Categories
Entertainment

राहुल गांधी की बॉडी पर लेजर लाइट से जान को खतरा पर एक्ट्रेस ने बोल दी ऐसी बात, विवाद होना तय

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर पिछले दिनों ग्रीन लेजर लाइट को लेकर कांग्रेस की ओर से चिंता जाहिर की गई है। कांग्रेस का कहना है की राहुल के बॉडी पर कई बार हरे रंग की लेजर लाइट देखी गई। उनका आरोप है कि ये लाइट स्नाइपर गन का हो सकता है।

कांग्रेस ने इस मामले की जांच की चिट्ठी केेंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह को लिखी है। चिट्ठी पर कांग्रेस नेता अहमद पटेल, जयराम रमेश और रणदीप सिंह सुरजेवाला के हस्ताक्षर हैं। इसके साथ ही साक्ष्य के रूप में एक वीडियो क्लिप भी दी गई है जिसमें दिखाई दे रहा है कि राहुल क चेहरे और अन्य जगह लेजर लाइट करीब 7 बार टॉरगेट करती देखी गई।

बता दें कि इस तरह की लेजर लाइट राहुल पर अमेठी दौर के दौरान देखी गई। अब इस पर बॉलीवुड एक्ट्रेस पायल रोहतगी ने अपनी भड़ास​ निकाली है।

पायल ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट की है जिसमें उन्होंने कुछ इस तरह कहा है, ‘कांग्रिस क़बूल करता है कांग्रिस नेता नफ़रत की राजनीति करते हैं। उनका कहना है की राहुल गांधी की जान पर ख़तरा है उनके पिताजी/दादी की तरह? इससे किसको फयदा होगा? पूरी कांग्रिस को क्यूँकि फिर प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री बन सकती है”।

खैर, जो भी हो। राहुल गांधी के बॉडी पर जो भी लाइट देखी गई हो। इस बात को लेकर कांग्रेस आक्रामक हो रही है।

Categories
Off Beat

सांसद एम के राघवन किया खुला चेलेंज, आरोप साबित होने पर लोकसभा चुनाव उम्मीदवारी ले लूंगा वापस

कोझीकोड | केरल के कोझीकोड निर्वाचन क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार और सांसद एम के राघवन ने जमीन सौदे में रिश्वत मांगने के आरोपों से साफ इनकार किया है। गौरतलब है कि केरल के एक निजी चैनल ने स्टिंग ऑपरेशन के माध्यम से सांसद के जमीन सौदे के लिए रिश्वत मांगने की बात उजागर की है।राघवन ने बुधवार की रात फेसबुक पर पोस्ट किया कि उनके खिलाफ लगाये आरोप सही साबित होने पर वह 23 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए अपनी उम्मीदवारी वापस ले लेंगे।उन्होंने कहा कि आरोप साबित होने पर वह अपने सार्वजनिक जीवन का भी अंत कर लेंगे।

टीवी9 चैनल ने बुधवार को अपने कार्यक्रम ‘भारत वर्ष’ में एक वीडियो क्ल्पि दिखाया जिसमें राघवन जमीन सौदे के लिए सिंगापुर के एक रियल एस्टेट कंपनी के प्रतिनिधि से पांच करोड़ रुपये रिश्वत मांगते हुये दिखे। कंपनी के कालीकट स्थित उस महत्वपूर्ण जमीन पर पांच सितारा होटल बनाने का प्रस्ताव था।चैनल के संवाददाता स्टिंग ऑपरेशन करने के लिए सिंगापुर रियल एस्टेट कंपनी के प्रतिनिधि बनकर सांसद के पास पहुंचे थे और कहा था कि उन्हें एक पांच-सितारा होटल के निर्माण के लिए कालीकट में जमीन चाहिए।

 

यह मामला उस समय सामने आया जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी वायनाड निर्वाचन क्षेत्र से नामांकन दाखिल करने के लिए बुधवार को कोझीकोड में मौजूद थे।श्री गांधी गुरुवार को वायनाड संसदीय क्षेत्र से नामजदगी का पर्चा दाखिल करेंगे।

Categories
National

अब कांग्रेस ने किये गरीब, किसान, युवाओं पर ध्यान देने के वादे

नयी दिल्ली| पिछले चुनाव की करारी शिकस्त से उबरने के प्रयासों में जुटी कांग्रेस ने सत्ता में आने पर गरीबों के लिए न्यूनतम आय योजना शुरु करने, रोजगार सृजन को प्रथामिकता देने, किसानों के लिए अलग बजट बनाने, शिक्षा पर सकल घरेलू उत्पाद का छह प्रतिशत खर्च करने और महिला आरक्षण विधेयक तत्काल पारित करने का वादा किया है।‘गरीबी पर वार, 72 हजार’ के नारे और ‘हम निभायेंगे’ के वादे के साथ लोकसभा चुनाव के लिए जारी पार्टी के घोषणापत्र में सबसे गरीब परिवारों को सालाना 72000 रुपये देने तथा 2030 तक देश से गरीबी का नामोनिशान मिटाने की बात कही गयी है। ‘जन आवाज’ नाम से जारी घोषणापत्र में महिला सशक्तीकरण पर जोर देते हुये कहा गया है कि ‘न्याय’ योजना के तहत धन यथासंभव महिला के खाते में डाला जायेगा। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की उपस्थिति में मंगलवार को यहां पार्टी मुख्यालय में घोषणा पत्र जारी किया।

मोदी सरकार के विरुद्ध बेरोजगारी और किसान काे प्रमुख मुद्दा बना रही कांग्रेस ने मौजूदा नौकरियों की सुरक्षा और नयी नौकरियों के सृजन को सर्वोच्च प्राथमिकता देने का वादा किया है। उसने केंद्र सरकार के उपक्रमों, न्यायपालिका और संसद के रिक्त चार लाख पदों को अगले वर्ष मार्च तक भरने, विभिन्न निकायों में रिक्त करीब 20 लाख पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरने, छोटे और मझौले स्तर के उद्योगों तथा नयी इकाइयों की स्थापना को बढ़ावा देने का संकल्प जताया है। मनेरगा के तहत हर वर्ष 100 दिन के रोजगार को बढ़ाकर 150 दिन करने का भी उसने वादा किया है।

पार्टी ने किसानों की स्थिति सुधारने के लिए देश भर में कृषि ऋण माफ करने तथा कृषि क्षेत्र को विशेष महत्व देने के लिए अलग से किसान बजट बनाने की घोषणा की है । उसने कहा है कि वह सिर्फ कर्ज माफी करके ही अपनी जिम्मेदारी से पल्ला नहीं झाड़ेगी बल्कि उचित मूल्य, कृषि लागत कम कर और ऋण सुविधा के जरिये किसानों को कर्ज मुक्ति की तरफ ले जायेगी। पार्टी ने मौजूदा कृषि फसल बीमा को असफल बताते हुये उसे पूरी तरह से बदलने का वादा किया है।

 

राफेल विमान सौदे सहित मोदी सरकार के कार्यकाल के दौरान हुए सभी सौदों की जांच कराने के वादे के साथ ही घोषणा पत्र में कहा गया कि रक्षा खर्च में आयी गिरावट की प्रवृति को पलटा जायेगा और सशस्त्र सेनाओं की जरुरतों को पूरा करने के लिये इसमें बढोत्तरी की जायेगी। सशस्त्र बलाें के आधुनिकीकरण कार्यक्रमों में तेजी लायी जायेगी तथा वन रैंक वन पेंशन की विसंगतियों को दूर किया जायेगा। शहीदों के परिवारों को सहायता की नयी नीति तैयार कर उसे लागू किया जायेगा। इसके तहत बच्चों की शिक्षा के लिए धन, शहीद परिवार के सदस्य काे सरकारी नौकरी और उपयुक्त मुआवजा राशि शामिल होगी।

चुनाव में काले धन के इस्तेमाल को रोकने का संकल्प जताते हुये कांग्रेस ने ‘संदिग्ध और अपारदर्शी चुनाव बांड योजना’ को बंद करने तथा राष्ट्रीय चुनाव कोष स्थापित करने का वादा किया है। मोदी सरकार पर देश की अर्थव्यवस्था को चौपट करने का आरोप लगाते हुये पार्टी ने कहा है कि सत्ता में आने पर अर्थव्यवस्था में सरकार तथा नौकरशाही का हस्तक्षेप समाप्त करने, देश को विनिर्माण तथा नवाचार का केंद्र बनाने और छोटे तथा मध्यम उद्योगों को पुनर्स्थापित करने पर जोर देगी।

घोषणापत्र में कहा गया है कि अगले पाँच वर्ष मेंविनिर्माण का हिस्सा 16 प्रतिशत से बढ़कर 25 प्रतिशत हो जाना चाहिये। इसमें वादा किया गया है कि नये व्यापार और व्यापारियों को पुरस्कृत तथा प्रोत्साहित किया जायेगा। स्टार्टअप पर लगाया गया ‘एंजेल टैक्स’ पूरी तरह समाप्त किया जायेगा। नोटबंदी एवं ‘दोषपूर्ण वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के कारण बुरी तरह प्रभावित हुये’ छोटे एवं मध्यम श्रेणी के उद्योगों को पुनर्जीवित और पुनर्स्थापित करने के लिए नई योजना बनायी जायेगी। उसने प्रत्यक्ष कर संहिता पहले ही वर्ष से लागू करने तथा नया जीएसटी लाने का भी वादा किया है।

Categories
National

भाजपा की तरह झूठे वादे वाला नहीं कांग्रेस का घोषणा पत्र :राहुल गांधी

नयी दिल्ली| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर पिछले लोकसभा चुनाव में लोगों से झूठे वादे करने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि पार्टी के घोषणा पत्र में एक भी झूठा वादा नहीं किया गया है और यह पूरी तरह से है सच्चाई और लोगों की आकांक्षाओं पर आधारित है।पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम और पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी की मौजूदगी में लोकसभा चुनावों के लिए पार्टी का घोषणा पत्र ‘जन आवाज’ जारी करते हुए गांधी ने कहा – यह दस्तावेज बंद कमरे में बैठकर नहीं बल्कि देश के कोने-कोने में बैठे लाखों लोगों से बातचीत के आधार पर तैयार किया गया है।

उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र समिति से साफ-साफ कह दिया गया था कि पार्टी ऐसा कोई वादा नहीं करेगी जिसे पूरा करना संभव नहीं है।इसीलिए केवल ऐसे वादे किए गए हैं जिनका वास्तविक रूप से पूरे किए जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि घोषणा पत्र में रोजगार, न्यूनतम आय योजना (न्याय), मनरेगा, किसान, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसे प्रमुख मुद्दे शामिल हैं।देश के 20 प्रतिशत सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72 हजार रुपये सीधे उनके खाने में देने की घोषणा करते हुए उन्होंने नारा दिया, “गरीबी पर वार, 72 हजार”।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हर व्यक्ति के खाते में 15 लाख रूपये डालने का झूठा वादा किया था लेकिन कांग्रेस पूरी तैयारी के साथ यह वादा कर रही है कि ’न्याय’ के वादे को पूरा किया जाएगा।

कांग्रेस अध्यक्ष ने ऐलान किया कि किसानों के लिए अलग से बजट की व्यवस्था की जाएगी।इसके अलावा कर्ज नहीं लौटाने वाले किसानों पर आपराधिक मामला दर्ज नहीं किया जाएगा।गांधी ने कहा कि मोदी ने हर साल दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था लेकिन कांग्रेस इस तरह का झूठा वादा नहीं कर रही है।कांग्रेस ने वास्तविकता का पता लगाया है और इसी आधार पर वह वादा कर रही है कि सरकारी क्षेत्र में 22 लाख खाली पदों को वर्ष 2020 तक भरा जाएगा।ग्राम पंचायतों में 10 लाख युवाओं को रोजगार दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि मोदी ने कांग्रेस सरकार की मनरेगा योजना की आलोचना की थी, लेकिन कांग्रेस इस योजना को आगे बढाते हुए इसके तहत अब 100 के बजाय 150 दिन के रोजगार की सुनिश्चित इच्छा करेगी।शिक्षा पर सकल घरेलू उत्पाद का 6 प्रतिशत खर्च करने का भी कांग्रेस ने वादा किया है।

Categories
National

राहुल गांधी ने चौकसी के साथ मोदी पर लगाया ऐसा गंभीर आरोप जिसे सुन दंग रह जायेंगे आप

जयपुर| कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज यहां आरोप लगाया कि बैंकों का पैसा लेकर भागे मेहुल चौकसी ने केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली की पुत्री के खाते में रिश्वत का पैसा जमा कराया है।गांधी ने शक्तिकेंद्र के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार का पैसा वित्तमंत्री जेटली के पास भी गया है। बैंकाें का पैसा लेकर भागे मेहुल चौकसी ने उनकी बेटी के खाते में पैसे डलवाये हैं। गांधी ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीरव मोदी और ललित मोदी की चौकीदारी करते हैं। उन्होंने सवाल किया कि आखिर इनके नाम के साथ मोदी शब्द क्यों जुड़ा हुआ है।उन्होंने मोदी पर आरोप लगाया कि नोटबंदी के जरिए आम आदमी की जेब से पैसा निकालकर बैंकों में डलवाया गया जिसे बाद में अनिल अम्बानी जैसे उद्योगपतियों को बांट दिया। अनिल अम्बानी की जेब में 30 हजार करोड़ रुपये डाले गये। उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो उद्योगपतियों से बैंक की चाभी लेकर आम आदमी को सौंपी जायेगी।

उन्होंने कहा कि केंद्र में कांग्रेस की सरकार बनी तो युवा उद्यमियों को नया उद्योग खड़ा करने पर तीन वर्ष तक कोई सरकारी इजाजत की जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके बाद वे औपचारिकता पूरी कर सकते हैं। उन्होंने केंद्र सरकार के स्टार्टअप मेक इन इंडिया को ढकोसला बताते हुए कहा कि हकीकत में सरकार ने कोई काम नहीं किया।गांधी ने जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताते हुए कहा कि कांगेस का शासन आया तो इसे हटाकर एक सरल और साधारण टैक्स लगाया जायेगा। उन्होंने कहा कि व्यापारियों को अभी पांच करों का सामना करना पड़ता है। तथा आयकर विभाग वाले उनका खून चूसते हैं।

15 लाख रुपये हर बैंक खाते में डालने के मोदी के वायदे को याद करते हुए गांधी ने कहा कि उनका यह विचार बहुत अच्छा था, लेकिन उन्होंने 15 लाख की बात गलत बोली। हमने बड़े बड़े अर्थशास्त्रियों से सम्पर्क करके न्यूनतम आय योजना बनाई जिसमें 20 प्रतिशत गरीब परिवारों के बैंक खाते में हर वर्ष तीन लाख साठ हजार रुपये जमा होंगे।उन्होंने कहा कि कांग्रेस चाहती है कि 21वीं सदी में एक भी गरीब नहीं रहे तथा 12 हजार रुपये न्यूनतम आय की लाइन निर्धारित की गई है जिससे कम कमाई करने वालों के खाते में सरकार उसकी भरपाई करेगी।शक्ति केंद्र के कार्यकर्ताओं को भरोसा दिलाते हुए उन्होंने कहा कि भविष्य में उनका उपयोग पार्टी संगठन में किया जायेगा, यह लम्बा रास्ता हो सकता है, लेकिन उन्हें संगठन में जगह मिलेगी। इस अवसर पर शक्ति केंद्र के 10 कार्यकर्ताओं का सम्मान किया गया।

Categories
National

संबित पात्रा ने राहुल गांधी पर लगाया आय से ज्यादा सम्पत्ति का आरोप

नयी दिल्ली| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक सम्पत्ति अर्जित करने का आरोप लगाते हुए रविवार को कहा कि घोटालों, संदिग्ध सौदों और हथियार कारोबारियों से फायदे उठाकर उन्होंने अपनी सम्पत्ति में इजाफा किया है।भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां संवाददाता सम्मेलन में सवाल उठाया कि 2004 में राहुल गांधी ने अपने नामांकन पत्र में 55 लाख रुपये की संपत्ति बताई थी, जो 2014 में बढ़कर नौ करोड़ रुपये कैसे हो गई? आखिर यह बड़ा इजाफा कैसे हो गया, जबकि उनकी कमाई का एकमात्र स्रोत सांसदों को मिलने वाले वेतन और भत्ते ही है।

वह कोई डॉक्टर या वकील जैसे पेशेवर भी नहीं हैं।उन्होंने दिल्ली के महरौली स्थित एक फार्म हाउस को लेकर दावा करते हुए कहा, “यह लगभग एक एकड़ का है।इसके मालिक हैं, राहुल और प्रियंका गांधी।इसका नाम इंदिरा फार्म हाउस है।इसे 2013 में फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी इंडिया लिमिटेड नामक कंपनी को किराये पर दिया गया था।इसे प्रति महीने सात लाख रुपये में किराये पर दिया गया था।पहली बार इसके लिए 40 लाख रुपये बतौर अग्रिम लिये गये थे, यह राशि ब्याजरहित थी।

पात्रा ने सवाल किये कि ऐसा कैसे हो सकता है कि अग्रिम राशि पर कोई ब्याज न ले।इतना ही नहीं, फार्म हाउस की कीमत गांधी ने अपने चुनावी हलफनामे में नौ लाख रुपये बताई थी, लेकिन इससे करोड़ों कैसे कमाये गये? भाजपा प्रवक्ता ने दावा किया कि इसी फार्म हाउस से 2007-08 से 2012-13 तक तीन करोड़ रुपये कमाये गये, लेकिन वहां कोई रहता नहीं था।उन्होंने गुरुग्राम में एक प्रॉपर्टी डील को लेकर भी गंभीर आरोप लगाये।

Categories
National

राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी और ममता बनर्जी को बताया झूठे वादे वाली सरकार

चाचल (मालदा)| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुये कहा कि जिस तरह प्रधानमंत्री झूठ बोलते हैं, उसी तरह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी केवल वादे करती हैं।गांधी ने माल्दा में एक चुनावी रैली में कहा, “एक तरफ मोदी जी झूठ बोलते हैं और दूसरी तरफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी वादे करती रहती हैं लेकिन होता कुछ नहीं है।”

उन्होंने कहा, “प्रधानमंत्री बड़े-बड़े वादे करते हैं और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने भी कुछ अधिक काम नहीं किये हैं। पिछले पांच वर्षों में मोदी सरकार ने इस देश में करीब 15 प्रभावशाली लोगों के तीन लाख करोड़ रुपये माफ कर दिये हैं।”गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा, “इतने वर्षों में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने क्या किया? ममता के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने किये वादों को कभी पूरा नहीं किया। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के लिए कुछ नहीं किया। उन्हाेंने केवल लंबे-लंबे भाषण दिये हैं। मेादी के नेतृत्व वाली सरकार के नोटबंदी के निर्णय के कारण करोड़ों लेाग बेरोजगार बैठे हैं।”

उन्होंने कहा, “हर कोई पश्चिम बंगाल की स्थिति जानता है, राज्य केवल एक व्यक्ति के लिए चल रहा है। हम आगामी चुनावों में बंगाल में सरकार बनाएंगे।”कांग्रेस अध्यक्ष ने सवाल किया, “क्या युवाओं को रोजगार मिला है, क्या किसानों को मदद मिली है?”उन्होंने कहा, “जैसे ही हमारी सरकार छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में आती है हम सिर्फ दो दिनों के अंदर किसानों का कर्ज माफ कर देंगे।”

Categories
National

राहुल ने कहा सरकार को मोदी के साथ राबर्ट वाड्रा की भी करनी चाहिये जांच

चेन्नई| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को कहा कि राफेल विमान सौदा मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी सवाल पूछा जाना चाहिए।ब्लू जींस और ग्रे टी-शर्ट पहने गांधी ने यहां स्टेला मेरी महिला कॉलेज में विद्यार्थियों से बातचीत के दौरान कहा, “मनमर्जी से कानून का इस्तेमाल किया जा रहा है। सरकार को सभी लोगों की जांच करनी चाहिए चाहे वह वाड्रा हों या फिर प्रधानमंत्री मोदी।”

गांधी एक छात्र की ओर से अपने बहनोई राबर्ट वाड्रा से धन शोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय की ओर से पूछताछ किये जाने से संबंधित सवाल पर इस आशय का जवाब दिया। उन्होंने कहा कि राफेल सौदा मामले पर मोदी से पूछताछ की जानी चाहिए।कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें अपने बहनोई रॉबर्ट वाड्रा से सरकारी पूछताछ को लेकर कोई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा,“मैं पहला व्यक्ति हूं जो कह रहा हूं कि रॉबर्ट वाड्रा की जांच करें लेकिन साथ ही मोदी की भी जांच होनी चाहिए।”

उन्होंने कहा,“ सरकार को हरेक व्यक्ति की जांच का अधिकार है। कानून सभी के लिए एक समान होना चाहिए न कि इसे मनमर्जी से लागू किया जाना चाहिए।” उन्होंने कहा कि सरकारी दस्तावेजों में भी मोदी का नाम आया है जिनमें कहा गया है कि राफेल सौदे को लेकर डसॉल्ट कंपनी के साथ बातचीत को लेकर उन्हें सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया गया है।

Categories
National

इस पार्टी ने किया भाजपा की विचारधारा को हराने का कठोर संकल्प

अहमदाबाद| कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा भारतीय जनता पार्टी की “विभाजनकारी, नफरत और घृणा फैलाने वाली विचारधारा” को हराने का संकल्प लिया है और कहा है कि इसके लिए कोई भी त्याग बड़ा नहीं होगा।इसके साथ ही पार्टी ने देश की जनता से आम चुनाव में सुशासन तथा जवाबदेही सुनिश्चित करने और देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करने तथा सामाजिक न्याय और सौहार्द्र को कायम करने के लिए कांग्रेस को जनादेश देने का अनुरोध किया है।

ऐतिहासिक दांडी मार्च की 150वीं वर्ष गांठ पर कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक इकाई कार्य समिति की मंगलावर को यहां हुई बैठक में पारित प्रस्ताव में पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों का राजनीतिक लाभ लेने का प्रयास करने, अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाने, फर्जी दावे करने और लगातार झूठ बोलने का आरोप लगाया है। प्रस्ताव में समान विचारधारा के सभी राजनीतिक दलों से एकजुट होकर भाजपा की विचारधरा को हराने का आह्वान किया गया है। कार्य समिति की बैठक गुजरात में 58 साल बाद हुई है।

संकल्प में पुलवामा के आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवानों के शहीद होने तथा आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा करते हुए कहा गया है कि पुलवामा की घटना आतंकवाद खत्म करने के लिए देशवासियों के संकल्प को बार बार याद दिलाती रहेगी। पार्टी ने आतंकवादी घटनाओं की कड़ी निंदा की और कहा कि कांग्रेस देश के जवानों के साथ खड़ी है। संकल्प में यह भी कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय संकट के समय देश की सरकार के हर निर्णय के साथ खड़ी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कार्य समिति की बैठक के बाद ट्वीट किया “गांधीजी के ऐतिहासिक दांडी मार्च की वर्षगांठ के मौके पर हुई कार्यसमिति की बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ /भारतीय जनता पार्टी की फासीवादी, घृणा, गुस्सा और विभाजन वाली विचारधारा को हराने का संकल्प लिया गया। इसके लिए कोई भी बलिदान बहुत बड़ा नहीं होगा और कोई भी प्रयास बहुत छोटा नहीं होगा। यह लडाई जरूर जीती जायेगी।”

Categories
National

राहुल गांधी ने राफेल मामले में मोदी पर लगाया सीधा आरोप

नयी दिल्ली| कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सीधे तौर पर शामिल होने का आरोप लगाया और कहा कि इस घोटाले में सरकार उन्हें बचा रही है इसलिए पूरे प्रकरण की आपराधिक जांच होनी चाहिए।

गांधी ने गुरुवार काे यहां कांग्रेस मुख्यालय में आयोजित विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राफेल में बड़ा घोटाला हुआ है और मोदी ने रक्षा सौदे से जुड़ी सभी प्रक्रियाओं की ‘बाईपास सर्जरी कर’ इस सौदे का अंजाम दिया और उद्योगपति अनिल अम्बानी को 30 हजार करोड़ रुपये का फायदा पहुंचाया। उन्होंने कहा, ‘अब इस सौदे की सारी फाइलें गायब हो रही हैं। इन फाइलों में प्रधानमंत्री का नाम है। सरकार ‘चौकीदार’ को बचाने का काम कर रही है। गायब फाइलाें में लिखा है प्रधानमंत्री कार्यालय ने राफेल सौदे में हस्तक्षेप किया था। इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए।”

गांधी ने राफेल से जुड़ी फाइलों के गायब होने पर चुटकी लेते हुए कहा कि मोदी सरकार में सब कुछ गायब हो रहा है। दो करोड़ युवाओं का रोजगार गायब हुआ, किसानों को सही दाम देने का वादा गायब हुआ, किसानों के बीमे का पैसा गायब हुआ, नोटबंदी में कारोबार गायब हुआ और अब राफेल की फाइलें गायब हो गयी।