Categories
Crime

फेसबुक से फोटो चुराकर यूपी के दबंग अफसर को साइबर ठगों ने लगाया चूना

लॉकडाउन के चलते बैंकिंग लेनदेन कम हो जाने से आम नागरिकों को ठगी का शिकार नहीं बना पा रहे साइबर ठग अब पुलिस अफसरों को शिकार बना रहे हैं। ठगों ने राष्ट्रीय राजधानी से सटे हाईटेक शहर ग्रेटर नोएडा के पुलिस उपायुक्त राजेश कुमार सिंह को फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर मोटी ठगी करने की कोशिश की है।

 

राजेश कुमार सिंह की गिनती यूपी पुलिस के दबंग अफसरों में की जाती है। डीसीपी राजेश कुमार सिंह के नाम से अनजान लोगों ने फर्जी फेसबुक आईडी बना ली। इसकी जानकारी उन्हें अपने कुछ परिचितों से मिली। साइबर ठगों ने उनके असली फेसबुक एकाउंट से फोटो चोरी करके ऐसा किया। सिंह को तब पता चला जब लोगों ने उन्हें फोन करके पूछा कि उन्हें पैसे की क्या जरूरत पड़ गई। अगर पैसे चाहिए तो सीधे मोबाइल पर मैसेज या बात करके ले लेते। फेसबुक के जरिये रुपए क्यों मांग रहे हैं?
साइबर ठगों ने पैसे मांगने के साथ ही फर्जी फेसबुक आईडी से तमाम लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट भी भेज दी। संभव है कि ठग फर्जी फेसबुक आईडी पर कुछ और अनजान लोगों को जल्दी से जल्दी जोड़कर उन्हें अपने जाल में फंसाना चाह रहे हों, हालांकि अब इसके चांस कम हैं। क्योंकि डीसीपी ने अपने सर्किल में सोशल मीडिया के ही जरिये इस फर्जी फेसबुक आईडी के बारे में बताकर अधिकांश परिचितों को अलर्ट कर दिया है। उल्लेखनीय है कि गौतमबुद्ध नगर जिले में ही कुछ समय पहले तैनात रह चुके एक इंस्पेक्टर के साथ भी इसी तरह की ठगी का मामला सामने आया था। इसी तरह बीते साल दिल्ली के एक संयुक्त पुलिस आयुक्त के साथ तो इस सबसे भी चार कदम आगे साइबर ठग पेश आये थे। ट्रांसपोर्ट विंग में तैनात इन संयुक्त पुलिस आयुक्त के कार्ड से साइबर ठगों ने 28 हजार रुपये निकाल लिये थे। संयुक्त पुलिस आयुक्त को साइबर ठगों द्वारा ठग लिये जाने की जानकारी तब हुई जब वे पुलिस मुख्यालय (आईटीओ) में अपने दफ्तर में बैठे हुए थे, उसी समय उन्हें मोबाइल पर कार्ड से 28 हजार रुपये निकाल लिये जाने का मैसेज मिला।