Categories
Business Results

टीवीएस मोटर कंपनी ने अतिरिक्त फीचर्स के साथ किया नयी बाइक का धमाका

भारत की अग्रणी दोपहिया और तिपहिया विनिर्माता टीवीएस मोटर कंपनी ने TVS Victor प्रीमियम संस्करण के लिए दो नए कलर्स और अतिरिक्त फीचर्स के साथ एक नया मैट सीरीज़ पेश किया है। दो नए कलर्स – मैट ब्ल्यू (व्हाइट के साथ) और मैट सिल्वर (रेड के साथ) के साथ वाइजर पर क्रोम डिटेलिंग और डुअल टोन में मटमैले रंग के सीट इसे और आकर्शक बनाते हैं।

यह भी देखिये-हॉस्टल में रहने वाले (स्टूडेंट्स आैर कर्मचारी) सब पर भरी पड़ा GST

TVS Victor
TVS Victor

यह भी देखिये-four wheeler खरीदना हुआ मंहगा, लेने वाले भी सोच रहे है

TVS Victor विक्टर प्रीमियम संस्करण को आकांक्षी वैल्यू बनाने के लिए, क्रोम डिटेलिंग इस विशिष्ट मोटरसाइकिल को भव्यता प्रदान करती है, वहीं नए मैट कलर्स इसे आकर्षक एवं चमकदार लुक प्रदान करते हैं। सितंबर 2017 में पेश टीवीएस विक्टर प्रीमियम संस्करण अपने डायनमिक डिजाइन, अग्रणी टैक्नोलॉजी, आकर्शक ग्राफिक्स का परस्पर मोहक प्रभाव और शानदार परफॉर्मेंस की बदौलत पहले ही एक बेंचमार्क कायम कर चुकी है।

यह भी देखिये-अब आपको बैंकों में मिलेगी फ्री सुविधा, जानिए अब-तक क्या चलता रहा है

प्रीमियम संस्करण में नई मैट सीरीज़ टीवीएस विक्टर के बेहतर इंजन प्रदर्शन को संरक्षित रखने के साथ ही 72 किलोमीटर प्रति लीटर के शानदार माइलेज की आपूर्ति करती है। इसमें उन्नत 3-वाल्व ऑयल कूल्ड इंजन की ताकत है, जो अधिकतम पावर के साथ कम ईंधन खपत की आपूर्ति करती है। इलेक्ट्रिक स्टार्ट 4-स्पीड पावरट्रेन को 9.5 PS of power@ 7500 आरपीएम with a torque of 9.4 Nm @6000 rpm.

यह भी देखिये-रेलवे बोर्ड दे रही है शानदार ऑफर, आप भी लाभ उठा सकते है।

नए कलर्स के अलावा, प्रीमियम संस्करण का मोटरसाइकिल डिस्क ब्रेक और ब्लैक कलर के साथ येलो ग्राफिक्स एवं रेड के साथ गोल्ड ग्राफिक्स वैरिएंट में उपलब्ध हैं। इन नए फीचर्स और कलर्स वाले टीवीएस विक्टर मैट सीरीज़ की कीमत 55,890 रुपये (एक्स-शो रूम दिल्ली) है।

यह भी देखिये- मॉडल्स ने किंगफिशर कैलेंडर 2018 के लिए फोटो शूट, जो आजतक नहीं देखा

Categories
Business Results

भारत में इंटरप्राइज कंपनियों के लिए टीडीबीएस की ओर से नवीनतम चीजें

भारत में प्रमुख इंटरप्राइज सेवाप्रदाता Tata Docomo Business Services (टीडीबीएस) ने भारतीय बाजार में दो अनोखी पेशकश लॉन्च की-संस्थागत स्टॉक ट्रेडिंग फर्मों के लिए अल्ट्रा लो लेटेंसी (एलओएलए) सोल्यूशन; और लघु, मध्यम एवं बड़ी कंपनियों के लिए वायरलाइन वॉयस सेवाओं पर सर्विस लेवल एग्रीमेंट (एसएलए)। टीडीबीएस ये नवोन्मेशी पेशकशें मुहैया कराने वाली एकमात्र टेलीकॉम कंपनी है जिसे अबाध नेटवर्क पहुंच मुहैया कराने के लिए, बेहतर परिचालन दक्षता, बेहतर ग्राहक अनुभव और परिसंपत्तियों एवं कार्यबल के प्रबंधन करने के लिए डिजाइन किया गया। ये दो नई पेशकशें टीडीबीएस द्वारा पिछले वर्षों के दौरान ग्राहक केंद्रित दृश्टिकोण के मुताबिक है और ये भारतीय इंटरप्राइज क्षेत्र में कंपनी की अहम स्थिति को मजबूती देंगे और एकीकृत करेंगे।

Tata Docomo Business Services
Tata Docomo Business Services

यह भी देखिये-अब आपको बैंकों में मिलेगी फ्री सुविधा, जानिए अब-तक क्या चलता रहा है

अल्ट्रा एलओएलए प्रौद्योगिकी के लिहाज से एक बेहतर समाधान है जो संस्थागत स्टॉक कारोबारियों को मजबूत कम समय लेने वाला टेलीकॉम बुनियादी ढांचा मुहैया कराता है और उन्हें तत्काल बाजार के आंकड़ों को प्रोसेस करने में मदद करता है। वित्तीय ट्रेडिंग बाजार में प्रौद्योगिकी कुशलता अगले स्तर की ओर बढ़ रही है जहां ऑटोमेटेड कंप्यूटर प्रोग्राम निष्चित निर्देशों पर आधारित एक ट्रेड करने का निर्णय करता है। भारत में दो स्टॉक एक्सचेंजों के बीच Tata Docomo Business Services पारंपरिक नेटवर्क स्पीड के मुकाबले 25 गुना तेज कनेक्टिविटी मुहैया कराती है।

एसएलए ऑन वायरलाइन वॉयस सर्विसेज सेवाओं में बगैर किसी बाधा के हर वक्त अपने साझेदारों के साथ जुड़े रहना चाहने वाली कंपनियों की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए डिजाइन की गई है। इस नए बदलाव का मुख्य आधार नए जमाने का उपभोक्ता है जो हमेशा ’’कनेक्टेड’’ रहता है और खुद से जुड़े ब्रांडों से तात्कालिक और जरूरत के मुताबिक प्रतिक्रिया चाहता है। ऐसे में कारोबारों के लिए हरवक्त चालू रहने वाला कस्टमर कनेक्टिविटी सोल्यूशन महत्वपूर्ण है। टीडीबीएस ने आज वायरलाइन वॉयस सर्विसेज के लिए अपटाइम गारंटी की शुरुआत की है जो इसे ऐसा करने वाला पहला सेवाप्रदाता बनाता है। किसी भी बाधा आने पर टीडीबीएस ग्राहक को सर्विस क्रेडिट मुहैया कराएगी।

यह भी देखिये- four wheeler खरीदना हुआ मंहगा, लेने वाले भी सोच रहे है

इस लॉन्च के बारे में प्रतीक पशीने, अध्यक्ष-इंटरप्राइज बिजनेस, टाटा डोकोमो बिजनेस सर्विसेज ने कहा, ’’टेलीकॉम सेवाएं आज कारोबारों के लिए उनके ग्राहकों के साथ बेहतर ढंग से जुड़े रहने, अपने परिचालन का प्रबंधन करने और परिसंपत्तियों और कार्यबल का प्रबंधन करने के लिहाज से महत्वपूर्ण होती जा रही हैं। ग्राहकों से जुड़े रहने का बेहतर तरीका, बाजार में उछाल के वक्त प्रतिक्रिया देने का बेहतर समय और कनेक्टिविटी की उपलब्धता विजेताओं को आज विभिन्न उद्योगों में दौड़ रहे अन्य लोगों से अलग करती है। टीडीबीएस में हम लगातार नवोन्मेशी और प्रौद्योगिकी के लिहाज से उन्नत कारोबारी समाधान डिजाइन करने की कोशिश करते हैं जिसके दम पर हमारे इंटरप्राइज ग्राहक अपने डिजिटल बदलाव के सफर में लाभ उठा सकें और बेहतर कारोबारी परिणाम हासिल कर सकें। हमें दो अत्यंत अनोखी पेशकशें-वायरलाइन वॉयस सर्विसेज पर अपटाइम गारंटी और अल्ट्रा एलओएलए सोल्यूशन पेश करते हुए बेहद ख़ुशी हो रही है जिन्हें विषेश रूप से भारत में हमारे इंटरप्राइज ग्राहकों को अप्रत्याशित लाभ पहुंचाने के लिए डिजाइन किया गया है।’’

यह भी देखिये-हॉस्टल में रहने वाले (स्टूडेंट्स आैर कर्मचारी) सब पर भरी पड़ा GST

Categories
Business

सार्वजनिक मंचों पर डॉक्टरों का बढ़ा अपमान, जानिए वजह

हाल ही में, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने, यूट्यूब पर एक वीडियो में doctors को ‘सफेद कोट वाले हत्यारे’ कहने पर दिल्ली के एक प्रेरक वक्ता को मानहानि का नोटिस भेजा है। ‘भारतीय चिकित्सा पद्धति की असलियत’ शीर्षक वाले इस वीडियो में विवेक बिंद्रा ने अच्छे और बुरे चिकित्सा व्यापार को दर्शाने का प्रयास किया है। आईएमए ने doctors की छवि बिगाड़ने के लिए रु. 50 करोड़ का दावा ठोका है।

doctors
doctors

यह भी देखिये-हॉस्टल में रहने वाले (स्टूडेंट्स आैर कर्मचारी) सब पर भरी पड़ा GST

करीब 9.40 मिनट के वीडियो में, बिंद्रा कहते हैं कि कुछ doctors नैतिकता से धन कमाना नहीं जानते और वे हर किसी से धन वसूलने का प्रयास करते हैं, फिर चाहे वो एम्बुलेंस हो, कैमिस्ट हों, फार्मास्युटिकल फर्म हो या फिर पैथोलॉजिस्ट। उन्होंने ऐसे भी उदाहरण गिनाये हैं कि पिछले कुछ सालों में सीजेरियन ऑपरेशनों में यकायक बढ़ोतरी कैसे हो गयी है। इस बारे में बताते हुए, हार्ट केअर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष एवं इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ;आईएमएद्ध के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष, पद्मश्री डॉ. के के अग्रवाल ने कहा, ‘बिंद्रा ने जो कुछ किया है, वह कुछ ऐसा है जिसे मैं हिंसक संचार कहना चाहूंगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इस प्रकार का कम्युनिकेशन एक जजमेंट या निर्णय पर आधारित है। तथ्यों को सत्यापित करने और दूसरे पक्ष को समझाने की आवश्यकता है, यानी डॉक्टरों के नजरिए से चीजों को देखना। हालांकि, यह सच है कि doctors दबाव में काम करते हैं। यह भी सच है कि भारत में रोगियों के अनुपात में चिकित्सक बहुत कम हैं।

यह भी देखिये- four wheeler खरीदना हुआ मंहगा, लेने वाले भी सोच रहे है

प्रत्येक डॉक्टर को एक ही समय में कई मरीजों को देखना पड़ता है। डॉक्टर कोई देवदूत नहीं हैं और उन्हें हत्यारा बोलना एक तरह से अपशब्द कहने जैसा है। इस वीडियो को हटा लिया जाना चाहिए। बिंद्रा को इस महान व्यवसाय को एक असंवेदनशील तरीके से पेश करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।’ बिंद्रा ने नारायणा हैल्थ के डॉ. देवी प्रसाद शेट्ठी, अरविंद आईकेयर के डॉ. जी वेंकटस्वामी तथा परेल के टाटा मेमोरियल अस्पताल आदि के उदाहरण दिए हैं। उनका कहना है कि इन डॉक्टरों और संगठनों ने स्वास्थ्य सेवा को नये ढंग से पेश करके पैसा बनाया है।

यह भी देखिये- अब आपको बैंकों में मिलेगी फ्री सुविधा, जानिए अब-तक क्या चलता रहा है

डॉ. अग्रवाल ने आगे बताया, ‘डॉक्टर-रोगी संबंध पहले से ही तनावपूर्ण चल रहे हैं। चिकित्सकों पर रोगियों की साइड से हिंसा हो रही है। इस पेशे की अखंडता और बड़प्पन दांव पर है। किसी भी शिकायत के निवारण के लिए कई अन्य निकाय हैं। हालांकि, एक सार्वजनिक मीडिया पर इस तरह से बोलने से डॉक्टरी पेशे को एक और झटका लगा है।’ इस वर्ष एचसीएफआई द्वारा आयोजित किये जाने वाले 25वें परफैक्ट हैल्थ मेला में यह मुद्दा भी चर्चा का विषय होगा। इस साल इस समारोह का रजत जयंती समारोह मनाया जायेगा।

निम्नलिखित युक्तियां डॉक्टरों के लिए सहायक हो सकती हैं-
 स्मार्ट वर्क शैड्यूलिंग का अभ्यास करें।

 कोई शोक रखें, जो आपको नियमित वर्कलोड के तनाव से बचा सकता है।
 योग और ध्यान जैसी तकनीकों से तनावमुक्त रहना सीखें।
 परिवार और दोस्तों के लिए समय निकले।
 काम को दूसरों को भी सौंपें और प्रभावी ढंग से अपने समय का उपयोग करें।

यह भी देखिये-रेलवे बोर्ड दे रही है शानदार ऑफर, आप भी लाभ उठा सकते है।

Categories
Business Results

ओपन आर्किटेक्चर स्कीम के तहत पीएसयू की ओर से पहली लाइफ इंश्योरेंस पार्टनरशिप

महाराष्ट्र राज्य में एक प्रमुख BANK, BANK ऑफ महाराष्ट्र (बीओएम) और अवीवा लाइफ इंश्योरेंस ने घोषणा की कि वह लाइफ इंश्योरेंस प्रॉडक्ट्स के वितरण के लिए कॉरपोरेट एजेंसी की व्यवस्था में शामिल हुए हैं। इस साझेदारी के साथ BANK अपनी 1863 शाखाओं के माध्यम से BANK अपनी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी का वितरण करने में सक्षम हो पाएगा। ओपन आर्किटेक्चर सिस्टम के तहत BANK समान श्रेणी में कई बीमा कंपनियों के बीमा उत्पादों को बिक्री कर सकता है। इससे बैंक यह सुनिश्चित करता है कि उपभोक्ताओं को कई विकल्प दिए जाएं, जिससे वह ऐसा प्रॉडक्ट खरीदने में सक्षम हों सकें, जो उनकी जरूरतों को पूरा करता हो और उनकी आवश्यकताओं के मुताबिक हो।

BANK
BANK

यह भी देखिये-ऐशवर्या बच्चन नजर आ रही है बड़े पर्दे पर, जानिए फिल्म

बैंक ऑफ महाराष्ट्र के सीईओ और एमडी आर. पी. मराठे ने कहा, “1935 में स्थापना के बाद से ही बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने एक शक्तिशाली नेटवर्क बनाया है। बैंक ने उपभोक्ताओं के धन सृजन को समर्थन देते हुए समग्र वित्तीय समाधान मुहैया कराने के लगातार प्रयास किए हैं। औद्योगिक रिपोर्ट के अनुसार 6.2 प्रतिशत के वैश्विक औसत के मुकाबले भारत में बीमा क्षेत्र में निवेश महज 3.42 फीसदी ही है। अवीवा से अपने गठबंधन के तौर पर हम उपभोक्ताओं को आकर्षक प्रॉडक्ट्स ऑफर कर काफी प्रसन्न है। हम देश के टियर-2 और टियर-3 के शहरों में एक ऐसी आबादी के बड़े वर्ग तक पहुंचना चाहते हैं, जो इंश्योरेंस करा सकती है, लेकिन अभी तक उन तक पहुंचा नहीं जा सका है।“

यह भी देखिये- अंडर-गारमेंट्स रखने के लिए खर्च किये 60000 पाउंड, जानिए किसने

बैंक से अपनी साझेदारी के बारे में अवीवा लाइफ इंश्योरेंस के एमडी और सीईओ ट्रेवर बुल ने कहा, ‘हम बैंक ऑफ महाराष्ट्र से साझेदारी का निमंत्रण पाकर काफी प्रसन्न है, और सम्मानित महसूस कर रहे हैं, जिससे हम अपने उपभोक्ताओं के सामने फाइनेंस सिक्युरिटी के बॆहतर और विस्तृत विकल्प पेश कर सकेंगे। अपनी व्यापक पहुंच के कारण बैंक ऑफ महाराष्ट्र भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में प्रमुख और सबसे सम्मानित बैंकों में से एक है। इस साझेदारी के माध्यम से हम उपभोक्ताओं की बेहतर ढंग से सेवा में सक्षम होंगे और भारत में जीवन बीमा पॉलिसी लेने में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने में मददगार साबित होंगे।

अवीवा इंडिया के बारे में

 अवीवा इंडिया डाबर इनवेस्ट कॉर्प (डीआईसी) और इंग्लैंड स्थित इंश्योरेंस ग्रुप अवीवा इंटरनेशनल होल्डिंग्स लिमिटेड (एआईएच) का संयुक्त उपक्रम है, जिसका 1834 से भारत से जुड़ाव है। डीआईसी के पास इसके 51 फीसदी शेयर हैं, जबकि एआईएच के पास 49 फीसदी शेयर हैं।

 भारत में अवीवा की लगभग 107 शाखाएं और 15 हजार से ज्यादा एफपीए है।

 अवीवा इंडिया का सीएसआर कार्यक्रम “स्ट्रीट टु स्कूल” साधनविहीन और मूलभूत सुविधाओं से वंचित बच्चों का शिक्षा से सशक्तिकरण करने पर ध्यान केंद्रित करता है।

यह भी देखिये- भारतीय सिनेमा का दबदबा विदेशों में, जानिए बूम-बूम इन

Categories
Business Results

डीडी न्यूज के वरिष्ठ पत्रकार ओपी यादव बने “पार्लियामेंट प्रेस ऑफ साउथ एशिया” के चेयरमैन

भारत के सार्वजनिक क्षेत्र के लोक प्रसारक चैनल डीडी न्यूज, नई दिल्ली में संपादक के पद पर कार्यरत ओपी यादव को “ Parliament Press ऑफ साउथ एशिया” का चेयरमैन बनाया गया है। ओपी यादव की नियुक्त आगामी तीन साल के लिए हुई है।

Parliament Press
Parliament Press

 

“ Parliament Press ऑफ साऊथ एशिया” यानि (पीपीएसए) दक्षिण एशियाई देशों की राष्ट्रीय संसद कवर करने वाले संपादकों, सरकारी टीवी चैनल में काम करने वाले पत्रकारों और संसद में काम करने वाले मीडिया अधिकारियों का अग्रणी संगठन है जो सार्क नेशन्स में लोकतांत्रिक मूल्यों के साथ-साथ संसदीय पत्रकारिता को बढ़ावा देने का काम करता है।

यह भी देखिये- ऐशवर्या बच्चन नजर आ रही है बड़े पर्दे पर, जानिए फिल्म

– गौरतलब है कि बीते दिनों नेपाल की राष्ट्रीय संसद के स्पीकर कॉन्फ्रेंस हॉल में हुई दक्षिण एशियाई देशों के संसदीय संपादकों की बैठक में ओपी यादव के नाम पर पीपीएसए के चेयरमैन के तौर पर आम सहमति बनी थी जिसके तहत यादव को इस पद के लिए चुना गया है। ओपी यादव को बीबीसी नेपाल के वरिष्ठ पत्रकार एवं निवर्तमान चेयरमैन बृज कुमार के स्थान पर चुना गया है। इससे पूर्व बृज कुमार “ Parliament Press ऑफ साउथ एशिया” के तीन साल से चेयरमैन थे।

– नए पद की जिम्मेदारी मिलने के बाद ओपी यादव ने नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी, नेपाल के उप राष्ट्रपति नंद किशोर पुन, एवं नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड से और नेपाल की लोससभा अध्यक्ष ओनसारी घार्ती मगर सहित अन्य राजनीतिज्ञों से मुलाकात की।

ओपी यादव की नियुक्ति पर नेपाल की लोकसभा अध्यक्ष ओनसारी घार्ती मगर, बांग्लादेश की जटियो संसद की लोकसभा अध्यक्ष सिरिन सर्मिन चौधरी, लोकसभा के उपाध्यक्ष, जनाब फजले रब्बी, मालदीव के लोकसभा अध्यक्ष, जनाब अब्दलुला मसीच मोहम्द,भूटान के लोकसभा अध्यक्ष, लोन्पो जिग्मे जेंग्पो, भारत के लोकसभा उपाध्यक्ष एम थम्बी दुरई सहित सार्क सचिवालय काठमांडू के भारत एवं अन्य देशों को प्रतिनिधियों एवं सार्क के पूर्व महासचिव अर्जुन बहादुर थापा ने बधाई देते हुए कहा है कि यादव के नेतृत्व में दक्षिण एशियाई देशों में संसदीय व लोकतांत्रिक रिश्तों को प्रगाढ़ बनाने में मदद मिलेगी। नए पद की जिम्मेदारी मिलने पर प्रतिक्रिया देते हए ओपी यादव ने कहा कि दक्षिण एशियाई देशों की संसद कवर करने वाले पत्रकारों में आपसी संबध ओर प्रगाढ़ हो इसके लिए वो काम करते रहेंगे।

यह भी देखिये-अंडर-गारमेंट्स रखने के लिए खर्च किये 60000 पाउंड, जानिए किसने

ओपी यादव ने अपनी नई टीम की घोषणा की है जिसमें बीबीसी नेपाल के वरिष्ठ पत्रकार बृजकुमार को महासचिव एवं नेपाल संसद की लोकसभा अध्यक्ष के मीडिया सलाहकार बिपिन शर्मा, और “नेपाल टीवी” के संपादक अरुण कार्की, को नेपाल से डेलीगेट चुना गया है। टीम के अन्य सदस्यों में बांग्लादेश से डेलीगेट के रूप में बांग्लादेश संसद की निदेशक लबाना अहमद, बांग्लादेश प्रेस काउंसिल के सदस्य अहसन बुलबुल, बांग्लादेश नेशनल प्रेस क्लब के सदस्य खैरूल आलम एवं शोएब खांडेकर व बांग्लादेश टीवी के वरिष्ठ पत्रकार समशूल आलम को शामिल किया गया है। भारत से डेलीगेट के रूप में लोकसभा में निदेशक पीआर एमके शर्मा, डीडी न्यूज की वरिष्ठ एंकर सहला निगार और दिल्ली विश्वविद्यालय की पत्रकारिता विभाग में सह प्राध्यापक ऋतु शिखा सहित अन्य पत्रकारों को चुना गया है। मालदीव से डेलीगेट के रूप में मालदीव प्रेस काउंसिल के सदस्य मोहम्मद हमदूम, और वरिष्ठ पत्रकार अहमद मुजताब को चुना गया है। श्रीलंका से डेलीगेट के रूप में श्रीलंका प्रेस काउसिंल के सदस्य वेल्लाला बंदुला को शामिल किया गया है वहीं अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भूटान से भी डेलीगेट्स चुने गए है।

सार्क देशों के अलावा दक्षिण एशिया के अन्य पडौसी राष्ट्रों के प्रतिनिधि भी टीम का हिस्सा बने है जिनमें केन्या प्रेस काउंसिल के सीईओ डेविड ओमवोयो, मीडिया काउंसिल ऑफ तंजानिया के कार्यकारी सचिव कजुबी डी मुकजानंगा एवं मानव संसाधन प्रबंधक, जियाबा ए. किलोबे, म्यामार प्रेस काउसिल के वाइस चेयरमैन यू उनंग हला एवं काउसंलर हन न्यूनत, तथा जिम्बाबे मीडिया वालेन्टरी काउंसिल के कार्यकारी निदेशक लोगुथे दुअबे और अजर बेजान प्रेस काउसिंल के चेयरमैन अफलातून अमसोव को भी टीम में विशेष आमंत्रित सदस्य में रूप में जगह दी गयी है।

यह भी देखिये-पद्मावती फिल्म 25 जनवरी को रिलीज, राजस्थान में विरोध जारी