Subscribe for notification
Categories: OffBeat

स्वस्थ रहने के लिए जान लें ये है सोने का सही तरीका

सुनील शर्मा
जयपुर. रात को जब हम सोते है तो हम किस तरह की करवट लें यह हमें पता नहीं होता है। कभी हम दाई ओर करवट लेते है तो कभी बाई ओर तो कभी औंधे मुंह लेट जाते हैं। हमें लगता है कि इस तरफ आराम मिल रहा है तो उस तरफ हम करवट करके लेट जाते हैं।
रात को जब हम सोते हैं तो हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमारे इस करवट से हमारे शरीर के अंगों के साथ-साथ दिमाग में भी फर्क पड़ता है।

नहीं होंगी पेट की बीमारियां

विशेषज्ञों के अनुसार बाईं ओर करवट लेकर सोना आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। इससे आप कई बीमारियों से बच जाएंगे, लेकिन कई बार रात को सोते वक्त खुद को पता नहीं होता है कि हम किस पोजीशन में लेटे है। इसलिए कोशिश करें कि बाई ओर पोजीशन पकड़कर सोए। इससे हमें पेट संबंधी कई समस्याओं से निजात मिलेगी। साथ ही आपका दिमाग सुचारु रूप से काम करेगा।

अगर आपको पेट संबंधी जैसे पेट का फूलना, गैस बनना, एसिडिटी की समस्या आदि है तो इससे आपको फायदा मिल सकता है। डॉक्टरों के अनुसार माना जाता है कि बाएं ओर करवट लेकर सोने से शरीर में जमा होने वाले टॉक्सिन धीरे-धीरे लसिका तंत्र द्वारा निकल जाते हैं, क्योंकि बाई ओर सोने से हमारे लीवर पर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं पड़ता, इसलिए यह टॉक्सिन शरीर से बाह निकलने में सफल हो जाते हैं, जिससे आप कई बीमारियों से बच जाते हैं।

बाएं ओर सोने के कारण ग्रेविटी, भोजन को छोटी आंत से बड़ी आंत तक आराम से पहुंचाने में मदद करती है। जिसके कारण सुबह आपका पेट आसानी से साफ हो जाता है।

हमारे शरीर में सबसे ज्यादा गंदगी हमारे लीवर और किडनियों में पाई जाती है। इसी कारण रात को सोते समय इसमें ज्यादा प्रेशर पडता है, जिसके कारण हमें एसिडिटी की समस्या हो जाती है। बाई ओर करवट कर के सोने से ये दोनों ही अपने काम ठीक प्रकार से करते हैं। इससे ज्यादा बाइल जूस निकलता है, जिससे वसा ठीक प्रकार से पचता है। साथ ही लीवर में फैट जमा नहीं हो पाता।