Saturday , August 17 2019
Home / National / उजाला योजना में करीब दो करोड़ एलईडी बल्ब वितरित कर घरों को चमकाया

उजाला योजना में करीब दो करोड़ एलईडी बल्ब वितरित कर घरों को चमकाया

प्रदेश में बिजली की बचत और ऊर्जा दक्षता को प्रोत्साहित करने एवं के लिये लागू उजाला योजना में अब तक 9 वॉट के 1 करोड़ 69 लाख एल.ई.डी बल्बों का वितरण किया गया है।

ujala scheme
ujala scheme

 

यह जानकारी नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री नारायण सिंह कुशवाहा ने देते हुए बताया है कि औसत मासिक वितरण के आधार पर देश में दूसरे स्थान पर मध्यप्रदेश है। उन्होंने बताया कि एल.ई.डी. बल्ब के अतिरिक्त 20 वॉट की लगभग 4 लाख 13 हजार 995 एल.ई.डी. ट्यूबलाईट, 50 वॉट के 5 स्टार रेटेड 98 हजार 364 पंखों का वितरण किया गया है।

इससे प्रदेश के लगभग 35 लाख हितग्राही लाभांन्वित हुए हैं। नवीकणीय ऊर्जा मंत्री ने बताया कि एल.ई.डी. बल्ब के उपयोग से बिजली खपत में लगभग 21 लाख 94 हजार 935 मिलियन वॉट की कमी आई है। उपभोक्तओं के बिल में भी सालाना लगभग 2200 करोड़ की कमी आई है। एल.ई.डी बल्ब के उपयोग से प्रतिवर्ष लगभग 17.77 लाख टन कार्बन उत्सर्जन में कमी आई है।

मध्यप्रदेश में 30 अप्रैल 2016 से शुरू हुई उजाला योजना में 9 वॉट क्षमता के उच्च गुणवत्ता एवं ऊर्जा दक्ष एल.ई.डी. बल्बों का वितरण किया जा रहा है। वर्तमान में 70 रूपये प्रति बल्ब की दर से निर्धारित केन्द्रों, म.प्र. ऊर्जा विकास निगम के जिला कार्यालयों अक्षय ऊर्जा शॉपस, विद्युत वितरण केन्द्रों, डाकघरों, सहकारी संस्थाओं के माध्यम से एल.ई.डी. बल्बों का विक्रय किया जा रहा है।

(इस खबर को मोबाइल पे न्यूज संपादकीय टीम ने संपादित नहीं किया है। यह एजेंसी फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

मोबाइल पे न्यूज पर प्रकाशित किसी भी खबर पर आपत्ति हो या सुझाव हों तो हमें नीचे दिए गए इस ईमेल पर सम्पर्क कर सकते हैं:

mobilepenews@gmail.com

हिन्दी में राष्ट्रीय, राज्यवार, मनोरंजन, खेल, व्यापार, अजब—गजब, विदेश, हैल्थ, क्राइम, फैशन, फोटो—वीडियो, तकनीक इत्यादि समाचार पढ़ने के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक, ट्विटर पेज को लाइक करें:

फेसबुक मोबाइलपेन्यूज

ट्विटर मोबाइलपेन्यूज

About panchesh kumar

Check Also

महीने भर तक ​नहीं मिलता साबुन, तेल और कंघी, फिर भी रेशम जैसे हो जाते हैं बाल

पवित्र सावन महीने में देवाधिदेव महादेव को प्रसन्न कर मनोवांछित फल पाने की कामना के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *