Subscribe for notification
Categories: OffBeat

आप भूलते जा रहे हैं तो… अपनाएं ये टिप्स

सुनील शर्मा
जयपुर. उम्र बढ़ने के साथ व्यक्ति की याददाश्त कमजोर होती जाती है। उसमें भूलने की प्रवृत्ति बढ़ती जाती है। बढ़ती उम्र के साथ किसी भी बात या वस्तु को याद रखना बहुत मुश्किल लगने लगता है। बढ़ती उम्र के साथ चीजें ध्यान में नहीं रहना और याददाश्त कमजोर हो जाना आम बात है। अब सवाल यह उठता है कि क्या याददाश्त में सुधार किया जा सकता है?

अल्जाइमर या याददाश्त से जुड़ी कोई बीमारी है, जिससे मेमोरी वीक हो रही है तो यह बेशक चिंता की बात है, लेकिन यदि बढ़ती उम्र के कारण याददाश्त कमजोर हो रही है तो कुछ टिप्स अपनाकर इस पर काफी हद तक काबू पाया जा सकता है। ऐसे ही ये कुछ टिप्स हैं, जिनके जरिए याददाश्त को तेज किया का सकता है।

चिकित्सकीय सलाह जरूर लें

अगर बढ़ती उम्र के साथ चीजें याद रखना बहुत मुश्किल हो रहा है तो ऐसे स्थिति में एक बार डॉक्टर से जरूर संपर्क करें। कई बार याददाश्त कमजोर होने के पीछे कोई मेडिकल जटिलता भी हो सकती है। जैसे कि डिप्रेशन, थायरॉइड हार्मोन का असंतुलन, हार्ट प्रॉब्लम, स्ट्रॉक, एचआईवी संक्रमण, मस्तिष्क की सतह के ठीक ऊपर ब्लड क्लॉटिंग, ब्रेन ट्यूमर आदि।

राजस्थान में मुख्यमंत्री को झूठी रिपोर्ट भेजने पर मिलती है पदोन्नति!

इस बार भारत में पड़ेगी हड्डियों को जमा देने वाली ठंड !

काम नहीं आई उत्तरप्रदेश सरकार की कलाबाजियां, इलाहबाद ट्रांसफर होगा मुकदमा !

दिमाग को दौड़ाते रहें

दिमाग को एक्टिव रखना बहुत ही जरूरी है और यही आपकी याददाश्त को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके लिए हर दिन कुछ नया सीखने की कोशिश करें। दिमाग का आप जितना ज्यादा इस्तेमाल करेंगे यह उतना ज्यादा शार्प होगा और आपकी मेमोरी उतनी अच्छी होगी। इसके लिए आप चाहें तो कोई नयी भाषा सीखें , कोई म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाना सीखें या कोई कुकिंग स्टाइल। जिन चीजों में आपको पहले से इंट्रेस्ट है, उन्हीं में खुद को माहिर बनाने की कोशिश भी एक अच्छा विकल्प है। क्योंकि जब आप यह मान लेते हैं कि अब आपका दिमाग कमजोर हो गया है, वहीं से उसे जंग लगना शुरू हो जाती है।

भरपूर नींद बढ़ाएगी याददाश्त

अच्छी याददाश्त के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है। अगर आपको या आपके परिजनों को चीजें याद रखने में दिक्कत हो रही है तो उसका एक कारण पर्याप्त नींद न मिलना भी हो सकता है। यह सच है बुजुर्गों को पूरी रात ठीक से न सो पाने की समस्या होती है पर यह इतनी कॉमन नहीं है कि आप इसे नजरअंदाज करें। अच्छी नींद के लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना जरूरी है। जैसे कि बैडरूम में अंधेरा और शांति रखें। बिस्तर भी आरामदायक हो। कैफीन की मात्रा खत्म करें या कम करें। सोने से कम से कम 1 घंटे पहले टीवी , कंप्यूटर या अन्य गैजेट बंद कर दें। नियमित व्यायाम भी अच्छी नींद में मदद करता है।

एजिंग के बारे में अपनी मानसिकता बदलें

कौन क्या कहता है या कौन क्या सोचता है सबसे पहले इस मानसिकता से बाहर निकलें। आप बढ़ती उम्र को लेकर मन में कोई भ्रम न लाएं। आप कितने साल जिए है इससे अच्छा है कि यह सोचें आपने जीवन कैसे जिया है और अगर आपको ऐसा लगता है कि इस उम्र में भी आप कुछ नया कर सकते हैं तो खुद को मौका दें। इससे आपका कॉन्फिडेंस बढ़ता है। साथ ही याददश्त भी तेज होती है।

स्ट्रेस से बनाए रखे दूरी

स्ट्रेस आपकी मेमोरी को भी बुरी तरह इफेक्ट करता है। जब आप बेवजह तनाव लेते हैं तो चीजों को याद रखने में दिक्कत होती है। इसके लिए खुद को बेवजह उलझा कर न रखें। एक बार में एक ही काम करें और ब्रेक लेते रहें। अपनी भावनाओं को छुपाएं नहीं बल्कि खुल कर उन्हें व्यक्त करें।

वृद्धावस्था में चीजों को याद रखना मुश्किल होता है। जैसे- जैसे उम्र बढ़ती जाती है यह और भी चैलेंजिंग होता जाता है। बतायी गयी बातों को ध्यान में रख कर आप अपनी और अपनों की मदद कर सकते हैं।