Categories
Entertainment

गोविंदा के भांजे ने गाया गाना‘हरे कृष्‍णा करे राम’

मुंबई । बॉलीवुड के सुपरस्टार अभिनेता गोविंदा के भांजे ने ‘हरे कृष्‍णा करे राम’ गाया है।

विनय आनंद का गाना ‘हरे कृष्‍णा हरे राम’ फ्लाइंग हार्सेस म्‍यूजिक इंटरटेंमेंट पर रिलीज किया गया है। गाना रिलीज होने के साथ ही वायरल हो रहा है। इस गाने के जरिेये विनय आनंद अपने फैंस से जिंदगी पूरी जिंदादिली से बिताने को प्रेरित करते नजर आये हैं।

विनय आनंद ने बताया कि गाना बेहद खूबसूरत है। यह श्रोताओं के मूड को लाइट करेगा। लॉकडाउन की बोरियत से उबारने में सहायक है और लोगों को प्रेरित करने वाला है कि वे अपनी लाइफ बहुत मजे से जियें। गाने का संगीत बेहद कर्णप्रिय है। यह लोगों को पसंद आ रही है। जिन्‍होंने अभी तक इस गाने को नहीं सुना है, उनसे अपील है कि वह भी एक बार जरूर इस गाने को सुनें। बहुत मजा आयेगा। किसी से न शिकायत किसी से न गिला है जी लो यारो खुलकर मौका ऐसा मिला है छोड़-छाड़ के टेंशन वेंशन शुरू करो काम हरे कृष्णा हरे राम।गौरतलब है कि ‘हरे कृष्‍णा करे राम’ का लिरिक्‍स सत्‍यम शिवम का है। म्‍यूजिक डायरेक्‍टर देव चौहान हैं। मिक्सिंग शिशिर पांडे ने किया है।

Categories
Entertainment

मेरा बेटा Tusshar बिल्कुल भी मेरे जैसा नहीं है जीतेन्द्र

मुंबई । बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता जीतेन्द्र अपने बेटे तुषार कपूर पर गर्व महसूस करते हैं।जीतेंद्र लॉकडाउन के दिनों में अपना पूरा समय अपने परिवार को दे रहे हैं। वह अपने नाती-पोती के साथ समय बिता रहे हैं। जीतेंद्र ने बताया है कि वह जब वह बिजी रहते थे तो अपने बच्चों को ज्यादा समय नहीं दे पाते थे। उन्होंने कहा कि मेरे लिए यूं तो ज्यादा बदलाव नहीं आया हैं। मैं काम के लिए ज्यादा घर से बाहर नहीं जाता था। ऐसे में मेरे लिए सब पहले जैसे ही हैं।

जीतेन्द्र ने कहा, “लॉकडाउन में मैंने ये महसूस किया है कि जब मैं अभिनेता था तो अपने बच्चों को ज्यादा समय नहीं दे पाया लेकिन मैंने देखा कि मेरा बेटा तुषार बिल्कुल भी मेरे जैसा नहीं है। वह अपने बेटे को पूरा समय देता है। जब मैं तुषार को देखता हूं तो गर्व महसूस करता हूं। वह कितना अच्छा पिता है। मैं उसका एक प्रतिशत भी नहीं था। यह आभास मुझे उम्र और लॉकडाउन के साथ-साथ हुआ है। जाहिर तौर पर आप मरते दम तक कुछ न कुछ सीखते ही रहते हो।”

Categories
Entertainment

Saif Ali Khan बने लॉकडाउन में शेफ

मुंबई। बॉलीवुड के छोटे नवाब सैफ अली खान लॉकडाउन में शेफ बन गये हैं।देश में जब से लॉकडाउन लागू हुआ है तब से बॉलीवुड के सेलेब्स कुछ न कुछ नया करने की कोशिश कर रहे हैं। इस कड़ी में सैफ अली खान का नाम भी जुड़ गया है। सैफ अली खान को उनकी फिल्म शेफ में तो हर किसी ने स्वादिष्ट पकवान बनाते देखा था, लेकिन अब इस लॉकडाउन के बीच सैफ असल मायनों में शेफ बन गए हैं। उन्होंने खुद मटन बिरयानी बनाई है।

करिश्मा कपूर ने सोशल मीडिया पर उस बिरयानी की फोटो शेयर की है। अपनी इंस्टा स्टोरी पर करिश्मा ने लिखा, “सैफू की बेस्ट मटन बिरयानी। बेहतरीन लंच रहा। करिश्मा ने पोस्ट में ईद मुबारक भी लिखा है।”करिश्मा की इस पोस्ट को करीना कपूर भी शेयर करना नहीं भूली हैं। उन्होंने अपनी इंस्टा स्टोरी पर हार्ट इमोजी के जरिए रिएक्शन दिया है।

Categories
Entertainment

अनुपम खेर ने Akshay, Salman और Anil को किया शुक्रिया 25 मई लेकर

मुंबई । बॉलीवुड के जाने माने चरित्र अभिनेता अनुपम खेर ने अपने जीवन में 25 मई के महत्व को बताया है।अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर अपनी इंट्रेस्टिंग वीडियो शेयर की है। वीडियो में अनुपम खेर वर्कऑउट करते दिख रहे हैं। अनुपम के कैप्शन ने जहां उन्होंने एक दिलचस्प कहानी बताई है। अनुपम खेर ने वीडियो शेयर करते हुए बताया है कि 25 मई की उनकी जिंदगी में बहुत अहमियत है।

अनुपम ने बताया कि इस दिन उन्होंने वर्कऑउट की अहमियत समझी और अपने शरीर का ध्यान रखना शुरू किया। अनुपम ने अपनी जिंदगी में इस परिवर्तन के लिए सलमान खान और अक्षय कुमार को शुक्रिया कहा है।
अनुपम ने ट्वीट करते हुये कहा, “25 मई मेरे लिए लैंडमार्क दिन है। अक्षय, सलमान और अनिल को शुक्रिया जिन्होंने मुझे रोज एक्सरसाइज करने के लिए प्रोत्साहित किया।अब मैं ज्यादा फिट और खुश महसूस करता हूं। इसके चलते लॉकडाउन में मेरा एक घंटा भी बेहतर बीतता है।”

Categories
Business

Corona’s के दबाव में लगातार तीसरे सप्ताह लुढ़का शेयर बाजार

मुंबई । लॉकडाउन के बीच वाणिज्यिक गतिविधियाँ शुरू किये जाने के बावजूद कोविड-19 के बढ़ते मामलों की चिंता में पिछले सप्ताह घरेलू शेयर बाजारों में एक फीसदी से अधिक की गिरावट रही।बाजार लगातार तीसरे सप्ताह लुढ़का है और जिस प्रकार कोविड-19 के नये मामले बढ़ रहे हैं, आने वाले सप्ताह में भी बाजार दबाव में रह सकता है। कोरोना वायरस के मामले बढ़ते हैं तो बाजार पर इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा। देश में कोविड-19 के मरीजों की संख्या अब एक लाख 32 हजार के करीब पहुँच चुकी है।

पिछले सप्ताह बीएसई का सेंसेक्स 425.14 अंक यानी 1.37 प्रतिशत लुढ़ककर 30,672.59 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 97.60 अंक यानी 1.07 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट के साथ सप्ताहांत पर 9,39.25 अंक पर आ गया।मझौली और छोटी कंपनियों पर ज्यादा दबाव रहा। बीएसई का मिडकैप दो प्रतिशत टूटकर सप्ताहांत पर 11,270.02 अंक पर और स्मॉलकैप 1.54 फीसदी गिरकर 10,524.23 अंक पर आ गया।पिछले सप्ताह सोमवार को ही शेयर बाजारों में करीब साढ़े तीन प्रतिशत की भारी गिरावट देखी गयी। सेंसेक्स 1069 अंक और निफ्टी 314 अंक टूट गया। इसके बाद पूरे सप्ताह बाजार वापसी नहीं कर सका। अगले तीन दिन लिवाली का जोर रहा जबकि शुक्रवार को एक बार फिर यह लाल निशान में बंद हुआ।

Categories
National

प्रवासी मजदूरों पर BJP and Congress कर रही हैं राजनीति :मायावती

नयी दिल्ली । बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने प्रवासी मजदूरों को लेकर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुये रविवार को कहा कि मजदूरों को उचित मजदूरी दिलाने के प्रयास नहीं किये गये जिसके उन्हें परेशानी झेलनी पडती है.मायावती ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रवासी मजदूरों की दुर्दशा के लिए भाजपा की केंद्र सरकार और कांग्रेस दोनों जिम्मेदार हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि मजदूरों के मुद्दे पर दोनों ही पार्टियां घिनौनी राजनीति कर रही हैं।

बसपा नेता ने कहा कि भाजपा सरकार और कांग्रेस ने मजदूरों की लगातार अनदेखी की है जिसके कारण उन्हें रोजगार के लिए अलग-अलग शहरों में जाना पड़ा और अब लॉकडाउन के कारण वे भूखे-प्यासे सैकड़ों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर हैं . उन्होंने कहा कि मजदूरों के साथ जानवरों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। अभी तक जहां मजदूर काम कर रहे थे उनसे काम ज्यादा लिया जाता था और वेतन कम दिया जाता था। उन्होंने कहा, ” बसपा ने हमेशा ही मजदूरों के भले के लिए काम किया। हम उन्हें बेरोजगारी भत्ता नहीं रोजगार देते थे.”

Categories
sports

IPLके आयोजन पर सरकार लेगी निर्णय : किरेन रिजिजू

मुंबई । कोरोना वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हुए आईपीएल के 13वें सत्र को आयोजित कराने को लेकर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को कहा कि इस बाबत फैसला भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) नहीं बल्कि केंद्र सरकार करेगी।

कोरोना वायरस के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंध के कारण बीसीसीआई ने आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था। रिजिजू ने कहा कि आईपीएल आयोजित कराने पर फैसला लोगों की सुरक्षा को देखते हुए लिया जाएगा।

खेल मंत्री ने कहा, “भारत में आईपीएल को लेकर फैसला सरकार देश में महामारी की स्थिति को देखते हुए लेगी।उन्होंने इंडिया टूडे से कहा, “केवल खेल प्रतियोगिता आयोजित करने के लिये हम अपने देशवासियों का स्वास्थ खतरे में नहीं डाल सकते। हमारा मुख्य उद्देश्य कोविड-19 से लड़ना है।”ऐसा माना जा रहा है कि दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 विश्वकप का आयोजन नहीं होने की स्थिति में आईपीएल के आयोजन पर विचार कर सकती है।

Categories
National

छात्राओं को झूठे आरोपों में फंसाने का आरोप लगाया जेएनयू शिक्षक संघ ने

नयी दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (Jawaharlal Nehru University ) शिक्षक संघ ने विश्वविद्यालय की दो छात्राओं देवांगना कलिता और नताशा नरवाल को लॉकडाउन के दौरान पुलिस द्वारा झूठे आरोपों में फंसाए जाने का आरोप लगाते हुए उन्हें तत्काल रिहा करने की मांग की है।शिक्षक महासंघ के अध्यक्ष डीके लोबियाल और सचिव सुजीत मजूमदार ने रविवार को यहां जारी एक विज्ञप्ति में कहा कि दिल्ली पुलिस ने कोरोना महामारी के समय हाल ही में इन दोनों छात्राओं को पूर्वी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून विरोधी आंदोलन के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है जबकि यह दोनों छात्राएं शांतिपूर्ण आंदोलन कर रही थी। शिक्षक संघ ने आरोप लगाया है कि दिल्ली पुलिस उत्तर पूर्वी दिल्ली में भड़के दंगे को रोकने में न केवल विफल रही बल्कि वह मूकदर्शक भी बनी रही लेकिन उसने उल्टे इन छात्राओं को झूठे आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि पुलिस एक खास समुदाय के लोगों को और लोकतांत्रिक तरीके से विरोध प्रदर्शन करने वालों को कुचलने में लगातार लगी है। जेएनयू परिसर में पिछले दिनों हुए बाहरी छात्रों के हिंसा की घटना में भी पुलिस की यही भूमिका रही। शिक्षक संघ ने कहा है कि जब पूरे देश में कोरोना महामारी से लोग परेशान हैं वैसे में पुलिस द्वारा निर्दोष छात्राओं को गिरफ्तार करना निंदात्मक कार्रवाई है इसलिए इन दोनों छात्राओं को अविलंब रिहा किया जाए और मुकदमे वापस लिए जाएं।

Categories
National

कोरोना की दूसरी लहर में देश बंद नहीं होगा- trump

वाशिंगटन। (शिन्हुआ) अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि कोरोना वायरस (कोविड-19) महमारी की दूसरी लहर में देश बंद नहीं होगा।

मिशिगन राज्य में फोर्ड उत्पादन संयंत्र के दौरे के दौरान पत्रकार के एक सवाल के जवाब में  ट्रंप ने कहा, “लोग कह रहे है बहुत पृथक संभावना है। यह मानक है और हम विपत्ति से बाहर आ रहे है। हम देश को बंद नहीं कर रहे है। हम विपत्ति से बाहर रहे है।”

उन्होंने कहा, “ एक स्थायी लॉकडाउन स्वस्थ राज्य या स्वस्थ देश की रणनीति नहीं है। हमारे देश को बंद करने का कोई मतलब नहीं है।” राष्ट्रपति ने कहा, “कभी न खत्म होने वाले लॉकडाउन एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा को आमंत्रित करेगा।” अपने लोगों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए हमारे पास एक कामकाजी अर्थव्यवस्था होनी चाहिए।”

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के सभी 50 राज्यों ने अपनी अर्थव्यवस्थाओं को गति देने के उद्देश्य से कोरोना वायरस प्रतिबंधों में ढील देने की शुरु करने योजना की घोषणा की है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने सर्दी के मौसम में वायरस की दूसरी लहर आने की संभावना को लेकर चेतावनी दी है।

  • अमेरिका में अभी तक डेढ़ लाख लोग इस महमारी मारी से बीमारी है और 90 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्रों के अनुसार जून की शुरुआत तक देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या एक लाख तक पहुंचने की संभावना है।
Categories
Entertainment

लॉकडाउन में किसानों की मदद के लिये आगे आयी जूही चावला

मुंबई।बॉलीवुड की चुलबुली अभिनेत्री जूही चावला कोरोना वायरस महामारी के कारण जारी लॉकडाउन में किसानों की मदद के लिए आगे आयी हैं।

जूही की मुंबई से कुछ दूरी पर एक कृषि भूमि है, जहां विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा जैविक खेती का अभ्यास किया जाता है। जूही ने अब इस मौसम में धान की खेती करने के लिए इसे भूमिहीन किसानों के लिए खोल दिया है।

जूही चावला ने कहा ,चूंकि हम अभी लॉकडाउन में हैं, ऐसे में मैंने भूमिहीन किसानों को खेती करने के लिए अपनी जमीन देने का फैसला लिया है। वे यहां इस मौसम में धान की खेती कर सकते हैं और बदले में उत्पाद का एक छोटा सा हिस्सा अपने लिए रख सकते हैं।

यह कोई नई बात नहीं है। पुराने जमाने में लोग इसी तरह से खेती करते थे। यह एक अच्छी बात है। हमारे किसानों को मिट्टी, हवा, जमीन के बारे में शहर में रहने वाले लोगों की तुलना में कहीं ज्यादा पता है।”

जूही ने अपने लोगों से धान की इस खेती पर नजर रखने को कहा है, जिससे इन्हें उगाने के लिए केवल जैविक पद्धतियों का ही उपयोग किया जाए और किसी भी तरह का कोई भी रसायन फॉर्म में न घुसने पाए। जूही ने कहा ,“यह हम सभी के लिए बेहतर है।

हमारे लिए भी और हमारे किसानों के लिए भी। हम कठिन नहीं बल्कि स्मार्ट तरीके से काम कर रहे हैं. इस लॉकडाउन ने मेरे दिमाग में कुछ अच्छे ख्यालात डाले।”