Warning: session_start(): open(/var/cpanel/php/sessions/ea-php56/sess_4016fddf933517fe74fc5404b78c35ae, O_RDWR) failed: No such file or directory (2) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 218

Warning: session_start(): Failed to read session data: files (path: /var/cpanel/php/sessions/ea-php56) in /home/mobilepenews/public_html/wp-content/plugins/accelerated-mobile-pages/includes/redirect.php on line 218
अमेरिका में गिड़गिड़ाए इमरान, सैनिक सहायता मत रोको, अमेरिका की हर शर्त मंजूर होगी - Mobile Pe News
Thursday , December 12 2019
Home / international / अमेरिका में गिड़गिड़ाए इमरान, सैनिक सहायता मत रोको, अमेरिका की हर शर्त मंजूर होगी

अमेरिका में गिड़गिड़ाए इमरान, सैनिक सहायता मत रोको, अमेरिका की हर शर्त मंजूर होगी

अमेरिका में भारी अपमान के बाद भी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिका को भरोसा दिलाया है कि अगर वह सैनिक सहायता पर रोक नहीं लगाएगा तो पाकिस्तान उसकी प्रत्येक शर्त को मानने पर विचार कर सकता है। इधर उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से व्हाइट हाउस में मुलाकात के दौरान द्विपक्षीय संबंधों और अफगानिस्तान के मसले पर बातचीत की।

 

दोनों नेताओं के बीच हुई बैठक के बाद व्हाइट हाउस की ओर से जारी वक्तव्य में कहा गया कि गत वर्ष अगस्त में प्रधानमंत्री का पद संभालने के बाद पहली बार अमेरिका के दौरे पर आये खान ने ट्रंम्प के साथ क्षेत्रीय स्थिरता के खिलाफ आतंकवादी खतरे और अफगानिस्तान में संघर्ष के शांतिपूर्ण तरीके से हल के लिए पाकिस्तान के समर्थन के बारे में भी चर्चा की।

वक्तव्य में कहा गया कि दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई कि अमेरिका की सुरक्षा चिंताओं के समाधान के बाद द्विपक्षीय आर्थिक जुड़ाव पारस्परिक रूप से फायदेमंद होगा। अमेरिका और पाकिस्तान लंबे समय से इस क्षेत्र की सुरक्षा और अफगानिस्तान में जारी दीर्घकालीन युद्ध को खत्म करने के लिए एक-दूसरे के दृष्टिकोण पर अडिग हैं।

 

गौरतलब है कि अमेरिका ने पिछले साल पाकिस्तान को 30 करोड़ अमेरिकी डॉलर की सहायता राशि को रद्द करने की घोषणा की थी। अमेरिकी लोगों का दावा है कि पाकिस्तान ट्रम्प की दक्षिण एशिया रणनीति के साथ सहयोग नहीं कर रहे हैं। ट्रम्प ने कहा कि स्थगित की गयी पाकिस्तान को दी जाने वाली अमेरिकी सहायता वापस हो सकती है लेकिन यह इस बात पर निर्भर करता है कि हम क्या हल निकालते हैं।

 

राष्ट्रपति ने अफगानिस्तान में अमेरिकी सैन्य मौजूदगी के बारे में भी बात की। वर्ष 2001 से अफगाानिस्तान में अमेरिकी सैनिक तैनात है। ट्रम्प ने इसे ‘हास्यास्पद’ बताते हुए कहा,“हमने अफगानिस्तान में सैनिकों को कम करना शुरू कर दिया है। खान ने संवाददाताओं से कहा कि अफगानिस्तान में कोई सैन्य समाधान नहीं है, और उन्होंने आशा व्यक्त की कि तालिबान से आग्रह किया जाएगा कि वह अफगानिस्तान की सरकार से बात करें और आने वाले दिनों में इस मसले का राजनीतिक समाधान निकाला जाये।

About panchesh kumar

Check Also

इन मुस्लिम सुंदरियों ने कहा, जो उखाड़ना है, उखाड़ ले अमेरिका, हम तो खरीदेंगी ये वस्तु

तुर्की ने रूस की हवाई सुरक्षा प्रणाली एस 400 को सक्रिय करने के संकेत देने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *