Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
गन्ने की खेती को बढ़ावा देने के लिये की स्थापित होगा फार्म मशीनरी बैंक – Mobile Pe News

गन्ने की खेती को बढ़ावा देने के लिये की स्थापित होगा फार्म मशीनरी बैंक

उत्तर प्रदेश सरकार गन्ने की खेती में को बढ़ावा देने के लिए गन्ना समिति स्तर पर फार्म मशीनरी बैंक स्थापित करने का निर्णय लिया है।राज्य के चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग के प्रमुख सचिव संजय भूसरेड्डी ने गुरूवार को यहां बताया कि गन्ना खेती में यंत्रीकरण को बढ़ावा देने तथा किसानों की आय दोगुना किये जाने की दिशा में शीघ्र ही गन्ना समिति स्तर पर फार्म मशीनरी बैंक स्थापित की जायेगी।उन्होंने बताया कि प्रदेश की 169 गन्ना समितियों में पंजीकृत सदस्यों में से लगभग 33 लाख किसान सदस्य गन्ने की खेती करते हैं।

sugarcane

जिनमें से काफी कृषक ऐसे हैं, जिनके पास विशिष्ट कृषि उपकरणों का अभाव है और विशिष्ट कृषि यंत्रों की कीमत अधिक होने एवं छोटे किसानो की क्रय शक्ति कम होने के कारण गन्ने की खेती में उपयोगी इन बड़े कृषि यंत्रों का खरीद पाना उनके लिये सम्भव नहीं हो पाता है। भूसरेड्डी ने कहा कि इस समस्या को ध्यान में रखते हुए गन्ना खेती में यंत्रीकरण को बढ़ावा देकर गन्ने की उत्पादन लागत कम करने एवं गन्ना कृषकों की आमदनी दोगुना करने के लिए गन्ना समिति स्तर पर फार्म मशीनरी बैंक स्थापित किये जायेंगे।उन्होंने बताया कि गन्ना किसानों की मांग के अनुसार “कस्टमर हायरिंग बेसिस” पर गन्ना खेती के लिए विशिष्ट कृषि यंत्र उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है, इसके लिए गन्ना विभाग अपने किसानों के लिये आगे आया है।

यह भी देखिये- पांच बार का चैंपियन ब्राजील नॉकऑउट में

तकनीकी रूप से उन्नत इन कृषि यंत्रों के लिए प्रति घंटा किराया भी देय होगा, ताकि यंत्रों की रिपेयर मेंटीनेन्स भी होती रहे।उन्होंने बताया कि ऐसे उन्नत कृषि यंत्र, जो समय की मांग हैं, को सर्वसुलभ करने के लिए गन्ना समिति स्तर पर फार्म मशीनरी बैंक स्थापित किये जाने की इस अभिनव और महत्वाकांक्षी योजना को मूर्त रूप दिया जा रहा है।इस सम्बन्ध में विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया है कि कृषि विभाग में संचालित सब मिशन आॅन एग्रीकल्चरल मैकेनाइजेशन योजना के तहत गन्ना समितियों में स्थापित किये जा रहे फार्म मशीनरी बैंक के लिए कृषि विभाग से अनुदान प्राप्त करने के लिये प्रयास किये जायें।

यह भी देखिये- नरेन्द्र मोदी ने रखी कबीर अकादमी की आधारशिला

भूसरेड्डी ने बताया कि गन्ना समितियां अपने वार्षिक बजट में प्रतिवर्ष क्षेत्रीय मांग के अनुसार, गन्ना खेती में उपयोगी विशिष्ट यंत्रों के मूल्यानुसार धनराशि का प्रावधान करेंगी।गन्ना समितियां अपने वार्षिक बजट में कृषि यंत्र मद में उपलब्ध धन के अनुरूप ही कृषि यंत्रों की खरीद कर फार्म मशीनरी बैंक को समृद्ध करेंगी।फार्म मशीनरी बैंक सेे गन्ना किसानों विशेषकर लघु एवं सीमान्त कृषकों को गन्ना खेती की लागत कम करने में सुविधा मिलेगी तथा उनकी आमदनी बढेगी।

यह भी देखिये- रोहित शर्मा शतक से चूके, चहल- कुलदीप यादव की फिरकी में फंसा आयरलैंड