Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
Maharishi Mahesh Yogi Birth Centenary Festival 2018

महर्षि महेश योगी जन्म शताब्दी महोत्सव 2018

सम्पूर्ण विश्व में Maharishi Mahesh Yogi जी के जन्म के 100 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में महर्षि जन्म शताब्दी समारोह का  योजन किया जा रहा है।

यह भी देखिये-हॉस्टल में रहने वाले (स्टूडेंट्स आैर कर्मचारी) सब पर भरी पड़ा GST

Maharishi Mahesh Yogi

यह भी देखिये- four wheeler खरीदना हुआ मंहगा, लेने वाले भी सोच रहे है

Maharishi Mahesh Yogi जन्म शताब्दी महोत्सव समारोह 2018 भारत की राजधानी दिल्ली में एन.डी.एम.सी सभागार स्थल, नई दिल्ली में सायं 4.30 से 7.30 बजे तक मनाया जा रहा है। इस समारोह के मुख्य अतिथि माननीय राजनाथ सिंह केन्द्रीय गृहमंत्री भारत सरकार होंगें साथ में भजन संध्या का भी आयोजन किया गया जिसमे पद्म श्री अनुराधा पौडवाल औन उनकी टीम शामिल होगी, इस समारोह का आयोजन स्प्रिच्युवल रिजनरेशन मूवमेंट फाॅंउन्डेशन आॅंफ इंडिया संस्था द्वारा आयोजित किया जा रहा है।

यह भी देखिये-अब आपको बैंकों में मिलेगी फ्री सुविधा, जानिए अब-तक क्या चलता रहा है

Maharishi Mahesh Yogi जी द्वारा प्रतिपादित भावातीत ध्यान पद्धति की विषेषता है कि यह सभी आयु, वर्ग, धर्म, समुदाय, जाति के लोगों के लिए समान रूप से लाभकारी है।

यह भी देखिये- रेलवे बोर्ड दे रही है शानदार ऑफर, आप भी लाभ उठा सकते है।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में Maharishi Mahesh Yogi जी ने पूरे विश्व में लुप्तप्राय आयुर्वेद के ज्ञान को फिर से जाग्रत किया एवं महर्षि आयुर्वेद आरोग्य केन्द्रों की स्थापना विश्व के अनेकों देशों में की ताकि इस आयुर्वेद विद्या के ज्ञान का लाभ जन-जन तक पहुंचे। महर्षि जी ने वेद-विज्ञान के 40 सोपानों को सरलीकृत करके जनसामान्य के लिए उपयोगी बनाया।

यह भी देखिये-मॉडल्स ने किंगफिशर कैलेंडर 2018 के लिए फोटो शूट, जो आजतक नहीं देखा

भगवद् गीता पर महर्षि जी की लिखी टीका विश्व प्रसिद्ध अनूठी कृति रही है, महर्षि जी ने ब्रम्ह-सूत्रों की व्याख्या की और उनकी लिखी पुस्तक ’साइंस आॅफ बीइंग एण्ड आर्ट आॅफ लिविंग‘ की लाखों प्रतियां अब तक बिक चुकी है।

यह भी देखिये-सपना का ठुमका पंहुचा भोजपुरी फिल्मों में, देखिये सपना का नया भोजपुरी डांस