Tuesday , June 25 2019
Home / Crime / पहले राजनीति में ऊंचे मुकाम का लालच देकर फंसाया फिर एक साल तक लगातार बलात्कार

पहले राजनीति में ऊंचे मुकाम का लालच देकर फंसाया फिर एक साल तक लगातार बलात्कार

राजनीति में ऊंचे मुकाम का लालच देकर पहले युवती को जाल में फंसाया और फिर ब्लैकमेल कर उसका शारीरिक शोषण मतलब बलात्कार करने के फरार आरोपी बसपा सांसद अतुल कुमार सिंह की सम्पत्ति की जब्त की जाएगी। इसके लिए उनके आवास पर कुर्की नोटिस चस्पा कर दिए गए हैं।

बलात्कार के आरोपी अतुल कुमार सिंह उर्फ अतुल राय हाल ही उत्तर प्रदेश में घोसी लोकसभा क्षेत्र से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के सांसद चुने गए हैं। उत्तरप्रदेश पुलिस ने उनके वाराणसी एवं गाजीपुर स्थित आवासों पर पुलिस ने कुर्की के नोटिस चस्पा किये हैं।
पुलिस सूत्रों ने बताया कि एक युवती की शिकायत पर गत माह एक मई को वाराणसी के लंका थाने में अतुल राय पर दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया था और वह तभी से फरार हैं। आरोपी सांसद की पुलिस तलाश कर रही है।

अदालती आदेश पर पुलिस ने पड़ोसी जिले गाजीपुर के भांवरकोल क्षेत्र के बीरमपुर एवं वाराणसी के मंडुवाडीह क्षेत्र के कंचनपुर स्थित नवनिर्वाचित सांसद के आवासों पर कुर्की के नोटिस चस्पा किये हैं। आरोप है कि राजनीति के क्षेत्र में मदद करने का प्रलोभन देकर अतुल राय ने युवती को अपने जाल में फंसाया और फिर कई माह तक ‘ब्लैकमेल’ कर यौन शोषण किया। युवती का आरोप है कि वर्ष 2018 में मार्च से नवंबर के दौरान उनके साथ कई बार दुष्कर्म किया गया। विरोध करने पर ‘बुरा अंजाम भुगतने’ की धमकी दी गईं।

गौरतलब है कि अतुल राय ने जब बसपा से लोकसभा चुनाव में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया था। इसके बाद उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। अंतिम चरण में 19 मई को मतदान से पहले वह सार्वजनिक तौर पर अपना चुनाव प्रचार करते भी नहीं देखे गए, लेकिन 23 मई को जब परिणाम घोषित किया गया तो वह 1,22,568 मतों के भारी अंतर से विजयी घोषित किये गए। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी एवं तत्कालीन सांसद हरि नारायण राजभर को पराजित किया था।

About Ram Kumar

Check Also

इस जेल से चार कैदी फरार पुलिस प्रशासन में मचा हड़कम

नीमच । मध्यप्रदेश के नीमच जिले के ग्राम कनावटी स्थित जिला जेल से चार बंदी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *