Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723

Deprecated: WPSEO_Frontend::get_title is deprecated since version WPSEO 14.0 with no alternative available. in /home/mobilepenews/public_html/wp-includes/functions.php on line 4723
सड़क पर कपड़े उतार विरोध करने वाली एक्ट्रेस ने मां से कही दिल की बात, मेरे कारण तुम पर लोग कसते हैं ताने… – Mobile Pe News

सड़क पर कपड़े उतार विरोध करने वाली एक्ट्रेस ने मां से कही दिल की बात, मेरे कारण तुम पर लोग कसते हैं ताने…

मदर्स डे पर एक एक्ट्रेस ने अपनी मां को सोशल मीडिया के जरिए खत लिखा और अपने दिल की बात कह डाली। वो बात जो शायद वह आमने—सामने होती तो ना कह पाती। ये वही एक्ट्रेस है जिसने पिछले वर्ष ​बाहर की एक्ट्रेसेस को काम देने के चलते कपड़े उतार कर विरोध जताया था। उस समय एक्ट्रेस ने इंडस्ट्री के बड़े नामों पर गंभीर यौन अपराध करने के आरोप भी जड़े थे।

दक्षिण भारतीय सिनेमा की इस एक्ट्रेस का नाम है श्री रेड्डी। श्री रेड्डी का नाम वैसे तो वहां इतना बड़ा नहीं है लेकिन यौन शोषण के आरोप लगाने के बाद वह सुर्खियों में बनी रही। उस समय श्री रेड्डी ने स्थानीय फिल्म बोर्ड के बाहर मीडिया के सामने अपने कपड़े उतार दिए थे। ये घटना वीडियो कैमरा पर कैद हो गई थी। पूरी दुनिया ने उनका ये विरोध देखा था।

दुनिया में भले ही उनको इस वजह से पहचान मिल गई लेकिन उनकी मां को बुरे हालत का सामना करना पड़ा। श्री की मां को उनके विरोध के तरीके को लेकर काफी कुछ लोगों से सुनना पड़ा। इस दर्द को उनकी बेटी श्री भी समझती है। इस मदर्स डे पर श्री ने मां को एक खत सोशल मीडिया के जरिए लिखा।

आप भी पढ़ें उनका ये इमोशनल खत:—

‘तुम्हारी कौन परवाह करता है? तुम्हारी मां के सिवाय… मेरी मां, आई लव यू… तुम मुझसे अब भी प्यार करती हो? मां, मुझे मेरे जन्म लेने पर दुख महसूस होता है… नहीं मां, तुम्हारी गलती है, मुझे जन्म देने की। इसी कारण मैंने तुम्हे बहुत दर्दनाक सजा दी है। मुझे पता है कि तुमने कोई गलती नहीं की, फिर भी मैंने तुम्हे बहुत परेशान किया। कई लोगों ने तुम्हारे लिए गंदे शब्द इस्तेमाल किए… तुम एक लाश की तरह जी रही हो… अब भी मेरे लिए भगवान से प्रार्थना करती हो… क्यों मां? मेरी गलतियों के कारण लोग तुम पर रोजाना आरोप लगाते हैं… मेरी मां, मुझे बताओ मैं तुम्हारे लिए क्या करूं?? तुमने मुझे ये शरीर दिया, तुम क्यों नहीं मेरी सांसें छीन लेती हो और खुशी से जीओ मां…’