बाड़मेर रिफाइनरी जॉब: पचपदरा में 40000 युवाओं की भर्ती, करें ये सरकारी कोर्स

नई दिल्ली। राजस्थान के श्रम एवं नियोजन मंत्री डॉ जसवन्त सिंह यादव ने पश्चिम राजस्थान के बाड़मेर ज़िले के पचपदरा में स्थापित होने वाली महत्वाकांशी रिफाइनरी व पेट्रो-केमिकल कॉम्पलेक्स के निकट राजस्थान आईएलडी स्किल्स यूनिवर्सिटी का एनर्जी स्किल डेवलपमेंट कैंपस विकसित करने के लिए केन्द्र सरकार से शीघ्र ही वांछित सहयोग दिलवाने का आग्रह किया है।

Skill development

डॉ यादव नई दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री धर्मेंद्र प्रधान की अध्यक्षता में कौशल विकास और उद्यमशीलता विषय पर आयोजित राज्यो के मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन में बोल रहे थे।

उन्होंने बताया कि यह स्किल्स यूनिवर्सिटी एनर्जी स्किल डेवलपमेंट कैंपस भारत सरकार एवं तेल कंपनी के सहयोग से विकसित किया जाएगा तथा यहाँ युवाओ को ऊर्जा, पर्यटन, धरोहर संरक्षण जेसे विषयो में कौशल विकास दक्ष किया जाएगा।

डॉ यादव ने बताया कि पचपदरा में स्थापित होने वाली रिफाइनरी व पेट्रो – केमिकल कॉम्प्लेक्स से अगले वर्षो में 40 हज़ार से अधिक रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। जिसका लाभ स्थानीय युवाओ को मिले इस दृष्टि से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस वर्ष के बजट में बालोतरा आईटीआई में ‘सेन्टर ऑफ़ एक्सीलेंट’ की स्थापना करने की घोषणा की है। इस पर 12 करोड़ रु खर्च किये जायेंगे।

डॉ यादव ने बताया कि राजस्थान में युवाओं के कौशल विकास एवं आजीविका संवर्धन हेतु कौशल नियोजन एवं उद्यमिता विभाग का गठन किया गया है। पिछले 4 वर्षों में निगम द्वारा 2 लाख 37 हजार से अधिक युवाओं व आईटीआई द्वारा 4 लाख 30 हजार से अधिक युवाओं का प्रशिक्षण करवाया गया है। साथ ही वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 930 नये आईटीआई की स्थापना एवं इनमें प्रशिक्षण क्षमता का 1 लाख 91 हजार से बढाकर 3 लाख 90 हजार किया गया है एवं 38 नये ट्रेड भी आरम्भ किये हैं। इसके अलावा रोजगार विभाग द्वारा 1110 रोजगार मेले का आयोजन कर 2.5 लाख से अधिक युवाओं का प्राथमिक चयन हुआ है।

उन्होंने बताया कि कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा प्रदेश को 2014,2015 एवं 2016 में लगातार तीन बार गोल्ड ट्राफी,स्मार्ट गवर्नेंस के अंतर्गत कौशल विकास के क्षेत्र में अवार्ड एवं मार्च 2018 में कौशल प्रशिक्षण के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ट योगदान के लिये प्लैटिनम अवार्ड भी दिए गए है।

डॉ यादव ने बताया कि राजस्थान को देश के पहले राजकीय कौशल विश्वविधालय करने का श्रेय जाता है। साथ ही आई ई डी स्किल विश्वविद्यालय,भारतीय स्किल डेवलपमेंट सेंटर के साथ निजी कौशल विश्वविधालय की स्थापना एवं सिंगापुर के सहयोग से उदयपुर में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फ़ॉर टूरिज्म ट्रेनिंग केंद्र की स्थापना का भी श्रेय भी है। साथ ही राज्य में विभिन्न उत्कृष्टता केंद्र भी स्थापित किये गए है।