Categories
Entertainment

गोविंदा के भांजे ने गाया गाना‘हरे कृष्‍णा करे राम’

मुंबई । बॉलीवुड के सुपरस्टार अभिनेता गोविंदा के भांजे ने ‘हरे कृष्‍णा करे राम’ गाया है।

विनय आनंद का गाना ‘हरे कृष्‍णा हरे राम’ फ्लाइंग हार्सेस म्‍यूजिक इंटरटेंमेंट पर रिलीज किया गया है। गाना रिलीज होने के साथ ही वायरल हो रहा है। इस गाने के जरिेये विनय आनंद अपने फैंस से जिंदगी पूरी जिंदादिली से बिताने को प्रेरित करते नजर आये हैं।

विनय आनंद ने बताया कि गाना बेहद खूबसूरत है। यह श्रोताओं के मूड को लाइट करेगा। लॉकडाउन की बोरियत से उबारने में सहायक है और लोगों को प्रेरित करने वाला है कि वे अपनी लाइफ बहुत मजे से जियें। गाने का संगीत बेहद कर्णप्रिय है। यह लोगों को पसंद आ रही है। जिन्‍होंने अभी तक इस गाने को नहीं सुना है, उनसे अपील है कि वह भी एक बार जरूर इस गाने को सुनें। बहुत मजा आयेगा। किसी से न शिकायत किसी से न गिला है जी लो यारो खुलकर मौका ऐसा मिला है छोड़-छाड़ के टेंशन वेंशन शुरू करो काम हरे कृष्णा हरे राम।गौरतलब है कि ‘हरे कृष्‍णा करे राम’ का लिरिक्‍स सत्‍यम शिवम का है। म्‍यूजिक डायरेक्‍टर देव चौहान हैं। मिक्सिंग शिशिर पांडे ने किया है।

Categories
Entertainment

गोविंदा को पसंद आया विनय आनंद का नया अलबम

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा को अपने भांजे विनय आनंद का नया अलबम बेहद पसंद आया है।

गोविंदा के भांजे विनय आनंद और सिंगर देवी का नया अलबम ‘सईंया बनाद बेबी डॉल हो’ यूट्यूब पर हो रहा वायरल है। यह अलबम कुछ दिनों पहले ही फ्लाइंग हॉर्स म्‍यूजिक इंटरटेंमेंट पर रिलीज हुआ था, जिसमें विनय आनंद की भी भागीदारी है।

विनय ने बताया कि वे अपने सक्‍सेस से खुश हैं और खासकर देवी को धन्‍यवाद देना चाहते हैं, जिन्‍होंने फ्लाइंग हॉर्स म्‍यूजिक इंटरटेंमेंट के लिए अपनी आवाज दी। उन्‍होंने बताया कि कुछ महीने पहले जब यह गाना तैयार हो रहा था, तब उन्‍होंने इसे अपने मामा गोविंदा को सुनाया था। गाना सुनाने का मकसद ये भी था कि इस गाने में उनके नाम का भी जिक्र हुआ है। गाना सुनकर गोविंदा ने उन्‍हें शाबासी दी और कहा कि वह उनका नाम ले सकते हैं। यह उनका हक है। साथ ही उन्‍होंने इस गाने के लिए शुभकामनाएं भी दी।

विनय आनंद ने बताया कि इस गाने के सक्‍सेस के बाद वे देवी के साथ कई और नए अलबम लेकर आने वाले हैं। उनकी इच्‍छा है कि वे फ्लाइंग हॉर्स म्‍यूजिक इंटरटेंमेंट से भोजपुरी के दूसरे सुपर स्‍टार सिंगर पवन सिंह, खेसारीलाल यादव, दिनेशलाल यादव निरहुआ और मनोज तिवारी जैसे लोगों को भी जोड़े।

Categories
Entertainment

गोविंदा को नहीं भा रहा उनके इस गाने का रीमिक्स

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा को अपनी सुपरहिट गाना अंखियों से गोली मारे का रीमिक्स पसंद नहीं आया है।

बॉलिवुड में इन दिनों पुराने और सुपरहिट गानों का रीमिक्स बनाने का चलन भी तेजी पकड़ रहा है।जल्द रिलीज होने वाली फिल्म ‘पति पत्नी और वो’ में गोविंदा और रवीना टंडन पर फिल्माए गए सुपरहिट गाने ‘अंखियों से गोली मारे’ का रीमिक्स सॉन्ग शामिल किया गया है।

Govinda

इसे फिल्म की लीड कास्ट कार्तिक आर्यन, अनन्या पांडे और भूमि पेडनेकर पर फिल्माया गया है।
रीमिक्स को दर्शक खूब पसंद कर रहे हैं और यूट्यूब पर भी यह टॉप ट्रेंड में है।‘अंखियों से गोली मारे’ का रीमिक्स लोगों को पसंद आ रहा है लेकिन लगता है कि गोविंदा को यह जरा भी नहीं भाया है।

govinda

गोविंदा ने रीमिक्स को लेकर सीधे तौर पर कुछ नहीं कहा है, पर ऐसा भी नहीं है कि उन्हें यह गाना पसंद आया हो।बस वह रीमिक्स के बारे में बात करके और पब्लिसिटी नहीं देना चाहते।‘पति पत्नी और वो’ एक रोमांटिक कॉमिडी है, जिसमें कार्तिक और भूमि पति-पत्नी और अनन्या कार्तिक की गर्लफ्रेंड के किरदार में नजर आएंगी।यह फिल्म छह दिसंबर को रिलीज होगी।

Categories
Entertainment

माधुरी और गोविंदा करेंगे डांस “एक रसगुल्ला कहीं फट गया रे”

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेता गोविंदारियलिटी शो में माधुरी दीक्षित के साथ एक सुपरहिट डांस नंबर रिक्रियेट करने जा रहे हैं।

माधुरी दीक्ष‍ित और गोविंदा दोनों ही कलाकार अभिनय के साथ-साथ डांस के फन में भी माहिर हैं।जल्द ही दोनों को एक साथ डांस दीवाने के मंच पर एक साथ डांस करते हुए देखा जाएगा।

रियलिटी शो ‘डांस दीवाने’ शुरू होने वाला है।शो में माधुरी दीक्ष‍ित, विशाल कालिया और शशांक खेतान जज के रूप में नजर आएंगे।इस शो में बतौर गेस्ट सेलिब्रिटी गोविंदा शामिल होंगे।

गोविंदा और माधुरी 90 के दशक की फिल्म ‘इज्जतदार’ का एक गाना “एक रसगुल्ला कहीं फट गया रे” को रिक्रिएट करते नजर आएंगे।

Categories
National

निर्देशक डेविड धवन अपनी इस सुपरहिट फिल्म का बना सकते है रीमेक

मुंबई | बॉलीवुड के इंटरटेनर नंबर वन निर्देशक डेविड धवन अपनी सुपरहिट फिल्म कुली नंबर वन का रीमेक बना सकते हैं।डेविड धवन ने वर्ष 1995 में गोविंदा और करिश्मा कपूर को लेकर सुपरहिट फिल्म कुली नंबर वन बनायी थी।

चर्चा है कि डेविड अब अपने पुत्र वरूण धवन को लेकर कुली नंबर वन का रीमेक बनाना चाहते हैं। डेविड इससे पूर्व वरूण को लेकर मैं तेरा हीरो और जुड़वां 2 बना चुके हैं।बताया जा रहा है कि वरुण कुली नंबर वन पर इस साल जून से काम शुरू कर देंगे।

Categories
Entertainment

बॉलीवुड में डेब्यू करेंगे, इस जाने-माने हास्य अभिनेता के पुत्र

मुंबई | जाने माने अभिनेता गोविंदा के पुत्र यशवर्धन बॉलीवुड में डेब्यू करने जा रहे हैं। गोविंदा के बेटे यशवर्धन बॉलीवुड में इंट्री लेने जा रहे हैं जिसके लिए वह इन दिनों ट्रेनिंग ले रहे हैं। वह अपना डेब्यू सक्सेसफुल बनाना चाहते हैं।यशवर्धन की बॉलीवुड में एंट्री का अंदाजा सोशल मीडिया पर शेयर हुई उनकी तस्वीरों के साथ लगाया जा रहा है। वह सोशल मीडिया पर काफी एक्ट‍िव हैं।यशवर्धन से पहले गोविंदा की बेटी नर्मदा भी बॉलीवुड में डेब्यू कर चुकी हैं हालांकि उन्हें सफलता नहीं मिली।

नर्मदा ने बॉलीवुड में आने से पहले अपना नाम बदलकर टीना आहूजा कर लिया था। वर्ष 2015 में टीना ने सेकेंड हैंड हसबैंड फिल्म से एंट्री की थी। इस फिल्म से पहले टीना ने कई बड़ी फिल्मों के ऑफर ठुकराये थे हालांकि बॉलीवुड में असफलता हाथ लगने के बाद टीना ने पंजाबी फिल्मों की तरफ रुख किया।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
Entertainment

रणवीर सिंह के आदर्श है, ये 3 सुपरस्टार हीरो

मुंबई|बॉलीवुड अभिनेता रणवीर सिंह का कहना है कि वह अमिताभ बच्चन ,अनिल कपूर और गोविंदा को अपना आदर्श मानते हैं।रणवीर सिंह ने बॉलीवुड में अपनी खास पहचान बनायी है। रणवीर सिंह ने बताया , “मैं गोविंदा, अनिल कपूर और अमिताभ बच्चन को अपना आदर्श मानता हूं। मैं इन्हीं एक्टर्स को देखते हुए बड़ा हुआ हूं। इस कदर ये कलाकार मेरे अंदर जवां हैं कि मेरी एक्टिंग में ना चाहते हुए भी इनकी झलक आ ही जाती है। गोविंदा को मैं कम्प्लीट परफॉर्मर मानता हूं. चाहे वो इमोशन की बात हो, डांस की या कॉमेडी की, वे इन तीनों में किसी भी अन्य कलाकार से काफी आगे हैं।”

रणवीर सिंह ने कहा “अनिल कपूर अपनी हर फिल्म को इस तरह से समझते हैं जैसे ये उनकी पहली फिल्म है। वे कभी किसी चीज को लेकर ओवर कॉन्फिडेंट नहीं होते हैं। उनके अंदर हमेशा पहले से अच्छा करने को लेकर एक भूख रहती है। मैं उनके जैसा बनने की कोशिश करता हूं। मुझे अमिताभ बच्चन की सीरियसनेस काफी पसंद है।”

Categories
Entertainment

डेविड धवन बनायेगे, इस हास्य मूवी का रीमेक

मुंबई|बॉलीवुड निर्देशक डेविड धवन अपनी सुपरहिट फिल्म कुली नंबर वन का रीमेक बना सकते हैं।डेविड धवन ने वर्ष 1995 में गोविंदा और करिश्मा कपूर को सुपरहिट फिल्म कुली नंबर वन बनायी थी।सलमान खान स्टारर फिल्म जुड़वां का रीमेक बनाने के बाद अब निर्देशक डेविड धवन गोविंदा की फिल्म कुली नंबर वन का रीमेक बनाना चाहते हैं। इस फिल्म में वरुण धवन के साथ आलिया भट्ट लीड रोल प्ले करती नजर आएंगी।

डेविड वर्ष 1999 में प्रदर्शित फिल्म बीवी नंबर वन का रीमेक बनाने के बारे में भी विचार कर रहे थे, लेकिन बाद में उन्होंने कुली नंबर वन पर सहमति बनाई। फिल्म का रीमेक इसी साल तैयार करके रिलीज भी कर दिया जाएगा।इस फिल्म की रीमेक पार्ट में पहले सारा अली खान को कास्ट करके की खबरें आ रही थीं लेकिन अब कहा जा रहा है कि आलिया इस फिल्म में लीड रोल प्ले करेंगी।

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=” 10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

Categories
Entertainment

इस्लामिक विद्वान बन गए थे कादर खान, भारत सहित कई देशों में खोलना चाहते थे इस्लाम एजुकेशन सेंटर्स

मुंबई। कादर खान एक अभिनेता के अलावा इस्लामिक विद्वान भी बन गए थे। उनके पिता अब्दुल रहमान खान भी कुरान के ज्ञाता थे और इस्लामिक स्टडीज के तहत सामान्य जन को समझने वाली भाषा में कुरान का प्रचार करते थे। इस तरह वो इस्लाम से जुड़ी अवधारणाओं की समझ पैदा करना चाहते थे। यही उम्मीद उन्हें अपने बेटे कादर खान से थी।

लेकिन कादर खान बॉलीवुड में काफी बड़ा नाम हो गया था। उनके पास इस्लामिक स्टडीज के लिए समय नहीं था। कादर खान कहते थे कि उन्हें इस्लामिक स्टडीज की समझ नहीं है। उनके पिता कहते थे कि करना शुरू करो तो अपने आप आ जाएगी। आखिरकार 1990 में उन्हें अपने अब्बू की बात माननी पड़ी।

कादर खान ने 1993 में उस्मानिया यूनिवर्सिटी से इस्लामिक स्टडीज और अरब साहित्य में एमए किया। अपने पिता की इच्छानुसार कादर खान ने मुंबई और पुणे में कुछ एक्सपर्ट के साथ इस्लामिक स्टडीज के कोर्सेज तैयार किए। ये कोर्सेज नर्सरी से लेकर एमए तक की कक्षाओं के लिए थे। इन कोर्सेज में शरिया ला, कुरान आदि की शिक्षा, मान्यताओं को सामान्य भाषा में लिखा गया।

इसके बाद उन्होंने दुबई और टोरंटो में केके इंस्टीट्यूट आॅफ अरेबिक लेंग्वेज एंड इस्लामिक स्टडीज के केंद्र खोले। इनमें कुरान के मुताबिक अरबी और इस्लाम की शिक्षा दी जाने लगी। 2005 तक कादर खान ने भी इस्लाम से जुड़ी जानकारी और योग्यता हासिल की। इसके बाद 2014 में कादर खान ने हज किया।

अपनी बीमारी के 7 साल पहले कादर खान चाहते थे कि केके इंस्टीट्यूट आॅफ अरेबिक लेंग्वेज एंड इस्लामिक स्टडीज की ब्रांचेज भारत सहित अमरीका, ब्रिटेन, कनाडा, यूरोप और अन्य जगह खुले। हालांकि ज्यादा बीमार रहने के चलते उनका ये काम अधूरा रह गया।

Categories
Entertainment

कादर खान का आखिरी इंटरव्यू हो रहा वायरल, वीडियो में कही ऐसी बात हो जाएंगे उनके फैन

मुंबई। बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार कादर खान का निधन हो गया है। उनके निधन के बाद एक वीडियो वायरल हो रहा है जो उनका आखिरी इंटरव्यू का है। इसके बाद वो मीडिया से बात नहीं कर पाए। इस वीडियो में कादर खान जो कह रहे हैं उसे सुनकर आप उनके मुरीद हो जाएंगे।

वीडियो एक फिल्म ‘दिमाग का दही’ मूवी के प्रमोशन के दौरान का है। वीडियो में वह यह कहते नजर आ रहे हैं कि उन्हें पद्मश्री सम्मान नहीं मिलने का कोई गम नहीं है। और ना ही वे इस सम्मान के लिए किसी की चापलूसी करना चाहते हैं। जिन लोगों को सम्मान ​मिला है उन्हें बधाई।

आपको बता दें कि फैंस और बॉलीवुड के कुछ सेलेब्स ने कादर खान का नाम पद्मश्री सम्मान के लिए प्रस्तावित किया था। लेकिन जब लिस्ट आई तो इसमें उनका नाम नहीं था। तब कादर खान ने कहा कि मैंने जीवन में किसी की चापलूसी नहीं की है और ना ही करुंगा। मुझे ये सम्मान नहीं चाहिए। खासकर तब जब कि ये सम्मान उन्हीं लोगों को मिला है जिन्हें हर बार दिया जाता है।

कादर खान ने कहा कि, ‘पहले इन पुरस्कारों में ईमानदारी होती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। लोग अब दूसरों का सम्मान करना भूल गए हैं और स्वार्थी भी हो गए हैं। मुझे लगता है कि मैं उतना सक्षम नहीं था, जो इस साल पद्म पुरस्कारों के लिए चुने गए थे। हालांकि, मैं उन सभी को धन्यवाद देता हूं जिन्होंने इसके लिए मेरा नाम प्रस्तावित किया।’

 

गौरतलब है कि कादर खान का जन्म 22 अक्टूबर, 1937 में अफगानिस्तान के काबुल में हुआ था। उन्होंने अपनी स्नातकोत्तर की पढ़ाई उस्मानिया विश्वविद्यालय से पूरी की। इसके बाद उन्होंने अरबी भाषा के प्रशिक्षण के लिये एक संस्थान की स्थापना करने का निर्णय लिया। उन्हों अपने करियर की शुरूआत बतौर प्रोफेसर मुंबई में एम.एस. सब्बों सिद्धिक कालेज आफ इंजनीयरिंग से की।

वर्ष 1973 में प्रदर्शित फिल्म ‘दाग’ से उन्होंने हिंदी सिनेमा जगत में कदम रखा लेकिन इससे उन्हें कोई खास लाभ नहीं मिला और वह फिल्म इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के लिये संघर्ष करते रहे। इसके बाद उन्होंने दिल दीवाना, बेनाम, उमर कैद, अनाड़ी, बैराग, खून पसीना, परवरिश, मुकद्दर का सिकंदर, मिस्टर नटवर लाल, सुहाग, अब्दुल्ला, दो और दो पांच, कुर्बानी, याराना, बुलंदी और नसीब जैसी कई फिल्में की। इन फिल्मों की सफलता के बाद कादर खान फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गये।

बाद की कई फिल्मों में उन्होंने हास्य अभिनय के भी झंडे गाड़े। जुड़वा, जुदाई, सुहाग, मुझसे शादी करोगी, लकी: नो टाइम फॉर लव, हसीना मान जायेगी, दूल्हे राजा, कुली नंबर 1 और साजन चले ससुराल जैसी फिल्मों में अपने हास्य अभिनय से उन्होंने दर्शकों को लोटपोट कर दिया। गोविंदा के साथ उनकी केमिस्ट्री कमाल की थी और कई फिल्मों में दोनों कलाकारों ने साथ काम किया।

उन्होंने 1970 और 1980 के दशक में कई फिल्मों में पटकथा एवं संवाद लेखन किया और अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया। रोटी, मिस्टर नटवरलाल, सत्ते पे सत्ता, इंकलाब, दो और दो पांच, हम और अग्निपथ जैसी सुपरहिट फिल्मों में संवाद और पटकथा लेखन किया।

कादर खान फिल्मों में कैरियर बनाने से पहले मुंबई के एम एच साबू सिद्दीक कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में सिविल इंजीनियरिंग पढ़ाते थे। इस दौरान कादर खान कॉलेज में आयोजित नाटकों में हिस्सा लेने लगे। एक बार कॉलेज में हो रहे वार्षिक समारोह में उन्हें अभिनय करने का मौका मिला। इस समारोह में अभिनेता दिलीप कुमार उनके अभिनय से काफी प्रभावित हुए और उन्हें अपनी फिल्म ‘सगीना’ में काम करने का प्रस्ताव दिया।