Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
कहां से आएगा 72000 वाली ‘न्याय’ स्कीम के लिए इतना पैसा, राहुल गांधी ने कहा- इनसे वसूलेंगे और जनता में बांट देंगे – Mobile Pe News

कहां से आएगा 72000 वाली ‘न्याय’ स्कीम के लिए इतना पैसा, राहुल गांधी ने कहा- इनसे वसूलेंगे और जनता में बांट देंगे

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने चुनाव घोषणा—पत्र में ‘न्याय’ स्कीम का वादा किया है। इसके तहत 72000 हजार रुपए सालाना दिए जाएंगे। यानी कि एक महीने के कम से कम 6000 रुपए। इस लोकलुभावन योजना से पूरा देश चौंक गया। हर कोई ये ही बात करने लगा कि ये कैसे होगा।

एजेंसी के हवाले से वायरल हुई एक खबर के मुताबिक राहुल गांधी ने असम के बोखाखाट इलाके में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि जो पैसा अनिल अंबानी, नीरव मोदी, विजय माल्या, मेहुल चौकसी ने उड़ाया है, उनसे वसूली की जाएगी और वो पैसा जनता को ‘न्याय’ के तहत बांट दिया जाएगा। भले ही यह बात राहुल ने मजाक में कही हो, लेकिन लगता है ये ही सच है। इसके बाद सैम पित्रोदा ने संकेत दिया कि न्याय के लिए पैसे का जुगाड़ करने के लिए आम आदमी को थोड़ा कष्ट सहना होगा। मतलब आम आदमी पर और टैक्स लगाकर पैसा जुटाया जाएगा। बाद में राहुल गांधी ने कहा, नहीं आम आदमी पर टैक्स नहीं लगाएंगे।

ठीक ऐसा ही वादा नरेन्द्र मोदी सरकार ने भी किया था। हालांकि उनका कहने का तरीका अलग था। मोदी ने एक रैली में कहा था कि अगर देश का सारा कालाधन वापस लौट आए तो हर भारतीय के खाते में 15 लाख रुपए आ सकते हैं। और वहां मौजूद जनता से सवाल भी पूछा,’ आने चाहिए कि नहीं’। बस यहीं से इस बात का जिक्र होना शुरू हो गया कि सबके खाते में 15 लाख रुपए आएंगे। बीजेपी ने वादा किया है।

हालांकि खुद बीजेपी ने भी लंबे समय तक यह साफ नहीं किया कि ये वादा था या कोई जुमला। अमित शाह ने जरूर एक टीवी चैनल के इंटरव्यू में कहा था कि 15 लाख देने की बात कहना तो ‘जुमला’ था। इसके बाद तो कांग्रेस ने मोदी के कार्यकाल में हजारों बार जुमला के नाम पर बीजेपी की टांग खींची।

कुल मिलाकर यही निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि पहले बीजेपी ने 15 लाख और अब कांग्रेस के 72000, चुनावी वादे ही लगते हैं।