Subscribe for notification
Categories: National

क्या कोरोना की भेंट चढ़ेगा बोनस!

नहीं मिला तो बाजार पर पड़ेगा नकारात्मक प्रभाव

जयपुर. कोरोनावायरस संक्रमण के कारण करोड़ों लोग बेरोजगार हो चुके है लेकिन जिनकी नौकरी जारी है वे अगले महीने आ रही दीपावली पर बोनस की राह देख रहे हैं। हो सकता है कि बरसों बाद दीपावली बिना बोनस मनानी पड़े।

बाजार पर भी पड़ेगी मार

सरकारी कर्मचारियों को बोनस नहीं मिलने के कारण बाजार पर भी मार पड़ेगी। निजी क्षेत्र भी कर्मचारियों को बोनस नहीं मिल सकेगा। बेरोजगार हो चुके लोग तो उदास दीपावली मनाएंगे। पहले से ही वेतन कटौती की मार झेल रहे सरकारी और निजी कर्मचारियों को बोनस नहीं मिलने पर बाजार में खरीदारी कम होगी और अर्थव्यवस्था की गति नहीं बढ़ सकेगी।

अलग-अलग मिलता है बोनस

केंद्रीय एवं सरकारी कर्मचारियों को बोनस अलग-अलग मिलता है। गत वर्ष 2019 में रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन का बोनस दिया गया था। रेलवे कर्मचारियों को दशहरे से पहले बोनस मिल गया था। यह बोनस उत्पादकता आधारित दिया गया था। वहीं अन्य केंद्रीय कर्मचारियों को लगभग 60 दिन का बोनस दिया गया था। केंद्र सरकार के लगभग 50 लाख कर्मचारी है। राजस्थान में लगभग 6 लाख कर्मचारी है। राजस्थान मेें गत वर्ष कर्मचारियों को लगभग 6744 रुपए बोनस दिया था।

वेतन कटौती की मार

केंद्रीय कर्मचारी का डीए बंद किया जा चुका है। जुलाई 2021 तक डीए नहीं मिलने के कारण प्रत्येक कर्मचारी को हर महीने 2000 रुपए का नुकसान हो चुका है। वहीं राजस्थान सरकार के कर्मचारियों के भी वेतन में भी एक दिन से 5 दिन के वेतन कटौती हो रही है।

बेरोजगारों की पीड़ा अलग

वहीं बेरोजगारों की तो पीड़ा ही अलग है। रोजगार सृजन नहीं होने से बेरोजगारों को इस बार बेरोजगारी में ही दीपावली मनानी पड़ेगी। इस हालत को देखते हुए बेरोजगार हो चुके लोगों को सरकार की ओर से सीधी आर्थिक मदद की जरूरत है।