Warning: session_start(): open(/var/cpanel/php/sessions/ea-php56/sess_5ff001deb9e774ab7ed0f9d85dd96454, O_RDWR) failed: No such file or directory (2) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 261

Warning: session_start(): Failed to read session data: files (path: /var/cpanel/php/sessions/ea-php56) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 261
Karachi halva (pudding)recipe: बर्फी नहीं हलवा है ये, आप भी घर पर बनाइए यह हलवा, ये है इसकी ​रेसिपी - Mobile Pe News
Sunday , February 23 2020
Home / Off Beat / Karachi halva (pudding)recipe: बर्फी नहीं हलवा है ये, आप भी घर पर बनाइए यह हलवा, ये है इसकी ​रेसिपी

Karachi halva (pudding)recipe: बर्फी नहीं हलवा है ये, आप भी घर पर बनाइए यह हलवा, ये है इसकी ​रेसिपी

ये हलवा है लेकिन दिखता बर्फी की तरह है। बिल्कुल सही समझे, हम आपको उस हलवे को बनाने की रेसिपी बता रहे हैं जिसे पूरे देश में कराची हलवे के नाम से जाना जाता है। यह हलवा बाकी सभी हलवों से बिल्कुल हटकर है। ये हलवा दिखने में चमकीला और सूखे मेवों से भरपूर होता है।

 

ये है इस जग प्रसिद्ध हलवे की रेसिपी

कराची हलवा बनाने की सामग्री

1. एक कप कार्न फ्लोर।

2. दो कप चीनी।

3. दो चम्मच देसी घी।

4. आधा कप काजू और पिस्ता (छोटे-छोटे टुकड़ों में कटे हुए)।

5. एक चौथाई छोटा चम्मच टाटरी पाउडर।

6. एक चम्मच छोटी इलाइची पाउडर।

7. दो चुटकी खाने में डाला जाने वाला रंग।

कराची हलवा बनाने की विधि

एक बाउल में कार्न फ्लोर और पानी डालकर एक घोल तैयार कर लें। फिर पैन में चीनी के साथ तीन-चार कप पानी डालकर गर्म होने दें।
जब चाश्नी बन जाएं तो उसमें कार्न फ्लोर घोल डालकर धीमी आंच पर पकाएं। ध्यान रखें कि घोल को 10-15 मिनट तक लगातार चलाते रहना है, ताकि हलवा गाढ़ा और पारदर्शी हो जाए। अब हलवे में घी और टाटरी डालकर अच्छी तरह से मिलाएं।

अब एक कटोरी में खाने वाले रंग का घोल बनाकर काजू और इलायची पाउडर के साथ इसे हलवे में मिला दें। जब हलवा कड़ाही छोड़ने लगे तो गैस बंद कर दें। एक ट्रे में घी लगाकर उस पर हलवा फैला दें और उसके ऊपर कटे हुए पिस्ता को गार्निश कर दें।
तो लीजिए कराची हलवा बनकर तैयार है। अब इसे आप अपने मनचाहे आकार में काट कर इसका स्वाद ले सकते हैं।

About Desk Team

Check Also

मुर्दा खाने वालों को चाव से खाते हैं भारत के ये आदिवासी, डर के कारण 50 किलोमीटर तक घोंसला नहीं बनाते गिद्ध

आंध्र प्रदेश के बपाटला कसबे के बांदा आदिवासियों के लिए गिद्ध वैसे ही खाने लायक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *