Categories
National

Violence in delhi: यहां से लाए गए थे दिल्ली में हथियार, कई सालों से नुकीले हथियारों की खेप की आपूर्ति

Violence in delhi:  दिल्ली में रविवार से शुरू हुई हिंसा में 38 लोगों की मौत हो चुकी है और 200 से ज्यादा घायल हैं। घायलों का इलाज गुरु तेग बहादुर (GTB) और जग प्रवेश चंद्र अस्पताल में चल रहा है। घायलों को गोली लगने, तेज धार हथियार, लोहे की रॉड, झुलसने और भारी चीजों से मारने के कारण चोटें आई हैं। 14 लोगों की मौत गोली लगने से हुई है।


सांप्रदायिक हिंसा को देखने वाले लोगों के अनुसार भीड़ देसी कट्टे, तलवार, हथौड़े, दरांती, बेसबॉल बैट, डंडे और बड़े-बड़े पत्थर हाथ में लेकर घूम रही थी। हिंसा के दौरान इस्तेमाल किए गए देसी कट्टे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों से दिल्ली लाए गए थे। भीड़ में शामिल नकाब पहने लोगों ने बताया कि वो शामली और मुजफ्फरनगर से आए हैं।

Violence in delhi:  जाफराबाद में तैनात एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि अगर हिंसा के पहले दिन ही उत्तर प्रदेश से लगती दिल्ली की सीमा को सील कर दिया जाता तो हालात इतने खराब नहीं होते। हिंसा के 40 घंटे बाद यह काम किया गया। दिल्ली में बंदूकों की फैक्ट्री नहीं है। यहां जितने भी गैर-कानूनी पिस्तौल इस्तेमाल हुए हैं सब बाहर से तस्करी कर लाए गए हैं।

आसानी से उपलब्ध हैं देसी कट्टे

Violence in delhi:  पिछले साल दिसंबर में दिल्ली पुलिस ने एक मामले का पर्दाफाश किया था, जिसमें पता चला कि मेरठ, शामली और मुजफ्फरनगर जैसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के इलाकों में देसी कट्टे महज 3,000-5,000 रुपये में मिल जाते हैं।
बंदूकों के अलावा दंगाई पत्थरों का भी इस्तेमाल कर रहे थे। हिंसा में शहीद हुए दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतनलाल को भी पत्थर से चोट लगी थी। लेकिन उनकी मौत गोली लगने से हुई थी। DCP अमित शर्मा को भी पत्थर लगने से सिर में गंभीर चोट आई है। फिलहाल वो अस्पताल में भर्ती हैं। भीड़ ने कई घरों पर भी पत्थरबाजी कर नुकसान पहुंचाया।

ट्रक में भरकर लाए गए थे पत्थर

मौजपुर में रहने वाले एक निवासी ने बताया, रविवार रात को यहां ट्रक में भरकर पत्थर लाए गए थे। ये लोग बाहर से आए थे। उनके वीडियो रिकॉर्ड किए हैं। सोच-समझकर हमला किया गया था। न्यू जाफराबाद रोड पर दंगाइयों ने कंक्रीट से बने डिवाइडर को तोड़ दिया और इसके लिए पत्थर और इसमें लगाई गई लोहे की रॉड को हथियारों के रूप मेें इस्तेमाल किया। दंगाइयों ने पेट्रोल बम और तलवारों की भी इस्तेमाल किया था। चांद बाग में भीड़ ने पेट्रोल बमों का भरपूर इस्तेमाल किया। पुलिस का मानना है कि दंगाइयों ने कबाड़ियों के पास से खाली बोतलें उठाई और इनमें पेट्रोल भरा। हिंसा में कम से कम तीन लोगों की झुलसने से मौत हुई है। सोशल मीडिया पर भी कई वीडियो वायरल हुए थे, जिनमें देखा जा सकता था कि दंगाई मोटरसाइकिल पर बैठकर हथियार लहराते हुए सड़कों पर घूम रहे थे।

नुकीले हथियारों का इस्तेमाल आम

दिल्ली पुलिस में तीन दशक से ज्यादा समय तक काम कर चुके पूर्व DCP एलएन राव ने बताया कि जिस इलाके में हिंसा हुई वहां की ज्यादातर युवा आबादी बेरोजगार है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों के युवा अपराधिक गतिविधियों में शामिल रहते हैं और लोगों को लूटने के लिए चाकू और ब्लेड का इस्तेमाल आम है। लोग अपने घरों में पत्थर, कांच की खाली बोतलें और ईंट जमा कर रखते हैं।

पुलिस ने दर्ज की 18 FIR

पुलिस ने अभी तक 18 FIR दर्ज की है और 106 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनसे पूछताछ में यह भी पता लगाया जाएगा कि वो हथियार कहां से लाए थे।

Categories
National

भारत में यूनानी चिकित्सा के पितामह हकीम अजमल खां को भारत रत्न दिया जाए— यूनानी कांग्रेस

नई दिल्ली. जिस हस्ती ने देश के स्वतंत्रता आंदोलन में शिरकत करते हुए भी प्राचीन चिकित्सा पद्धति यूनानी और आयुर्वेद को जिंदा रखने के लिए दिल्ली में यूनानी चिकित्सा संस्थान स्थापित किया और जीवन भर हिंदू—मुस्लिम एकता के लिए समर्पित रहे, ऐसे हकीम अजमल खां को अभी तक भारत रत्न घोषित ​नहीं किए जाने पर उनके वारिस के रूप में काम करने वाली यूनानी तिब्बी कांग्रेस ने क्षोभ जताते हुए केन्द्र सरकार से मांग की है कि हकीम अजमल खां को भारत रत्न से नवाजा जाए ताकि देश उनके किए कामों से अवगत हो सके।

यूनानी तिब्बी कांग्रेस ने यह मांग राजधानी दिल्ली में विश्व यूनानी चिकित्सा विज्ञान दिवस पर आयोजित समारोह में की। कांग्रेस के मानद महासचिव डा. सैयद अहमद खां ने बताया कि ऑल इंडिया यूनानी तिब्बी कांग्रेस की ओर से राजधानी दिल्ली में आयोजित विश्व यूनानी चिकित्सा विज्ञान दिवस समारोह में सर्वसम्मति से यह मांग की कि हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक व यूनानी और आयुर्वेद को भारत में नई दिशा देकर विकसित करने वाले स्वतंत्रता सेनानी हकीम अजमल खां को यथा शीघ्र भारत रत्न से सम्मानित किया जाये। इसके साथ ही उनके द्वारा दिल्ली के करोल बाग में स्थापित आयुर्वेद और यूनानी महाविद्यालय को तरक्की देकर विश्वविद्यालय बनाया जाए। इस अवसर पर देश भर से आये यूनानी पैथी के विद्वानों ने यूनानी पैथी के विकास पर सुझाव दिया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रोफेसर मुश्ताक अहमद ने की और मुख्य अतिथि राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन जस्टिस एन.के जैन थे। अन्य हस्तियों में निदेशक आयुष पंजाब डॉ. राकेश शर्मा, निदेशक आयुष दिल्ली सरकार डॉ. के. मनचन्दा, सलाहकार युनानी भारत सरकार डॉ. ताहिर,उपसलाहकार युनानी भारत सरकार डॉ. एम.ए. कासमी, डॉ. सैयद अहमद खान, वरिष्ठ पत्रकार सीमा किरण, अशरफ बस्तवी, फहीम अहमद, फरजान, कुरैशी सहित अन्य विशिष्ट अतिथि थे।

Categories
National

Holi festival of spiritual union of lover: आ गया प्रेमी और प्रेयसी के आध्यात्मिक मिलन का त्योहार होली

होली,भारतीय संस्कृति का एक ऐसा त्योहार जिसमें कड़वाहट भुला देने के लिए रंगों का इस्तेमाल किया जाता है। इस होली का प्रेमी और प्रेयसी के आध्यात्मिक मिलन की घड़ी भी माना जाता है क्योंकि भारत के आराध्य भगवान कृष्ण और उनकी प्रेयसी राधारानी का इस​ दिन मिलन जो होता है। इसी के तहत राधारानी की नगरी बरसाना में होली पर मनाए जाने वाले रंगोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं।

तीन मार्च को अष्टमी के दिन बरसाना में लड्डू होली, चार को बरसाना में लठामार होली का आयोजन किया जायेगा। पांच को दशमी के दिन नन्दगांव में लठामार होली, रावल में लठामार एवं रंग होली, छह को मथुरा कृष्ण जन्मभूमि एवं वृन्दावन में बाॅके बिहारी मन्दिर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं होली, सात को गोकुल में छड़ीमार होली, नौ को गांव फालैन में जलती हुई होली से पण्डा निकलना कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा।

नौ मार्च को द्वारिकाधीश मन्दिर से होली का डोला नगर भ्रमण को जायेगा, 10 को द्वारिकाधीश मन्दिर में टेसुफूल/अबीर गुलाल की होली, 10 को ही संपूर्ण मथुरा जनपद क्षेत्र में अबीर/गुलाल/रंग की होली, 11 को दाऊजी का हुरंगा, इसी दिन गांव मुखराई में चरकुला नृत्य, सांस्कृतिक कार्यक्रम, गांव जाब में हुरंगा आयोजित किया जायेगा। इस अवसर पर ब्रज के मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया जाएगा। लाडली जी के मन्दिर की फूलों से सजावट, सांस्कृतिक विभाग द्वारा मंचीय कार्यक्रम, शोभा यात्रा, बच्चों की प्रतियोगिता आदि कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

Categories
National

सुप्रीम कोर्ट के आदेश से दलित जातियों को धीरे से लगा जोर का झटका, नहीं मिलेगा पदोन्नति में आरक्षण

सरकारी महकमों में हजारों खाली पदों पर भर्ती नहीं हो पाने की समस्या से जूझ रहे देश के दलित समुदाय को सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले से तगड़ा झटका लगा है। उच्चतम न्यायालय ने एक महत्वपूर्ण निर्णय में कहा है कि पदोन्नति में आरक्षण न तो मौलिक अधिकार है, न ही राज्‍य सरकारें इसे लागू करने के लिए बाध्‍य है।

 

 

पदोन्नति में आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं

न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की पीठ ने अपने एक निर्णय में कहा है कि पदोन्नति में आरक्षण नागरिकों का मौलिक अधिकार नहीं है और इसके लिए राज्य सरकारों को बाध्य नहीं किया जा सकता। Reservation in promotion: न्‍यायालय भी सरकार को इसके लिए बाध्य नहीं कर सकता।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि संविधान के अनुच्‍छेद 16(4) तथा (4ए) में जो प्रावधान हैं, उसके तहत राज्‍य सरकार अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) के अभ्‍यर्थियों को पदोन्‍नति में आरक्षण दे सकती हैं, लेकिन यह फैसला राज्‍य सरकारों का ही होगा। Reservation in promotion: अगर कोई राज्‍य सरकार ऐसा करना चाहती है तो उसे सार्वजनिक सेवाओं में उस वर्ग के प्रतिनिधित्व की कमी के संबंध में डाटा इकट्ठा करना होगा, क्योंकि आरक्षण के खिलाफ मामला उठने पर ऐसे आंकड़े अदालत में रखने होंगे, ताकि इसकी सही मंशा का पता चल सके, लेकिन सरकारों को इसके लिए बाध्‍य नहीं किया जा सकता।

प्रमोशन में आरक्षण नहीं देगी उत्तराखंड सरकार

पीठ का यह आदेश उत्‍तराखंड उच्च न्यायालय के 15 नवंबर 2019 के उस फैसले के खिलाफ अपील पर सुनवाई के दौरान आया है जिसमें उसने राज्‍य सरकार को सेवा कानून, 1994 की धारा 3(7) के तहत एससी-एसटी कर्मचारियों को पदोन्‍नति में आरक्षण देने के लिए कहा गया था, जबकि उत्‍तराखंड सरकार ने आरक्षण नहीं देने का फैसला किया था।
यह मामला उत्‍तराखंड में लोक निर्माण विभाग में सहायक इंजीनियर (सिविल) के पदों पर पदोन्नति में एससी/एसटी के कर्मचारियों को आरक्षण देने के मामले में आया है, जिसमें सरकार ने आरक्षण नहीं देने का फैसला किया था, जबकि उच्च न्यायालय ने सरकार से इन कर्मचारियों को पदोन्नति में आरक्षण देने को कहा था। राज्य सरकार ने इस फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। Reservation in promotion: उच्च न्यायालय ने कहा था कि सहायक अभियंता के पदों पर पदोन्नति के जरिये भविष्य में सभी रिक्त पद केवल एससी और एसटी के सदस्यों से भरे जाने चाहिए। शीर्ष अदालत ने उच्च न्यायालय के दोनों फैसलों को अनुचित करार देते हुए निरस्त कर दिया है।

Categories
National

अब तो लटकना ही होगा फांसी पर क्योंकि सुप्रीम कोर्ट नहीं सुनना चाहता याचिका

नयी दिल्ली. निर्भया सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले के गुनहगार मुकेश की फांसी से बचने की आखिरी कोशिश बुधवार को उस वक्त नाकाम हो गई, जब उच्चतम न्यायालय ने दया याचिका खारिज किए जाने के खिलाफ उसकी विशेष अनुमति याचिका (एसएलपी) निरस्त कर दी।
इधर निर्भया कांड के एक अन्य गुनहगार अक्षय कुमार ने उच्चतम न्यायालय में क्यूरेटिव पिटीशन (सुधारात्मक याचिका) दायर कर फांसी को टलवाने की कोशिश की है।

न्यायमूर्ति आर भानुमति, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की विशेष खंडपीठ ने मुकेश की याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी कि उसकी याचिका में कोई आधार नहीं दिखता। न्यायालय ने निर्भया कांड के गुनहगार मुकेश की दया याचिका राष्ट्रपति द्वारा खारिज किए जाने को चुनौती देने वाली अपील पर मंगलवार को फैसला सुरक्षित रख लिया था। खंडपीठ ने मुकेश की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अंजना प्रकाश और दिल्ली सरकार की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था।
देश को दहला देने वाले निर्भया कांड के एक अन्य गुनहगार अक्षय कुमार ने अब उच्चतम न्यायालय में क्यूरेटिव पिटीशन (सुधारात्मक याचिका) दायर किया है।

यह याचिका मंगलवार की देर शाम दाखिल की गई थी। इस बारे में हालांकि आज न्यायालय परिसर में वकील ए. पी. सिंह ने पत्रकारों को जानकारी दी। सिंह ने ही अक्षय की ओर से याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता ने सजा कम करने की मांग की है। अक्षय के पास हालांकि अभी राष्ट्रपति के पास दया याचिका लगाने का संवैधानिक अधिकार मौजूद है। इस मामले में अभी चौथे दोषी पवन की ओर से क्यूरेटिव याचिका दाखिल नहीं की गई है। इधर निर्भया मामले के दोषियों द्वारा लगातर कानून का सहारा लेकर फांसी टालने के मामले में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज कहा कि वे इस मामले में संसद से अनुरोध करेंगे कि कानून में जरुरी बदलाव कर ऐसे अपराधियों की फांसी की सजा पर तुरंत क्रियान्वयन किया जाये।
चौहान ने ट्वीट कर कहा ‘ मासूम बिटियाओं के साथ बलात्कार जैसे घिनौने अपराध करने वालों का सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं होना चाहिए। मैं संसद से अनुरोध करता हूँ कि क़ानून में ज़रूरी बदलाव कर ऐसा किया जाए कि ऐसे अपराधियों को बिना कोई देरी किए मिली हुई फाँसी की सजा का क्रियान्वयन तुरंत हो।’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा ‘जैसा कि कहा गया है कि न्याय मिलने में हुई देरी, न्याय न मिलने के बराबर है। यही सब क़ानूनी दाँवपेंच के चलते जनता हैदराबाद में हुए एनकाउंटर पर ख़ुशियाँ मनाती है। उसको त्वरित न्याय और उचित सजा मानती है। जनता का ये आक्रोश समाज में अराजकता पैदा कर सकता है।

 

Categories
National

Rajasthan Staff Selection Board, Jaipur (RSMSSB) (राजस्थान स्टॉफ सलेक्शन बोर्ड जयपुर)करेगा हजारों पटवारियों की भर्ती, 4207 पटवारियों की है जरूरत

RSMSSB Patwari Recruitment Online Form 2020: 4207 Patwari Post

अगर आप राजस्थान के निवासी हैं तो खुशियां मनाइए, नाचिए गाइए क्योंकि Rajasthan Staff Selection Board, Jaipur (RSMSSB)राजस्थान स्टॉफ सलेक्शन बोर्ड जयपुर राज्य में 4207 पटवारियों की भर्ती करेगा। लेकिन सिर्फ खुश मत होइए, तत्काल हमारी वेबसाइट खोलिए और दिए गए लिंक पर आवेदन करने में जुट जाइए।

बिल्कुल सही समझा आपने, कई वर्षों से इन रिक्तियों की प्रतीक्षा में बैठे राज्य के बेरोजगारों के लिए अब पटवारी बनने का अवसर मिल ही गया। Rajasthan Staff Selection Board, Jaipur (RSMSSB) राजस्थान स्टॉफ सलेक्शन बोर्ड जयपुर ने इन पदों के लिए योग्यता स्नातक के साथ ही कम्प्यूटर साइंस में डिप्लोमा मांगा है। निराश मत होइए, जिन अभ्यर्थियों ने डिप्लोमा नहीं किया हुआ है, उनके पास किसी समान कोर्स का सर्टिफिकेट होगा तो भी चलेगा।

ये है वह तारीख जिसकी आपको तलाश है

Rajasthan Staff Selection Board, Jaipur (RSMSSB)राजस्थान स्टॉफ सलेक्शन बोर्ड जयपुर ने इस आवेदन की अंतिम तारीख 19 फरवरी 2020 निर्धारित की है। आयोग पटवारी पद के ​आवेदन के लिए जनरल/ओबीसी से 450 रुपए, ओबीसी नॉन क्रीमी लेयर से 350, एससी/एसटी से 250 रुपए फीस/शुल्क लेगा।

रोजगार/शिक्षा सम्बंधी जानकारियों के लिए हमारी साइट पर विजिट करते रहे

 

ये है वह सभी जानकारी जो हमारी साइट आपके लिए लेकर आई है।

Rajasthan Staff Selection Board, Jaipur (RSMSSB)

Patwari Recruitment 2019

जिन तारीखों को ढूंढ रहे हैं वे ये हैं

Notification Issued : 05/12/2019
Application Begin : 20/01/2020
Last Date for Apply Online : 19/02/2020
Last Date Pay Exam Fee : 19/02/2020

ये फीस का विवरण

General / OBC Creamy Layer : 450/-
Other State : 450/-
OBC Non Creamy Layer : 350/-
SC / ST : 250/-
Pay the Exam Fee Through Emitra or Debit Card, Credit Card, Net Banking Only

इस लिंक पर क्लिक करते ही आप आवेदन तक पहुंच जाएंगे

https://rsmssb.rajasthan.gov.in/page;jsessionid=2zfBdKzpRHu_BhIfWsYj1ZL2Qcnec_2wawOhdEDD7Y8nPJ-ERHNw!1866198587?menuName=Home

Categories
National

दसवीं पास के लिए Railway West Central Region WCR Jabalpur (रेलवे वेस्ट सेंट्रल रीजन डब्ल्यूसीआर जबलपुर) ने निकाली हजारों भर्तियां, 15 से 24 साल होनी चाहिए उम्र

रेलवे के जबलपुर जोन ने ट्रेड अप्रेंटिस की हजारों नियुक्तियां निकाली हैं। इसकी खास बात ये है कि सिर्फ दसवीं पास करने के बाद ही आप हजारों रुपए माहवार वाली ये नौकरी प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपकी आयु 15 से 24 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

अलबत्ता आपके पास दसवीं पास के ​सर्टिफिकेट के साथ ही आईटीआई (ITI) सर्टिफिकेट भी होना चाहिए। रेलवे इस नौकरी का आवेदन करने के लिए जनरल और ओबीसी के अभ्यर्थियों से 170 रुपए फीस लेगा। एससी तथा एसटी के नौकरी पाने इच्छुक अभ्यर्थियों से मात्र 70 रुपए आवेदन शुल्क लेगा। रेलवे ने इस नौकरी का आवेदन भरने की इच्छुक महिला अभ्यर्थियों की फीस भी 70 रुपए निर्धारित की है।
कुल 1273 रिक्तियों के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 14 फरवरी 2020 है। तो फिर देर किस बात की उठाइए अपना मोबाइल और आॅनलाइन आवेदन करके इस नौकरी को पाने की तैयारी में जुट जाइए।

हम इस नौकरी से सम्बंधित तमाम जानकारी भी आपके लिए जुटाकर लाएं हैं। इसके अलावा आपको सीधा लिंक भी हमारी साइट पर मिलेगा जिस पर क्लिक करके आप आॅनलाइन आवेदन की साइट पर पहुंच जाएंगे।

तो ध्यान से पढ़िए ये जानकारी:—

RRC WCR Jabalpur Trade Apprentice Recruitment 2020 Online Form
West Central Railway WCR (RRC Jabalpur)

खास तारीख

Application Begin :15/01/2020

Last Date for Apply Online : 14/02/2020

Last Date Pay Exam Fee : 14/02/2020

ऐसे करें फीस का भुगतान

General / OBC : 170/-

SC / ST / PH : 70/-
All Category Female : 70/-

Pay the Examination Fee Through Cast at Mp Online KIOSK or Debit Card, Credit Card, Net Banking

योग्यता

Passed Class 10 Exam with ITI Certificate in Related Trade.

आयु सीमा

Minimum Age : 15 Years
Maximum Age : 24 Years
Age Relaxation Extra as per Rules

ऐसे भरे आवेदन फार्म

West Central RailwayWCR Jabalpur Recruitment for Various Post Candidate Can Apply Between 15/01/2020 to 14/02/2020.
Candidate Read the Notification Before Apply the Recruitment Application Form in WCR Railway Recruitment 2020.
Kindly Check and College the All Document – Eligibility, ID Proof, Address Details, Basic Details.
Kindly Ready Scan Document Related to Recruitment Form – Photo, Sign, ID Proof, Etc.
Before Submit the Application Form Must Check the Preview and All Column Carefully.
If Candidate Required to Paying the Application Fee Must Submit. If You have Not the Required Application Fees Your Form is Not Completed.
Take A Print Out of Final Submitted Form.

इस लिंक पर सीधे क्लिक करें:—
http://mponline.gov.in/Portal/Services/RailwayRecruitment/frmhome.aspx?langid=en-US

Categories
National

NABARD Group A Assistant Manager Recruitment 2020: नाबार्ड ग्रुप ए असिस्टेंट मैनेजर रिक्रूटमेंट 2020 ने निकाली बम्पर रिक्तियां, तत्काल करें आवेदन

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एण्ड रूरल ड​वलपमेंट नाबार्ड ने सहायक मैनेजर के पदों के लिए आॅनलाइन आवेदन मांगे हैं। तीन फरवरी 2020 तक आवेदक इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इसकी परीक्षा मार्च में प्रस्तावित है। परीक्षा का आवेदन शुल्क जनरल, ओबीसी और ईडब्ल्यूएस के लिए 800 रुपए तथा एससी, एसटी के लिए 150 रुपए है।

इस नौकरी के लिए आवेदन करने के इच्छुक अभ्यर्थियों की उम्र 21 से 30 साल होनी चाहिए। कुल 154 रिक्तियों के लिए कम से कम स्नातक होना अनिवार्य है। इन रि​क्तियों में कई पद शामिल हैं जिनकी योग्यता अलग—अलग है और उसकी जानकारी अभ्य​र्थी नाबार्ड की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं।
शेष जानकारी निम्न प्रकार है।
Application Begin : 15/01/2020
Last Date for Apply Online : 03/02/2020
Pay Exam Fee Last Date : 03/02/2020
Exam Date CBT : February / March 2020
Admit Card Available Pre : March 2020

आवेदन शुल्क

General / OBC / EWS : 800/-
SC / ST / PH : 150/-
Pay the Exam Fee Through Debit Card, Credit Card, Net Banking or Pay the Exam Fee Through Offline Payment E Challan Fee Mode

उम्र सीमा

Minimum Age : 21 Years.
Maximum Age : 30 Years.
For P&SS Post Only : 25-40 Years.
Age Relaxation Extra as per Rules.

अन्य जानकारियां इस लिंक https://www.sarkariresult.com/bank/nabard-am-grade-a-jan20.php पर सीधे क्लिक करके ली जा सकती हैं।

Categories
National

Delhi Forest Guard Recruitment Online Form 2020: दिल्ली फारेस्ट गार्ड भर्ती आॅनलाइन फार्म 2020: मात्र सौ रुपए में फरवरी तक कर सकते हैं आवेदन

दिल्ली सरकार ने अपने जंगलों की सुरक्षा के लिए हजारों फारेस्ट गार्ड भर्ती निकाली हैं। इन भर्तियों की खास बात ये है कि इसके आवेदन के लिए महिला, एससी, एसटी को कोई फीस भी नहीं देनी है लेकिन सामान्य और ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को सौ रुपए आवेदन शुल्क देना होगा।
दिल्ली सरकार कुल 226 फारेस्ट गार्ड भर्ती करेगी। इसके अलावा रेंजर भी भर्ती किए जाएंगे।

 

आवेदन सम्बंधी तमाम जानकारी अभ्यर्थी इस लिंक पर https://www.sarkariresult.com/delhi/delhi-forest-guard-jan20.php पर सीधे क्लिक करके भी हासिल कर सकते हैं।

आवेदन सम्बंधी तमाम जानकारी हम भी अभ्यर्थियों के लिए लेकर आए हैं। आवेदन सम्बंधी जानकारी निम्न प्रकार है।

प्रमुख तारीख

Application Begin : 14/01/2020
Last Date for Apply Online : 13/02/2020
Complete Form Last Date : 13/02/2020
Exam Date : 12-13 March 2020
Admit Card Available : March 2020

आवेदन शुल्क

General / OBC / EWS : 100/-
SC / ST : 0/-
All Category Female : 0/- (Exempted)
Pay the Fees Through Online Debit Card / Credit Card / Net Banking Only.

पदों का विवरण

Forest Guard (फारेस्ट गार्ड) — 211
Wildlife Guard (वाइल्ड लाइफ गार्ड) —11
Forest Ranger (फारेस्ट रेंजर)— 04

ऐसे करें आवेदन

Forest and Wildlife Department, Delhi Recruitment 2020 for Forest Guard, Wild Life Guard and Forest Ranger Candidate Can Apply Between 14/01/2020 to 13/02/2020.
Candidate Read the Notification Before Apply the Recruitment Application Form in Delhi Forest Department Latest Jobs 2020.
Kindly Check and College the All Document – Eligibility, ID Proof, Address Details, Basic Details.
Kindly Ready Scan Document Related to Recruitment Form – Photo, Sign, ID Proof, Etc.
Before Submit the Application Form Must Check the Preview and All Columns Carefully.
If Candidate Required to Paying the Application Fee Must Submit. If you have Not the Required Application Fees Your Form is Not Completed.
Take A Print Out of Final Submitted Form.

Categories
National

UPPSC Forest Conservator / RO Online Form 2020:उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग Assistant Forest Conservator / Range Officer (ACF / RO) के हजारों पदों पर करेगा भर्ती, दस दिन तक कर सकते हैं आॅनलाइन आवेदन

बेरोजगारों के लिए मकर संक्रांति पर खुशखबरी। उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग (UPPSC) राज्य के जंगलों की सुरक्षा के लिए कई हजार सहायक वन संरक्षकों की नियुक्ति करेगा। इसके लिए उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग (UPPSC) 30 मार्च से पहले—पहले प्रारम्भिक परीक्षा लेगा। उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग (UPPSC) ने इसके लिए 2269 पदों पर भर्ती के लिए आॅनलाइन आवेदन मांगे हैं।
उत्तरप्रदेश लोकसेवा आयोग (UPPSC) ने Exam Center for Assistant Forest Conservator & Ranger Officer Mains Exam 2020 के लिए लखनऊ को परीक्षा केन्द्र घोषित किया है।

 

(UPPSC) ने इस परीक्षा के आवेदन करने की अंतिम तिथि 23 जनवरी 2020 घोषित की है। बेरोजगारी दूर करने के इस स्वर्णिम मौके को भुनाने के लिए हम पूरी जानकारी लेकर आए हैं।
आॅनलाइन आवेदन करने के लिए बेरोजगार इस लिंक https://www.sarkariresult.com/2020/uppsc-acf-ro-2018-mains.php पर सीधे क्लिक कर आवेदन कर सकते हैं।

परीक्षा सम्बंधी अन्य जानकारियां निम्न प्रकार हैं:—

UPPSC ACF / RO Recruitment 2018 Mains Online Form 2020
Uttar Pradesh Public Service Commission (UPPSC)

परीक्षा सम्बंधी प्रमुख तारीख

Pre Result Declared : 30/03/2019
Revised Pre Exam Result Declared : 05/10/2019
Mains Application Begin : 14/01/2020
Last Date for Apply Online : 23/01/2020
Last Date Receipt Form Hard Copy : 31/01/2020

आवेदन शुल्क

Application Fee

General / OBC : 225/-
SC / ST : 105/-
PH Candidates : 25/-
Pay the Examination Fees Through Debit Card, Net Banking, Credit Card or E Challan Fee Mode Only

पदों का वि​वरण
Vacancy Details Total : 2269 Post

पद का नाम
Assistant Forest Conservator / Range Officer (ACF / RO)

योग्यता
Prelim Exam Qualified Candidates Are Eligible to Fill the ACF / RO Recruitment 2018 Mains Online Form 2020.

परीक्षा केन्द्र
Exam Center for Assistant Forest Conservator & Ranger Officer Mains Exam 2020

Uttar Pradesh : Lucknow District Only.

ऐसे करें आवेदन
Uttar Pradesh Pubic Service Commission UPPSC, Allahabad Are Released Recruitment for Assistant Conservator Forest ACF and Ranger Officer RO Mains Form. Candidate Can Apply Between 13/01/2020 to 23/01/2020.
Candidate Read the Notification Before Apply the Recruitment Application Form in UPPSC ACF/RO Mains Recruitment 2018.
Kindly Check and College the All Document – Eligibility, ID Proof, Address Details, Basic Details.
Kindly Ready Scan Document Related to Recruitment Form – Photo, Sign, ID Proof, Etc.
Before Submit the Application Form Must Check the Preview and All Column Carefully.
If Candidate Required to Paying the Application Fee Must Submit. If You have Not the Required Application Fees Your Form is Not Completed.
Take A Print Out of Final Submitted Form and Submit to UPPSC Office at Allahabad.