Categories
sports

146 रन की साझेदारी से दिया 307 का लक्ष्य, भारत के पडोसी को वर्ल्ड कप में मिली शिकस्त

ओपनर डेविड वार्नर (107) के शानदार शतक और उनकी कप्तान आरोन फिंच (82) के साथ 146 रन की ओपनिंग साझेदारी के बदौलत गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान के खिलाफ आईसीसी विश्वकप मुकाबले में बुधवार को 49 ओवर में 307 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बना लिया।

ऑस्ट्रेलियाई टीम अपने ओपनरों के शानदार साझेदारी के दम पर एक समय 350 से ऊपर के स्कोर की तरफ बढ़ती नजर आ रही थी लेकिन पाकिस्तानी गेंदबाजों खासतौर पर बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने शानदार वापसी करते हुए ऑस्ट्रेलिया के बढ़ते कदमों को रोक दिया। आमिर ने 10 ओवर में 30 रन पर पांच विकेट झटके। आमिर ने पहली बार वनडे में पांच विकेट लिए और अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

वार्नर और फिंच ने 22.1 ओवर में 146 रन की बेहतरीन साझेदारी की। एक समय ऑस्ट्रेलिया ने 34वें ओवर तक दो विकेट पर 223 रन बना लिए थे लेकिन इसके बाद बल्लेबाज पाकिस्तान की प्रभावशाली गेंदबाजी के सामने अपने विकेट गंवाते चले गए और पूरी टीम 49 ओवर में सिमट गयी। ऑस्ट्रेलिया ने अपने आखिरी छह विकेट मात्र 30 रन जोड़कर गंवाए। ऑस्ट्रेलिया को पिछले मुकाबले में भारत से हार का सामना करना पड़ा था।

वार्नर ने अपना 15वां शतक बनाया और 111 गेंदों पर 107 रन की पारी में 11 चौके और एक छक्का लगाया। वार्नर का पाकिस्तान के खिलाफ पिछले तीन मैचों में यह लगातार तीसरा शतक है।

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान फिंच ने पाकिस्तान के खिलाफ अपने शानदार प्रदर्शन को विश्वकप में बरकरार रखते हुए 84 गेंदों पर 82 रन में छह चौके और चार छक्के लगाए। फिंच ने विश्वकप से पहले पाकिस्तान के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में 116, नाबाद 153, 90, 39 और 53 रन बनाए थे।

Categories
sports

दो पूर्व चैंपियन ट्रॉफी के लिए आज करेंगे मुकाबला

पांच बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया और एक बार के विजेता पाकिस्तान के बीच बुधवार को यहां होने वाले आईसीसी विश्व कप मुकाबले में विस्फोटक संघर्ष होने की पूरी उम्मीद है।

ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान ने विश्व कप से पहले पांच वनडे मैचों की सीरीज यूएई में खेली थी जिसे ऑस्ट्रेलिया ने 5-0 से जीता था। इस आधार पर ऑस्ट्रेलिया इस मैच में जीत के दावेदार के रूप में उतरेगा लेकिन भारत से पिछले मुकाबले में मिली हार के बाद उसे सतर्क रहना होगा। ऑस्ट्रेलिया ने अपने तीन मैचों में अब एक दो मैच जीते हैं और उसके खाते में चार अंक हैं।

पाकिस्तान के तीन मैचों में एक जीत, एक हार और एक रद्द परिणाम से तीन अंक हैं। पाकिस्तान ने वेस्ट इंडीज से पहले मुकाबले में मिली हार के बाद शानदार वापसी करते हुए विश्व की नंबर एक टीम और मेजबान इंग्लैंड को 14 रन से चौंकाया था। पाकिस्तान का श्रीलंका के खिलाफ मुकाबले बारिश के कारण बिना कोई गेंद फेंके रद्द हो गया था।

दोनों टीमों के लिए चौथा मैच ख़ासा महत्वपूर्ण है और इस मैच के परिणाम से उनके लिए आगे की दिशा तय होगी। गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को भारत के खिलाफ मिली से झटका लगा है और पाकिस्तान अपने पड़ोसी की जीत से मनोवैज्ञानिक लाभ ले सकता है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 352 रन बनाकर चैंपियन टीम को दबाव में ला दिया था जबकि पाकिस्तान ने 348 रन बनाकर इंग्लैंड पर दबाव बनाया था।

Categories
sports

विश्व कप में बांग्लादेश का श्रीलंका के साथ मुकाबला आज

श्रीलंका और बंगलादेश की टीमें मंगलवार को जब आईसीसी विश्वकप मुकाबले में आमने-सामने होंगी तो उनका लक्ष्य सेमीफाइनल की होड़ में बने रहने के लिए अपनी उम्मीदों को परवान चढ़ाना होगा।

श्रीलंका और बंगलादेश अबतक तीन-तीन मैच खेल चुके हैं। श्रीलंका के खाते में एक जीत, एक हार और एक मैच रद्द हो जाने के साथ तीन अंक हैं जबकि बंगलादेश के पास तीन मैचों में एक जीत और दो हार के बाद दो अंक है।

श्रीलंका का पाकिस्तान के साथ पिछला मैच बारिश के कारण बिना कोई गेंद फेंके रद्द रहा था जबकि बंगलादेश को अपने पिछले मुकाबले में मेजबान इंग्लैंड के हाथों 106 रन से हार का सामना करना पड़ा था।

वर्ष 1996 में चैंपियन रही श्रीलंकाई टीम इस समय परिवर्तन के दौर से गुजर रही है। उसे अपने पहले मुकाबले में 136 रन पर ढेर हो जाने के बाद न्यूजीलैंड के हाथों 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि श्रीलंका ने अपने वर्षा प्रभावित दूसरे मुकाबले में अफगानिस्तान के खिलाफ 201 रन बनाए लेकिन विपक्षी टीम को 152 रन पर ढेर कर 34 रन से मैच जीत लिया। श्रीलंका का तीसरा मैच पाकिस्तान से ब्रिस्टेल में ही थी जो वर्षा के कारण रद्द रहा था।

श्रीलंका का बंगलादेश के साथ मुकाबला ब्रिस्टल में है और एक बार फिर बारिश की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता। यह विश्वकप वर्षा से प्रभावित चल रहा है और रद्द होने वाले मैचों से बटने वाले अंक सेमीफाइनल की होड़ के लिए काफी निर्णायक साबित होंगे।

कल दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज के बीच मुकाबला बारिश के कारण रद्द रहा था।

Categories
sports

विश्व कप में बारिश में धुला दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज का मैच

दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज के बीच आईसीसी विश्वकप का मुकाबला सोमवार को बारिश की भेंट चढ़ गया और मैच को रद्द घोषित किया गया। मैच रद्द होने से दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला।

इस विश्वकप में यह दूसरा मुकाबला है जो बारिश के कारण रद्द हुआ है। इससे पहले सात जून को ब्रिस्टल में पाकिस्तान और श्रीलंका का मुकाबला बिना कोई गेंद फेंके बारिश की भेंट चढ़ गया था और दोनों टीमों को एक-एक अंक मिला था। इस मैच के रद्द हो जाने से दक्षिण अफ्रीका को टूर्नामेंट में तीन हार के बाद अपना पहला अंक मिल गया।

वेस्टइंडीज का तीन मैचों में यह पहला रद्द परिणाम रहा और उसके अब तीन अंक हो गए हैं। इस मुकाबले में वेस्टइंडीज ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया था और मैच में 7.3 ओवर के बाद बारिश आने से फिर खेल संभव नहीं हो पाया था।

दक्षिण अफ्रीका ने इस दौरान दो विकेट खोकर 29 रन बनाए थे। शेल्डन कोट्रेल ने हाशिम अमला (6) और एडन मारक्रम (5) के विकेट लिए। क्विंटन डी कॉक 17 और कप्तान फॉफ डू प्लेसिस शून्य पर नाबाद थे।

Categories
sports

युवराज ने क्रिकेट को कहा अलविदा, नहीं खेलना चाहते थे विदाई मैच

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का सोमवार को ऐलान करने वाले धुरंधर ऑलराउंडर युवराज सिंह ने विदाई मैच का प्रस्ताव ठुकरा दिया था।

युवराज ने संन्यास की घोषणा करते हुए कई सवालों के जवाब दिए। यह पूछने पर कि क्या वह कोई विदाई मैच चाहते थे, युवराज ने कहा, “मैंने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में किसी से नहीं कहा था कि मैं अपना आखिरी मैच खेलना चाहता हूं। यदि मेरे अंदर क्षमता होगी तो मैं उसी के दम पर मैदान में जाऊंगा। मैं इस अंदाज में क्रिकेट नहीं खेल सकता कि मुझे कोई विदाई मैच चाहिए।”

उन्होंने कहा, “मुझसे कहा गया था कि यदि मैं यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाता हूं तो मैं एक विदाई मैच खेल सकता हूं। मैंने तब कहा था कि मैं कोई विदाई मैच नहीं खेलना चाहता। यदि मैं यो-यो टेस्ट पास नहीं कर पाता हूं तो मैं चुपचाप घर निकल जाऊंगा।”

बल्ले और गेंद के इस खेल में यो-यो टेस्ट की जरुरत के बारे में पूछने पर युवराज ने कहा, “मुझे विश्वास है कि मेरे पास जीवन में इतना समय रहेगा कि मैं इन बातों पर चर्चा कर सकूं। मुझे काफी कुछ कहना है लेकिन मैं इस समय कुछ नहीं कहना चाहता हूं क्योंकि भारत विश्वकप में खेल रहा है। मैं खिलाड़ियों को लेकर कोई विवाद नहीं चाहता हूं। मैं चाहता हूं कि खिलाड़ी अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में रहे ताकि वे खिताब तक पहुंच सकें।”

Categories
sports

विश्व कप में दक्षिण अफ्रीका और वेस्ट इंडीज़ के बीच मुकाबला आज

कड़े संघर्ष के बावजूद आस्ट्रेलिया से पिछला मैच गंवाने के बाद वेस्टइंडीज़ क्रिकेट टीम सोमवार को हार की हैट्रिक लगा चुकी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आईसीसी विश्वकप में वापसी के लक्ष्य के साथ उतरेगी।

वेस्टइंडीज़ ने आस्ट्रेलिया से पिछला मैच 15 रन से गंवाया था। अच्छी शुरूआत और दमदार प्रदर्शन के बावजूद कई खराब अंपायरिंग फैसलों से वह जीत हासिल करने से चूक गयी। विंडीज़ ने विश्वकप में पाकिस्तान के खिलाफ 7 विकेट की जीत के साथ धमाकेदार शुरूआत की है लेकिन दूसरे मुकाबले में वह पटरी से उतर गयी।

दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका अब टूर्नामेंट में लगातार तीन मैच हारकर सेमीफाइनल की होड़ से ही बाहर होने के कगार पर है। उसे पहले मैच में इंग्लैंड ने 104 रन से हराया जबकि दूसरे मैच में कमज़ोर मानी जा रही बंगलादेश ने 21 रन से उलटफेर का शिकार बना लिया। तीसरे मैच में उसे भारत के हाथों छह विकेट से हार झेलनी पड़ी। आईसीसी टूर्नामेंटों में हमेशा से चोकर्स रही अफ्रीकी टीम को अब अपनी दावेदारी बरकरार रखने के लिये बाकी सभी मैचों को जीतना होगा।

फाफ डू प्लेसिस की कप्तानी वाली टीम हालांकि विश्वकप में हार की हैट्रिक लगाने के बाद भारी दबाव में है और इसका फायदा वेस्टइंडीज़ को मिल सकता है। अफ्रीकी टीम खिलाड़ियों की चोटों से भी जूझ रही है। अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ डेल स्टेन टूर्नामेंट से ही बाहर हो गये हैं तो लुंगी एनगिदी अनफिट हैं और उनका खेलना संदिग्ध है। टीम के गेंदबाज़ों और बल्लेबाज़ों दोनों को ही अब व्यक्तिगत तौर पर योगदान देना होगा।

Categories
sports

नडाल ने कोर्ट में रखी बादशाहत कायम

क्ले कोर्ट के बेताज बादशाह स्पेन के राफेल नडाल ने चौथी सीड ऑस्ट्रिया के डोमिनिक थिएम को चार सेटों में रविवार को 6-3, 5-7, 6-1, 6-1 से हराकर 12वीं बार रौलां गैरो पर फ्रेंच ओपन का खिताब जीत लिया।
,
दूसरी सीड नडाल ने थिएम से यह मुकाबला तीन घंटे एक मिनट में जीता। नडाल ने पिछले साल थिएम को लगातार तीन सेटों में हराया था और इस बार चार सेटों में जीत हासिल की। नडाल ने दूसरा सेट हारने का गुस्सा थिएम पर इस कदर निकाला कि थिएम तीसरे और चौथे सेट में मात्र दो गेम ही जीत पाए।

Categories
sports

शिखर के शतक से विश्व कप में भारत की दूसरी जीत

ओपनर शिखर धवन (117) की फार्म में वापसी के बाद बनाये गये शानदार शतक और कप्तान विराट कोहली (82) तथा उपकप्तान रोहित शर्मा (57) के अर्धशतकों और यॉर्करमैन जसप्रीत बुमराह (61 रन पर तीन विकेट) की बेहतरीन गेंदबाजी से भारत ने गत चैंपियन आस्ट्रेलिया को आईसीसी विश्वकप के महत्वपूर्ण मुकाबले में रविवार को 36 रन से पीट दिया।


भारत ने 50 ओवर में पांच विकेट पर 352 रन का मजबूत स्कोर बनाया जो विश्व कप के इतिहास में किसी भी टीम का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सर्वाधिक स्कोर था। ऑस्ट्रेलिया की टीम पहाड़ जैसे स्कोर के वजन तले दब गयी और उसकी चुनौती 50 ओवर में 316 रन पर दम तोड़ गयी।

विश्व की दूसरे नंबर की टीम भारत की विश्व कप में यह लगातार दूसरी जीत है और उसने ऑस्ट्रेलिया से पिछले विश्व कप के सेमीफाइनल में मिली हार का बदला चुका लिया। ऑस्ट्रेलिया को इस तरह तीन मैचों में दूसरी हार का सामना करना पड़ा।

ऑस्ट्रेलियाई टीम एक समय दो विकेट पर 202 रन की सुखद स्थिति में थी लेकिन रन गति तेज करने के दबाव में उसके विकेट गिरते चले गए। ओपनर डेविड वार्नर ने 56, कप्तान आरोन फिंच ने 36, स्टीवन स्मिथ ने 69, एलेक्स कैरी ने नाबाद 55, उस्मान ख्वाजा ने 42 और ग्लेन मैक्सवेल ने 28 रन बनाये।

भारतीय यॉर्करमैन जसप्रीत बुमराह ने 61 रन पर तीन विकेट लिए जबकि तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को तीन और लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को दो विकेट मिले। फिंच और मिशेल स्टार्क रन आउट हुए। शिखर अपने शतक के लिए प्लेयर ऑफ द मैच बने।

Categories
sports

पिद्दी से देश के सामने किक्रेट के हैवीवेट को आया पसीना, मुश्किल से मिली जीत

दक्षिण अफ्रीका को फतह कर जोश के नए आसमान पर सवार बंगलादेश को हराने में न्यूजीलैंड को पसीना आ गया और उसने विश्व कप मुकाबला बड़ी मुश्किल से दो विकेट से जीता। न्यूजीलैंड की यह लगातार दूसरी जीत है जबकि बंगलादेश की दो मैचों में पहली हार है। विश्व के नंबर एक आलराउंडर शाकिब अल हसन (64) के शानदार अर्धशतक से बंगलादेश ने 49.2 ओवर में 244 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया लेकिन लक्ष्य तक पहुंचने में न्यूजीलैंड के पसीने छूट गए।। न्यूजीलैंड ने 47.1 ओवर में आठ विकेट के नुकसान पर 248 रन बनाकर जीत अपने नाम की।

अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर ने 91 गेंदों पर नौ चौकों की मदद से 81 रन की शानदार पारी खेली। यदि लक्ष्य थोड़ा बड़ा होता तो कीवी टीम परेशानी में पड़ सकती थी। हालांकि बंगलादेश के गेंदबाजों ने सराहनीय प्रयास किया और न्यूजीलैंड के आठ विकेट निकाल कर मैच को रोमांचक बना दिया और बाकी टीमों को यह संकेत दे दिया कि कोई उसे हल्के में लेने की गलती नहीं करे। कप्तान केन विलियम्सन ने 40, मार्टिन गुप्तिल ने 25, कॉलिन मुनरो ने 24, जेम्स नीशम ने 25 और कॉलिन डी ग्रैंडहोम ने 15 रन बनाये। मिशेल सेंटनर ने नाबाद 17 रन बनाकर टीम को संकट से निकाला और जीत की मंजिल पर पहुंचाया। बंगलादेश की तरफ से शाकिब अल हसन, मेहदी हसन, मोहम्मद सैफुद्दीन और मोसाद्दक हुसैन ने दो-दो विकेट लिए।

न्यूजीलैंड ने इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने का फैसला किया। बंगलादेश के शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाजों ने रन बटोरे लेकिन अर्धशतक बनाने में केवल शाकिब कामयाब हुए। शाकिब ने इस विश्व कप में लगातार दूसरा अर्धशतक बनाया। उन्होंने 68 गेंदों पर 64 रन में सात चौके लगाए। शाकिब के बाद बंगलादेश की पारी में दूसरा सर्वाधिक स्कोर सैफुद्दीन का 29 रन रहा। सैफुद्दीन ने 23 गेंदों में तीन चौके और एक छक्का लगाया। ओपनर तमीम इकबाल ने 38 गेंदों पर 24 और सौम्य सरकार ने 25 गेंदों पर 25 रन बनाये। मोहम्मद मिथुन ने 26 और मेहमूदुल्लाह ने 20 रन बनाये। मुशफिकुर रहीम ने 19 रन का योगदान दिया।

बंगलादेश की टीम एक समय 31वें ओवर में तीन विकेट पर 151 रन बनाकर काफी अच्छी स्थिति में थी लेकिन न्यूजीलैंड ने शानदार वापसी करते हुए बंगलादेश को 244 तक रोक लिया। न्यूजीलैंड की तरफ से मैट हेनरी 47 रन पर चार विकेट लेकर सबसे सफल गेंदबाज रहे। ट्रेंट बोल्ट को 44 रन पर दो विकेट मिले जबकि लोकी फर्ग्युसन, कॉलिन डी ग्रैंडहोम और मिशेल सेंटनर को एक-एक विकेट मिला।

Categories
sports

कैंसर और दिल की बीमारियों को मार भगाती है ये छोटी सी दवा, दिमाग को देती है डोपामाइन

साइकिल के नियमित इस्तेमाल से कैंसर का खतरा 45 प्रतिशत और दिल की बीमारियों का खतरा 46 फीसदी तक कम हो जाता है जबकि पैदल चलने से हृदयरोग का खतरा लगभग 27 प्रतिशत कम होता है। ये हम नहीं कह रहे बल्कि यूनीवर्सिटी आफ लंदन के एक शोध के मुताबिक साइक्लिंग से दिमाग में सिरोटोनिन, डोपामाइन और फेनिलइथिलामीन जैसे जैविक रसायनो का उत्पादन बढ़ जाता है जिससे तनाव कम होता है और दिलोदिमाग ताजा रहता है। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक शोध के अनुसार साइकिल चलाना पैदल चलने से अधिक फायदेमंद है।

चिकित्सकों का मानना है कि साइकिल के नियमित इस्तेमाल से न सिर्फ मोटापा, मधुमेह और गठिया जैसी तमाम स्वास्थ्य संबंधी विसंगतियों से बचा जा सकता है बल्कि हृदय और श्वांस रोग से ग्रसित मरीजों के लिये यह अचूक औषधि का काम कर सकती है।
चीन, जापान, नीदरलैंड, फिनलैंड, स्विटजरलैंड और बेल्जियम जैसे तमाम विकसित देशों में साइकिल का बढ़ता प्रचलन इस बात का द्योतक है कि शरीर को फिट रखने के लिये मुफीद दो पहियों की यह सवारी पर्यावरण संरक्षण में अहम भूमिका निभाती है। देश में भी कई जानेमाने प्रतिष्ठान और शैक्षणिक संस्थायें साइकिल के इस्तेमाल को प्रोत्साहन देती है लेकिन सड़कों में अतिक्रमण और आटो मोबाइल वाहनों की तेजी से बढती तादाद से सेहत के प्रति गंभीर लोग चाह कर भी साइकिल की सवारी करने से कतराते है।

पर्यावरणविदों और चिकित्सकों का कहना है कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को चाहिये कि देश में पर्यावरण की हालत में सुधार लाने के अहम हथियार के तौर पर साइकिल को बढावा दे। कानपुर के लाला लाजपत राय चिकित्सालय में वरिष्ठ अस्थिरोग विशेषज्ञ प्रो रोहत नाथ का कहना है कि साइकिल सौ मर्ज की एक दवा है। साइकिल चलाने वाले युवकों में गठिया की संभावना न के बराबर होती है। पैडलिंग से जोड़ों और कूल्हे की एक्सरसाइज होती है। हजार रोगों की वजह शरीर में जमा अतिरिक्त चर्बी साइकिल की सवारी करने वाले को छू भी नहीं पाती। रक्तचाप बेहतर रहने से हृदय और श्वांस रोग से ग्रसित होने के बचा जा सकता है।
लोगबाग फिट रहने के लिये जिम जाना तो पसंद करते है लेकिन छोटी मोटी दूरी तय करने के लिये कार और मोटरसाइकिल का सहारा लेते है। अगर नियमित रूप से पांच किमी साइकिल चलायी जाये तो उन्हे फिट रहने के लिये किसी और एक्सरसाइज की खास जरूरत नहीं रहेगी।
सरकार को भी साइकिल के प्रचलन को बढावा देने के लिये खास उपाय करने की जरूरत है। इसके लिये साइकिल ट्रैक बनाये जायें ताकि भीड़भाड़ वाली सड़कों पर दुर्घटना से बचा जा सके। सड़कों पर साइकिल पथ के किनारे पेड़ लगाये जाये। इससे न सिर्फ प्रदूषण में कमी आयेगी बल्कि स्वास्थ्य पर खर्च होने वाले लंबे चौड़े बजट में भी कमी लायी जा सकेगी। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के छात्र मयंक अग्रवाल बताते है कि संस्थान में साइकिल का प्रचलन है। शिक्षक से लेकर छात्र सभी साइकिल से चलते हैं। एक विभाग से दूसरे विभाग में जाने हो या फिर हास्टल में किसी से मिलना हो। साइकिल का उपयोग किया जाता है।

एक अन्य छात्र दीपक सिंहल ने कहा कि पश्चिमी देशों की तरह भारत में साइकिल के इस्तेमाल को बढावा देने की जरूरत है। नीदरलैंड की पहचान साइकिल के देश के रूप में होती है। वहां की सरकार ने प्राकृतिक सुंदरता और पर्यावरण का अक्षुण्य बनाये रखने के लिये साइक्लिंग को प्रोत्साहन दिया है। वहां के प्रधानमंत्री भी साइकिल से चलते हैं। इसी तरह डेनमार्क के काेपेनहेगन को सिटी आफ साइक्लिस्ट भी कहा जा है। अगर विकसित देश के लोग खुद को फिट रखने के लिये साइकिल को प्रोत्साहन देते है तो हमारे देश में इसका अनुसरण करना चाहिये।
सिंहल ने कहा कि सरकार को कार और दो पहिया वाहनो के लिये रोड टैक्स को बढा देना चाहिये जबकि साइकिल के लिये हर शहर में अलग पथ बनाना चाहिये। विज्ञापन के जरिये साइक्लिंग के प्रति जागरूकता फैलाने की जरूरत है जबकि वरिष्ठ पदों पर कार्यरत सरकारी अधिकारियों को कार के बजाय साइकिल से चलने पर जोर देना चाहिये ताकि वह आम लोगों में साइकिल के प्रति रूचि पैदा कर सकें।