Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
कांग्रेस ने खोज निकाले पाटी को चुनाव हरवाने वाले गद्दार, अब नपेगी इन वरिष्ठ नेताओं की गर्दन – Mobile Pe News

कांग्रेस ने खोज निकाले पाटी को चुनाव हरवाने वाले गद्दार, अब नपेगी इन वरिष्ठ नेताओं की गर्दन

राजनीतिक संवाददाता
नई दिल्ली. इतिहास की सबसे करारी पराजय के बाद उपजी परिस्थितियों से जूझ रही कांग्रेस ने उन गद्दारों को खोज निकाला है जिन्होंने पार्टी को हराने के लिए अंदरखाने काम किया था। कार्यसमिति की पिछले दिनों हुई बैठक में पार्टी के खिलाफ काम करने वाले इन वरिष्ठ नेताओं को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यह कहकर चौंका दिया था कि वे जानती हैं कि कांग्रेस के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं।

कांग्रेस सूत्रों के अनुसार शनिवार को यहां हुई कार्य समिति की बैठक में प्रियंका ने कठोर शब्दों का इस्तेमाल किया और बैठक में मौजूद पार्टी के कुछ शीर्ष नेताओं पर उनका लिए बरसते हुए कहा,“कांग्रेस के हत्यारे इसी कमरे में बैठे हैं।”
सूत्रों ने बताया कि प्रियंका ही नहीं पूरा गांधी परिवार इन नेताओं की काम करने की शैली से नाराज है। करीब चार घंटे चली बैठक में इसी नाराजगी का इजहार करते हुए सोनिया गांधी ने एक शब्द नहीं बोला। उनकी चुप्पी भी इशारा कर रही थी कि पार्टी को कमजोर करने में उनके ही कुछ नजदीकी लोग शामिल है।

सूत्रों ने बताया कि प्रियंका का गुस्सा तब फूटा जब राहुल गांधी ने बैठक में मौजूद कुछ वरिष्ठ नेताओं के नाम लिए और कहा कि उन्होंने अपने बेटों को टिकट देने के लिए दबाव बनाया था लेकिन चुनाव के समय जो संकट सामने था पार्टी को उससे बाहर निकालने के लिए कोई ठोस प्रयास नहीं किया।

सूत्रों ने यह भी कहा कि गांधी को एक महीने तक उनके इस्तीफे के कदम के बारे में विचार करने की राय भी प्रियंका ने ही दी थी। यहां तक कहा जा रहा है कि पिछले दो दिन से वह गांधी के संपर्क में हैं और उन्होंने कुछ काग्रेस नेताओं की कार्यशैली पर अपनी नाराजगी दर्ज की है। पिछले दो दिन से सोनिया गांधी, राहुल गांधी तथा प्रियंका गांधी समिति की बैठक के बाद पैदा हुई राजनीतिक स्थिति पर लगातार परस्पर विचार विमर्श कर रहे हैं। राहुल गांधी ने आवास पर मिलने आए पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की। इन नेताओं में श्रीमती सोनिया गांधी, प्रियंका गांधी के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट तथा पार्टी महासचिव के सी वेणुगोपाल शामिल थे।