Categories
sports

IPLके आयोजन पर सरकार लेगी निर्णय : किरेन रिजिजू

मुंबई । कोरोना वायरस के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हुए आईपीएल के 13वें सत्र को आयोजित कराने को लेकर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने रविवार को कहा कि इस बाबत फैसला भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) नहीं बल्कि केंद्र सरकार करेगी।

कोरोना वायरस के कारण देशभर में लागू लॉकडाउन और यात्रा प्रतिबंध के कारण बीसीसीआई ने आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था। रिजिजू ने कहा कि आईपीएल आयोजित कराने पर फैसला लोगों की सुरक्षा को देखते हुए लिया जाएगा।

खेल मंत्री ने कहा, “भारत में आईपीएल को लेकर फैसला सरकार देश में महामारी की स्थिति को देखते हुए लेगी।उन्होंने इंडिया टूडे से कहा, “केवल खेल प्रतियोगिता आयोजित करने के लिये हम अपने देशवासियों का स्वास्थ खतरे में नहीं डाल सकते। हमारा मुख्य उद्देश्य कोविड-19 से लड़ना है।”ऐसा माना जा रहा है कि दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई ऑस्ट्रेलिया में अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 विश्वकप का आयोजन नहीं होने की स्थिति में आईपीएल के आयोजन पर विचार कर सकती है।

Categories
sports

IPL के आयोजन पर सोचना जल्दबाजी होगी: BCCI

मुंबई । कोरोना वायरस के कारण देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम को सशर्त खोलने की इजाजत के बावजूद (बीसीसीआई) का कहना है कि मौजूदा हालात में आईपीएल के आयोजन के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी।

सरकार ने रविवार को देशभर में लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने की घोषणा की थी। गृह मंत्रालय ने दिशानिर्देश जारी करते हुए बताया था कि लॉकडाउन के बावजूद देशभर में स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम दर्शकों के बिना खोले जा सकते हैं। हालांकि इस दौरान ऐसे टूर्नामेंटों के आय़ोजन पर रोक बरकरार है जिसमेंं भारी संख्या में दर्शकों की भीड़ जुटने की संभावना है। बीसीसीआई ने सरकार के इस आदेश का स्वागत किया है।

सीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने सोमवार को कहा कि भले ही सरकार ने स्टेडियम खोलने की इजाजत दी है लेकिन देशभर में 31 मई तक हवाई यात्रा पर प्रतिबंध लगा हुआ है और मौजूदा हालात में आईपीएल के 13वें सत्र का आयोजन करने के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस के कारण देशभर में जारी लॉकडाउन और विदेशी यात्रियों के आने पर प्रतिबंध के बाद बीसीसीआई ने अप्रैल में आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था।

यह पूछे जाने पर कि क्या बीसीसीआई इस साल आईपीएल के आयोजन के बारे में विचार कर रही है, धूमल ने कहा कि मौजूदा हालात में टूर्नामेंट के आयोजन के बारे में सोचना जल्दबाजी होगी। उन्होंने कहा कि विश्वभर में विदेशी यात्राओं पर प्रतिबंध हटने के बाद क्रिकेट कलेंडर को देखते हुए आईपीएल के लिए विंडो देखना होगा। इस बीच आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीमें इसके आय़ोजन को लेकर बीसीसीआई के फैसले का इंतजार कर रही हैं।

आईपीएल की एक फ्रेंचाइजी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि सरकार के आदेश से बीसीसीआई पर प्रभाव पड़ेगा और इससे आईपीएल के आयोजन को लेकर सकारात्मक स्थिति बनेगी।भारतीय टीम को जुलाई में श्रीलंका का भी दौरा करना है जहां उसे तीन वनडे और टी-20 मैचों की सीरीज खेलनी है। धूमल ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट ने इस संबंध में बीसीसीआई को पत्र लिखकर इस सीरीज की मेजबानी की इच्छा जाहिर की है लेकिन सरकार के निर्देश के बिना अभी यह कह पाना संभव नहीं है कि टीम इस सीरीज के लिए श्रीलंका जा पाएगी या नहीं।

Categories
sports

आस्ट्रेलिया,न्यूजीलैंड दौरे पर सिराज को मिला मौका

नयी दिल्ली| भारतीय क्रिकेट प्रबंधन ने तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह काे आस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज़ और न्यूजीलैंड के खिलाफ आगामी पांच वनडे तथा तीन ट्वंटी 20 मैचों की सीरीज़ में आराम दिया है।भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) ने मंगलवार को आगामी सीरीज़ के लिये टीम की घोषणा कर दी जिसमें बुमराह काे सीमित ओवर प्रारूप के लिये आराम दिया गया है जबकि उनकी जगह मोहम्मद सिराज को आस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज़ के लिये टीम में शामिल किया गया है।

सिद्धार्थ कौल को अगले महीने न्यूजीलैंड के खिलाफ ट्वंटी 20 सीरीज़ के लिये राष्ट्रीय टीम में जगह मिली है।बीसीसीआई ने जारी आधिकारिक बयान में कहा,“ बुमराह को अत्याधिक गेंदबाज़ी के मद्देनज़र आराम दिया गया है क्योंकि भारत को फरवरी-मार्च में आस्ट्रेलिया से वनडे तथा ट्वंटी 20 सीरीज़ खेलनी है।” बुमराह ने सोमवार को संपन्न हुयी ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज़ जीत में 157.1 ओवर गेंदबाजी की थी जो किसी अन्य तेज़ गेंदबाज़ की

तुुलना में सर्वाधिक है। इतना ही नहीं वर्ष 2018 में भी बुमराह तीनों प्रारूपों में 511.3 ओवर फेंकने के साथ सर्वाधिक गेंदबाजी करने के मामले में दुनिया के दूसरे गेंदबाज़ रहे। शीर्ष पर आस्ट्रेलिया के आॅफ स्पिनर नाथन लियोन 636.3 ओवर के साथ हैं।भारतीय चयनकर्ताओं ने सिराज को बुमराह की जगह मौका दिया है जिन्होंने अब तक वनडे में पदार्पण नहीं किया है। उन्होंने आखिरी बार मार्च 2018 में निदहास ट्रॉफी में श्रीलंका के खिलाफ ट्वंटी 20 खेला था।

 

Categories
sports

अब क्रिकेटर बनने के लिए इस हेराफेरी पर होगी कड़ी सजा, क्रिकेट संघों को किया सूचित

नयी दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने स्पष्ट किया है कि उसके टूर्नामेंटों के लिए पंजीकरण कराते समय यदि कोई अपनी जन्मतिथि के साथ छेड़छाड़ करता है तो उसे सत्र के लिए अयोग्य करार दिया जाएगा।

बीसीसीआई की खेलों में उम्र की धोखाधड़ी करने पर ‘कतई बर्दाश्त नहीं’ की नीति है और उसने बीसीसीआई टूर्नामेंटों के लिए पंजीकरण कराते समय जन्म प्रमाणपत्र की तारीख के साथ छेड़छाड़ करने के लिए दोषी पाए जाने वाले क्रिकेटरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है।

बोर्ड ने सत्र की शुरुआत में ही राज्य संघों को सूचित कर दिया था कि 2018-19 सत्र से यदि कोई क्रिकेटर अपने जन्म प्रमाणपत्र से छेड़छाड़ करने का दोषी पाया जाता है तो उसे दो सत्रों 2018-19 और 2019-20 में बीसीसीआई टूर्नामेंटों में भाग लेने से प्रतिबंधित कर दिया जाएगा।

Categories
National

विराट कोहली के कहने के बाद बीसीसीआई ने दी पत्नियों को दौरे पर अनुमति

नयी दिल्ली । भारतीय कप्तान विराट कोहली की अपील के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अपने नियम में बदलाव करते हुये राष्ट्रीय टीम के क्रिकेटरों की पत्नियों एवं प्रेमिकाओं को उनके साथ विदेश दौरे पर जाने की अनुमति दे दी है।

 Virat Kohli,

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई का संचालन कर रही प्रशासकों की समिति (सीओए) ने भारतीय खिलाड़ियों को उनकी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरे पर ले जाने की अनुमति दे दी है। हालांकि यह छूट किसी विदेश दौरे के शुरू होने के 10 दिन बाद से शुरू होगी और उसके बाद दौरे की समाप्ति तक पत्नियां एवं प्रेमिकाएं खिलाड़ियों के साथ रह सकती हैं।

हाल ही में भारतीय कप्तान विराट ने बीसीसीआई से पत्नियों को दौरे पर ले जाने के नियम में बदलाव करने के लिये कहा था। पहले के नियम के अनुसार खिलाड़ी अपनी पत्नियों को केवल दो सप्ताह के लिये अपने साथ रख सकते थे। सीओए की इस नियम को लागू करने के पीछे दलील थी कि परिवारों के दूर रहने से खिलाड़ी अपने प्रदर्शन पर अधिक ध्यान दे पाएंगे। भारतीय टीम का विदेश दौरों में प्रदर्शन आमतौर पर निराशाजनक रहता है यह भी इस नियम की एक बड़ी वजह था।

आमतौर पर सभी क्रिकेटर अपनी पत्नियों और प्रेमिकाओं को दौरों पर ले जाते हैं। विराट, अजिंक्या रहाणे, रोहित शर्मा, महेंद्र सिंह धोनी, चेतेश्वर पुजारा आदि क्रिकेटरों की पत्नियां भी अधिकतर दौरों पर उनके साथ ही रहती हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का अगला चुनौतीपूर्ण दौरा विराट की अगुवाई में आस्ट्रेलिया का है।गौरतलब है कि वर्ष 2015 में क्रिकेट आस्ट्रेलिया(सीए) के मुख्य कार्यकारी जेम्स सदरलैंड ने भी इसी तरह का निर्णय आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिये जारी किया था। इसके बाद सीओए ने भी इस तरह के नियम को लागू किया था।

Categories
sports

मयंक अग्रवाल को पदार्पण का मौका नहीं, रिषभ पंत विकेट कीपर

हैदराबाद। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड(बीसीसीआई) ने वेस्टइंडीज़ के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट के लिये गुरूवार को अपनी 12 सदस्यीय टीम घोषित कर दी लेकिन मयंक अग्रवाल को टेस्ट पदार्पण का मौका एक बार फिर नहीं मिल सका जबकि रिषभ पंत को विकेट कीपिंग की जिम्मेदारी दी गयी है।

Mayank Agarwal

मयंक के भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच हैदराबाद में शुक्रवार से शुरू होने जा रहे दूसरे मैच में पदार्पण की उम्मीद थी लेकिन चयनकर्ताओं ने उन्हें भारतीय टीम में शामिल नहीं किया है। अंतिम एकादश में राजकोट टेस्ट की टीम के अलावा शार्दुल ठाकुर को 12वें खिलाड़ी के तौर पर जगह दी गयी है।

भारतीय टेस्ट टीम में पिछले लंबे समय से जगह पाने के लिये प्रयास कर रहे मयंक को एक बार फिर नज़र अंदाज़ किया गया है। हैदराबाद टेस्ट से पूर्व हुये अभ्यास सत्र में हालांकि सलामी बल्लेबाज़ ने हिस्सा लिया था जिसके बाद उनकेएकादश में खेलने की भी उम्मीद जताई जा रही थी। हालांकि एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली बीसीसीआई की चयन समिति ने 12 सदस्यीय टीम में उन्हें पदार्पण का मौका नहीं दिया है जबकि खराब फार्म से गुज़र रहे लोकेश राहुल फिर से बल्लेबाज़ी क्रम का हिस्सा हैं।

Categories
National sports

ठाकुर और सचिन ने शुरू किया ग्रामीण खेल महाकुम्भ

हमीरपुर के सांसद और भारतीय क्रिकेट कण्ट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर के साथ हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में ग्रामीण,पंचायत,स्कूल और कॉलेज स्तर पर खेल प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने के लिए और उन्हें बेहतर मंच उपलब्ध कराने के उद्देश्य के साथ ग्रामीण चैंपियनशिप ‘खेल महाकुम्भ’ का एचपीसीए स्टेडियम, धर्मशाला में आयोजित एक समारोह में शुभारंभ किया।

BCCI

 

खेल-खिलाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए और उन्हें नशे इत्यादि से दूर रख उनकी ऊर्जा सकारात्मक दिशा में लगाने के लिए इस खेल महाकुम्भ की शुरुआत 1500 एथलीटों की उपस्थिति में उनके पंजीकरण के साथ हुई। खेल महाकुम्भ में लगभग एक लाख खिलाड़ी क्रिकेट, कबड्डी, बॉलीबाल, फुटबॉल, एथलेटिक्स, बॉस्केटबॉल की 6 प्रतियोगिताओं में अपना दमख़म दिखाएंगे। ठाकुर ने खेल महाकुम्भ के शुभारम्भ पर कहा,“मेरा मानना है कि किसी व्यक्ति के समग्र विकास और राष्ट्रनिर्माण में खेलों की अहम भूमिका है।

हमीरपुर संसदीय क्षेत्र और हिमाचल प्रदेश में खेल और खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने और उन्हें एक मंच उपलब्ध कराने के लिए लगातार मैं प्रयासरत हूं। हमारे ग्रामीण और पंचायत स्तर पर बहुत सी अनूठी प्रतिभाएं मौजूद हैं जिन्हें बस ढूंढ कर सामने लाने के लिए एक मंच की ज़रूरत है।” उन्होंने कहा, “इसे ध्यान में रखते हुए पिछले वर्ष आयोजित राज्य ओलम्पिक खेलों के बाद अब खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए मैं खेल महाकुम्भ की शुरूआत कर रहा हूं। इस खेल महाकुम्भ के अंतर्गत 5000 गांवों की 800 से ज़्यादा पंचायतों के खिलाड़ियों को क्रिकेट, कबड्डी, बॉलीबाल, फुटबॉल, एथलेटिक्स, बॉस्केटबॉल की 6 प्रतियोगिताओं में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलेगा।

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज