Categories
sports

डु प्लेसिस-डिविलियर्स के बिना खेलेगी अफ्रीका, 2-0 पर भारत की नजरें

टीम इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच छह मैचों की वनडे सीरीज का दूसरा मुकाबला (duPlessis DeVilliers) आज दोपहर 1:30 बजे से सेंचुरियन के सुपर स्पोर्ट्स पार्क स्टेडियम में खेला जाएगा। पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका को मात देने के बाद भारत की नजरें उसे लगातार दूसरी हार देकर अपने विजयी क्रम को बरकरार रखने और मेजबानों को बैकफुट पर धकलने पर होगी।

duPlessis DeVilliers
duPlessis DeVilliers

यह भी देखिये-पाक पर भड़के राजनाथ सिंह बोले- कश्‍मीर हमारा था, है और रहेगा

सीरीज से पहले मेजबानों को एबी डिविलियर्स के चोटिल हो जाने से झटका लगा था और अब दूसरे मैच से पहले कप्तान फाफ डु प्लेसिस के सीरीज से बाहर होने के कारण अफ्रीकी टीम और परेशानी में आ गई है।

डु प्लेसिस ने पहले वनडे में शतक जड़ा था। उन्हें चोट से उबरने में तीन से छह सप्ताह का समय लग सकता है। उनके स्थान पर फरहान बेहरदीन और डिविलियर्स के स्थान पर हेईनरिक क्लासेन को टीम में जगह मिली है।

यह भी देखिये-उपचुनाव के नतीजों से बढ़ी वसुंधरा की मुश्किलें, पार्टी मांग सकती है रिपोर्ट

सेंचुरियन वनडे में विराट ब्रिगेड जीत हासिल करते हुए 2-0 की बढ़त लेना चाहेगी। पहले मैच में भारत के कप्तान विराट कोहली ने वनडे में अपना 33वां शतक जड़ा था और उनका साथ अजिंक्य रहाणे ने बखूबी दिया था।

इन दोनों के अलावा कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने मेजबानों को 50 ओवरों में 269 रनों पर आठ विकेट पर सीमित कर दिया था। पहले मैच में भारत के टॉप ऑर्डर ने अच्छी बल्लेबाजी की थी। उनसे एक बार फिर उसी तरह के प्रदर्शन की उम्मीद होगी। वहीं गेंदबाजी में कुलदीप और चहल ने आपस में पांच विकेट बांटे थे, भुवनेश्वर और जसप्रीत बुमराह ने भी शानदार गेंदबाजी की थी।

यह भी देखिये- यूपी के कपड़ा मंत्री ने कासगंज मामले को बताया छोटी-मोटी हिंसा

डिविलियर्स और डु प्लेसिस की गैरमौजूदगी में दक्षिण अफ्रीका की कप्तानी एडेन मार्करम को मिली है। आपको बता दें कि इससे पहले मार्करम अंडर 19 वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका की कप्तानी कर चुके हैं, जिसने 2014 में खिताब अपने नाम किया था।

बल्लेबाजों में हाशिम अमला, जे।पी ड्यूमिनी और क्विंटन डी कॉक पर जिम्मेदारी होगी। मेजबानों को कुलदीप और चहल की काट किसी भी हालत में ढूंढ़नी होगी। गेंदबाजी में मोर्ने मोर्केल, कैगिसो रबाडा पर गेंदबाजी का दारोमदार रहेगा। टीम संकट में है ऐसे में ऑलराउंडर क्रिस मॉरिस और आंदिले फेहुलकवायो को भी अहम भूमिका निभानी होगी।

यह भी देखिये- वसीम रिजवी ने राम मंदिर का विरोध करने वालों को पाकिस्तान जाने को कहा

Categories
sports

विश्वकप जीत के बाद सामने आया कोच राहुल द्रविड़ का पहला रिएक्शन

साल 2007 में की ये तस्वीर कई लोगों को याद होगी, जब ग्रेग चैपल के रवैये की वजह से द्रविड़ की कप्तानी में हम विश्वकप से पहले दौर में बाहर हो गए थे। उस टीम में द्रविड़ के अलावा सचिन, सहवाग जैसे दिग्गज भी थे, लेकिन टीम इंडिया का विश्व विजेता (World Cup victory) बनने का सपना अधूरा रह गया था।

World Cup victory
World Cup victory

यह भी देखिये-ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट में बोले पीएम मोदी, आयुष्मान योजना से होगा 10 करोड़ परिवारों को फायदा

अंडर-19 विश्वकप में भारतीय टीम की जीत के बाद ये कहना गलत नहीं होगा कि ग्रेग चैपल की कोचिंग वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को हराकर राहुल द्रविड़ ने बदला पूरा कर लिया है। इस जीत से बेहद खुश राहुल द्रविड़ ने कहा कि अभी इन सभी सितारों को आगे और बड़ा और चुनौतीपूर्ण सफर तय करना है।

अंडर 19 विश्व कप जीतने के बाद द्रविड़ ने कहा,‘‘यह याद लंबे समय तक उनके जेहन में रहेगी लेकिन सिर्फ यही एक याद उनके कैरियर को परिभाषित नहीं करेगी। उन्हें अधिक बड़ी और बेहतर चुनौतियों का आगे सामना करना है।’’उन्होंने कहा कि पिछले 14 महीने में टीम ने जो मेहनत की, वह आखिरकार रंग लाई है।

यह भी देखिये- भारत ने रिकॉर्ड चौथी बाद जीता विश्वकप, कंगारुआें को आठ विकेट से रौंदा

उन्होंने कहा,‘‘मुझे अपनी टीम पर गर्व है। खिलाड़ियों और पूरे सहयोगी स्टाफ ने पिछले 14 महीने में काफी मेहनत की। वे इस जीत के हकदार थे। मैं बहुत खुश और गौरवान्वित हूं।’’ उन्हें हमेशा से पता था कि अंडर 19 टीम होने के कारण नजरें उन पर होगी लेकिन उन्होंने पूरे सहयोगी स्टाफ की तारीफ की।

उन्होंने कहा,‘‘कोच होने के नाते मुझे काफी तवज्जो मिलती है लेकिन सहयोगी स्टाफ के प्रयासों की जितनी तारीफ की जाये, कम है। हम सात आठ लोगों ने 14 महीने काफी मेहनत की।’’

यह भी देखिये-मेघालय विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने जारी की 45 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

Categories
sports

भारत ने रिकॉर्ड चौथी बाद जीता विश्वकप, कंगारुआें को आठ विकेट से रौंदा

न्यूजीलैंड में खेले जा रहे आईसीसी अण्डर-19 विश्वकप (ICC World Cup) का खिताबी मुकाबला शनिवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया। इसमें भारत ने ऑस्ट्रेलिया को ओपनर मनोज कालरा के शानदार शतक नाबाद 101 रनों की बदौलत आठ विकेट से रौंदते हुए रिकॉर्ड चौथी बार विश्व कप अपने नाम कर लिया।

ICC World Cup
ICC World Cup

यह भी देखिये-अब डाकघरों से भी होगी रेलवे टिकट की बुकिंग

ऑस्ट्रेलिया की ओर से दिए गए 217 रन के लक्ष्य को भारत ने 38.5 ओवर में दो विकेट खोकर ही हासिल कर लिया। ओपनर मनोज कालरा 101 व हार्विक देसाई 47 रन बनाकर नाबाद रहे। जीत के बाद भारतीय खिलाडि़यों ने मैदान के चक्कर लगाकर दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को ओनपर मनोज कालरा व कप्तान पृथ्वी शॉ ने बेहतर शुरुअात दी। दोनों ने पहले विकेट के लिए 11.4 ओवर में 71 रन जोडृ दिए, लेनिक उसी दौरान सुथरलैंड ने शॉ को 29 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड कर दिया। इसके बाद बल्लेबाजी पर आए शुभमन गिल ने कालरा के साथ के संभलकर खेलते हुए पारी को आगे बढ़ाया और टीम के स्कोर को 21 ओवर में 130 के पार पहुंचा दिया।

यह भी देखिये-मेघालय विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने जारी की 45 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

इसी दौरान कुल 131 रन के स्कोर पर उप्पल ने गिल को 31 के निजी स्कोर पर बोल्ड कर टीम को दूसरी सफलता दिला दी, लेकिन इसके बाद बल्लेबाजी पर आए हार्विक देसाई ने कालरा का भरपूर साथ देते हुए कोई विकेट नहीं गिरने दिया और भारत को रिकॉर्ड चौथी बार विश्वकप दिला दिया।

इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया, लेकिन भारत की दमदार गेंदबाजी के आगे ऑस्ट्रेलिया टीम बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर पाई। पूरी ऑस्ट्रेलिया टीम 47.2 ओवर में 216 रनों पर ढेर हो गई। ऑस्ट्रेलिया की ओर से जोनाथन मारलो ने 76, परम उप्पल ने 34, ओपनर बल्लेबाज जैक एडवर्ड 34 और नाथन मैकस्विगी ने 23 रनों का योगदान दिया।इसी प्रकार मैक्स ब्रायंट ने 14 और कप्तान जेसन सांगा ने 13 रन बनाए।

यह भी देखिये-सीलिंग को लेकर उपराज्यपाल के घर पर हुई बैठक, जल्द लग सकती है सीलिंग पर रोक

भारत की ओर से इशान पोरेल, शिवा सिंह, कमलेश नागरकोटी और अनुकूल रॉय ने दो-दो विकेट लिए जबकि शिवन मावी को एक विकेट मिला। इससे पहले भारतीय टीम का टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन रहा है। सेमीफाइनल मुकाबले में पाकिस्तान पर बड़ी जीत दर्ज करने के बाद भारत ने फाइनल में अपनी जगह बनाई थी।

यह भी देखिये-बोफोर्स मामले में सीबीअाई ने खटखटाया सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

Categories
sports

चटगांव टेस्ट में बने 1000 से ज्यादा रन, दोहरे शतक से चूके मेंडिस

श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच चटगांव में खेला जा रहा टेस्ट रनो के लिहाज से रिकॉर्ड (Twenty centuries) की ओर बढ़ता जा रहा है। दोनों टीमों की ओर से अब तक की गई बल्लेबाजी के आधार पर मैच के तीन दिनों में ही कुल एक हजार से ज्यादा रन बन चुके हैं, जबकि श्रीलंका की पारी अभी जारी है।

Twenty centuries
Twenty centuries

यह भी देखिये- “गुरू” द्रविड़ के सानिध्य में इतिहास रचने की दहलीज पर है अंडर 19 टीम इंडिया

बांग्लादेश की ओर से पहली पारी में बनाए गए 513 रनों के जवाब में श्रीलंका ने कुशल मेंडिस (194) व धनंजय डी सिल्वा (173) के शतकों की मदद से तीन विकेट के नुकसान पर 504 रन बना लिए हैं। ऐसे श्रीलंका टीम अब बांग्लादेश के स्कोर से महज 9 रन पीछे है। श्रीलंका की ओर से कुशल मेंडिस भले ही अपना पहला दोहरा शतक बनाने से चूक गए, लेकिन उन्होंने टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है।

मेडिंस और डी सिल्वा के अलावा श्रीलंका को इस स्थिति में पहुंचाने में रोशेन सिल्वा की नाबाद 87 रनों की पारी का भी हाथ है। स्टंप्स होने तक वह विकेट पर जमे हुए हैं और उनके साथ कप्तान दिनेश चांडीमल 37 रन बनाकर खेल रहे हैं। दोनों के बीच अभी तक 89 रनों की साझेदारी हो चुकी है।

यह भी देखिये-अब आईपीएल में दस्तक देगा ‘यो-यो’ फिटनेस टेस्ट

श्रीलंका ने दिन की शुरुआत एक विकेट के नुकसान पर 187 रनों के साथ की। मेंडिस और डी सिल्वा ने दूसरे दिन के अपने खेल को तीसरे दिन भी जारी रखा। मेंडिस पारी की शुरुआत करने आए थे, लेकिन उनके जोड़ीदार दिमुथ करुणारत्ने बिना खाता खोले आउट हो गए थे।

यहां से मेंडिस को डी सिल्वा का साथ मिला और दोनों ने बांग्लादेश के गेंदबाजों की जमकर परीक्षा ली। यह साझेदारी तीसरे दिन टूटी। डी सिल्वा, मुस्ताफीजुर रहमान की गेंद पर विकेट के पीछे लिट्टन दास के हाथों लपके गए। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 308 रनों की साझेदारी की।

यह भी देखिये-मुमताज की बेटी ने सोशल मीडिया पर ढाया कहर

इसके बाद मेंडिस को रोशेन का साथ मिला और दोनों ने श्रीलंका का स्कोर 415 रनों तक पहुंचा दिया. मेंडिस अपने पहले दोहरे शतक की ओर बढ़ रहे थे तभी तइजुल इस्लाम ने उनकी पारी का अंत किया। मेंडिस ने अपनी पारी में 327 गेंदें खेलीं और 22 चौकों के साथ दो छक्के लगाए। अब देखना यह है कि चौथे दिन श्रीलंका की पारी किस स्कोर तक जाती है।

यह भी देखिये- फेमस रैपर हनी सिंह ने बताया, कैसे बनाएं सुपरहिट सॉन्ग

Categories
sports

“गुरू” द्रविड़ के सानिध्य में इतिहास रचने की दहलीज पर है अंडर 19 टीम इंडिया

न्यूजीलैंड में आयोजित हो रहे अण्डर-19 विश्वकप में जीत के घोड़े पर सवार टीम इंडिया (Team India) अब गुरू राहुल द्रविड के सानिध्य में इतिहास रचने की दहलीज पर खड़ी है। शनिवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विश्वकप का फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। इसमें यदि टीम इंडिया जीत जाती है तो वह अण्डर-19 में चार बार विश्वकप जीतने वाली पहली टीम बन जाएगा। वतर्मान में भारत और ऑस्ट्रेलिया तीन-तीन विश्वकप जीतकर संयुक्त रूप से पहले स्थान पर बने हुए हैं।

Team India
Team India

यह भी देखिये-अब आईपीएल में दस्तक देगा ‘यो-यो’ फिटनेस टेस्ट

यदि पृथ्वी शॉ भारत को यह विश्वकप दिला देते हैं तो वह वो मोहम्मद कैफ (2002), विराट कोहली (2008) और उन्मुक्त चंद (2012) के बाद भारत की झोली में यह विश्व खिताब डालने वाले चौथे कप्तान होंगे। फॉर्म को देखते हुए भारत का पलड़ा भारी लग भी रहा है। भारत ने अभी तक पांचों मैच जीते है जिसमें सेमीफाइनल में पाकिस्तान पर 203 रन से मिली जीत शामिल है। इसके अलावा टूर्नामेंट के पहले मैच में ऑस्ट्रेलिया को 100 रन से भी हराया था।

यह भी देखिये-मुमताज की बेटी ने सोशल मीडिया पर ढाया कहर

अभी तक भारत की जीत में टीम का समूहिक प्रयास रहा है। सभी खिलाडि़यों ने किसी ना किसी रूप में जीत में अपना योगदान दिया है।बल्लेबाजों में शॉ और मनजोत कालरा ने टीम को हमेशा अच्छी शुरूआत दी है। तीसरे नंबर पर शुभमान गिल जबर्दस्त फॉर्म में हैं। उसने पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल में शतक जमाया था।

यह भी देखिये-फेमस रैपर हनी सिंह ने बताया, कैसे बनाएं सुपरहिट सॉन्ग

गेंदबाजी में शिवम मावी और कमलेश नागरकोटी का प्रदर्शन उम्दा रहा है। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को रोकना हालांकि उनके लिये आसान नहीं होगा। अभिषेक शर्मा और अनुकूल राय ने स्पिन का मोर्चा संभाला है। अभिषेक निचले मध्यक्रम में उपयोगी बल्लेबाज भी हैं। भारतीय फील्डिंग भी टूर्नामेंट में शानदार रही है।

यह भी देखिये-आॅनलाइन लीक हुई संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत’, मेकर्स के फूले हाथ-पांव

Categories
sports

अब आईपीएल में दस्तक देगा ‘यो-यो’ फिटनेस टेस्ट

भारतीय क्रिकेट में इस समय खिलाड़ी यदि सबसे ज्यादा खौफ खाते हैं तो वह बीसीसीअाई की ओर से लागू किया गया यो-यो फिटनेस टेस्ट (yo-yo fitness test) है। इस टेस्ट को पास किए बिना कोई भी खिलाड़ी टीम इंडिया में खेलने के बारे में सोच भी नहीं सकता है।

yo-yo fitness test
yo-yo fitness test

यह भी देखिये- मुमताज की बेटी ने सोशल मीडिया पर ढाया कहर

युवराज सिंह और सुरेश रैना इस टेस्ट को काफी करीब से जानते हैं। दोनों ही बड़े खिलाड़ियों को यो-यो टेस्ट में पास होने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी थी। टीम से बाहर होने के बाद उनकी वापसी इसी बात पर टिकी थी कि वो यो-यो टेस्ट में पास होते हैं या नहीं। सुरेश रैना ने हाल ही में इस टेस्ट को पास किया और उनका चयन साथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले टी 20 मुकाबलों के लिए किया गया। अब यही यो-यो टेस्ट आईपीएल में भी दस्तक देने जा रही है।

कप्तान विराट कोहली को क्रिकेट का सबसे फिट खिलाड़ी माना जाता है। वह खुद भी खेल के लिए पूरी तरह फिट रहना चाहते हैं।ऐसे में अब उन्होंने टीम इडिया की तर्ज पर इस फिटनेस टेस्ट को आईपीएल में अपनी टीम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए भी लागू कराने का मन बनाया है।

यह भी देखिये- फेमस रैपर हनी सिंह ने बताया, कैसे बनाएं सुपरहिट सॉन्ग

सूत्रों के अनुसार आरसीबी ने ऑक्शन में टीम चयन के बाद तीन खिलाड़ियों को फिटनेस टेस्ट पास करने को कहा है। खबरों के मुताबिक ये तीनों खिलाड़ी दिल्ली रणजी टीम के हैं। इनमें कभी आईपीएल के सबसे मंहगे भारतीय खिलाड़ी रहे पवन नेगी, तेज गेंदबाज नवदीप सैनी और बाएं हाथ के तेज गेंदबाज कुलवंत खेजरोलिया शामिल हैं।

27 और 28 जनवरी को बैंगलुरू में हुए आईपीएल 11 सीजन के ऑक्शन में आरसीबी ने 24 खिलाड़ियों को अपने टीम के साथ जोड़ाय टीम ने तेज गेंदबाजों पर इस बार ज्यादा दांव खेला है जिसमें विदेशी से लेकर भारतीय खिलाड़ी शामिल हैं।

यह भी देखिये-आॅनलाइन लीक हुई संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत’, मेकर्स के फूले हाथ-पांव

Categories
sports

कोहली ने कहा, इस बार अफ्रीका को 270 रन पर रोकर हुए थे खुश

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच शुक्रवार को डरबन में खेेले गए पहले वनडे में 6 विकेट से जीत हासिल करने के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli Afrika) ने कहा कि वह आखिरी टेस्ट में मिली जीत के बाद वनडे सीरीज में भी अपनी लय को बरकरार रखना चाहते थे। इसमें उन्हें सफलता भी मिली। कोहली ने इस जीत को खुद के लिए विशेष बताया है। उन्होंने कहा कि इस पिच पर टॉस हारने के बाद अफ्रीका को 270 रन पर रोककर वह बहुत खुश थे।

Virat Kohli Afrika
Virat Kohli Afrika

यह भी देखिये-चीनी व्यक्ति ने अपने ही 12 लाख रुपये कूड़े में फेंक दिए, जानिए वजह

पहली पारी के बाद स्कोर को देखकर उन्हें लग रहा था कि इस पिच पर इस स्कोर को आसानी से प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए बस धैर्य के साथ बल्लेबाजी करनी होगी।दक्षिण अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए फाफ डु प्लेसिस के 120 रन की मदद से आठ विकेट पर 269 रन बनाए थे। इसके बाद उन्हें लगा रहा था कि एक लम्बी साझेदारी के साथ इस मैच को जीता जा सकता है।इसके बाद उन्होंने रहाणे के साथ बेहतरीन साझेदारी की और टीम को जीत मिल गई। गौरतलब है कि कप्तान कोहली ने 112 व रहाणे 79 ने तीसरे विकेट के लिए 189 रन की साझेदारी कर टीम की जीत तय की थी। मैच के बाद कोहली ने रहाणे की जमकर तारीफ की ओर कहा कि वह वल्र्ड क्लास बल्लेबाज है। उसे तेज गेंदबाजों का डटकर सामना किया।भारतीय कप्तान (Virat Kohli Afrika) ने कलाईयों के दोनों स्पिनरों कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की भी तारीफ की जिन्होंने मिलकर पांच विकेट लिए। कोहली ने कहा, ‘हम तेज गेंदबाजी में भुवनेश्वर और बुमराह पर निर्भर हैं. हम उनसे पहले दस ओवरों में एक या दो विकेट की उम्मीद रखते हैं।न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला के लिए इंग्लैंड टीम घोषित न्यूजीलैंड के खिलाफ खेली जाने वाली 5 मैचों की वनडे श्रृंखला के लिए इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने अपनी 15 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी है। टीम में में ऑलराउंडर बेन स्टोक्स को शामिल किया गया है जो कि इस वक्त विवादों में चल रहे हैं। ब्रिस्टल में हुई घटना को लेकर 13 फरवरी को स्टोक्स को ब्रिस्टल मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश होना है।

यह भी देखिये-पुलिस विभाग ने निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन
उसी दिन इंग्लैंड की टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ त्रिकोणीय टी20 श्रृंखला का पहला मैच खेलेगी। जबकि एकदिवसीय श्रृंखला की शुरुआत 25 फरवरी से हैमिल्टन में होगी। गिरफ्तारी के बाद से ही स्टोक्स ने इंग्लैंड के लिए कोई भी मैच नहीं खेला है। 18 फरवरी को न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे दूसरे टी20 मैच से वो वापसी कर सकते हैं।

त्रिकोणीय सीरीज में आराम दिए जाने के बाद जो रूट की भी वनडे टीम में वापसी हुई है। इंग्लैंड क्रिकेट टीम की चयन समिति के प्रमुख जेम्स व्हाइटेकर ने कहा कि पिछले 2 सालों के दौरान हमारी एकदिवसीय टीम ने अपने खेल में काफी सुधार किया है और बेहतरीन खेल दिखाया है। 2019 विश्व कप को देखते हुए ये हमारे लिए अच्छे संकेत हैं।

उन्होंने (Virat Kohli Afrika) कहा कि हमें पूरा विश्वास है कि हम न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में कड़ी चुनौती पेश करेंगे। टीम के लिए अच्छा क्रिकेट खेलने और लोगों का मनोरंजन करने का ये सुनहरा मौका है। टीम में शामिल किए गए खिलाड़ियों को मैं शुभकामनाएं देता हूं।

गौरतलब है ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में इंग्लैंड ने 4-1 के बड़े अंतर से जीत हासिल की थी ऐसे में न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में उनका हौसला काफी बुलंद होगा। ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच त्रिकोणीय टी20 श्रृंखला का आयोजन होगा, उसके बाद न्यूजीलैंड के खिलाफ एकदिवसीय सीरीज की शुरुआत होगी।

इंग्लैंड टीम-इयोन मोर्गन (कप्तान), मोइन अली, जॉनी बेयर्स्टो, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, टॉम करन, एलेक्स हेल्स, लियम प्लंकेट, आदिल रशीद, जो रूट, जेसन रॉय, बेन स्टोक्स, डेविड विले, क्रिस वोक्स और मार्क वुड।

सैंकड़ा जमाकर कोहली ने की गांगुली की बराबरी

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच गुरुवार को डरबन में खेले गए छह वनडे मैचों की श्रृंखला के पहले मैच में भारत ने कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक 112 रनों की बदौलत अफ्रीका को 6 विकेट से हराते हुए सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।टेस्ट सीरीज गंवाने के बाद टीम इंडिया के लिए यह एक अच्छी शुरुआत है।

मैच में जमाए गए बेहतरीन शतक की बदौलत ना केवल टीम इंडिया ने जीत हासिल की बल्कि कप्तान कोहली के नाम भी एक रिकॉर्ड दर्ज हो गया।बातौर कप्तान सबसे अधिक वनडे शतक लगाने के मामले में कोहली ने सौरव गांगुली की बराबरी ली है।

यह भी देखिये-अब नया पासपोर्ट आपको मिलेगा केवल तीन दिन में, जानिए कैसे?

कोहली कप्तान (Virat Kohli Afrika) के तौर पर अब तक कुल 11 शतक लगा चुके हैं जबकि गांगुली ने 146 मैचों में 11 शतक जड़े थे। वहीं कोहली ने यह आंकड़ा महज 44 मैचों में ही पूरा कर लिया। कप्तान के तौर सचिन तेंदुलकर और महेंद्र सिंह धोनी ने 6-6 शतक लगाए हैं।

इससे पहले साउथ अफ्रीका ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवर में 8 विकेट खोकर 268 रन बाए थे। लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम ने इसे 45.3 ओवर में चार विकेट खोकर इसे पूरा कर लिया।
श्रीसंत के करियर के लिए 5 फरवरी होगी बेहद अहम, स्पॉट फिक्सिंग मामले में बीसीसीआई की ओर से लगाए गए आजीवन बैन के खिलाफ केरल हाईकोर्ट की ओर से हटाए गए बैन को भी बीसीसीअाई के नहीं मानने से परेशान तेज गेंदबाज एस श्रीसंत के क्रिकेट करियर के लिए आगामी 5 फरवरी का दिन बेहद अहम होगा।सुप्रीम कोर्ट श्रीसंत के मामले पर सुनवाई के लिए तैयार गया है।

श्रीसंत ने केरल हाई कोर्ट के उस फैसले के खिलाफ याचिका दायर की थी जिसमें बीसीसीआई द्वारा 2013 में आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाए जाने के बाद आजीवन बैन लगा दिया था। चीफ जस्टिस मिश्रा की अध्यक्षता वाली एक पीठ के सामने इस मामले के आने के बाद उन्होंने इसे रोस्टर के अनुसार एक उपयुक्त पीठ के समक्ष सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करने का निर्देश दिए हैं।

इस पीठ ने कहा, ‘‘इस मामले को पांच फरवरी को रोस्टर के मुताबिक उपयुक्त पीठ के समक्ष रखा जाएगा। आपको बता दें कि केरल हाई कोर्ट ने 34 साल के तेज गेंदबाज को आजीवन बैन से राहत दी थी, लेकिन बीसीसीआई की याचिका के बाद खंडपीठ ने उस फैसले को पलट दिया गया था।

गौरतलब हो कि श्रीसंत के साथ अंकित चव्हाण और अजित चंदिला को स्पॉट फिक्सिंग के मामले पटियाल हाउस कोर्ट ने सबूत के अभाव में बरी कर दिया था, लेकिन बीसीसीआई ने बैन नहीं हटाया।

यह भी देखिये- फ्लिपकार्ट ने पेश की अंडर 99 सेल सबकुछ 99 में, आप भी लीजिये फायदा