारखाना कानपुर)- 123 पद
उत्तर प्रदेश (फील्ड गन फैक्ट्री कानपुर)- 55 पद
उत्तर प्रदेश (आयुध निर्माणी कानपुर)- 295 पद
उत्तराखंड (ऑप्टो इलेक्ट्रॉनिक फैक्टरी देहरादून)- 151 पोस्ट
उत्तराखंड (आयुध निर्माणी देहरादून)- 77 पद
चंडीगढ़- 46 पद
मध्य प्रदेश (एमपी, ग्रे आयरन फाउंड्री, जबलपुर) -176 पद
मध्य प्रदेश (आयुध निर्माणी, कटनी)- 30 पद
मध्य प्रदेश (आयुध निर्माणी, खमरिया, जबलपुर)- 84 पद
मध्य प्रदेश (वाहन फैक्ट्री जबलपुर)- 98 पद
मध्य प्रदेश (आयुध निर्माणी, इटारसी)- 146 पद
महाराष्ट्र (उच्च विस्फोटक फैक्टरी किर्की, पुणे)- 92 पद
महाराष्ट्र (गोला-बारूद कारखाना खड़की, पुणे)- 424 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी वरगाँव)- 163 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी अंबरनाथ, ठाणे)- 110 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी चंदा, चंद्रपुर)- 227 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी भुसवा)- 103 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी देहू रोड, पुणे)- 19 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी भंडारा)- 256 पद
महाराष्ट्र (आयुध निर्माणी अंबाजारी, नागपुर)- 375 पद
महाराष्ट्र (मशीन टूल प्रोटोटाइप फैक्टरी, अंबरनाथ, ठाणे)- 91 पोस्ट
उड़ीसा (आयुध निर्माणी बादल, बोलंगीर)- 63 पद
तमिलनाडु (कोर्डाइट फैक्टरी अरवंकडु)- 187 पद
तमिलनाडु (आयुध निर्माणी तिरुचिरापल्ली)- 178 पद
तमिलनाडु (आयुध वस्त्र फैक्टरी अवधी, चेन्नई)- 242 पद
तमिलनाडु (हैवी व्हीकल फैक्ट्री अवाडी, चेन्नई)- 265 पद
तमिलनाडु (भारी मिश्र धातु पेनेट्रेटर परियोजना, तिरुचिरापल्ली)- 89 पद
तमिलनाडु (इंजन फैक्टरी अवडी, चेन्नई)- 128 पद
तेलंगाना (आयुध निर्माणी परियोजना मेदक, हैदराबाद)- 438 पद
पश्चिम बंगाल (मेटल एंड स्टील फैक्ट्री इशापोर)- 248 पद
पश्चिम बंगाल (राइफल फैक्ट्री इशापोर, कोलकाता)- 174 पद
पश्चिम बंगाल (आयुध निर्माणी दम दम, कोलकाता)- 57 पद
पश्चिम बंगाल (गन एंड शेल फैक्ट्री, कोसीपोर)- 104 पद

Categories
Entertainment

अब भी उतनी ही मस्त, मस्त दिखती है ये गर्ल, युवा देखकर थाम लेते हैं दिल

बॉलीवुड में ..शहर की लड़की…मस्त मस्त गर्ल जैसे उपनामों से मशहूर रवीना टंडन को एक ऐसी अभिनेत्री के रूप में शुमार किया जाता है जिन्होंने अपने बिंदास अभिनय से दर्शको को अपना दीवाना बनाया है । रवीना टंडन का जन्म 26 अक्टूबर 1974 को मुंबई में हुआ। पिता रवि टंडन और मां वीणा टंडन के नाम को मिलाकर उनका नाम रवीना टंडन रखा गया। रवीना टंडन को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनके पिता जाने माने फिल्म निर्माता थे। रवीना ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मुंबई के जमनाबाई स्कूल से पूरी की। इसके बाद उन्होंने मुंबई के मशहूर मिठठीभाई कॉलेज में दाखिला लिया। इस दौरान उनकी मुलाकात निर्देशक शांतनु शोरी से हुयी। उन्होंने रवीना टंडन को फिल्मों में काम करने की सलाह दी। इसके बाद कॉलेज में पढ़ाई छोड़कर रवीना टंडन फिल्मों में अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखने लगीं।
रवीऩा टंडन ने अपने सिने कैरयिर की शुरूआत वर्ष 1991 में प्रदर्शित फिल्म ..पत्थर के फूल ..से की। जे.पी.सिप्पी निर्मित इस फिल्म में नायक की भूमिका सलमान खान ने निभाई थी। हालांकि यह फिल्म टिकट खिड़की पर सफल नही हो सकी लेकिन रवीना टंडन के अभिनय को दर्शको ने काफी सराहा। इसके साथ ही वह नवोदित अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार से सम्मानित की गयीं। वर्ष 1994 रवीना टंडन के सिने कैरियर के लिये अहम साल साबित हुआ। इसी वर्ष उनकी मोहरा .लाडला .दिलवाले और अंदाज अपना अपना जैसी सुपरहिट फिल्में प्रदर्शित हुयी। फिल्म लाडला में अपने दमदार अभिनय के लिये रवीना टंडन अपने कैरियर में पहली बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के फिल्म फेयर पुरस्कार के लिए नामांकित की गयीं।

वर्ष 1994 में ही प्रदर्शित फिल्म ..मोहरा ..रवीना टंडन के कैरियर की सर्वाधिक सुपरहिट फिल्म साबित हुयी । मारधाड़ और एक्शन से भरपूर इस फिल्म में रवीना टंडन पर फिल्माया गया गीत ..तू चीज बड़ी है मस्त मस्त ..उन दिनों श्रोताओं के बीच क्रेज बन गया था। इसके बाद रवीना टंडन फिल्म इंडस्ट्री में मस्त..मस्त गर्ल के रूप में विख्यात हो गयीं। वर्ष 1995 में प्रदर्शित फिल्म ..रक्षक ..रवीना टंडन की एक और महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुयी। अशोक होंडा के निर्देशन में सुनील शेट्टी और करिश्मा कपूर की मुख्य भूमिका वाली इस फिल्म में यूं तो रवीना टंडन ने अतिथि कलाकार के तौर पर काम किया था लेकिन फिल्म में उन पर फिल्माया गीत ..शहर की लड़की..श्रोताओं के बीच काफी लोकप्रिय हुआ और वह दर्शको के बीच शहर की लड़की के नाम से मशहूर हो गयीं।

वर्ष 2001 में प्रदर्शित फिल्म ..दमन..रवीना टंडन के कैरियर की उल्लेखनीय फिल्मों में शुमार की जाती है । कल्पना आजमी के निर्देशन में बनी इस फिल्म में उन्होंने दुर्गा नामक एक ऐसी महिला का किरदार निभाया था जिसे उसका पति बेहद प्रताडि़त करता है। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये रवीना टंडन सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित की गयीं। वर्ष 2001 में ही रवीना टंडन के कैरियर की एक और अहम फिल्म ..अक्स ..प्रदर्शित हुयी। इस फिल्म में उनका किरदार ग्रे शेडस लिये हुये था। बावजूद इसके वह दर्शको का दिल जीतने में सफल रहीं। फिल्म में अपने दमदार अभिनय के लिये वह फिल्म फेयर के विशेष पुरस्कार से सम्मानित की गयी।
वर्ष 2003 में प्रदर्शित फिल्म ..सत्ता .. भी रवीना टंडन के कैरियर की महत्वपूर्ण फिल्मों में से एक है। राजनीति से प्रेरित मधुर भंडारकर निर्मित इस फिल्म में रवीना टंडन ने अपने सशक्त अभिनय से दर्शको के साथ ही समीक्षको का भी दिल जीतने में सफल रहीं। वर्ष 2003 में रवीना टंडन ने फिल्म ..स्टंपड ..के जरिये फिल्म निर्माण के क्षेत्र में भी कदम रख दिया। फिल्म ने टिकट खिड़की पर औसत व्यापार किया। इस दौरान वह फिल्म वितरक अनिल थडानी से प्यार करने लगीं। वर्ष 2004 में रवीना टंडन ने अनिल थडानी से शादी कर ली। इसके बाद रवीना टंडन ने फिल्म ..पहचान..का निर्माण किया लेकिन यह फिल्म टिकट खिड़की पर नकार दी गयी।

वर्ष 2003 में रवीना टंडन ..बाल फिल्म सोसाईटी ..की अध्यक्ष बन गयीं। हालांकि इस दौरान उन पर आरोप लगने लगे कि वह अपने काम पर ध्यान नही दे रही हैं। वर्ष 2005 में रवीना टंडन ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया। वर्ष 2006 में प्रदर्शित फिल्म सैंडविच की असफलता के बाद रवीना टंडन ने फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया। रवीना टंडन के सिने कैरियर में उनकी जोड़ी अभिनेता अक्षय कुमार और गोविंदा के साथ काफी पसंद की गयी। रवीना टंडन ने अपने दो दशक लंबे सिने कैरियर में लगभग 75 से अधिक फिल्मों में काम किया है।

Categories
Off Beat

भले ही सबसे ​बड़े राम भक्त कहलाएं ​लेकिन विषीषणों को आज भी पसंद नहीं करता है भारत, ये है प्रमाण

भगवान राम के परम भक्तों में शुमार लंकापति रावण के भाई वि​भीषण को भारत आज भी पसंद नहीं करता। महाराष्ट, हरियाणा विधानसभा चुनाव के साथ ही देश भर की 51 विधानसभा सीटों और दो लोकसभा सीटों के चुनाव परिणाम इसका प्रमाण है। मतदाता ने हर उस विभीषण को चुनाव हरा दिया जिसने अपनी लंका {अपनी पार्टी छोड़कर दूसरी में गए नेता} को धोखा दिया था। अर्थात अपने दल को छोड़कर दूसरे दल से चुनाव लड़ने वाले नेताओं का इस चुनाव में बुरा हश्र हुआ है। अब इनमें भले ही छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज सतारा से एनसीपी के पूर्व सांसद उदयनराजे भोसले हों अथवा कांग्रेस के टिकट पर एमएलए चुने गए अल्पेश ठाकुर का भाजपा टिकट पर लड़ जाने की घटना हो। जनता ने बुरी तरह से हरा दिया।

कांग्रेस छोड़ कर भाजपा का दामन थामने वाले अल्पेश ठाकोर की गुजरात की राधनपुर विधानसभा उपचुनाव में हार हुई है। कांग्रेस के प्रतिद्वंद्वी रघु देसाई के हाथों लगभग तीन हजार मतों से हुई हार के बाद ठाकोर ने अपनी पराजय को जातिवादी तत्वों का एक षडयंत्र करार दिया। उन्होंने कहा कि वह चुप नहीं बैठेंगे और आने वाले समय में इसका करारा जवाब देंगे। इसी सीट पर पिछली बार कांग्रेस की टिकट पर जीते ठाकोर ने पार्टी पर कुछ माह पहले धोखेबाजी का आरोप लगाते हुए नाटकीय अंदाज में केंद्रीय सचिव तथा बिहार सह-प्रभारी समेत सभी पदों को छोड़ने की घोषणा कर दी थी। जुलाई माह में राज्यसभा उपचुनाव में भाजपा के पक्ष में क्रॉस वोटिंग करने के बाद उन्होंने विधायक पद और कांग्रेस से त्यागपत्र दे दिया था। भाजपा ने उन्हें अपना प्रत्याशी बनाया था। ठाकोर के साथ ही कांग्रेस छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले बायड सीट के विधायक धवल सिंह झाला को भी कांग्रेस के जशु पटेल के हाथों लगभग सात सौ मतों के करीबी अंतर से हार का सामना करना पड़ा है।

इस तरह इन दोनो सीटों पर दोनो दलबदलू पूर्व विधायकों की हार के बावजूद कांग्रेस ने इन पर कब्जा बरकरार रखा है। गुजरात की छह विधानसभा सीटों में से अन्य चार में से एक खेरालु में भाजपा के अजलम ठाकोर ने कांग्रेस के बाबूजी ठाकोर को 29 हजार से अधिक मतों से तथा लुनावड़ा में भाजपा के जिग्नेश सेवक ने निकटतम प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के गुलाबसिंह चौहाण को 12 हजार से अधिक मतों से हराया है। दोनो सीटें पिछली बार भी भाजपा ने जीती थीं।

राज्य सरकार के मंत्री रहे तथा पिछले लोकसभा चुनाव में बनासकांठा सीट के सांसद बन गये परबत पटेल की सीट थराद में भी कांग्रेस के गुलाब राजपूत ने भाजपा के जीवराज पटेल को चार हजार से अधिक मतों से पराजित कर दिया है। अमराईवाड़ी सीट पर रस्साकशी भरी जंग के बीच भाजपा के जगदीश पटेल अंतिम चरणों की गिनती में कांग्रेस के धमेर्न्द्र पटेल से बारीक बढ़त बना ली है. यह सीट पिछली बार भाजपा के कब्जे में थी।

Categories
Off Beat

अमेरिका ने फिर मरोड़ा भारत का हाथ, नाराज भारत ने कहा, हद में रहे अमेरिका

पिछले छह माह से भारत—पाकिस्तान के फटे में कश्मीर के बहाने टांग फंसाने की ताक में बैठे अमेरिका ने एक बार फिर भारत की बांह मरोड़ने की कोशिश की है। उसने न सिर्फ कश्मीर में धारा 370 हटाने के बाद के हालात पर उंगली उठाते हुए फिर दोहराया है कि राष्ट्रपति ट्रम्प कश्मीर मामले भारत—पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता को तैयार है। हालांकि भारत ने तत्काल इस पर नाराजगी जाहिर कर दी लेकिन अमेरिका पर इसका कोई फर्क नहीं पड़ा।

विदेश विभाग के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि कश्मीर पर अमरीकी कांग्रेस के कुछ सदस्यों ने खेदजनक टिप्पणियां की हैं। समिति के लोगों को भारत के फ़ैसले की आलोचना करने की बजाय सीमा पार से कश्मीर में होने वाली प्रायोजित घुसपैठ की निंदा करनी चाहिए थी।
यह दुखद है कि कुछ सदस्यों ने कश्मीर के लोगों की बेहतरी और कश्मीर में शांति बनाए रखने के मकसद से उठाए गए कदम पर सवाल खड़े किए हैं। अमरीकी प्रशासन के अधिकारियों ने कहा था कि उनका एक पैनल 5 अगस्त के बाद कश्मीर जाना चाहता था लेकिन भारत ने इनकार कर दिया। जम्मू-कश्मीर मामले में पाकिस्तान लगातार अमेरिका से मध्यस्थता करने की बात कह रहा है जबकि भारत इसे अपना आंतरिक मामला मानता है।

Narendra Modi

अमेरिका ने भारत से कहा था कि वह कश्मीर में राजनीतिक और आर्थिक स्थिति सामान्य करने का ‘खाका’ पेश करने और जल्द से जल्द राजनीतिक बंदियों को रिहा करे। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के ‘फॉगी बॉटम मुख्यालय’ में अमेरिकी प्रतिनिधि ने पत्रकारों से कहा कि अमेरिका घाटी की स्थिति को लेकर चिंतित हैं। करीब 80 लाख स्थानीय लोगों का जीवन जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने और राजनीतिज्ञों को बिना कारण हिरासत में लेने और संचार प्रतिबंधों के कारण प्रभावित है। उन्होंने कहा कि कश्मीर में सुरक्षा प्रतिबंधों के चलते पत्रकारों को लगातार चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है।

प्रवक्ता ने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन जैसे गिरोह निश्चित तौर पर परेशानी का कारण हैं। उन्होंने कहा, इस सिलसिले में हम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के सितंबर में आए उस बेबाक बयान का स्वागत करते हैं, जिसमें उन्होंने कहा था कि कश्मीर में हिंसा करने के लिए पाकिस्तान से गुजरने वाला हर शख्स पाकिस्तानियों और कश्मीरियों, दोनों का दुश्मन होगा’ इस बीच, विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक बार फिर कहा कि अगर दोनों देश चाहें तो अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर मामले पर मध्यस्थता करने को तैयार हैं। वह (ट्रम्प) निश्चित तौर पर मध्यस्थ की भूमिका निभाने को तैयार हैं, अगर दोनों देश इस पर सहमत हों तो।