Categories
Results

coaching with gap: अच्छी नौकरी पानी हैं तो गैप लेकर करें कोचिंग, हासिल हो जाएगा लक्ष्य

coaching with gap: 12वीं करने के बाद असमंजस के शिकार हैं कि किस कोर्स में एडमिशन लें ताकि बेहतर कॅरियर बन सके और अच्छी नौकरी पा सकें तो हम बताते हैं कि किन प्रोफेशनल कोर्स में प्रवेश लेकर अपने लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है।

कॉलेज में प्रवेश से पहले करें कोचिंग

कई छात्र बोर्ड परीक्षा के साथ-साथ प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी नहीं कर पाते हैं। ऐसे छात्रों को एक साल का गैप लेकर कोचिंग करनी चाहिए। छात्र को 12वीं के साथ-साथ ही प्रतियोगी परीक्षा देनी चाहिए और विश्लेषण करना चाहिए कि अगर वे एक साल कोचिंग या खुद तैयारी करते हैं तो वे उसमें कितना अच्छा स्कोर कर पाएंगे। अगर उन्हें लगता है कि वे तैयारी करके अच्छी रैंक प्राप्त कर सकते हैं तो उन्हें एक साल का गैप लेना चाहिए।

अगर है दिमाग में ये बात तो गैप लेने के बारे में नहीं सोचें

coaching with gap: 12वीं के साथ-साथ ही प्रतियोगी परीक्षा देने वाले छात्र विश्लेषण करें कि क्या वे एक साल तैयारी करके इससे अच्छा प्रदर्शन कर पाएंगे। अगर उन्हें लगता है कि वे इससे अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाएंगे या परीक्षा से संबंधित सिलेबस को पढ़ने में उन्हें रुचि नहीं आएगी तो उन्हें 12वीं करने के तुरन्त बाद ही किसी कोर्स में प्रवेश ले लेना चाहिए।

coaching with gap:

coaching with gap: छात्रों को किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले अपने परिवार की आर्थिक स्थिति को देखना चाहिए। क्योंकि कोचिंग करने में काफी खर्चा होता है। इसलिए अगर आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है तो एक साल कोचिंग करने के बारे में नहीं सोचें। आर्थिक स्थिति इतनी खराब है कि आप प्राइवेट कॉलेज की फीस नहीं दे सकते हैं तो गैप लेकर खुद पढ़ें और अच्छी रैंक प्राप्त करके सरकारी कॉलेज में प्रवेश लें।

coaching with gap: कई बार ऐसा होता है कि सीट फुल हो जाने के कारण या प्रतियोगी परीक्षा में कम नंबर आने के कारण आपको अपने पसंद के कॉलेज और कोर्स में एडमिशन नहीं मिलता है। इसलिए गैप लें और अगले साल अपने पसंदीदा कोर्स में प्रवेश लें।

Categories
Results

Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड राजस्थान ने जारी किए 12वीं परीक्षा के एडमिट कार्ड यहां से करें डाउनलोड

Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 :
RBSE 12th एडमिट कार्ड 2020: राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने ऑफिशियल वेबसाइट पर 12वीं कक्षा के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिए हैं। सीनियर सेकेंडरी परीक्षा यानी बारहवीं की परीक्षा पांच मार्च से प्रारम्भ होने वाली है। जो छात्र-छात्राएं इस साल परीक्षा में बैठेंगे वे प्रधानाचार्य के माध्यम से प्रवेश पत्र बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट rajeduboard.rajasthan.gov.in पर जाकर देख सकते हैं और डाउनलोड कर सकते हैं। वे नीचे दिए लिंक से भी अपना एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

 

Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 :

Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 : बोर्ड सचिव मेघना चौधरी ने बताया कि इस वर्ष सीनियर सेकेंडरी परीक्षा में लगभग 8,65,895 परीक्षार्थी रजिस्टर्ड किए गए हैं। इनमें 8,53,995 परीक्षार्थी नियमित और 11,959 परीक्षार्थी स्वयंपाठी परीक्षार्थी के रूप में परीक्षा में प्रविष्ट होगें। इस वर्ष सीनियर सेकेंडरी कला वर्ग में 5,92,605, वाणिज्य वर्ग में 36,557 विज्ञान वर्ग में 2,04,681 और कृषि वर्ग में 32,052 परीक्षार्थी रजिस्टर्ड किए गए हैं।

Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 :10वीं कक्षा 12 मार्च से शुरू होगी लेकिन उसके प्रवेश पत्र जारी नहीं हुए हैं। 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 5 मार्च 2020 से शुरू हो रही हैं। 12वीं कक्षा का पहला पेपर अंग्रेजी विषय का है। जो छात्र-छात्राएं परीक्षाएं में बैठेंगे वे कैलकुलेटर, फोन समेत अन्य कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण साथ नहीं ले जा सकते। Rajasthan Board of Secondary Education (RBSE) Admit card 2020 :

 

Categories
Results

Benefits of joining a coaching class: यहां जाकर करेंगे पढ़ाई तो सफलता निश्चित तौर पर कदम चूमेगी

प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए छात्र कोचिंग की मदद लेते हैं लेकिन कई छात्र कन्फ्यूज होते हैं कि क्या कोचिंग क्लास लेना सही है! तो हम बताते हैं कि कोचिंग क्लास ज्वाइन करने के फायदे क्या हैं।

 

मिलता है सही मार्गदर्शन

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए छात्रों को एक अच्छी स्ट्रेटजी और सही तैयारी की बहुत जरुरी होती है। कोचिंग क्लास में अच्छे शिक्षक होते हैं, जिनकी मदद से छात्र परीक्षा की तैयारी के लिए एक सही स्ट्रेटजी बना सकते हैं। उन्हें शिक्षकों द्वारा सही और अच्छा मार्गदर्शन मिलता है। शिक्षक छात्रों के समय का सही उपयोग करके तैयारी की एक अच्छी स्ट्रेटजी बनाने में मदद करते हैं।

मिलते हैं प्रश्न हल करने के नए तरीके

प्रतियोगी परीक्षा में समय कम होता है और प्रश्न अधिक होते हैं। तय समय में सभी प्रश्नों को हल करने के लिए प्रश्नों को शॉर्ट कट लगाकर हल करने की जरुरत होती है। कोचिंग क्लास में प्रश्नों की शॉर्ट ट्रिक्स पता चलती हैं। साथ ही प्रश्नों को हल करने के लिए कई अन्य तरीके पता चलते हैं, जिससे आसानी से और जल्द प्रश्न को हल कर सकते हैं।

प्रतियोगी परीक्षाओं की जानकारी भी

कोचिंग क्लास में पढ़ाई करने से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता चलता है। कई छात्रों को सिर्फ गिनी चुनी ही प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता होता है। कोचिंग में अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के बारे में पता चलता है।

सिलेबस समय पर पूरा

छात्र पढ़ाई करने के लिए एक टाइम टेबल तो बना लेते हैं, लेकिन वे उस टाइम टेबल को फॉलो नहीं कर पाते हैं। अधिकतर छात्र अपनी पढ़ाई को टाल देते हैं और अंत में उनके पास पढ़ने के लिए काफी कुछ इक्ट्ठा हो जाता है और वे समय से सिलेबस पूरा नहीं कर पाते हैं। कोचिंग क्लास में एक शेड्यूल के अनुसार पढ़ाई होती है। छात्र रोजाना कोचिंग क्लास जाते हैं और समय से सिलेबस पूरा कर पाते हैं।

संदेह दूर होते हैं

कोचिंग क्लास में पढ़ाई करने से संदेह को आसानी से दूर कर सकते हैं। कई बार पढ़ाई करते हुए किसी कॉन्सेप्ट पर अटक जाते हैं और उसे लेकर मन में कई डाउट होते हैं।
कोचिंग क्लास में शिक्षकों से पूछकर प्रश्न के डाउट को दूर कर सकते हैं।

Categories
Results

इन ब्रांचों में करेंगे इंजीनियरिंग तो मिलेगा करोड़ों का पैकेज

12वीं करने वाले छात्र इंजीनियरिंग के इन पाठ्यक्रम में प्रवेश लेकर शानदार कॅरियर बना सकते हैं।

 

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग

रोबोटिक्स इंजीनियरिंग, इंजीनियरिंग की ही एक ब्रांच है। इसमें रोबोट्स का निर्माण, डिजाइन, अनुप्रयोग और संचालन से संबंधित जानकारी दी जाती है। इस क्षेत्र में डिग्री प्राप्त करने के बाद अच्छा करियर बना सकते हैं। इसका स्कोप बढ़ता जा रहा है। रोबोटिक्स इंजीनियर को अच्छे पैकेज वाली नौकरी मिलती है।

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग

पेट्रोलियम इंजीनियरिंग में पृथ्वी के सतह के नीचे मौजूद कच्चे तेल और प्राकृतिक गैस बारे में पढ़ाया जाता है। पेट्रोलियम इंजीनियरिंग पिछले कुछ वर्षों से अधिक मांग में है। इसका चयन करके अच्छा और सुनहरा भविष्य बना सकते हैं।

एयरोस्पेस इंजीनियरिंग

एयरोस्पेस इंजीनियर तहत एयरक्राफ्ट, स्पेस क्राफ्ट, उपग्रह और मिसाइलों को डिजाइन करना, डिजाइन का सही आकलन करना, उनके प्रोटोटाइप का परीक्षण करना आदि सिखाया जाता है। इस क्षेत्र में काम करने वाले प्रोफेशनल्स इंजन, एयरफ्रेम, विंग्स, लैंडिंग गियर, इंस्ट्रूमेंट्स और कंट्रोल सिस्टम आदि का निर्माण करते हैं और इसके घटकों को डिजाइन करते हैं। इसमें डिग्री प्राप्त करके एयरलाइंस, एयर फ़ोर्स, सरकारी अनुसंधान, कॉर्पोरेट अनुसंधान, हेलीकॉप्टर कंपनियां और रक्षा मंत्रालय में काम का मौका मिलता है।

केमिकल इंजीनियरिंग

केमिकल इंजीनियरिंग ऐसी ब्रांच है, जिसका चयन कम लोग करते हैं। इसमें रॉ मेटीरियल्स को उपयोगी प्रोडक्ट्स में बदलने के लिए केमिकल प्रोसेसेज को डेवलप करना आदि सिखाया जाता है। इसमें डिप्लोमा कोर्स, ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं। केमिकल इंजीनियरिंग करके हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL), इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड, गेल लिमिटेड और HLL लाइफकेयर लिमिटेड में नौकरी के मौके मिलते हैं।

इलेक्ट्रिकल इंजीनियर

इलेक्ट्रिकल इंजीनियर का काम इलेक्ट्रिकल इक्विपमेंट, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज, मेकाट्रोनिक्स टेक्नोलॉजीज़, ऑटोमेशन और कंट्रोल सिस्टम्स आदि की डिजाइनिंग, डेवलपमेंट और निर्माण कार्य से संबंधित होता है। इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग करके सेमीकंडक्टर, नेटवर्किंग, कम्यूनिकेशन नेविगेशन सिस्टम, कंप्यूटर्स एंड डाटा एनालिसिस में काम करने का अवसर मिलता है।

 

Categories
Results

Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: ये हैं देश के टॉप CBSE स्कूलों की सूची, बच्चों को बना देते हैं जीनियस

Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools:आज के समय में माता-पिता बच्चों को अच्छी से अच्छी शिक्षा दिलाने के लिए लाखों रुपये खर्च करते हैं, लेकिन इसके बाद भी सही और अच्छे स्कूल का चयन नहीं कर पाते हैं। हम यहां देश के टॉप (Central Board of Secondary Education) Top schools(CBSE): सीबीएसई स्कूलों की सूची लेकर आए हैं। अपने बच्चों को यहां एड​मिशन दिलाइए और उन्हें जीनियस बनाने के रास्ते पर भेज ​दीजिए।

 

DAV स्कूल
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: CBSE से संबद्ध टॉप स्कूलों में पहला नाम DAV ग्रुप ऑफ स्कूल्स का है। इनमें भी DAV सीनियर सेकेंडरी स्कूल, मोगप्पैर अव्वल है। 1989 में DAV ग्रुप ऑफ स्कूल्स के तहत स्थापित इस स्कूल को तमिलनाडु आर्य समाज एजुकेशनल सोसायटी चेन्नई मैनेज करती है। स्कूल में अच्छी क्लास, प्रयोगशालाएं हैं।

झारखण्ड का यह स्कूल भी टॉप
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: CBSE से संबद्ध टॉप स्कूलों में रामकृष्ण मिशन विद्यापीठ, देवघर झारखंड लड़कों का आवासीय विद्यालय है। इसकी स्थापना 1922 में हुई थी। स्कूल छात्र के व्यक्तित्व विकास पर जोर देता है। इसी के चलते इसे भारत के टॉप CBSE स्कूलों में स्थान मिला है। स्कूल में बड़ा परिसर और प्रयोगशालाएं हैं। एक प्रशिक्षण और प्लेसमेंट सेल भी है।

DPS का जवाब नहीं
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: दिल्ली पब्लिक स्कूल (DPS) के सभी स्कूल का नाम टॉप स्कूलों की सूची में है, लेकिन नई दिलली के आरके पुरम का दिल्ली पब्लिक स्कूल सबसे टॉप है। 1972 में स्थापित इस स्कूल CBSE में प्रवेश के लिए लिखित परीक्षा और एक साक्षात्कार देना होता है।

इस स्कूल का भी काफी नाम
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: चिन्मय अंतर्राष्ट्रीय आवासीय विद्यालय (CIRS), कोयंबटूर 1996 में स्थापित किया गया था। स्कूल गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने में विश्वास करता है। बच्चे को शारीरिक, आध्यात्मिक और भावनात्मक स्तर पर ढालने का प्रयास करता है।

(KVS) केवीएस और जेएनवी है बेहतरीन
Central Board of Secondary Education (CBSE) Top schools: सरकारी स्कूलों की बात करें तो केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) और जवाहर नवोदय विद्यालय (JNV) की गिनती स्वयं CBSE नायाब हीरे के तौर पर करता है। JNV में प्रवेश के लिए जवाहर नवोदय विद्यालय चयन परीक्षा होती है। इसकी वेबसाइट पर जाकर पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Categories
Results

Download sample paper CBSE board : सीबीएसई बोर्ड परीक्षा तैयारी के लिए यहां से डाउनलोड करें सैंपल पेपर

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाएं 15 फरवरी से चल रही हैं। परीक्षा में अच्छा स्कोर करने के लिए सैंपल पेपर हल कर सकते हैं। इससे प्रश्नों के प्रकार आदि का पता चलेगा। सैंपल पेपर इन वेबसाइट्स से प्राप्त कर सकते हैं।

 

10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के आयोजन से कुछ महीने पहले सैंपल पेपर जारी किए जाते हैं। BYJU’S परीक्षा की तैयारी के लिए ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है। वेबसाइट के साथ-साथ इसका एप भी उपलब्ध है। छात्र यहां से बोर्ड परीक्षाओं के लिए सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं। सैंपल पेपर के साथ-साथ मार्किंग स्कीम भी डाउनलोड कर सकते हैं।

mycbseguide.com
बोर्ड परीक्षा की तैयारी और सैंपल पेपर के लिए mycbseguide.com भी लोकप्रिय वेबसाइट है। यह सभी विषयों के लिए फ्री में स्टडी मैटेरियल और सैंपल पेपर ऑफर करती है। 10वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए फ्री में और पेड दोनों तरह से सैंपल पेपर मिलते हैं। वेबसाइट पर पिछले कई सालों के सैंपल पेपर सॉल्यूशन के साथ उपलब्ध हैं।

Vedantu
Vedantu ऑनलाइन ट्यूटरिंग प्लेटफॉर्म है। छात्रों को स्टडी मैटेरियल के साथ-साथ सैंपल पेपर ऑफर करती है। CBSE 10वीं और 12वीं के लिए सैंपल पेपर पर उपलब्ध हैं, जिन्हें फ्री डाउनलोड किया जा सकता है। यहां पिछले साल के प्रश्न पत्र आदि भी उपलब्ध हैं। साथ ही यहां से NCERT सॉल्यूशन भी प्राप्त कर सकते हैं।

डाउनलोड करें सैंपल पेपर
बोर्ड परीक्षा की और भी अच्छी तैयारी करने के लिए tiwariacademy.com से सभी विषयों के सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं। यहां पिछले कई साल के सैंपल पेपर उपलब्ध हैं। इसके साथ ही मार्किंग स्कीम, पिछ्ले साल के प्रश्न पत्र और सॉल्यूशन भी प्राप्त कर सकते हैं। NCERT Textbooks सॉल्यूशन भी हैं।

बोर्ड सैंपल पेपर
cbse बोर्ड भी अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर cbseacademic.nic.in पर सैंपल पेपर जारी करता है। छात्र आधिकारिक वेबसाइट से फ्री में सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं।

Categories
Results

National Testing Agency (NTA): मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन काम करती है नेशनल टेस्टिंग एजेंसी

सरकारी नौकरियां देने के लिए केन्द्र सरकार की ओर से गठित नेशनल टेस्टिंग एजेंसी कौन कौनसी परीक्षाएं कराती है, इसकी जानकारी बहुत कम बेरोजगारों को होती हैं। हम यहां बता रहे हैं कि एजेंसी किन किन परीक्षाओं का आयोजन करती है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) JEE-मेन्स समेत कई प्रवेश परीक्षाओं का आयोजन कराती है।

 

इसलिए बनाई गई नेशनल टेस्टिंग एजेंसी NTA

NTA को शिक्षण संस्थानों में प्रवेश और फैलोशिप प्रवेश परीक्षा आयोजित करने के लिए परीक्षा संगठन के रूप में बनाया गया है। केन्द्रीय केबिनेट ने नवंबर, 2017 में इसकी मंजूरी दी थी और उसके बाद मानव संसाधन मंत्रालय ने NTA का गठन किया था।

NTA में हैं ये विशेषज्ञ

NTA में शिक्षा प्रशासकों, विशेषज्ञों, शोधकर्ताओं और मूल्यांकन डेवलपर्स की एक टीम होती है, ये टीमभारत के स्कूलों में शिक्षण प्रक्रियाओं को बेहतर बनाने के सुझाव भी देती है। नौ सदस्यीय कोर टीम में टेस्ट आइटम राइटर्स, शोधकर्ता और मनोचिकित्सक और शिक्षा विशेषज्ञ शामिल होते हैं। IIT-मद्रास के पूर्व निदेशक प्रोफेसर एमएस अनंत हैं। अध्यक्ष केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय नियुक्त करता है।

ये परीक्षाएं कराता है

NTA ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (JEE) मेन्स का आयोजन साल में दो बार और UGC-NET और नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट-अंडर ग्रेजुएट (NEET-UG), कॉमन मैनेजमेंट कम एडमिशन टेस्ट (CMAT) और ग्रेजुएट फार्मेसी एप्टीट्यूड टेस्ट (GPAT) का आयोजन भी करता है। NTA का उद्देश्य प्रवेश और भर्ती परीक्षा आयोजन कराना है। प्रश्नों का चयन करने के लिए विशेषज्ञों और आयोजन के लिए संस्थानों की पहचान करना भी NTA का काम है। परीक्षा का सिलेबस, मॉक टेस्ट और सैंपल पेपर आदि जारी करना भी NTA की जिम्मेदारी है। परीक्षाओं की आधिकारिक अधिसूचना और आवेदन पत्र आदि भी NTA जारी करती है।

कब कराता है परीक्षा

NTA साल में दो बार, जनवरी और अप्रैल, देश के टॉप इंजीनियरिंग संस्थानों IIT, NIT आदि में प्रवेश के लिए JEE मेन्स परीक्षा का आयोजन करता है। मेडिकल पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए NEET-UG का आयोजन मई में किया जाता है। फार्मेसी में पोस्ट ग्रेजुएशन (M.Pharm) में प्रवेश के लिए GPAT और MBA/PGDM में प्रवेश के लिए CMAT का आयोजन जनवरी में किया जाता है। UGC-NET का आयोजन साल में दो बार जून और दिसंबर में किया जाता है।

Categories
Results

Bihar Technical Services Commission Recruitment 2020: बिहार में छह हजार से अधिक नौकरियां, आॅनलाइन आवेदन शुरू

Bihar Technical Services Commission Recruitment 2020:बिहार तकनीकी सेवा आयोग (BTSC) स्पेशल मेडिकल ऑफिसर (SMO) और जनरल मेडिकल ऑफिसर (GMO) आदि के छह हजार से भी अधिक पदों पर भर्ती करेगा। उम्मीदवार ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

ये है अंतिम तिथि
BTSC भर्ती 2020 ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 28 फरवरी, 2020 है। BTSC कुल 6,437 पदों पर भर्ती करेगा। इसमें SMO के 2,425 पद और GMO के 4,012 पद शामिल हैं। Bihar Technical Services Commission Recruitment 2020: सामान्य/अन्य पिछड़ा/EWS/राज्य के बाहर के सभी उम्मीदवारों को 200 रुपये और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति को 50 रुपये आवेदन फीस देनी होगी।

ये कर सकते हैं आवेदन

Bihar Technical Services Commission Recruitment 2020: SMO के लिए मान्यता प्राप्त संस्थान से MBBS और संबंधित विषय में पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री/डिप्लोमाधारी आवेदन के पात्र है। 12 महीने की इंटर्नशिप भी जरूरी है। GMO के लिए MBBS आवेदन कर सकते हैं। उम्मीदवार की आयु 37 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।

ऐसे करें आवेदन

Bihar Technical Services Commission Recruitment 2020: आवेदन के लिए आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर नोटिफिकेशन के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करें। एक नई विंडो खुलेगी जिसमें सभी पदों के लिए लिंक मिलेगा। जिस पद के लिए आवेदन करना है। उसके Apply पर क्लिक करें। आवेदन में पासपोर्ट साइज की फोटो और हस्ताक्षर की स्कैन कॉपी अपलोड करनी होगी।

आवेदन और भर्ती की आधिकारिक अधिसूचना के लिए यहां क्लिक करें।
http://www.pariksha.nic.in/(S(01s3zvl1hbtkge1tv5rwnnm5))/Agencies.aspx?KZhCrm9B4QPkl0gO2rAMuw==

आवेदन यहां से करें।
http://www.pariksha.nic.in/(S(gjzv4q5dzxeyz2o1u20sz32b))/Agencies.aspx?KZhCrm9B4QPkl0gO2rAMuw==

Categories
Results

GATE Answer Key 2020: गेट परीक्षा की आंसर की कर दी गई है जारी

GATE 2020 Answer Key: गेट परीक्षा 2020 की आंसर की जारी कर दी गई है। परीक्षा की आंसर की 19 फरवरी को जारी होनी थी लेकिन इसे एक दिन पहले जारी कर दिया गया है। आंसर की पर 19 फरवरी से ही आपत्ति दर्ज की जा सकेगी।
GATE 2020 Official Answer Key: आईआईटी दिल्ली ने गेट परीक्षा की आंसर की जारी कर दी है। आंसर की को आईआईटी गेट की वेबसाइट gate.iitd.ac.in से डाउनलोड किया जा सकता है।

GATE Answer Key 2020: आपत्ति 19 फरवरी सुबह 11 बजे से 21 फरवरी शाम 6 बजे तक दर्ज कराई जा सकती है। आवेदक परीक्षा के किसी भी सवाल पर आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। आवेदकों को प्रति आपत्ति 500 रुपए का भुगतान करना होगा। बिना भुगतान आपत्ति स्वीकार नहीं होगी। जिस आपत्ति को स्वीकार नहीं किया जाएगा। उसके पैसे रिफंड कर दिए जाएंगे।

GATE Answer Key 2020: आंसर की चैलेंज करते समय आवेदक ध्यान रखें कि सवाल का नंबर वही हो जो गेट की वेबसाइट पर दिए गए पेपर में सवाल का नंबर है। ऐसा न हो कि आपत्ति किसी सवाल पर दर्ज करानी हो और नंबर किसी दूसरे सवाल का दें। ऐसी स्थिति में आपत्ति खारिज कर दी जाएगी।

GATE Answer Key 2020: अगर आपत्ति के सपोर्ट में कोई डॉक्यूमेंट अपलोड कर रहे हैं तो डॉक्यूमेंट पर सेक्शन नंबर और सवाल नंबर लिखना होगा। आंसर की पर अंतिम फैसला गेट 2020 कमिटी का होगा। किसी तरह का कोई पत्राचार स्वीकार नहीं होगा। इससे पहले आईआईटी दिल्ली ने गेट परीक्षा की रेस्पॉन्स शीट और पेपर जारी किए थे।

Categories
Results

AICTE MBA Norms:एक संस्थान एक साथ नहीं चला सकेगा एमबीए और पीजीडीएम कोर्स

AICTE MBA Norms: एक ही संस्थान में एमबीए और पीजीडीएम कोर्स चलाने पर एआईसीटीई ने पाबंदी लगा दी है। AICTE PGDM MBA: ऑल इंडिया काउंसिल ऑफ टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) के अनुसार पीजीडीएम कोर्स को वहीं संस्थान चला सकते हैं जो न तो कोई यूनिवर्सिटीज हैं और न ही यूनिवर्सिटीज से मान्यता प्राप्त हैं। अब सरकारी या निजी यूनिवर्सिटिज को एमबीए और पीजीडीएम कोर्स में से कोई एक कोर्स चुनना होगा।


AICTE MBA Norms: कई सालों से डीम्ड यूनिवर्सिटिज मैनेजमेंट प्रोग्राम के तहत PGDM कोर्सेस को चला रही हैं। AICTE रेगुलेशन 2020 के मुताबिक एमबीए और पीजीडीएम कोर्स को एक ही संस्थान में एक साथ नहीं चलाया जा सकता है।

AICTE MBA Norms: AICTE के मुताबिक जो भी केन्द्रीय, राज्य या निजी यूनिवर्सिटीिज और संस्थान PGDM और MBA कोर्स मैनेजमेंट प्रोग्राम के तहत चला रही हैं उन्हें सभी कोर्सेस को MBA में बदलना होगा और AICTE के नियमों केअनुरूप चलना होगा।

AICTE MBA Norms:नियमों के मुताबिक संस्थान यूनिवर्सिटिज से मान्यता प्राप्त है उन्हें अपने MBA कोर्स को PGDM या PGDM को MBA में बदलना होगा। AICTE भारत में टेक्निकल और मैनेजमेंट शिक्षा का रेगुलेटर है और इसी के आधार संस्थानों में कोर्स तैयार किए जाते हैं।