National

गुजरात में चार राज्यसभा सीटों के लिए दो मंत्रियों समेत 8 नामांकन

गुजरात में राज्यसभा की दो अप्रैल को रिक्त हो रही चार सीटों के लिए नाटकीय घटनाक्रम के बीच कुल आठ पर्चे भरे जाने से परिदृश्य रोचक हो गया है।

purushottam rupala

यह भी देखिये – संसद चलाना सरकार की जिम्मेदारी,केन्द्र सरकार नहीं है गंभीर – सुनील जाखड़

ये चारों सीटें पहले भाजपा के कब्जे में थीं पर गत दिसंबर माह में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा की सीटें घट जाने से अब इनमें से दो ही पर यह जीत हासिल कर सकती है। इसके पूर्व घोषित दो प्रत्याशियों केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री पुरूषोत्तम रूपाला और केंद्रीय सड़क परिवहन, राजमार्ग, जहाजरानी, उर्वरक एवं रसायन राज्य मंत्री मनसुख मांडविया ने सुबह यहां नामांकन किया।

राज्यसभा में साइकिल से जाने वाले और वहां साइकल प्रेमियों का क्लाइमेट क्लब चलाने वाले मांडविया साइकिल से ही नामांकन करने आये थे। इसके बाद कांग्रेस के दो घोषित प्रत्याशियों के नामांकन को लेकर खासा रोचक दृश्य पैदा हो गया। कांग्रेस की महिला प्रदेश इकाई की अध्यक्ष सोनलबेन पटेल तथा अन्य नेताओं के विरोध और इस्तीफे की चेतावनी के बीच, महिला अधिवक्ता अमीबेन याज्ञनिक ने पहले नामांकन किया। सोनलबेन ने यूनीवार्ता को बताया कि उन्होंने अपना इस्तीफा अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की अध्यक्षा को भेज दिया है।

यह भी देखिये -लखनऊ जा रही इंडिगो की उड़ान की 40 मिनट बाद ही आपात लैंडिंग, 186 यात्री थे सवार

कुछ कागजात के आने में देरी के चलते दूसरे कांग्रेस प्रत्याशी और पूर्व केंद्रीय रेल राज्य मंत्री नाराण राठवा ने अंतिम समय में पर्चा भरा। आज नामांकन का अंतिम दिन था।

इसके बाद घटनाक्रम को एक नया मोड़ देते हुए भाजपा की ओर से तीसरे प्रत्याशी और राज्य के पूर्व मंत्री किरीटसिंह राणा ने पर्चा भर दिया। उधर कांग्रेस नेता पी के वालेरा ने भी निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन कर दिया। उनके समर्थक के तौर पर कांग्रेस विधायक नामांकन की जांच कल होगी जबकि नामवापसी 15 मार्च तक हो सकेगी। इस तरह अब कुल 8 उम्मीदवार मैदान में है अौर अगर चार से अधिक प्रत्याशी मैदान में रहे तो चुनाव 23 मार्च को होगा।

यह भी देखिये -मनी लांड्रिंग मामला कार्ति चिदम्बरम 24 मार्च तक न्यायिक हिरासत में

उधर, इस चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी ए बी कुरोवा ने यूनीवार्ता को बताया कि दो अन्य निर्दलीय रजनी पटेल और पी मूलाणी ने भी पर्चे भरे हैं। हालांकि कुल 8 उम्मीदवार मैदान में है पर उन्होंने कुल 13 सेट में पर्चे भरे हैं। इनमें से रूपाला और मांडविया ने तीन- तीन सेट में नामांकन किया है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री नीतिन पटेल ने कहा कि कांग्रेस में गुटबाजी के चलते गत वर्ष अगस्त में हुए राज्यसभा चुनाव की तर्ज पर इस बार भी क्रॉस वोटिंग की संभावना है। इसकी ओर से निर्दलीय प्रत्याशी के नामांकन करने के कारण पार्टी ने तीसरा प्रत्याशी उतारा है।

ज्ञातव्य है कि 182 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के 99 सदस्य हैं। कांग्रेस के 77 जबकि इसके समर्थक दो निर्दलीय और इसकी सहयोगी भारतीय ट्राइबल पार्टी के दो सदस्य हैं। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का एक और भाजपा का समर्थक एक निर्दलीय विधायक है। किसी भी प्रत्याशी को जीत के लिए 37 मतों की जरूरत होगी।

यह भी देखिये – कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी का मामला विशेषाधिकार समिति के पास पंहुचा

भाजपा ने कम संख्याबल के चलते ही इस बार केंद्रीय वित्त मंत्री अरूण जेटली को गुजरात की बजाय उत्तर प्रदेश से राज्यसभा में भेजने का निर्णय लिया है। इसके चौथे राज्यसभा सदस्य शंकर वेगड़ को इस बार टिकट नहीं दिया गया है।

अगर इस बार भी चुनाव की जरूरत पड़ी तो गत आठ अगस्त को हुए चुनाव जिसमें कांग्रेस की ओर से अहमद पटेल प्रत्याशी थे, की तर्ज पर खासा खींचतान वाला चुनाव देखने को मिल सकता है। चुनाव विधानसभा भवन के चौथे माले पर बैन्कवेट हॉल में होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Notifications    Ok No thanks