Warning: session_start(): open(/var/cpanel/php/sessions/ea-php56/sess_beb2205671a2997c05624f1335d92930, O_RDWR) failed: No such file or directory (2) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 218

Warning: session_start(): Failed to read session data: files (path: /var/cpanel/php/sessions/ea-php56) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 218
दुनिया में हैं 14500 परमाणु हथियार, इन 2 देशों के पास सबसे ज्यादा, चीन और रूस के शहर हुए खाली - Mobile Pe News
Wednesday , December 11 2019
Home / international / दुनिया में हैं 14500 परमाणु हथियार, इन 2 देशों के पास सबसे ज्यादा, चीन और रूस के शहर हुए खाली

दुनिया में हैं 14500 परमाणु हथियार, इन 2 देशों के पास सबसे ज्यादा, चीन और रूस के शहर हुए खाली

 

 

आज जापान में नागासाकी दिवस पर लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की जाएगी, जो इस त्रासदी का शिकार बने थे। 6 अगस्त 1945 को हिरोशिमा और तीन दिन बाद 9 अगस्त को अमेरिकी विमान ने नागासाकी शहर पर परमाणु बम गिराया था। उस हमले के आज 73 वर्ष पूरे हो गए हैं। दुनिया भी परमाणु हमले की विभीषिका जान चुकी है। संयुक्त राष्ट्र ने माना है कि जिन देशों के पास परमाणु हथियार हैं, उनके बीच तनाव बढ़ रहा है। यह नहीं होना चाहिए।

 

जापान पर परमाणु हमले के बाद दुनिया से परमाणु हथियार खत्म होने चाहिए थे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं। कई देश परमाणु हथियार बढ़ाने में जुट गए। इसी कारण आज विभिन्न देशों के पास करीब 14,500 परमाणु हथियार हैं। उनमें से 13,350 परमाणु हथियार तो अमेरिका और रूस के पास हैं। इनके बाद फ्रांस (300), चीन (270) और यूके (215) हैं।

यही वे देश हैं जो परमाणु निरस्त्रीकरण की आवाज तो उठाते हैं, लेकिन अपने हथियार नष्ट नहीं करते। अगर कोई देश संदिग्ध परीक्षण करता है, तो सबसे पहले अमेरिका आपत्ति उठाता है। संयुक्त राष्ट्र का प्रयास है कि सभी देश मिलकर दुनिया को परमाणु हथियारों से मुक्त करें, ताकि पृथ्वी को सुरक्षित किया जा सके। परन्तु इस पर जिम्मेदार देश कभी ज्यादा बात नहीं करते।

चीन और रूस में खाली हुए कई शहर
रूस की राजधानी मास्को स्थित खोवरिनों अस्पताल जिसका निर्माण कभी पूरा नहीं हो सका। पहले यह कहा जाता था कि चीन में ही ऐसे शहर हैं, जहां बहुत सी इमारतें खाली पड़ी हैं, लेकिन हाल ही में रूस के ऐसे शहरों एवं जगहों की फोटो सीरीज़ तैयार की गई है, जिसमें रूस के वर्षों से खाली पड़े गांव, हजारों घर, इमारतें, बंदरगाह, औद्योगिक इकाइयां दिखाई गई हैं। रूस का इतिहास लंबा रहा है, यहां सोवियत संघ के दौर में बड़े पैमाने पर निर्माण किए गए थे लेकिन उसके विघटन के बाद बड़ी संख्या में पलायन हुआ और लोग बंट गए। उत्पादन ठप होने से औद्योगिक इकाइयां भी ठप पड़ गईं।

दुदिन्का क्षेत्र के ऐसे बंदरगाह में जहां कभी समुद्री परिवहन बड़ी मात्रा में होता था। आज वहां की क्रेनें यथावत हैं। अब कोई जहाज वहां नहीं आता। वहां रेल नेटवर्क भी होता था, परन्तु अब कोई गतिविधि नहीं है।

About Jagdish Jangid

Check Also

इन मुस्लिम सुंदरियों ने कहा, जो उखाड़ना है, उखाड़ ले अमेरिका, हम तो खरीदेंगी ये वस्तु

तुर्की ने रूस की हवाई सुरक्षा प्रणाली एस 400 को सक्रिय करने के संकेत देने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *