Categories
international

India will become super power: ये हथियार मिलते ही एशिया में खत्म हो जाएगी चीन की दादागिरी, भारत बनेगा सुपर पॉवर

India will become super power: हिंद महासागर में चीन के बढ़ते दखल से निजात पाने के लिए भारत को जल्द ही वे हेलीकॉप्टर मिलने वाले हैं जो जमीन के साथ ही समुद्र में छोटी सी नाव से भी उड़ान भर सकते हैं। ये हेलीकॉप्टर पानी के नीचे छुपी पनडुब्बियों के लिए यमराज माने जाते हैं। इनके मिलते ही हिंद महासागर में घूम रही चीनी पनडुब्बियां दुम दबाकर भाग निकलेंगी। इन हेलीकॉप्टरों को प्राप्त करने के लिए भारत और अमेरिका के बीच तीन अरब डॉलर का रक्षा समझौता हुआ है। द्विपक्षीय बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए।

 

रोमियो और अपाचे हेलीकॉप्टर खरीदेगा भारत

India will become super power:  जिस रक्षा समझौते पर हस्ताक्षर हुए हैं, उसके तहत भारत 2.6 अरब डॉलर में 24 MH60 रोमियो हेलीकॉप्टर खरीदेगा। इसके अलावा 80 करोड़ डॉलर में छह AH 64E अपाचे हेलिकॉप्टर भी खरीदे जाएंगे। भारत आए ट्रंप ने कहा कि तीन अरब डॉलर से ज्यादा के इस रक्षा समझौते से दोनों देशों के रक्षा संबंध और मजबूत होंगे।

आतंकवाद के खिलाफ कदम उठाए पाकिस्तान

India will become super power: बैठक में आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साझेदारी को लेकर दोनों देशों में सहमति बनी। ट्रंप ने कहा कि पाकिस्तान अपनी धरती पर पनप रहे आतंकवाद को खत्म करने के लिए उपाय करे। प्रधानमंत्री मोदी और मैं अपने नागरिकों को कट्टर इस्लामी आतंकवाद से बचाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अमेरिका पाकिस्तान की धरती से चल रहे आतंकवाद को रोकने के लिए कदम उठा रहा है।

India will become super power: ट्रंप ने अपने शानदार स्वागत के लिए भारत का शुक्रिया अदा किया। मेलानिया और मैं भारत की महिमा और भारतीय लोगों की असाधारण उदारता और आदर से विस्मित हैं। हम आपके (मोदी) गृह राज्य के नागरिकों द्वारा किए गए शानदार स्वागत को हमेशा याद रखेंगे। हम यहां से सुखद अनुभव साथ लेकर जाएंगे। अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में ट्रंप का स्वागत करने के लिए एक लाख से अधिक लोग आए थे।

India will become super power: इधर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध 21वीं सदी की सबसे महत्वपूर्ण साझेदारियों में से एक है। भारत और अमेरिका के बीच बीच ड्रग तस्करी, आतंकवाद और संगठित अपराध जैसे गंभीर अपराधों के बारे में एक नया तंत्र बनाने पर सहमति बनी है।

Categories
international

15 करोड़ रुपए नहीं दिए तो दुनिया के इस ताकतवर राष्ट्रपति को जेल भेज देगी अदालत

पूरी दुनिया को झुकाने के दम्भ में हर किसी को कुछ भी कह देने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर दान की राशि का घोटाला करने के आरोप में एक अमेरिकी अदालत ने 15 करोड़ का जुर्माना लगाया है। अमेरिका के हिसाब से ये राशि बीस लाख डालर है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर न्यूयॉर्क की एक अदालत ने करीब 15 करोड़ रुपये का भारी भरकम जुर्माना लगाया है। अदालत ने इसके साथ ही उनके ट्रंप फाउंडेशन को बंद करने के आदेश भी दे दिए हैं।

ट्रंप को उनके चैरिटेबल फाउंडेशन के गलत इस्तेमाल के लिए 20 लाख डॉलर (करीब 15 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया है। कोर्ट में ट्रंप पर यह आरोप सही साबित हुए हैं कि उन्होंने अपने चैरिटेबल फाउंडेशन का इस्तेमाल अपने राजनीतिक और बिजनस से जुड़े हितों को साधने के लिए किया था।
रिपोर्ट के मुताबिक, न्यायाधीश सैलियन स्क्रापुला ने इस मामले पर अपना निर्णय सुनाते हुए यह भी आदेश दिया कि ट्रंप फाउंडेशन को बंद कर दिया जाए और इस फाउंडेशन के बाकी बचे हुए फंड (करीब 17 लाख डॉलर) को अन्य गैर लाभकारी संगठनों में बांट दिया जाए। मामले की सुनवाई के दौरान ट्रंप ने आरोप स्वीकार कर लिया था।
गौरतलब है कि ट्रंप पर यह मुकदमा पिछले साल दायर हुआ था। ट्रंप पर आरोप है कि उन्होंने अपने चैरिटी फाउंडेशन का पैसा 2016 संसदीय चुनाव प्रचार में खर्च किया था।
अटॉर्नी जनरल जेम्स ने यह मुकदमा दायर करते हुए राष्ट्रपति ट्रंप पर 2.8 मिलियन (28 लाख) डॉलर क्षतिपूर्ति लगाने की मांग की थी। न्यायाधीश स्क्रापुला ने इस राशि को कम करते हुए 20 लाख डॉलर कर दिया। फाउंडेशन के वकील ने पहले कहा था कि राष्ट्रपति ट्रंप पर यह मुकदमा राजनीति से प्रेरित है।

Categories
international

किम जोंग ने शुरु की अमेरिका के साथ होने वाली इस, दूसरी बैठक की तैयारी

प्योंगयांग | (स्पूतनिक) उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिका के साथ होने वाले दूसरे शिखर बैठक की तैयारियां शुरू करने के आदेश दिये हैं।कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी ने गुरुवार को बताया कि किम जोंग ने अमेरिका जाकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से पिछले सप्ताह मुकालात करने वाले प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि अमेरिका के साथ बैठक के नतीजों से वह खुश हैं। उन्होंने अधिकारियों को अमेरिका के साथ होने वाले दूसरे शिखर सम्मेलन (बैठक) की तैयारियां शुरू करने के निर्देश दिये।

उल्लेखनीय है कि उ. कोरिया के उप नेता किम योंग चोल ने 18 जनवरी को व्हाइट हाउस में ट्रंप से मुलाकात की थी। इसके बाद अमेरिका ने घोषणा की थी कि ट्रंप तथा किम जोंग के बीच फरवरी के अंत में दूसरा शिखर बैठक आयोजित होगा। किम जोंग तथा ट्रंप के बीच पहला शिखर सम्मेलन गत वर्ष जून में सिंगापुर में हुआ था।

Categories
international

किन्नरों को मिलेगी इस देश में सेना में भर्ती

वाशिंगटन | अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने किन्नरों को सेना में भर्ती होने से रोकने वाली राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की नीति को लागू करने की मंजूरी दे दी है।अमरीका के शीर्ष अदालत ने ट्रंप प्रशासन के इस फ़ैसले को 5-4 से मंज़ूर किया, हालांकि निचली अदालतों में इस नीति को चुनौती देने के मामले चलते रहेंगे।बीबीसी न्यूज के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट के चार न्यायाधीशों ने ट्रंप प्रशासन के इस फ़ैसले का विरोध किया।इस नीति के तहत किन्नरों को सेना में भर्ती होने से रोके जाने का प्रावधान है।ट्रंप प्रशासन का कहना है कि किन्नरों के सेना में भर्ती होने से उसके प्रभाव और क्षमता पर बड़ा खतरा पैदा हो सकता है।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में किन्नरों को सेना में भर्ती करने की नीति को लागू किया था।इस नीति के तहत न केवल किन्नर सेना में भर्ती हो सकते थे, बल्कि उन्हें लिंग सर्जरी के लिए भी सरकारी मदद देने का प्रावधान किया गया था।इस नीति के तहत सेना को एक जुलाई, 2017 को किन्नरों की भर्ती शुरू करनी थी।ट्रंप प्रशासन ने इस नीति को एक जनवरी, 2018 तक बढ़ा दिया, लेकिन बाद में इस नीति को पूरी तरह समाप्त करने का निर्णय ले लिया।

Categories
international

ट्रंप टॉवर मॉस्को वार्ता पर बयान से पीछे हटा, यह वकील

मॉस्को | (स्पूतनिम) अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के वकील रुडोल्फ गुलियानी मॉस्को में ट्रम्प टावरबनाने की योजना के बारे में ट्रम्प और उनके पूर्व वकील माइकल कोहेन के बीच वार्ता को लेकर दिये गये अपने हालिया बयान से पीछे हट गये हैं।गुलियानी ने रविवार को नेशनल ब्रांडकास्टिंग कंपनी (एनबीसी) से कहा था कि रूस की राजधानी मास्को में प्रस्तावित ट्रम्प टॉवर परियोजना के बारे में चर्चा वर्ष 2016 के चुनाव के अंतिम दिन तक चली थी।

अमेरिकी मीडिया कंपनी पोलिटिको के अनुसार गुलियानी ने कहा, “माइकल कोहेन और तत्कालीन उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रम्प के बीच 2016 के अभियान के दौरान हुई बातचीत के बारे में दिये गया मेरा हालिया बयान काल्पनिक था। यह राष्ट्रपति के साथ हुई वार्ता पर आधारित नहीं था। मेरी टिप्पणियां ऐसी किसी भी वार्ता के वास्तविक समय या परिस्थितियों को लेकर नहीं की गयी।”

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
international

मिसाइल रक्षा प्रणाली की तैनाती को और मजबूत करेगा, यह देश

वाशिंगटन | अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि ‘कहीं भी’ और ‘किसी भी समय’ दुश्मनों की मिसाइलों को नष्ट करने के उद्देश्य से देश की मिसाइल रक्षा प्रणाली की तैनाती को और सुदृढ़ तथा दीर्घकालिक किया जायेगा।ट्रंप ने गुरुवार को पेंटागन में मिसाइल रक्षा प्रणाली की समीक्षा के दौरान यह बात कही। उन्होंने कहा कि जमीन और समुद्र में तैनात की गयीं मिसाइल अवरोध रक्षा प्रणाली को और मजबूत तथा लंबे समय तक तैनात रखने के लिए उन्नत तकनीक का सहारा लिया जायेगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, “इसके तहत रूस और चीन जैसी हाइपरसोनिक और नयी क्रूज मिसाइलों की पहचान के लिए पृथ्वी के निचली कक्ष में उपग्रह सेंसर लगाये जाएंगे। दुश्मनों की मिसाइलों को कहीं भी और किसी भी स्थान पर ध्वस्त करने के मद्देनजर इस प्रणाली को और मजबूत करने का निर्णय लिया गया है।”कार्यवाहक रक्षा सचिव पैट्रिक शानहान ने समीक्षा बैठक के बाद एक बयान जारी करके कहा कि इसके पहले वर्ष 2010 में बराक ओबामा प्रशासन के दौरान इस तरह की समीक्षा की गयी थी।

मिसाइल रक्षा समीक्षा (एमडीआर) 2019 का जिक्र करते हुए एक अमेरिकी अधिकारी ने बुधवार को कहा था कि ईरान जैसे ‘कपटी’ देशों से खतरे की अाशंका के मद्देनजर यूरोप में मिसाइल रक्षा प्रणाली तैनात की गयी हैं। उन्होंने कहा, “यूरोप में तैनात हमारी मिसाइल रक्षा प्रणाली का मुख्य उद्देश्य ईरान जैसे ‘कुटिल’ एवं ‘कपटी’ देशों के खतरे से निपटना है।” अमेरिका रक्षा प्रणाली की तैनाती को लेकर रूस अौर चीन सहित सभी देशों के प्रति पारदर्शी रहा है, इस बार एमडीआर में नयी रणनीति को शामिल किया जायेगा जिससे देश की मिसाइल रक्षा प्रणाली क्षमताओं को और अधिक मजबूत किया जा सके।
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, उप राष्ट्रपति माइक पेंस, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन, कार्यवाहक रक्षा सचिव पैट्रिक शानहान और सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरुवार को पेंटागन (रक्षा मंत्रालय) में मिसाइल रक्षा प्रणाली 2019 की समीक्षा की और इस दौरान महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये।

Categories
international

राष्ट्रीय आपातकाल के बारे में अभी विचार विमर्श नहीं : ट्रंप

वाशिंगटन | अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि फिलहाल वह अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण सुनिश्चित करने के लिए राष्ट्रीय आपातकाल पर विचार नहीं कर रहे हैं।ट्रंप ने शुक्रवार को हुई गोलमेज बैठक के दौरान कहा, “हम फिलहाल राष्ट्रीय आपातकाल पर विचार नहीं कर रहे हैं।”
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वह सीधे राष्ट्रीय आपातकाल के विकल्प की दिशा में आगे नहीं बढ़ना चाहते।

उन्होंने हालांकि जोर देकर कहा उन्हें यह कदम उठाने का वैधानिक अधिकार प्राप्त है। ट्रंप ने कहा कि वह अमेरिकी सांसदों से बातचीत और निधि विधेयक पर मतदान के जरिए इस मुद्दे का समाधान करना चाहते हैं।
अमेरिका में 22 दिसंबर से आंशिक कामबंदी जारी है। यदि शनिवार तक किसी समझौते तक नहीं पहुंचा गया तो यह अमेरिकी इतिहास की सबसे बड़ी कामबंदी भी बन जाएगी। अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति और डेमाक्रेट्स के बीच समझौता नहीं हो पा रहा है।

Categories
international

मोदी, ट्रंप ने की फोन पर भारत-अमेरिकी संबंधों को लेकर बातचीत

नयी दिल्ली| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-अमेरिकी संबंधों को 2019 में अधिक सशक्त बनाने की दिशा में काम करने का संकल्प व्यक्त किया है।दोनों नेताओं ने सोमवार देर रात टेलीफोन पर एक दूसरे को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते करते हुए ये संकल्प व्यक्त किया।

विदेश मंत्रालय ने मंगलवार को यहां बताया कि दोनों नेताओं ने वर्ष 2018 में भारत अमेरिका सामरिक साझेदारी में हुई प्रगति पर संतोष जताया तथा दोनों देशों के बीच विदेश एवं रक्षा मंत्रियों के स्तर पर शुरू ‘टू प्लस टू’ संवाद और प्रथम अमेरिका भारत जापान समिट के आयोजन की सराहना की।विदेश मंत्रालय के अनुसार दोनों नेताओं ने रक्षा, आतंकवाद से निपटने और ऊर्जा क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग में प्रगति की भी समीक्षा की तथा वैश्विक एवं क्षेत्रीय मुद्दों पर समन्वय बढ़ाने के बारे में चर्चा की।

उन्होंने वर्ष 2019 में भी भारत अमेरिका द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने के लिए मिल कर काम करने पर सहमति जताई।सूत्रों के मुताबिक उन्होंने व्यापार असंतुलन को दूर करने तथा फ़ग़ानिस्तान के मुद्दे पर भी बातचीत की।

,

Categories
international

जी20 सम्मेलन में ट्रंप, पुतिन अौर अन्य नेताओं से मिले मोदी

ब्यूनस आयर्स । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को जी20 देशों के समूह के शिखर सम्मेलन में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन सहित कई वैश्विक नेताओं से अनौपचारिक बातचीत की।

G20

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, “नेताओं की मौजूदगी में अर्जेंटीना में जी20 शिखर सम्मेलन शुरू। जी20 सम्मेलन 20 देशों के नेताओं को विश्व के अवसरों और चुनौतियों पर चर्चा के लिए एक साझा मंच पर लाया है। मोदी का अर्जेंटीना के राष्ट्रपति मौरिसियो मैक्री ने सेंट्रो कोस्टा सैलगुएरो में स्वागत किया। उन्होंने पुतिन के साथ हाथ मिलाया और बातचीत की।

प्रधानमंत्री ने लीडर्स लाउंज में नीदरलैंड, मैक्सिको और तुर्की के नेताओं से भी मुलाकात की।यह जी20 की 10वीं वर्षगांठ है अौर पांचवा सम्मेलन है जिसमें मोदी भाग ले रहे हैं।शिखर सम्मेलन के दौरान मोदी के अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन और उनके ‘एक विश्व, एक सूर्य, एक ग्रिड’ के विजन को तात्कालिक आधार और पूरी उत्सुकता के साथ उठाने की संभावना है।

Categories
international

ऐसा क्या हुआ की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप हुए नाराज

वाशिंगटन । क्रीमिया द्वीप के पास यूक्रेन के तीन नौसैना की जहाजाें पर रूस की आेर से कब्जा किये जाने के अगले दिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि माॅस्को और कीव के बीच जो कुछ भी हो रहा है वह उसे पसंद नहीं करते हैं।

 Donald Trump

ट्रंप ने सोमवार को संवाददाताओं से कहा, “जो कुछ भी हो रहा है वह हमें पसंद नहीं है और उम्मीद है कि यह ठीक हो जाएगा।” उन्होंने कहा कि यूरोपीय नेता स्थिति पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा,“वे (यूरोपीय नेता) रोमांचित नहीं हैं। हम सभी एक साथ काम कर रहे हैं।”

रूस ने सोमवार को पश्चिमी देशों की ओर से कब्जे में लिये गये यूक्रेनी नौसेना के जहाजों और उनके कर्मचारियों को छोड़ने के लिए की गयी अपील को नजर अंदाज कर दिया था। रूस ने यूक्रेन पर अपने पश्चिमी सहयोगियों के साथ मिलकर साजिश रचने का भी आरोप लगाया है।