Categories
international

शोध से सामने आई असलियत, कोरोना मरीजों को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन देने से बढ़ जाता है मौत का खतरा!

अपने अडियल रुख के लिए प्रसिद्ध अमेरिकी राष्ट्रपति को तब शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा जब उनके देश के ही एक हैल्थ इंस्टीट्यूट में भर्ती मरीजों पर किए गए अध्ययन में साफ हो गया कि जिस हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को वे रामबाण दवा बता रहे थे, उससे उल्टे मरीजों की मौत होने का जोखिम ज्यादा हो गया। शोध में पता चला है कि कोरोनावायरस के मरीजों के इलाज में यह दवा फायदेमंद साबित नहीं हुआ है। मेडआर्काइव के प्रीप्रिंट रिपोजिटरी में प्रकाशित निष्कर्षों के अनुसार, उन लोगों की मौत होने का जोखिम ज्यादा बढ़ गया,जिनका इलाज हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन से किया गया था। अध्ययन के लिए, शोधकर्ताओं ने 11 अप्रैल तक अमेरिका के ‘वेटरन्स हेल्थ एडमिनिस्ट्रेशन मेडिकल सेंटर कन्फर्म सार्स कोविड-2 संक्रमण के साथ अस्पताल में भर्ती रोगियों के डेटा का विश्लेषण किया।

मरीजों को सिर्फ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन (एचसी) या एंटीबायोटिक एजिथ्रोमाइसिन (एचसी प्लस एजी) के साथ देने के आधार पर कोविड-19 के लिए मानक सहायक प्रबंधन के अलावा उपचार के रूप में वर्गीकृत किया गया था। कुल 368 मरीजों का मूल्यांकन किया गया। जिन्हें सिर्फ हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दिया गया था उस समूह में मृत्यु की दर 27.8 प्रतिशत थी।

हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और एजिथ्रोमाइसिन समूह में मृत्यु की दर 22.1 प्रतिशत थी और हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन नहीं देने पर यह 11.4 प्रतिशत से भी कम था। शोधकर्ताओं ने पाया कि नो एचसी ग्रुप की तुलना में एचसी ग्रुप में और एचसी प्लस एजी समूह में वेंटिलेशन का जोखिम समान था। अध्ययन में कोई सबूत नहीं मिला कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन का इस्तेमाल अकेले या तो एजिथ्रोमाइसिन के साथ करने पर अस्पताल में भर्ती कोविड-19 रोगियों में मैकेनिकल वेंटिलेशन का जोखिम कम रहता है।

कोविड-19 के रोगियों के इलाज में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल को लेकर सीमित और परस्पर विरोधी आंकड़ों के बावजूद, अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने इस दवा के आपातकालीन उपयोग को ऐसी स्थिति के लिए अधिकृत कर दिया है, जब नैदानिक परीक्षण अनुपलब्ध या अव्यवहार्य हो।

Categories
National

किम जोंग ने डोनाल्ड ट्रंप से की एक और बैठक की मांग

वाशिंगटन उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को पत्र लिखकर उनके साथ एक और बैठक करने की मांग की है।

Kimjong

व्हाइट हाउस की प्रवक्ता साराह सैंडर्स ने सोमवार को पत्रकारों को कहा कि  ट्रंप को श्री किम का एक पत्र प्राप्त हुआ है जिसमें उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ एक और बैठक की मांग की है। व्हाइट हाउस पहले ही ट्रंप और किम के बीच एक बैठक का कार्यक्रम तय करने में लगा हुआ है।दोनों नेता 12 जून को सिंगापुर में हुए शिखर सम्मेलन के बाद से उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रमों पर चर्चा कर रहे हैं। इस वार्ता के संक्षिप्त स्वरूप और इसमें किम के परमाणु हथियार कार्यक्रम को खत्म करने के तरीके का ठोस विवरण न होने को लेकर इसकी काफी आलोचना भी हुई।

सैंडर्स ने पत्रकारों को कहा कि किम का पत्र ‘बहुत ही हार्दिक और सकारात्मक” है। ट्रंप ने शुक्रवार को कहा था कि किम का एक व्यक्तिगत पत्र उनके पास पहुंचने वाला है।सैंडर्स ने कहा, “इस पत्र का प्राथमिक लक्ष्य अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ एक और बैठक की मांग करना था जिसके लिए हम सहमत हैं और हम पहले से इसके संयोजन की प्रक्रिया में लगे हुए हैं।”सैंडर्स ने कहा, “पत्र में कोरियाई प्रायद्वीप के निरस्त्रीकरण पर ध्यान केंद्रित करने की सतत प्रतिबद्धता को व्यक्त किया गया है।” उन्होंने कहा कि रविवार को उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में आयोजित सैन्य परेड भी सद्भाव का प्रतीक थी क्योंकि इसमें लंबी दूरी की मारक क्षमता वाली किसी भी मिसाइल को प्रदर्शित नहीं किया गया था।

Categories
National

उ. कोरिया से परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा निभाने की उम्मीद:

वाशिंगटन। अमेरिका ने कहा कि उसे उम्मीद है कि उत्तर कोरिया परमाणु हथियारों को खत्म करने के अपने वादे पर कायम रहेगा।

 

 Donald Trump

अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अमेरिका को उम्मीद है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन के बीच जून में हुए शिखर सम्मेलन में प्योंगयांग ने परमाणु हथियार खत्म करने का जो वादा किया था, वह उसे निभाएगा। मंत्रालय ने कहा कि वह इस सप्ताह होने वाले आसियान देशों के शिखर सम्मेलन में उत्तर कोरिया के खिलाफ प्रतिबंध जारी रखने पर जोर देगा।

 

Donald Trump

अमेरिका के जासूसी उपग्रहों द्वारा उत्तर कोरिया में अमेरिका तक मारक क्षमता वाली देश की पहली अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल बनाने वाली फैक्टरी में नयी गतिविधियां पाये जाने के बाद प्याेंगयांग के परमाणु निरस्त्रीकरण के वादे पर प्रश्न उठने लगा है।अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो के इस सप्ताहांत सिंगापुर में होने वाले आसियान शिखर सम्मेलन में उत्तर कोरिया के अधिकारियों से मिलने की संभावना है।

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हीदर नौअर्ट ने संवाददाताओं से कहा, “हमलोग कुछ बैठकों में उत्तर काेरिया के अधिकारियों के साथ होंगे। मैं दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच किसी किस्म के संवाद से इंकार नहीं कर सकता लेकिन हमारा कोई पूर्व नियोजित कार्यक्रम नहीं है।”गौरतलब है कि गत जून महीने में सिंगापुर में उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच हुए शिखर सम्मेलन में उत्तर कोरिया ने पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा किया था।

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

 

Categories
National

डोनाल्ड ट्रंप और व्लादिमीर पुतिन में सीरिया संकट और शरणार्थी की वापसी के बारे में जताई चिंता-माइक पोम्पेओ

वाशिंगटन अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच हुई बैठक में सीरिया संकट का समाधान करने और यहां शरणार्थी की वापसी को लेकर चर्चा हुई। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पेओ ने यह जानकारी दी।

Trump and Putin
Trump and Putin

यह भी देखिये- संजू में हिरानी ने जो सच छिपाया, नई मूवी में बाहर लाएंगे राम गोपाल वर्मा

पोम्पेओ ने कहा कि अमेरिका दोनों ट्रंप और पुतिन के बीच आगामी वार्ता का भी स्वागत करता है। उत्तर कोरिया पर चर्चा के लिए संयुक्त राष्ट्र पहुंचे  पोम्पेओ ने पत्रकारों को कहा, “मुझे खुशी है कि दो महत्वपूर्ण देशों का शीर्ष नेतृत्व वार्ता को जारी रखे हुए है।”

यह भी देखिये- सलमान खान करेंगे सर्कस में काम, ट्रेनिंग के लिए आएंगे एक्सपर्ट सर्कसवाले

उन्होंने कहा, “राष्ट्रपति ट्रंप और पुतिन के बीच सीरिया संकट का समाधान करने और वहां शरणार्थियों की वापसी को लेकर चर्चा की। पूरे विश्व के लिए यह महत्वपूर्ण है कि किसी स्वैच्छिक पद्धति से सही समय पर शरणार्थियों अपने देश वापस लौट सके।”

यह भी देखिये- पीएम मोदी से गले मिलने से पहले राहुल गांधी ने लगाए ऐसे—ऐसे आरोप

[divider style=”dashed” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
mobilepenews@gmail.com
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
फेसबुक मोबाइलपेन्यूज
ट्विटर मोबाइलपेन्यूज
Categories
international

फिर से अमरीका के राष्ट्रपति बनना चाहते हैं ट्रम्प, कहा— ऐसा कोई नहीं जो मुझे हरा सके

लंदन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प वर्ष 2020 में होने वाला राष्ट्रपति का चुनाव लड़ना चाहते हैं। ब्रिटेन के संडे अखबार को मेल के जरिये दिए गए साक्षात्कार में ट्रम्प ने कहा है कि वह वर्ष 2020 में होने वाला चुनाव लड़ना चाहते हैं क्योंकि ‘हर कोई मुझे चाहता है’ और डेमोक्रेटिक पार्टी का कोई भी उम्मीदवार उन्हें हरा नहीं सकता है।

donald trump
donald trump

 

ब्रिटिश पत्रकार पियर्स मॉर्गन द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए ट्रम्प ने कहा, “हां मैं पूरी इरादा रखता हूं। ऐसा लगता है जैसे हर कोई मुझे ही चाहता है।” उन्होंने कहा, “उन्हें कोई डेमोक्रेटिक उम्मीदवार दिखाई नहीं दे रहा है जो उन्हें हरा सकता हो। मुझे कोई दिखाई नहीं देता। मैं उन सभी को जानता हूं और मुझे कोई दिखाई नहीं देता।” उल्लेखनीय है कि ट्रम्प वर्ष 2016 में अमेरिका के राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे और वर्ष 2020 में उनका कार्यकाल पूरा हो रहा है।

हैलमेट पहनने से विरोध कर रहे सिख अकाली दल

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप स्कॉटलैंड पहुंचे। इस बीच उनकी यात्रा के विरोध में हजारों लोगों ने प्रदर्शन किया। बीबीसी के अनुसार, ट्रंप और प्रथम महिला मेलानिया शुक्रवार को रात 10.10 बजे प्रेस्टविक हवाईअड्डे पर पहुंचे। वह ब्रिटेन का दो दिवसीय दौरा समाप्त करने के बाद स्कॉटलैंड पहुंचे।

इस्लामी शरीयत अदालतें खुलेंगी देश के हर जिले में, खर्चा करने वालों …

ट्रंप के स्कॉटलैंड पहुंचने से पहले ग्लासगो में हजारों प्रदर्शनकारी जॉर्ज स्क्वायर पर इकट्ठा हो गए। हवाईअड्डे पर स्कॉटलैंड के सचिव डेविड मुंडेल ने उनका स्वागत करते हुए कहा कि वह ब्रिटेन सरकार की ओर से ट्रंप की अगुवाई कर खुश हैं। ट्रंप यह सप्ताहांत आयरशायर में अपने टर्नबेरी गोल्फ रिसॉर्ट में गुजारेंगे। ट्रंप की मां स्कॉटिश थीं।

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की बागपत जेल में हत्या, जेलर सहित चार निलंबित

ट्रंप के टर्नबेरी पहुंचने के तुरंत बाद एक पावर पैराग्लाइडर को ट्रंप के रिसॉर्ट के पास उड़ते देखा गया। ट्रंप के विरोध में शनिवार को एडिनबर्ग में स्कॉटिश संसदके बाहर राष्ट्रीय विरोध प्रदर्शन के तहत लोग इकट्ठा होंगे। ट्रंप रविवार को स्कॉटलैंड से रवाना होंगे, जहां से वह फिनलैंड जाएंगे। ट्रंप फिनलैंड में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे।

Categories
National

उत्तर कोरिया के साथ सार्थक सम्मेलन की उम्मीद : डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि उनको उम्मीद है कि अगले महीने सिंगापुर में होने वाले सम्मेलन में उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षणों पर रोक लगाने के लिए कुछ सार्थक पहल किया जाएगा।

donald trump

यह भी देखिये- नेहा धूपिया ने अपने से दो साल छोटे अभिनेता अंगद बेदी के साथ पंजाबी रीति-रिवाज से शादी की

उत्तर कोरिया द्वारा अमेरिका के तीन बंधकों को रिहा करने के बाद ट्रंप ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ होने जा रही पहली बैठक की तारीख और स्थान की घोषणा ट्विटर पर की।

यह भी देखिये- मुख्यमंत्री ग्राम सड़क से जुड़े लगभग सात हजार गांव

ट्रंप ने ट्वीट किया, “उन्होंने कहा कि उनके और उन के बीच बहुप्रतीक्षित बैठक 12 जून को सिंगापुर में होगी। हम दोनों इसे विश्व शांति के लिए एक खास अवसर बनाने का प्रयास करेंगे।”उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि हमारे पास काफी कुछ सार्थक करने का अच्छा अवसर है। पूरे कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निशस्त्रीकरण का हिस्सा बनना मेरे लिए गौरवपूर्ण उपलब्धि होगी।”

यह भी देखिये- नरेन्द्र मोदी दो दिवसीय दौरे के लिए नेपाल रवाना

[divider style=”solid” top=”10″ bottom=”10″]

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
mobilepenews@gmail.com
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
फेसबुक मोबाइलपेन्यूज
ट्विटर मोबाइलपेन्यूज
Categories
National

अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पेंसे के नए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जान लर्नर का इस्तीफा

अमेरिकी उप राष्ट्रपति माइक पेंसे के नए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जान लर्नर ने नियुक्ति के दो ही दिन बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

यह भी देखिये – बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और माचो मैन संजय दत्त की सुपरहिट जोड़ी सिल्वर स्क्रीन पर फिर काम करती नजर आयेगी

व्हाइट हाऊस के अाधिकारियों ने बताया कि  लर्नर ने रात अपने पद से इस्तीफा दे दिया । उनकी नियुक्ति की घोषणा शुक्रवार रात की गई थी। वह संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हैली के शीर्ष सहायक थे। उप राष्ट्रपति कार्यालय ने शुक्रवार रात जारी एक बयान में उनकी नियुक्ति की घोषणा करते हुए कहा था कि लर्नर विदेश नीति मसलों पर उप राष्ट्रपति के शीर्ष सलाहकार होंगें लेकिन रविवार रात ही एक नया बयान जारी किया गया कि उन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।

बताया जा रहा है दरअसल राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को उनके स्टाफ के अधिकारियों ने जानकारी दी थी कि वह “ट्रंप विरोधी यानि नेवर ट्रंपर ” है। राष्ट्रपति चुनावों से पहले 2016 में  लर्नर ने पार्टी उम्मीदवार के तौर पर रिपब्लिकन सांसद मार्को रूबियो के नाम का समर्थन किया था। समाचार और जानकारी संबंधी वेबसाइट एक्सिओज के मुताबिक ट्रंप ने अपने चीफ आफॅ स्टाफ जान कैली को लर्नर की नियुक्ति रद्द करने काे कहा था। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक वह हैली के सहायक के तौर पर काम करते रहेंगें।

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
Categories
Results

किम के साथ मई या शुरुआती जून में मुलाकात- ट्रंप, कहा- सालों की कड़वाहट खत्म होने की उम्मीद

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन से मई अथवा जून के पहले सप्ताह में मुलाकात होने की उम्मीद है। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण से संबंधित समझौते पर चर्चा होगी।

यह भी देखिये – संयुक्त राष्ट्र की संस्था यूनिसेफ की गुडविल एम्बेसडर प्रियंका चोपड़ा ने आज कहा कि हर महिला को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर होना चाहिये।

ट्रंप ने सोमवार को कैबिनेट की बैठक में कहा, “ हम मई या जून के पहले सप्ताह में मिलेंगे और मैं सोचता हूं कि उस बैठक में एक- दूसरे को काफी सम्मान दिया जायेगा। हमें उम्मीद है कि दोनों पक्ष कोरियाई प्रायद्वीप का परमाणु निरस्त्रीकरण करने से संबंधित समझौते को करने में कामयाब हो जायेंगे।” उन्होंने कहा कि अमेरिका डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक आफ काेरिया से संपर्क में है।

यह भी देखिये – ‘स्वलीनता’ यानी ‘ऑटिज़्म’ की सही समय पर पहचान कर पीड़ित बच्चे को समाज की मुख्य धारा में लाया जा सकता है।

कोरियाई प्रायद्वीप में हाल के महीनों में तनाव बढ़ा है। अमेरिकी राष्ट्रपति और किम मार्च में मुलाकात के लिए सहमत हुए थे लेकिन उनकी बैठक की तिथि और स्थान के बारे में अभी तक कोई घोषणा नहीं की गयी है। उत्तर और दक्षिण कोरिया के नेता 11 वर्षों बाद 27 अप्रैल को एक सम्मेलन करने पर सहमत हुए हैं।

यह भी देखिये – बॉलीवुड के जाने माने फिल्मकार करण जौहर फिल्म स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 बनाने जा रहे है

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
Categories
Crime

त्रिकोणीय शिखर सम्मेलन का लक्ष्य : मून

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन ने उत्तर कोरिया और अमेरिका के साथ त्रिकोणीय शिखर सम्मेलन की उम्मीद जताते हुये कहा कि इस शिखर सम्मेलन का लक्ष्य कोरियाई प्रायद्वीप में परमाणु खतरे को समाप्त करना होना चाहिये।

यह भी देखिए – ज्वैलर नीरव मोदी के खिलाफ 890 करोड़ के हीरों को बाजार में गलत ढंग से लाने का मामला दर्ज कर लिया है।

एशिया, यूरोप और अमेरिका में कूटनीतिक हलचल के बीच मून अगले माह उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के साथ एक बैठक करने की योजना बना रहे हैं। इसके अलावा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी अपने एक बयान में कहा है कि वह मई के अंत में किम जोंग उन से मुलाकात करेंगे।

यह भी देखिए – छात्रा ने की खुदकुशी, प्रधान अध्यापक समेत तीन शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया

राष्ट्रपति कार्यालय ‘ब्लू हाउस’ में अंतर-कोरियाई शिखर सम्मेलन की तैयारी के लिये आयोजित बैठक के दौरान मून ने कहा कि उत्तर कोरिया-अमेरिका के बीच संभावित सम्मेलन ऐतिहासिक होगा।
दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति ने कहा कि इन सभी सम्मेलनों का लक्ष्य कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु खतरे से मुक्त करना होना चाहिये।

यह भी देखिए – चीन ने युद्धपोत ‘लियोनिंग’ को संकरी ताइवान स्ट्रेट के माध्यम से ताइवान भेजा

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी से सीधे प्रकाशित की गई है।)
मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:
mobilepenews@gmail.com
हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:
फेसबुक मोबाइलपेन्यूज
ट्विटर मोबाइलपेन्यूज