Categories
Tech

दूध में पानी की मिलावट है या कुछ और, झट से बता देगा ये भारतीय स्मार्टफोन, सजा उम्रकैद

नयी दिल्ली। अब मोबाइल फोन की मदद से दूध में मिलावट का पता लगाया जा सकेगा। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), हैदराबाद एक ऐसा मोबाइल फोन तैयार कर रहा है जिससे दूध में मिलावट का पता लगाया जा सकता है। संस्थान के शोधकर्ताओं ने एक ऐसे स्मार्ट फोन का नमूना तैयार किया है जिसके जरिए दूध में सोडा, बोरिक अम्ल, यूरिया, पानी और शर्करा का पता लगाया जा सकता है।

आईआईटी के इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग विभाग के प्रोफेसर शिव गोविन्द सिंह के नेतृत्व में शोध टीम ने यह स्मार्ट फोन प्रयोग के तौर पर बनाया है। इस महीने फ़ूड एंड एनालिटिकल मेथेड जर्नल में इस आशय का उनका एक लेख भी प्रकाशित हुआ है।

सिंह ने बताया कि दूध में एक डिटेक्टर डालने के बाद उसके रंग में परिवर्तन होगा और मोबाइल फोन से फोटो खींच कर उसे अपलोड कर लिया जायेगा और फिर मोबाइल फोन उसका अध्यन कर यह बता देगा कि दूध में कौन सी चीज़ मिलाई हुई है। यह डिटेक्टर सेंसर चिप पर आधारित होगा।

पशु कल्याण बोर्ड के अनुसार 68 प्रतिशत दुग्ध में मिलावट होती है और इस मोबाइल फोन से दूध में 99.7 प्रतिशत से अधिक शुद्धता का पता लगाया जा सकता है। यहां हम बताना चाहेंगे कि एक जनहित चाचिका की सुनवाई पर आदेश देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा था सरकार ऐसे कानून को आईपीसी में शामिल करे। हालांकि देश के कुछ ही राज्यों ने इस पर सह​म​ति बनाई थी।