Subscribe for notification
Categories: National

मुकेश अंबानी की रिलायंस लुढ़की, एयरटेल भी फिसलन भरी राह पर

मुंबई. अर्श पर उड़ान भर रहा शेयर बाजार फिर से फर्श पर आ गिरा है। चौतरफा बिकवाली के बीच बीएसई 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 1,066.33 अंक यानी 2.61 प्रतिशत का गोता लगाकर 39,728.41 अंक पर आ गया। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 290.70 अंक यानी 2.43 प्रतिशत लुढ़ककर 11,680.35 अंक पर बंद हुआ।

दोनों प्रमुख सूचकांकों में 24 सितंबर के बाद की सबसे बड़ी गिरावट है। इससे पहले लगातार 10 कारोबारी सत्र में सेंसेक्स 2,821.52 अंक और निफ्टी 748.65 अंक चढ़ा था।

लाल निशान में रहे 47 कंपनियों के शेयर

विदेशी शेयर बाजारों में रही गिरावट से घरेलू शेयर बाजारों पर दबाव रहा। सेंसेक्स की 30 में से 29 कंपनियों और निफ्टी की 50 में से 47 कंपनियों के शेयर लाल निशान में रहे। सेंसेक्स में बजाज फाइनेंस का शेयर साढ़े चार प्रतिशत और टेक महिंद्रा का चार प्रतिशत से अधिक, इंडसइंड बैंक और आईसीआईसीआई बैंक के शेयर करीब चार प्रतिशत तथा भारतीय स्टेट बैंक और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर साढ़े तीन प्रतिशत से अधिक लुढ़क गये।

हरे निशान में रही एशियन पेंट्स

भारती एयरटेल, एचसीएल टेक्नोलॉजीज, एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और बजाज फिनसर्व में भी सवा तीन से साढ़े तीन प्रतिशत तक गिरावट रही। सिर्फ एशियन पेंट्स ही हरे निशान में रही।
मझौली और छोटी कंपनियों में भी निवेशकों ने बिकवाली की।

बीएसई का मिडकैप 1.75 प्रतिशत लुढ़ककर 14,468.88 अंक पर और स्मॉलकैप 1.45 प्रतिशत टूटकर 14,643.95 अंक पर आ गया। बैकिंग, वित्त, ऊर्जा, आईटी, टेक, दूरसंचार, रियलिटी और पूँजीगत वस्तु समूहों के सूचकांक दो से साढ़े तीन प्रतिशत तक फिसल गये।