Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के अलावा, Corona Warriors की कर रहे मदद सोनू सूद – Mobile Pe News

प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के अलावा, Corona Warriors की कर रहे मदद सोनू सूद

मुंबई । बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद लॉक डाउन में फंसे श्रमिकों के लिये मसीहा बनकर उभरे हैं।कोरोना वायरस के चलते देशभर में हुए लॉकडाउन से जहां कामकाज ठप है, तो वहीं लॉकडाउन से मजदूरों का बुरा हाल हो गया है। अपने घर जाने के लिए कोई पैदल को कोई ट्रक और ट्रेन से घर पहुंच रहा है।बॉलीवुड सितारे भी गरीब और मजदूरों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। सोनू सूद भी दिल खोलकर लोगों की मदद कर रहे हैं।

सोनू सूद ट्विटर के जरिए घर जानें वाले मजदूरों से संपर्क साध रहे हैं और उन्हें घर सकुशल पहुंचाने का वादा कर रहे हैं। बिहार के रहने वाले एक मजदूर ने ट्वीट कर बताया कि वो पास के पुलिस थाने में कई दिनों से चक्कर काट रहे हैं। वो लोग धारावी में रहते हैं और अभी तक उनकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया है। सोनू सूद ने इस मजदूर के ट्वीट पर जवाब देते हुए लिखा, ‘भाई चक्कर लगाना बंद करो और रिलैक्स करो, दो दिनों में बिहार में अपने घर का पानी पियोगे, डिटेल भेजो।

वहीं, एक दूसरे ट्वीट में एक व्यक्ति ने लिखा, “ईस्ट यूपी में कहीं भी भेज दो सर, वहां से पैदल चले जाएंगे।’ सोनू ने इस ट्वीट के जवाब में लिखा, पैदल क्यों जाओगे दोस्त, नंबर भेजो।”गौरतलब है कि सोनू सूद प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के अलावा, कोरोना वॉरियर्स के लिए अपने होटल भी खोल दिए थे ।इस संकट की घड़ी में सोनू सूद जिस तरह से मसीहा बनकर आगे आए हैं वो वाकई में कबीले तारीफ है।