Categories
National

कोरोना: सबसे ज्यादा मामले वाले 10 देशों में शामिल हुआ India

नयी दिल्ली । कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के एक ही दिन में करीब सात हजार मामले आने के साथ भारत इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित 10 देशों में शामिल हो गया है।स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आँकड़ों के अनुसार, आज कुल 6,977 नये मामले सामने आये। अब तक देश में 1,38,845 मरीजों में इस वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। देश में इस समय कोरोना वायरस के 77,103 मरीज उपाचाराधीन हैं और 57,721 स्वस्थ हो चुके हैं जबकि 4,021 लोगों को नहीं बचाया जा सका।

इसके साथ ही देश में कोविड-19 के कुल मरीजों की संख्या ईरान से अधिक हो गयी है और इस मामले में हम 10वें स्थान पर पहुँच गये हैं। दुनिया भर में कोविड-19 के 54 लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। कुल 16.43 लाख मामलों के साथ अमेरिका इससे सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। इसके बाद क्रमश: ब्राजील (3.63 लाख), रूस (3.44 लाख), ब्रिटेन (2.60 लाख), स्पेन (2.35 लाख), इटली (2.29 लाख), फ्रांस (1.82 लाख), जर्मनी (1.80 लाख) और तुर्की (1.56 लाख) का स्थान है।भारत में मई महीने में ही एक लाख से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 01 मई की सुबह देश में इस महामारी के 35,043 मामलों की पुष्टि हुई थी जो आज सुबह बढ़कर 1,38,845 पर पहुँच गयी। इस प्रकार महज 24 दिन में 1,03,802 मामले सामने आ चुके हैं।

Categories
National

देश में कोरोना के मामले तीसरे दिन भी छह हजार से अधिक

नयी दिल्ली । देश में लगातार तीसरे दिन भी वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के छह हजार से अधिक मामले सामने आने से कुल संक्रमितों की संख्या 1,31,868 पर पहुंच गयी है हालांकि राहत की बात यह है कि देश में 54 हजार से अधिक लोगों ने इस संक्रमण से निजात भी पायी।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवंकी ओर से रविवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 6767 नये मामले सामने आये जिससे कुल संक्रमितों की संख्या 1,31,868 पर पहुंच गयी। देश में कुल सक्रिय मामले 73560 हैं। इससे एक दिन पहले 6654 नये मामले सामने आये थे।

देश में कोविड-19 संक्रमण से पिछले 24 घंटों में 147 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 3,867 हो गयी। शनिवार की तुलना में रविवार को मृतकों की संख्या 10 बढ़ गयी है। शनिवार के आंकड़ों के मुताबिक एक दिन में कोविड-19 से 137 लोगों की मौत हुई थी। संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच पिछले 24 घंटों में इस महामारी से 2657 लोग मुक्त हुए हैं जिससे स्वस्थ हुए लोगों की कुल संख्या 54,441 हो गयी है।देश में कोरोना से सबसे अधिक महाराष्ट्र प्रभावित हुआ है और कुल संक्रमण के मामलों में एक तिहाई से अधिक हिस्सा यहीं का है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 2608 नये मामले सामने आये हैं , जिसके बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 47190 हो गयी है तथा कुल 1577 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 13404 लोग इसके संक्रमण से ठीक भी हुए हैं।

Categories
National

विश्व में कोरोना से 3.23 लाख मौतें, करीब 49 लाख संक्रमित

बीजिंग/जिनेवा/नयी दिल्ली।वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड 19) का प्रकोप दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है और विश्व में इस जानलेवा वायरस के कहर से अबतक 3.23 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है और करीब 49 लाख लोग इससे संक्रमित हो गए है।

अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक कुल संक्रमितों की संख्या 4,897,567 हो गयी जबकि कुल 323,286 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है।

भारत में भी कोरोना वायरस ने तेजी से पैर पसारे हैं और अब यह एक लाख से अधिक संक्रमण के मामलों वाले देशों में शामिल हो गया है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश के 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में इसके संक्रमण से अब तक 106750 लोग प्रभावित हुए हैं तथा 3303 लोगों की मौत हुई है जबकि 42298 लोग इस बीमारी से निजात पा चुके हैं।

अमेरिका में कोरोना वायरस से दुनिया में सर्वाधिक 15 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए हैं और इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या 90 हजार के आंकड़े को पार कर चुकी है। विश्व की महाशक्ति माने जाने वाले अमेरिका में कुल संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ते हुए 15,28,568 हो गयी जबकि 91,921 लोगाें की मौत हो चुकी है।

रूस में भी कोविड-19 का प्रकोप लगातार तेजी से बढ़ रहा है और यह इस संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित होने वाले देशों की सूची में अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर है। यहां अब तक 299,941 लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं और 2837 लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

इस बीच ब्राजील में भी कोरोना को संकट गहराता जा रहा है। यहां 271,885 लोग संक्रमित हुए हैं तथा पिछले 24 घंटों के दौरान ‘कोविड 19’ के प्रकोप से रिकॉर्ड 1179 मरीजों की मौत के बाद देश में इस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 17,971 हो गयी है। संक्रमण के मामले में ब्राजील का तीसरा स्थान है।

इसके अलावा ब्रिटेन में भी हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं। यहां अब तक इस महामारी से 250,138 लोग प्रभावित हुए हैं और अब तक 35,422 लोगों की इसके कारण मौत हो चुकी है।यूरोप में गंभीर रूप से प्रभावित देश इटली में इस महामारी के कारण अब तक 32,169 लोगों की मौत हुई है और 226,699 लोग इससे संक्रमित हुए हैं।

स्पेन में कुल 232,037 लोग संक्रमित हुए है जबकि 27,778 लोगों की मौत हो चुकी है।इस वैश्विक महामारी के केंद्र चीन में अब तक 84,063 लोग संक्रमित हुए हैं और 4638 लोगों की मृत्यु हुई है। इस वायरस को लेकर तैयार की गयी एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन में हुई मौत के 80 प्रतिशत मामले 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के थे।

यूरोपीय देश फ्रांस और जर्मनी में भी स्थिति काफी खराब है। फ्रांस में अब तक 180,933 लोग संक्रमित हुए हैं और 28,025 लाेगों की मौत हो चुकी है। जर्मनी में कोरोना वायरस से 177,778 लोग संक्रमित हुए हैं और 8,081 लोगों की मौत हुई है।तुर्की में कोरोना से अब तक 151,615 लोग संक्रमित हुए हैं तथा इससे 4,199 लोगों की मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस से गंभीर रूप से प्रभावित खाड़ी देश ईरान में 124,603 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 7119 लोगों की इसके कारण मौत हुई है।बेल्जियम में 9108, कनाडा में 6028, नीदरलैंड में 5734, मेक्सिको में 5,666, स्वीडन में 3743, इक्वाडोर में 2839, पेरू में 2789, स्विट्जरलैंड में 1891, आयरलैंड में 1,561 और पुर्तगाल में 1247 लोगों की मौत हो गयी है।
इसके अलावा पड़ोसी देश पाकिस्तान में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 43,966 हो गयी है जबकि 939 लोगाें की मौत हुई है।

Categories
National

देश में कोरोना संक्रमण के मामले हुए एक लाख से अधिक

नयी दिल्ली। देश में पिछले दो दिन में कोरोना वायरस (कोविड-19 ) के 10 हजार मामले सामने आने से संक्रमितों की संख्या एक लाख से अधिक हो गयी है और इस आंकड़े काे पार करने वाला यह विश्व का 11वां देश बन गया। देश में इस संक्रमण से तीन हजार से अधिक लोगों की अब तक मौत हो चुकी है।

देश में फिलहाल कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों की संख्या 58,802 है।स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटे में 4,970 नये मामले आये जिससे कुल संक्रमितों की संख्या 101139 पर पहुंच गयी है। इससे एक दिन पहले 5,242 मामले सामने आये थे।

देश में इस संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 134 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 3163 हो गयी। संक्रमण के बढ़ते मामलों के बावजूद एक सकारात्मक पक्ष यह भी है कि इस बीमारी से ठीक होने वालों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है और पिछले 24 घंटों में 2350 लोग स्वस्थ हुए हैं जिसके साथ स्वस्थ हुए लोगों की कुल संख्या 39174 हो गयी है।

देश में कोरोना से सबसे अधिक महाराष्ट्र प्रभावित हुआ है और कुल संक्रमण के मामलों में एक तिहायी हिस्सा यहीं का है। महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 2347 नये मामले सामने आये हैं , जिसके बाद यहां कुल संक्रमितों की संख्या 33,053 हो गयी है तथा कुल 1198 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 7688 लोग इसके संक्रमण से ठीक भी हुए हैं।

कोरोना वायरस से प्रभावित होने के मामले में गुजरात दूसरे नंबर पर है। गुजरात में अब तक 11379 लोग इससे संक्रमित हुए हैं तथा 659 लोगों की मृत्यु हुई है जबकि 4499 लोगों को उपचार के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी मिल चुकी है।

कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में पांच अंकों के आंकड़ों की सूची में तमिलनाडु तीसरे नंबर पर है। यहां कुल संक्रमितों की संख्या 11,224 हो गई है तथा इसके संक्रमण से 78 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 4172 लोग इस बीमारी से उबरे हैं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की भी स्थिति इस जानलेवा विषाणु के कारण चिंताजनक बनी हुई है और यहां भी संक्रमितों की संख्या पांच अंको पर पहुंच गयी है।

दिल्ली में अब तक 10,054 लोग संक्रमित हुए हैं तथा पिछले 24 घंटों में 31 मरीजों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 160 पर पहुंच गया है और 4485 लोगों को उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है।

राजस्थान में भी कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। यहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 5202 हो गयी है तथा 131 लोगों की मौत हो चुकी है , जबकि 2992 लोग पूरी तरह ठीक हुए हैं।

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में अब तक 4259 लोग इसकी चपेट में आए हैं तथा इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या 104 हो गयी है और 2441 लोग अब तक इससे ठीक हुए हैं।

पश्चिम बंगाल में 2677 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं तथा 238 लोगों की मौत हो चुकी है और अब तक 959 लोग ठीक हुए है। तेलंगाना में अब तक कोरोना से 1551 लोग संक्रमित हुए हैं। राज्य में जहां कोरोना से 34 लोगों की जान गई है , वहीं 992 लोग अब तक ठीक हुए हैं।

दक्षिण भारतीय राज्य आंध्र प्रदेश में 2407 और कर्नाटक में 1147 लोग संक्रमित हैं तथा इन राज्यों में इससे मरने वालों की संख्या क्रमश: 50 और 37 हो गयी है। वहीं केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1163 हो गई है और 13 लोगों की मृत्यु हुई है।

  • पंजाब में 35, हरियाणा में 14, बिहार में आठ, केरल और ओडिशा में चार-चार, झारखंड, चंडीगढ़, और हिमाचल प्रदेश में तीन-तीन, असम में दो तथा मेघालय, पुड्डचेरी और उत्तराखंड में एक-एक व्यक्ति की इस महामारी से मौत हुई है।
Categories
Business

शेयर बाजार गिरावट में

मुंबई । कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित अर्थव्यवस्था काे गति देेने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत विभिन्न क्षेत्रों के लिए की जा रही घोषणायें निवेशकों को बाजार की ओर आकर्षित करने में असफल होती दिख रही है क्योंकि शेयर बाजार में गिरावट का रूख बना हुआ है। शुक्रवार को भी शेयर बाजार गिरावट लेकर बंद हुआ।

बीएसई का सेंसेक्स 25.16 अंक गिरकर 31097.73 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 5.90 अंक फिसलकर 9136.85 अंक पर रहा। बीएसई में छोटी और मझौली कंपनियों में भी बिकवाली देखी गयी जिसेस मिडकैप 0.31 प्रतिशत उतरकर 11500.32 अंक पर और स्मॉलकैप 0.16 प्रतिशत उतरकर 10688.86 अंक पर रहा।

बीएसई में कुल 2493 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1229 गिरावट में और 1086 बढ़त में रहा जबकि 178 में कोई बदलाव नहीं हुआ।वैश्विक स्तर पर मिलाजुला रूख देखा गया। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.69 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 0.79 प्रतिशत, जापान का निक्केई 0.62 प्रतिशत और दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.12 प्रतिशत की बढ़त में रहा जबकि हांगकांग का हैंगसेंग 0.14 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.07 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ।

Categories
National

गरारे और जलनेति से थम सकता है कोरोना वायरस का संक्रमण: डा. शीतू सिंह

जयपुर. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जयपुर के सवाईमानसिंह मेडिकल कॉलेज की श्वांस रोग विशेषज्ञ डॉ शीतू सिंह ने दावा किया है कि गुनगुने पानी के गरारे और नेजल वाश (जल नेति) करके कोरोना वायरस के संक्रमण को फेफडों तक पहुंचने से रोका जा सकता है।

अंतर्राष्ट्रीय जनरल “लंग इंडिया” के ताजा अंक में प्रकाशित डा. सिंह के रिसर्च पेपर में कहा गया है कि नियमित रूप से गुनगुने पानी के गरारे और नेजल वॉश (जल नेति) गले और नाक में पहुंचे कोरोना वायरस को समाप्त कर देते हैं। जल नेति को मेडिकल साइंस में नेसोफेरेंजियल प्रोसेस कहते हैं।

नाक और गले की धुलाई से कम होता है वायरस का लोड

डॉ शीतू सिंह ने बताया कि Rapid Systematic Analysis में सर्दी, खांसी और बुखार के रूप में प्रकट होने वाले अपर रेसपेरेटरी वायरल संक्रमण की रोकथाम में गरारे और जल नेति का मूल्यांकन किया गया है। शोध से पता चला कि नाक और गले के माध्यम से प्रवेश करने वाले वायरस जनित रोगों की रोकथाम में गरारे और जलनेति से मदद मिलती है। जिस तरह धोने से हाथ संक्रमण रहित होते हैं, उसी तरह गरारे और नेजल वॉश से नाक और गले की धुलाई होती है और उससे वायरल लोड कम होता है। गले और नाक के म्यूकोसा की कोशिकाओं में इसका एंटी वायरल प्रभाव होता है।

कम हो जाती है बीमारी की अवधि

शोध के अनुसार नियमित गरारे और नेजल वॉश COVID 19 की रोकथाम में भी उपयोगी हो सकते है। पूर्व के अध्ययन भी इस बात की पुष्टि करने के लिए मौजूद हैं कि जलनेति और गरारे करने से बीमारी की अवधि, उसके लक्षण और वायरस की मात्रा कम हो जाती है। शोध के ग्रुप लीडर श्वांस रोग विशेषज्ञ और राजस्थान हॉस्पीटल के अध्यक्ष डॉ वीरेंद्र सिंह ने बताया कि एडिनबरा में हुए एक अध्ययन में अपर रेसपेरेटरी वायरल संक्रमण में वायरस के प्रकार का भी अध्ययन किया गया था। डॉ वीरेंद्र ने कहा कि जापान में इन्फ्लूएंजा नियंत्रण के लिए जारी राष्ट्रीय दिशानिर्देश में फेस मास्क और हाथ धोना भी शामिल है। इसी तर्ज पर गरारे और नेजल वॉश को भारत में प्रोत्साहित किया जा सकता है। डा. वीरेन्द्र सिंह ने बताया कि उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और कान के छिद्र वाले मरीजों को गरारे और जलनेति चिकित्सकीय परामर्श के बाद ही करने चाहिए।

Categories
international

कड़ी धूप में जाते ही दम तोड़ देता है यमराज बना कोरोना वायरस, अमेरिका ने किया दावा

कोरोना वायरस के डर से घरों में छुपी हुई दुनिया के लिए राहत की खबर, यमराज की शक्ल में आया ये वायरस सूरज की धूप नहीं सह पाता और कड़ी धूप में जाते ही दम तोड़ देता है। ये दावा अमेरिका के घरेलू सुरक्षा विभाग अति उन्नत बायो कन्टेनमेंट लैब ने किया है। लैब के अनुसार सूरज की रोशनी कोरोना को खत्म कर सकती है, जबकि गर्म तापमान और चिपचिपा मौसम वायरस को काफी नुकसान पहुंचाता है।

कोविड-19 को मार देती हैं सूरज की किरणें

व्हाइट हाउस ने लैब के शोध के हवाले से कहा है कि सूरज की किरणें कोविड-19 को मार देती हैं। जबकि गर्म तापमान और ह्यूमिडिटी वायरस को नुकसान पहुंचाते हैं, और इससे वायरस का जीवन और इसकी शक्ति आधी हो जाती है।
कोरोनावायरस महामारी के चलते अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। वर्तमान में यहां कोविड-19 संक्रमण के कुल आठ लाख 60 हजार से अधिक मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से 50 हजार से अधिक अमेरिकी नागरिकों की जान चली गई है। तापमान और ह्यूमिडिटी के प्रभाव को लेकर किए गए इस शोध को हफ्तों से ट्रैक्शन मिल रहा है। अमेरिकी सरकार ने कोविड-19 पर तापमान के परीक्षण के प्रारंभिक परिणामों पर पहली बार आधिकारिक मुहर लगाई है।
अमेरिकी घरेलू सुरक्षा विभाग में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी निदेशालय के प्रमुख बिल ब्रायन ने कहा, यह आज तक का हमारा सबसे महत्वपूर्ण ऑब्जर्वेशन है। सूर्य की रोशनी के शक्तिशाली प्रभाव से वायरस सतह और हवा दोनों जगह मरता हुआ पाया गया है। हमने तापमान और ह्यूमिडिटी दोनों के साथ इसी तरह के परिणाम देखे हैं। ब्रायन के अनुसार, एक कमरे में 70-75 एफ तापमान पर 20 प्रतिशत ह्यूमिडिटी के साथ वायरस का जीवन लगभग आधा यानी एक घंटे है।
बिल ने कहा कि इसे लेकर बाहर निकलने पर जब यह यूवी किरणों से टकराता है तो इसका जीवन एक मिनट और डेढ़ मिनट में ही आधा रह जाता है।

Categories
Off Beat

अब सीबीआई करेगी खीरे की तस्करी की जांच, तस्कर पूरी दुनिया में करते हैं स्मगलिंग

सीबीआई अब खीरे की तस्करी की जांच करेगी, लेकिन वह खेतों में उगने वाला खीरा नहीं बल्कि समुद्र में उत्पन्न होने वाला खीरा है। आश्चर्य मत करिए, सी ककम्बर कहलाने वाला खीरे की शक्ल का यह जीव लक्षद्वीप के तटों पर भारी मात्रा में मिलता है और पूरी दुनिया विशेषकर जापान में इसे चाव से खाया जाता है। तस्कर इसकी लक्षद्वीप से पूरी दुनिया में स्मगलिंग करते हैं।

समुद्री जीव है सी ककम्बर

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने लक्षद्वीप से समु्द्री जीव सी ककम्बर की विभिन्न प्रजातियों की तस्करी के मामले में जांच शुरू कर दी है। सीबीआई ने पर्यावरण मंत्रालय के अधीन कार्य कर रहे वन्यजीव अपराध नियंत्रण ब्यूरो का आग्रह स्वीकार करते हुए कल लक्षद्वीप के कावारत्ती के चार निवासियों के खिलाफ औपचारिक प्राथमिकी दर्ज करके जांच शुरू कर दी। कावारत्ती वन विभाग ने विलुप्त प्राय: हो चुके विभिन्न प्रजातियों के 173 मृत और 46 जीवित सी ककम्बर को सुहेली चर्याकारा द्वीप के पास से एक नाव से बरामद किया था। इसके बाद इस मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश की गयी थी। प्राथमिकी में जिन चार व्यक्तियों को आरोपी बनाया गया है उनमें सलमानुल फारिस, इरफानुद्दीन, रमीश खान और मोहम्मद अली कोडिपल्ली शामिल हैं। ये सभी कावारत्ती के निवासी हैं। मामले की जांच जारी है।

राष्ट्रीय उद्यान में बाढ़ से वन्य जीवों की रक्षा

इधर केन्द्र सरकार ने असम के काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान में बाढ़ से वन्य जीवों की रक्षा के लिए ऊंचे स्थलों की संख्या बढ़ाना तय किया है। जानवरों को बाढ़ के पानी से बचाने के लिए राष्ट्रीय उद्यान के अंदर ऊंचे स्थलों की संख्या बढ़ाई जाएगी। भारी वाहनों की चपेट में आने से होने वाली वन्य जीवों की मृत्यु की घटनाओं को रोकने के लिए ओवरपास और स्पीड गवर्नर लगाने के साथ—साथ वाहन चालकों के लिए संकेतक भी लगाए जाएंगे। कुल 430 वर्ग किलोमीटर में फैले काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान से होकर ब्रह्मपुत्र नदी गुजरती है। मानसून के समय हर साल इसमें बाढ़ आती है जिससे यहां रहने वाले जानवरों को दिक्कत होती है।

Categories
Business

भगवान के चरणों की अपेक्षा खेतों में नष्ट हो रहे हैं सुगंध के साथ सौंदर्य के प्रतीक फूल

कोविड 19 ने भगवान के चरणों में अर्पित किए जाने वाले फूलों की ऐसी दुर्गति की है कि वे अब खेतों में ही अंतिम सांस लेने को मजबूर है। सुगंध के साथ सौंदर्य के प्रतीक फूलों के कारोबार को देश में जारी लाकडाउन ने भारी नुकसान पहुंचाया है और बागों में फूलों के साथ साथ किसानों के चेहरे भी मुरझा गये हैं।

गंगा-यमुना के कछारी क्षेत्र में बसा नैनी फूलो की खेती के लिए उपजाऊ माना जाता है। यहां गुलाब, गेंदा, गुलाब, सूरजमुखी, चमेली के फूलों की खेती की जाती है। लॉकडाउन के कारण मंडियों में फूलों की आवक बंद होने से प्रतिदिन लाखों रूपये मूल्य के फूल का कारोबार चौपट हो गया है। फूलों की खेती कर किसान अच्छी कमाई करते हैं लेकिन शादी विवाह के दौर में लॉकडाउन होने से फूलों का कारोबार बंद हो गया जिससे बड़ी समस्या उत्पन्न हो गयी। फूलों की खेती से परोक्ष और अपरोक्ष तौर पर कम से कम 1500 से 2000 लोग जुड़े हुए है।

गुलाब की खेती को तवज्जो

एक उद्यान अधिकारी के अनुसार चाका, सबहा, सोनई का पुरवा और धनपुर समेत कई गांवों में फूलों की खेती से किसान लाभ कमाते हैं। चाका गांव के किसान तो गेहूं, धान आदि की फसल छोड़कर गुलाब की खेती को तवज्जों दे रहे हैं। नैनी में यमुनापार के अरैल, गंजिया, देवरख, खरकौनी, मवइया, कटका और पालपुर समेत करीब 40-45 से अधिक गांवो में फूल की खेती होती है। सामान्य दिनों में तडके पुराने यमुना पुल के पास और गऊघाट में फूल मंडी सज जाती थी। फूलों की सप्लाई शहर के अलावा कौशांबी, प्रतापगढ़, जौनपुर, वाराणसी, पडोसी राज्य मध्य प्रदेश के रींवा, कोलकत्ता और छत्तीसगढ़ तक महक भेजी जाती है। महामारी के कारण घोषित लॉकडाउन से इन्हें खरीदने वाला कोई नहीं है। फूलों की तरह खिला रहने वाला किसानों का चेहरा कारोबार ठप होने से मुरझा गया है। छोटे से लेकर बड़े मंदिर, देवालय और तीर्थस्थल तक, सब बंद पड़े हैं।

बर्बाद हो गया यह सीजन 

हर तरह के आयोजनों पर पूरी तरह रोक है। ऐसे में फूल किसानों और कारोबारियों का यह सीजन बर्बाद हो गया है। नवरात्रि के दिनों में फूलों की डिमांड ज्यादा होती है। लेकिन, इस बार सब ठप्प होने से काफी नुकसान हुआ है। फूलों की बिक्री बंद होने से किसानों के सामने रोजी-रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। पौधों पर सूखते फूलों को देखकर कोरोना के कारण किस्मत को कोसने को मजबूर हैं। उन्होने बताया कि किसानों को पौधों को बचाने के लिए फूलों को तोड़कर खेत में गिराना पड़ रहा है।

Categories
Crime

गरीबों की किचन में परोस रहे थे शराब, मयखाना चलाने वाले दो विदेशी गिरफ्तार

लॉकडाउन में फंसे गरीबो को भोजन मुहैया कराने के नाम पर चलाए जा रहे किचन में मयखाने चलाए जा रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने ऐसे ही एक मयखाने का भंडाफोड़ करके दो विदेशियों को गिरफ्तार किया है। अफ्रीकी मूल के दोनो विदेशी के कब्जे से अवैध शराब भी बरामद की गयी है।

इस सिलसिले में आरोपियों के खिलाफ मोहन गार्डन थाने में आपराधिक मामला दर्ज कराया गया है। गिरफ्तार दोनो अफ्रीकी युवकों की उम्र 30 और 22 साल है।
डीसीपी के मुताबिक, 22-23 अप्रैल की मध्य रात्रि में करीब ढाई बजे इस संदिग्ध किचन के बारे में सूचना मिली थी। यह किचन मोहन गार्ड के विपिन गार्डन में चल रहा था। किचन की आड़ में चल रहे मयखाने का पर्दाफाश करने के लिए प्रशिक्षु आईपीएस अक्षत कौशल, एसएचओ मोहन गार्डन अरुण कुमार, सहायक उप निरीक्षक संजय धामा, हवलदार लोकेंद्र और एसीपी मोहन गार्डन विजय सिंह की तीन टीमें बनाई गयीं।

योजना बनाकर किचन को घेर लिया

इन्हीं टीमों ने योजना बनाकर किचन को घेर लिया। पुलिस टीमों ने जब छापा मारा तो, मौके से पुलिस को 11 बीयर की बोतलें, 3 क्वार्टर बोतल, बीयर की कई खाली बोतलें मिलीं। मौके पर मौजूद मिले दोनो अफ्रीकी मूल के युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। छानबीन के दौरान दोनो आरोपी विेदेशी युवक भारत में अपने ठहरने का कोई वैध दस्तावेज भी नहीं दिखा पाये।
छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि, जिस मकान में किचन के अंदर चोरी छिपे ये मयखाना चल रहा था वो, किराये पर था। पता चला कि मकान मालिक ने भी बिना कोई वेरीफिकेशन कराये हुए ही विदेशी युवकों को किराये पर मकान दे दिया था। लिहाजा मकान मालिक के खिलाफ भी पुलिस ने अलग से एक और मामला दर्ज किया है।